home

आपकी क्या चिंताएं हैं?

close
गलत
समझना मुश्किल है
अन्य

लिंक कॉपी करें

क्या संभव है डायबिटीज मेडिसिन से वेट लॉस?

क्या संभव है डायबिटीज मेडिसिन से वेट लॉस?

डायबिटीज (Diabetes) से ग्रसित व्यक्ति को अपने वजन का खास ध्यान रखने की जरूरत पड़ती है। डायबिटीज के साथ-साथ ज्यादा वजन की समस्या आपके लिए कई तरह के कॉम्प्लिकेशन खड़ी कर सकती है, इसलिए डायबिटीज में वजन घटाना आपके लिए जरूरी हो जाता है। डायबिटीज के साथ यदि ज्यादा वजन होने की समस्या हो, तो आपको ह्रदय संबंधित समस्याएं आसानी से हो सकती हैं, इसलिए डॉक्टर डायबिटीज में वजन को नियंत्रित रखने की सलाह देते हैं। आज हम आपको बताने जा रहे हैं एक ऐसी डायबिटीज की दवा के बारे में, जिसकी मदद से आप भविष्य में अपना वजन घटा पाएंगे। डायबिटीज मेडिसिन से वेट लॉस होना अपने आप में एक मुश्किल बात लगती है, लेकिन डायबिटीज मेडिसिन से वेट लॉस (Weight Loss) हो सकता है। यह बात सामने आई है एक स्टडी में। स्टडी की मानें, तो डायबिटीज मेडिसिन से वेट लॉस (Diabetes Drug Help in Weight Loss) होना संभव माना गया है। आइए जानते हैं डायबिटीज मेडिसिन से वेट लॉस (Diabetes Drug Help in Weight Loss) किस तरह हो सकता है। लेकिन इससे पहले जानते हैं डायबिटीज से जुड़ी जरूरी बातें।

और पढ़ें : रिसर्च: हाई फाइबर फूड हार्ट डिसीज और डायबिटीज को करता है दूर

क्या है डायबिटीज (Diabetes) की समस्या?

डायबिटीज (Diabetes) की तकलीफ का सीधा असर हमारे इम्यून सिस्टम पर पड़ता है। आमतौर पर जब व्यक्ति खाना खाता है, तो शरीर भोजन से मिले शुगर को तोड़कर उसका इस्तेमाल कोशिका में उर्जा बनाने के लिए करता है। इस कार्य को पूरा करने के लिए पैंक्रियाज को इंसुलिन का उत्पादन करना पड़ता है। इंसुलिन हॉर्मोन शरीर में एनर्जी बनाने के लिए इस्तेमाल किया जाता है। लेकिन जब आप डायबिटीज की गिरफ्त में होते हैं, तो यही पैंक्रियाज पर्याप्त मात्रा में इंसुलिन (Insulin) पैदा नहीं कर पाती। इसकी वजह से शरीर में ब्लड शुगर लेवल (Blood sugar level) बढ़ता चला जाता है। जब शरीर में ब्लड शुगर लेवल ज्यादा बढ़ जाता है, तो शरीर के कामकाज पर इसका प्रभाव पड़ता है और शरीर की कार्यप्रणाली कमजोर होती चली जाती है।

यदि समय पर ब्लड शुगर लेवल को कंट्रोल ना किया जाए, तो डायबिटीज (Diabetes) अपने साथ-साथ कई अन्य जटिलताओं को भी साथ ले आता है। आपके साथ ऐसी स्थिति ना हो, इसलिए जरूरत है आपको डायबिटीज के लक्षण पहचानने की। आइए जानते हैं डायबिटीज के लक्षणों के बारे में।

और पढ़ें : डायबिटीज में फल को लेकर अगर हैं कंफ्यूज तो पढ़ें ये आर्टिकल

ये हो सकते हैं डायबिटीज के लक्षण! (Symptoms of Diabetes)

यह तो सभी जानते हैं कि डायबिटीज के दो प्रमुख प्रकार होते हैं, टाइप वन डायबिटीज (Type 1 Diabetes) और टाइप टू डायबिटीज (Type 2 Diabetes)। टाइप वन डायबिटीज में पैंक्रियाज (Pancreas) इंसुलिन बनाना बंद कर देता है, जिसकी वजह से बीमार व्यक्ति को इंसुलिन के इंजेक्शन लेने पड़ते हैं। वहीं टाइप टू डायबिटीज में पैंक्रियाज में इंसुलिन बनाने की रफ्तार कम हो जाती है, जिसकी वजह से ब्लड शुगर लेवल बढ़ने लगता है। लेकिन जब आपको डायबिटीज की समस्या रहती है, तब आपको यह लक्षण दिखाई दे सकते हैं –

ऐसे भी कुछ लक्षण हैं जो व्यक्तिगत रूप से किसी को महसूस हो सकते हैं और किसी को नहीं। जिनमें शामिल हैं:

  • मतली और उलटी (Nausea and vomiting)
  • धुंधला दिखाई देना
  • महिलाओं में बार-बार योनि संक्रमण।
  • मुंह सूखना
  • जख्म या कट्स भरने में ज्यादा समय लगना
  • त्वचा में खुजली होना, खासतौर पर कमर और जेनिटल एरिया के आस-पास।

और पढ़ें : Diabetes insipidus : डायबिटीज इंसिपिडस क्या है ?

जब आपको यह लक्षण दिखाई दें, तो आपको तुरंत डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए। जितनी जल्दी आप डॉक्टर से संपर्क करेंगे, उतनी ही जल्दी आप ब्लड शुगर लेवल को सामान्य स्तर पर ला सकते हैं। इसलिए समय रहते डॉक्टर से संपर्क करना बेहद जरूरी माना जाता है। जैसा कि आपने जाना डायबिटीज अपने आप में एक गंभीर समस्या मानी गई है, इसलिए इस समस्या में वजन को नियंत्रित रखना आपके लिए जरूरी हो जाता है। आइए जानते हैं डायबिटीज मेडिसिन से वेट लॉस (Weight Loss) किस तरह हो सकता है और डायबिटीज मेडिसिन से वेट लॉस (Diabetes Drug Help in Weight Loss) होने की संभावना कितनी है।

और पढ़ें: डायबिटीज के कारण होने वाले रोग फोरनिजर्स गैंग्रीन के लक्षण और घरेलू उपाय

डायबिटीज मेडिसिन से वेट लॉस : क्या है स्टडी का कहना? (Diabetes Drug Help in Weight Loss)

डायबिटीज मेडिसिन से वेट लॉस (Diabetes Drug Help in Weight Loss)

द यूरोपियन एसोसिएशन फॉर द स्टडी ऑफ ओबेसिटी (The European Association for the Study of Obesity) में छपी एक रिपोर्ट के मुताबिक डायबिटीज मेडिसिन से वेट लॉस (Diabetes Drug Help in Weight Loss) हो सकता है। डायबिटीज मेडिसिन (Diabetes Drug) सेमाग्लूटाइड (Semaglutide) वह मेडिसिन मानी जाती है, जो टाइप 2 डायबिटीज में पैंक्रियास से इंसुलिन रिलीज को रेगुलेट करती है। सेमाग्लूटाइड कई नामों से बाजार में उपलब्ध है और यह डायबिटीज मेडिसिन वेट लॉस (Weight Loss) के लिए कारगर साबित हो सकती है। इसका कारण है कि इस दवा के सेवन के बाद आपकी भूख कम हो जाती है और बार-बार खाने की इच्छा नहीं रहती। स्टडी के मुताबिक सेमाग्लूटाइड का इस्तेमाल भविष्य में ओबेसिटी की समस्या के लिए किया जा सकता है और यही वजह है कि स्टडी अपने क्लिनिकल ट्रायल के फेज 3 में पहुंच चुकी है। सेमाग्लूटाइड, ग्लूकागन लाइक पेप्टाइड -1 (जीएलपी -1) एगोनिस्ट (Glucagon-like peptide-1 (GLP-1) agonists) नामक क्लास में से एक मानी जाती है। नोवो नॉर्डिस्क के वरिष्ठ अंतरराष्ट्रीय चिकित्सा प्रबंधक डॉ. डॉर्थे स्कोवगार्ड (Dr. Dorthe Skovgaard) नामक डॉक्टर द्वारा की जा रही रिसर्च के मुताबिक इस दवा का इस्तेमाल ओबेसिटी (Obesity) की समस्या में किया जा सकता है, जिसका फ़िलहाल ट्रायल चल रहा है।

डायबिटीज मेडिसिन से वेट लॉस (Diabetes Drug Help in Weight Loss) होना मुमकिन है या नहीं इसके बारे में बात करते हुए डॉक्टर स्कोवगार्ड ने बताया कि GLP-1s न सिर्फ आपके डायबिटीज को कंट्रोल करती है, बल्कि यह आपके बॉडी वेट पर भी सकारात्मक प्रभाव दिखाती है। इसके सेवन के बाद आपका पेट भरा हुआ महसूस होता है और भूख कम लगती है। साथ ही साथ यह एनर्जी इंटेक को कम करती है, जिससे आपका वजन नियंत्रित रहता है। यही वजह है कि सेमाग्लूटाइड का इस्तेमाल ओबेसिटी (Obesity) के ट्रीटमेंट के तौर पर भविष्य में किया जा सकता है। इससे संबंधित एक रिसर्च टाइप टू डायबिटीज से ग्रसित लोगों पर की गई है, आइए जानते हैं इस रिसर्च के बारे में।

डायबिटीज मेडिसिन से वेट लॉस पर हुई रिसर्च के मुताबिक (Diabetes Drug Help in Weight Loss)

टाइप टू डायबिटीज (Type 2 Diabetes) से ग्रसित मरीजों पर हुई इस रिसर्च के मुताबिक करीब 16 देशों से आए लोगों पर सेमाग्लूटाइड का परीक्षण किया गया। इन लोगों को 68 हफ्तों तक सेमाग्लूटाइड दिया गया। साथ ही इन्होंने स्वस्थ जीवन शैली को अपनाए रखा। इस परीक्षण में शामिल 1961 लोग ओबेसिटी से परेशान थे, लेकिन इन्हें डायबिटीज की समस्या नहीं थी। इनमें से कुछ लोगों को इंजेक्शन के जरिए सेमाग्लूटाइड दवा दी गई, जिसके बाद यह नतीजा सामने आया कि 75 प्रतिशत सेमाग्लूटाइड (Semaglutide) का सेवन करने वाले लोगों का वजन 10% से ज्यादा कम हुआ है। साथ ही बचे हुए एक तिहाई लोगों का वजन 20% घट गया है। साथ ही इस दवा के सेवन से बहुत सारे लोगों में डायबिटीज और प्रीडायबिटीज (Diabetes and prediabetes) की समस्या में भी सुधार देखा गया। यही वजह है कि इस रिसर्च से पता चला कि सेमाग्लूटाइड नामक डायबिटीज की दवा से वेट लॉस (Weight Loss) मुमकिन हो सकता है। हालांकि सेमाग्लूटाइड के ओबेसिटी (Obesity) के ट्रीटमेंट के लिए इस्तेमाल पर अभी भी रिसर्च जारी है, लेकिन इस रिसर्च के बाद जल्दी यूएस मार्केट में वजन कम करने के लिए डायबिटीज की इस दवा का इस्तेमाल किया जा सकता है।

और पढ़ें : जानें कैसे स्वेट सेंसर (Sweat Sensor) करेगा डायबिटीज की पहचान

डायबिटीज मेडिसिन से वेट लॉस (Diabetes Drug Help in Weight Loss) यदि मुमकिन होता है, तो यह उन लोगों के लिए बेहतरीन साबित होगा, जो लोग डायबिटीज के साथ-साथ ओबेसिटी के भी शिकार हैं। डायबिटीज के साथ ओबेसिटी की समस्या के चलते व्यक्ति को कई तरह की परेशानियों का सामना करना पड़ता है। यदि यह रिसर्च सफल होती है, तो टाइप टू डायबिटीज और ओबेसिटी से ग्रसित लोगों के लिए एक बेहतरीन विकल्प तैयार हो सकता है और कहा जा सकता है कि डायबिटीज मेडिसिन से वेट लॉस (Diabetes Drug Help in Weight Loss) मुमकिन है।

डायबिटीज मेडिसिन से वेट लॉस (Diabetes Drug Help in Weight Loss) के अलावा और अन्य कई तरीके हैं, जिससे डायबिटीज की समस्या में वेट लॉस किया जा सकता है। यदि आप टाइप टू डायबिटीज के साथ-साथ ओबेसिटी के भी शिकार हैं, तो आपको खास तौर पर अपने आहार पर ध्यान देने की जरूरत पड़ती है। जरूरत से ज्यादा कैलोरी लेने से डायबिटीज की समस्या में तो परेशानी होती ही है, साथ ही साथ इससे ओबेसिटी (Obesity) की समस्या भी बढ़ती है। इसलिए आपको अपने आहार का खास ध्यान रखना चाहिए। साथ ही साथ रोजाना एक्सरसाइज और जीवनशैली में बदलाव लाकर आप अपने वजन को टाइप टू डायबिटीज की समस्या के साथ-साथ नियंत्रित कर सकते हैं। एक सही डायट फॉलो करके आप टाइप टू डायबिटीज और ओबेसिटी की समस्या में बेहतर महसूस कर सकते हैं। इसके लिए आपको डायटिशियन से कंसल्ट करके सही डायट का चुनाव करना चाहिए, साथ ही साथ एल्कोहॉल और स्मोकिंग जैसी बुरी आदतों से दूर रहना चाहिए। डायबिटीज मेडिसिन से वेट लॉस (Weight Loss) मुमकिन हो सकता है, लेकिन इसके साथ-साथ आपको सही जीवनशैली अपनाने की भी जरूरत पड़ती है।

health-tool-icon

बीएमआई कैलक्युलेटर

अपने बॉडी मास इंडेक्स (बीएमआई) की जांच करने के लिए इस कैलक्युलेटर का उपयोग करें और पता करें कि क्या आपका वजन हेल्दी है। आप इस उपकरण का उपयोग अपने बच्चे के बीएमआई की जांच के लिए भी कर सकते हैं।

पुरुष

महिला

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

लेखक की तस्वीर badge
Toshini Rathod द्वारा लिखित आखिरी अपडेट एक हफ्ते पहले को
Sayali Chaudhari के द्वारा मेडिकली रिव्यूड