home

What are your concerns?

close
Inaccurate
Hard to understand
Other

लिंक कॉपी करें

दृढ़ निश्चय और टाइम मैनेजमेंट से तय की फैट से फिटनेस तक की जर्नी

दृढ़ निश्चय और टाइम मैनेजमेंट से तय की फैट से फिटनेस तक की जर्नी

#FatSeFitnessTak फैट से फिटनेस सीरीज की हमारी यह कहानी नेहा चोपड़ा की फिटनेस जर्नी है, जिन्होंने दिलों जान से फिट होने के लिए अपनी पूरी ताकत लगा दी। वह हमेशा से एक फिटनेस और हैल्थ फ्रीक रही हैं। लेकिन, काम के दबाव और समय की कमी के कारण वह अपने वर्कआउट को ज्यादा समय नहीं दे पाती थीं। लेकिन एक बार जब उन्होंने दोबारा शुरू किया, तो पीछे मुड़कर नहीं देखा। इसलिए अगर आप में से कुछ लोगों ने अपनी एक्सरसाइज और फिटनेस जर्नी इसलिए छोड़ दी क्योंकि आपके पास समय की कमी थी, तो एक बार फिर अपना रुटिन बनाएं और एक्सरसाइज करना शुरु करें।

(हैलो स्वास्थ्य टीम की डॉ. श्रुति श्रीधर ने नेहा चोपड़ा से बात की और उनकी इस फैट से फिटनेस जर्नी के बारे में उनके अनुभवों को जाना)

लंबाई- 162 सेंटीमीटर

अधिकतम वजन- 69 किलोग्राम

वजन कम किया- 14 किलो

वजन कम करने का समय- 6 महीने

अपने बारे में बताएं

मेरा नाम नेहा चोपड़ा है, मेरी उम्र 36 साल है और मैं एक मार्केटिंग प्रोफेशनल हूं। अपनी जॉब प्रोफाइल की वजह से काफी व्यस्त रहती हूं और मुझे एक्सरसाइज करने का समय कम मिलता है। मुझे स्विमिंग करना, लॉन्ग वॉक करना पसंद है। मुझे मार्शियल आर्ट्स में खासी रुचि है। इन सबके अलावा मुझे खाना पसंद हैं और नई-नई डिशीज ट्राई करना भी मुझे अच्छा लगता है।

और पढ़ें : डायट, वर्कआउट के साथ फिटनेस मिशन बनाकर कम किया मोटापा

खुद को बदलने के बारे में कब सोचा?

मैं लंबे समय तक चिकनगुनिया से पीड़ित थी, जिसके बाद मेरा वजन काफी बढ़ गया था। बढ़े हुए वजन की वजह से मुझे जोड़ों में इतना दर्द रहने लगा। मेरे पास एक्सरसाइज करने के लिए ताकत नहीं बची थी। मैंने लापरवाही शुरु कर दी और अनियमित समय पर खाना शुरू कर दिया, जिससे मेरा वजन और बढ़ गया। यह सिलसिला आगे बढ़ता रहा और मैं एक्सरसाइज नहीं कर सकी, जिसकी वजह से मेरे घुटनों और पीठ में और अधिक दर्द होने लगा। अपने शुरुआती 30 के दशक में होने के कारण मैंने फैसला किया कि मुझे अपना एक्सट्रा वजन कम करना है और एक बार फिर अपने रेग्यूलर रुटीन में आना है।

और पढ़ें : मोटापा छुपाने के लिए पहनते थे ढीले कपड़े, अब दिखते हैं ऐसे

फैट से फिटनेस के लिए ये था नेहा का डायट चार्ट

नाश्ता-

प्रोटीन युक्त नाश्ता – 2 उबले अंडे/1 पनीर परांठा/1 मूंग चीला + 1 कप चाय/कॉफी/दूध + 1 फल

मिड मॉनिंग-

1 कटोरी सब्जी का सूप

दोपहर का खाना-

1 कटोरी सलाद + 2 मल्टीग्रेन रोटी + 1 कप सब्जी/ग्रिल्ड फिश/चिकन/1 कप दही या 1 कटोरी सब्जी दहलिया + 1 कप दही

शाम का स्नैक्स-

1 कप चाय + 1 फल/मुट्ठी भर नट्स – बादाम + अखरोट

डिनर –

1 कप वेजिटेबल सूप/ ग्रिल्ड फिश और सब्जियों का 1 पोर्शन / ग्रिल्ड पनीर और सब्जियों का 1 पोर्शन

और पढ़ें : रेड मीट बन सकता है ब्रेस्ट कैंसर का कारण, इन बातों का रखें ख्याल

आपका वर्कआउट –

जिम में 3 दिन और 2 दिन योग या लॉन्ग वॉक

प्री-वर्कआउट मील –

1 गिलास जीरा पानी

पोस्ट वर्कआउट मील-

1 गिलास प्रोटीन शेक

आपका पसंदीदा भोजन

चॉकलेट, बेसन के लड्डू

आपका पसंदीदा लो कैलोरी वाला भोजन

ग्रील्ड फीश और सब्जियां

और पढ़ें : जब मुझे लगा मैं मोटा होने लगा हूं…एक फैसले ने फिर बदल दी जिंदगी

आपका फिटनेस सीक्रेट

वेरायटी मेरा सीक्रेट है। मैं हर बार अपने एक्सरसाइज को बदल-बदल के करती हूं। मेरे डेली रुटिन में फंक्शनल ट्रेनिंग के साथ-साथ ज़ुम्बा, डांस, योगा, लॉन्ग वॉक और वेट ट्रेनिंग शामिल हैं।

फैट से फिटनेस के लिए आपको किससे प्रेरणा मिलती है

हैप्पी हॉर्मोन्स और मेरा मूड बूस्टर-बुद्धिज्म चैंटिंग।

फैट से फिटनेस पाने के लिए सबसे मुश्किल हिस्सा क्या था?

पहला कदम उठाना सबसे कठिन हिस्सा था। शुरूआत में मैं अपना वर्कआउट नहीं कर सकी। दृढ़ता और कड़ी मेहनत करते हुए जब तक मैंने अपने लक्ष्य को प्राप्त नहीं कर लिया, तब तक मैंने उसे जारी रखा।

और पढ़ें : जंक फूड-सोशियल मीडिया को ‘बाय’ बोल तय की फैट से फिटनेस तक की जर्नी

फैट से फिटनेस होने के लिए जीवनशैली में क्या बदलाव किया?

मैंने जंक फूड खाना और एल्कोहॉल पीना छोड़ दिया। मैंने सही समय पर खाना शुरू किया और रोज सुबह जल्दी उठने लगी। मैंने अपने लिए एक फिक्सड रूटीन बनाया और उसको दृढ़ता से फॉलो करना शुरु कर दिया। हम अपनी जिंदगी में बहुत सारी चीजों को सीरियस नहीं लेते लेकिन ये छोटी छोटी चीजें हमें कई बड़ी परेशानी में डाल सकती हैं।

फैट से फिटनेस पाने के बाद सबसे अच्छा क्या लग रहा?

अपनी गलत और अस्वस्थ आदतों पर काबू पाने के साथ अपनी दमकती त्वचा को वापस पाना मेरे लिए काफी रोमांचित करने वाला था। मैं अब अपने आप को और अधिक ऊर्जावान और खुश महसूस करती हूं।

अब से 10 साल बाद आप खुद को कैसे देखते हैं?

खुश और स्वस्थ, बीमारी या दर्द के डर के बिना दुनिया भर में ट्रेवल करते हुए।

और पढ़ें : बॉडी को फिट रखने के लिए जरूरी है वेट मैनेजमेंट, यहां जानें अपना बीएमआई

इस जर्नी से आपने क्या सीखा

जहां चाह, वहां राह। आपको अपने आप को पूरी तरह से कमिट करने की जरुरत होती है कि चाहें इसका कारण कुछ भी हो – फिटनेस या कुछ और। किसी चीज को पाने के लिए जीवन में कोई शॉर्टकट नहीं है। क्रैश डायट से मुझे अपना वजन कम करने में मदद मिलेगी लेकिन वह एक अस्वस्थ और अस्थायी बदलाव होगा।

पाठकों को एक सलाह

आप जो भी करें, स्वस्थ रहने के लिए करें, न कि सिर्फ अच्छे दिखने के लिए। अगर आप अंदर से अच्छा महसूस करते हैं, तो आपको खुद अच्छा लगने लगेगा। जैसे कि कहते हैं, “18 वीं बार उठो, भले ही आप 17 बार गिरे हों।”

और पढ़ें : फॉलो करें यह बनाना डायट प्लान, जल्दी घटेगा वजन

नेहा की फैट से फिटनेस जर्नी से सीखें-

  1. पहला कदम बढ़ाओं। पहला कदम हमेशा मुश्किल होता है। एक बार जब आप शुरू करते हैं, तो आप केवल इतना कर सकते हैं कि आप आगे बढ़ सकते हैं। अपने आप को मजबूत रखें और फिटनेस और सफलता के लिए आगे बढ़ते रहें। माना की रास्ते में कई बार हौसला कमजोर होगा या फिर कई रूकावटे आए लेकिन हर स्थिती में अपने आप को मजबूती से रखें।
  2. कभी हार मत मानो। आप कई बार असफल हो सकते हैं, लेकिन अगली बार फिर से उठें और सुनिश्चित करें कि आप सफल होंगे। अपने आप को किसी भी परेशानी के आने पर कमजोर न पड़ने दें।
  3. सफलता के लिए कोई शॉर्टकट नहीं है। आंख बंद करके किसी भी क्रैश डायट या अन्य किसी फैड डायट्स का पालन न करें। आपके लिए विशेष रूप से नियोजित आहार के साथ नियमित व्यायाम हमेशा आपकी मदद करेंगा।

हम आशा करते हैं आपको हमारा यह लेख पसंद आया होगा। हैलो हेल्थ के इस आर्टिकल में नेहा चोपड़ा की फैट से फिटनेस जर्नी के बारे में बताया है। आप चाहे तो आप भी अपनी फैट से फिटनेस की जर्नी हमारे साथ शेयर कर सकते हैं। इसके लिए आप अपनी फैट से फिटनेस स्टोरी को हमारे फेसबुक पेज मैसेज कर भेज सकते हैं।

health-tool-icon

बीएमआई कैलक्युलेटर

अपने बॉडी मास इंडेक्स (बीएमआई) की जांच करने के लिए इस कैलक्युलेटर का उपयोग करें और पता करें कि क्या आपका वजन हेल्दी है। आप इस उपकरण का उपयोग अपने बच्चे के बीएमआई की जांच के लिए भी कर सकते हैं।

पुरुष

महिला

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

लेखक की तस्वीर
Lucky Singh द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 27/04/2021 को
Dr. Shruthi Shridhar के द्वारा एक्स्पर्टली रिव्यूड