home

आपकी क्या चिंताएं हैं?

close
गलत
समझना मुश्किल है
अन्य

लिंक कॉपी करें

ओटिटिस मीडिया इफ्यूजन: जानिए, बच्चों में होने वाली यह समस्या कितनी है गंभीर?

ओटिटिस मीडिया इफ्यूजन: जानिए, बच्चों में होने वाली यह समस्या कितनी है गंभीर?

ओटिटिस मीडिया इफ्यूजन मिडल ईयर स्पेस में नॉन-इंफेक्टेड फ्लूइड के जमाव को कहा जाता है । इसका एक नाम सेक्रेटोरी ओटिटिस मीडिया भी है। इस बीमारी में कोल्ड, गले में खराश या अपर रेस्पिरेटरी इंफेक्शन के कारण भी फ्लूइड जमा होता है। हालांकि इस समस्या को सेल्फ लिमिटेड माना जाता है। इसका अर्थ है कि यह फ्लूइड आमतौर पर चार से छह हफ़्तों तक खुद ही ठीक हो जाता है। लेकिन, ओटिटिस मीडिया इफ्यूजन (Otitis media effusion) के कुछ मामलों में यह फ्लूइड अधिक समय तक रह सकता है जिसमे कारण सुनने में समस्या हो सकती है या यह फ्लूइड इंफेक्शन हो सकता है। इस फ्लूइड इंफेक्शन को ओटिटिस मीडिया इफ्यूजन (Otitis media effusion) के नाम से जाना जाता है।

यह समस्या छह महीने से लेकर तीन साल तक की उम्र के बच्चों में सामान्य है और यह लड़कियों की तुलना में लड़कों को अधिक प्रभावित करती है। यही नहीं यह समस्या अधिक पतछड़ और सर्दी के मौसम में होती है। ओटिटिस मीडिया इफ्यूजन (Otitis media effusion) का निदान करना बेहद जरूरी है। लेकिन, इसका निदान करना अस्पष्ट लक्षणों के कारण आमतौर पर मुश्किल होता है।

ओटिटिस मीडिया इफ्यूजन (Otitis media effusion)

ओटिटिस मीडिया इफ्यूजन (Otitis media effusion) की समस्या यूस्टेकियन ट्यूब (Eustachian tube) के पुअर फंक्शन के कारण होती है। यह ट्यूब वो कंकाल है जो मिडल ईयर को थ्रोट एरिया के साथ जोड़ती है। यूस्टेकियन ट्यूब (Eustachian tube) आपके और आपके मिडल ईयर के आसपास के बीच के एयर प्रेशर को इक्विलाइज करती है। जब यह ट्यूब सही से काम नहीं करती है, तो यह मिडल ईयर से फ्लूइड की नार्मल ड्रेनेज को रोकती है, जिससे ईयरड्रम के पीछे फ्लूइड का निर्माण होता है। यूस्टेशियन ट्यूब के ठीक से काम न करने के कुछ कारण इस प्रकार हैं:

और पढ़ें: Tinnitus : कान बजने की है समस्या, तो ये ट्रीटमेंट दे सकता है आपको राहत

हालांकि, यह समस्या किसी भी बच्चे को हो सकती है, लेकिन कुछ फैक्टर्स आपके बच्चे में ओटिटिस मीडिया इफ्यूजन (Otitis media effusion) की संभावना को बढ़ा सकते हैं, जैसे:

  • सर्दी- जुकाम (Having a cold)
  • डेकेयर में समय बिताना (Spending time in daycare)
  • पीठ के बल बोतल से दूध पीना (Being bottle fed while lying on back)
  • किसी ऐसे व्यक्ति के आसपास होना जो स्मोकिंग करता हो (Being around someone who smokes)
  • स्तनपान का अभाव (Absence of breastfeeding)
  • ईयर इंफेक्शन की हिस्ट्री होना (History of ear infections)
  • क्रैनियोफेशियल असामान्यताएं (Craniofacial abnormalities)

यह तो थे ओटिटिस मीडिया इफ्यूजन (Otitis media effusion) के कुछ कारण। मेडलाइनप्लस (MedlinePlus) के मुताबिक यह समस्या नवजात शिशुओं में होना दुर्लभ है। ईयर इंफेक्शन से पीड़ित बच्चों की तरह इस बीमारी से रोगी बीमार महसूस नहीं करते हैं। इसके लक्षण इस प्रकार हो सकते हैं।

और पढ़ें: कान में दर्द को ना करें इग्नोर, हो सकता है यूस्टेकियन ट्यूब डिसफंक्शन

ओटिटिस मीडिया इफ्यूजन के लक्षण (Symptoms of Otitis media effusion)

ओटिटिस मीडिया इफ्यूजन (Otitis media effusion)) हर बच्चे के लिए अलग हो सकते हैं और उनकी इंटेंसिटी भी बदल सकती है। लेकिन, इसके सबसे सामान्य लक्षण इस प्रकार हैं:

  • सुनने में समस्या होना (Hearing difficulties)
  • बच्चे का एक या दोनों कानों को खींचना (Tugging or pulling at one or both ears)
  • लॉस ऑफ बैलेंस (Loss of balance)
  • डिले स्पीच डेवलपमेंट (Delayed speech development)

ओटिटिस मीडिया इफ्यूजन (Otitis media effusion) के यह लक्षण किसी अन्य कंडीशन या मेडिकल प्रॉब्लम के जैसे हो सकते हैं। अगर आपके बच्चे को इनमें से कोई भी समस्या होती है, तो तुरंत डॉक्टर से बात करें। जानिए किस तरह से संभव न इस परेशानी का निदान?

और पढ़ें: प्रेग्नेंसी में लो कार्ब डायट बच्चे और मां दोनों के लिए हो सकती है नुकसान दायक, अपनाने से पढ़ लें ये लेख

ओटिटिस मीडिया इफ्यूजन का निदान (Diagnosis of Otitis media effusion)

अगर आपको लगता है कि आपके बच्चे को ओटिटिस मीडिया इफ्यूजन (Otitis media effusion) है, तो तुरंत डॉक्टर से सलाह लेना आवश्यक है। इस समस्या के निदान के लिए डॉक्टर आपके बच्चे की मेडिकल हिस्ट्री को जांचेंगे और इसके साथ ही उसकी शारीरिक जांच करेंगे। इस शारीरिक जांच में बच्चे के बाहरी कान और ईयरड्रम की जांच शामिल है। इसके लिए डॉक्टर ऑटोस्कोप (Otoscope) का प्रयोग करते हैं जो एक लाइटेड इंस्ट्रूमेंट होता है, जिसे कान में डाला जाता है। बच्चे के कान की जांच कर के डॉक्टर यह समस्या का निदान कर सकते हैं। इसके साथ ही डॉक्टर ईयरड्रम को एक्सामिन करके इन बदलावों को भी नोटिस कर सकते हैं, जैसे

  • ईयरड्रम के सरफेस पर एयर बबल
  • जब लाइट का प्रयोग किया जाए तो ईयरड्रम का डल होना
  • ईयरड्रम में एयर का इस्तेमाल करने पर इसका जरा भी मूव न करना
  • ईयरड्रम के पीछे फ्लूइड

ओटिटिस मीडिया इफ्यूजन (Otitis media effusion) के निदान के लिए एक टेस्ट की भी सलाह दी जाती है जिसका नाम है टाइम्पेनोमेट्री (Tympanometry)। इस टेस्ट के माध्यम से डॉक्टर को यह पता चल जाता है कि फ्लूइड की मात्रा और थिकनेस कितनी है। मिडल ईयर में फ्लूइड को इस तरह से डिटेक्ट किया जा सकता है:

  • एकॉस्टिक ऑटोस्कोप (Acoustic otoscope)
  • रिफ्लेक्टोमीटर (Reflectometer), जो एक पोर्टेबल डिवाइस है।

इसके साथ ही अन्य तरह के फॉर्मल हियरिंग टेस्ट कराएं जा सकते हैं। इनसे डॉक्टर को उपचार निर्धारित करने में मदद मिलती है।

ओटिटिस मीडिया इफ्यूज

और पढ़ें: Earwax Blockage: ईयर वैक्स ब्लॉकेज क्या है? जानें इसके कारण, लक्षण और उपाय

ओटिटिस मीडिया इफ्यूजन का उपचार (Otitis media effusion)

ओटिटिस मीडिया इफ्यूजन (Otitis media effusion) का उपचार कई फैक्टर्स पर निर्भर करता है और हर प्रभावित बच्चे के लिए अलग हो सकता है। इस समस्या के उपचार से पहले डॉक्टर से बच्चे की स्थिति, ट्रीटमेंट ऑप्शंस और अपनी प्राथमिकताओं के बारे में पूरी तरह से बात कर लें। ओटिटिस मीडिया इफ्यूजन (Otitis media effusion) के उपचार के विकल्प इस प्रकार हैं:

मॉनिटरिंग (Monitoring)

ओटिटिस मीडिया इफ्यूजन (Otitis media effusion) में फ्लूइड के अधिकतर मामले चार से छह हफ़्तों में खुद ही ठीक हो जाते हैं। ऐसे में एक्यूट ट्रीटमेंट की जरूरत नहीं होती है

दवाइयां (Medications)

ओटिटिस मीडिया इफ्यूजन (Otitis media effusion) के मिडल ईयर फ्लूइड के अधिकतर मामले इंफेक्टेड नहीं होते हैं। ऐसे में एंटीबायोटिक्स की सलाह नहीं दी जाती है। हालांकि, अगर आपके बच्चे को ओटिटिस मीडिया इफ्यूजन (Otitis media effusion) के साथ-साथ अपर रेस्पिरेटरी इंफेक्शन हो तो एंटीबायोटिक्स (Antibiotics) दी जा सकती हैं। एंटिहिस्टामाइन्स (Antihistamines) और डिकंजेस्टेंट मेडिसिन्स (Decongestants) का ओटिटिस मीडिया इफ्यूजन (Otitis media effusion) पर कोई प्रभाव नहीं होता है।

ईयर ट्यूब्ज/मायरिंगोटॉमी (Ear tubes/Myringotomy)

अगर आपके बच्चे को यह समस्या दो या तीन महीनों तक रहती है और डॉक्टर के लिए चिंता का विषय यह है कि फ्लूइड के कारण हियरिंग में समस्या हो सकती है और स्पीच डेवेलोमेंट या स्कूल परफॉरमेंस पर भी प्रभाव पड़ सकता है तो डॉक्टरों आपके बच्चे के लिए कान के लिए ईयर ट्यूब्ज की सलाह दे सकते हैं। जिस सर्जिकल प्रोसेस से इन ईयर ट्यूब्ज को कान में लगाया जाता है उसे मायरिंगोटॉमी (Myringotomy) कहा जाता है। इस सर्जिकल प्रोसेस में ईयरड्रम में एक छोटी से ओपनिंग की जाती है ताकि फ्लूइड को ड्रेन किया जा सके और मिडल ईयर से प्रेशर से आराम मिले।

एडेनोइड्स का सर्जिकल रिमूवल (Surgical removal of adenoids)

अगर आपके बच्चे के एडेनोइड्स इंफेक्टेड हैं, तो आपके बच्चे के डॉक्टर इन्हें रिमूव करने की सलाह देंगे। एडेनोइड्स टिश्यूज के पैच हैं, जो नाक के पीछे और गले के बिलकुल ऊपर होते हैं। इस समस्या का सही उपचार बेहद जरूरी है। अन्यथा इसके कारण कई जटिलताएं हो सकती हैं। आइए जानें इन कॉम्प्लीकेशन्स के बारे में।

और पढ़ें: डायबिटीज की वजह से हो सकती है हियरिंग लॉस की समस्या, यकीन नहीं होता तो पढ़िए यह लेख!

ओटिटिस मीडिया इफ्यूजन से जुडी कॉम्प्लीकेशन्स क्या हैं? (Otitis media effusion)

ओटिटिस मीडिया इफ्यूजन (Otitis media effusion) के कारण परमानेंट हियरिंग डैमेज होना का जोखिम नहीं होता है। लेकिन, इससे लगातार ईयर इंफेक्शन होने की संभावना हो सकती है। इसके कारण होने वाले अन्य कॉम्प्लीकेशन्स इस प्रकार हैं:

  • एक्यूट ईयर इंफेक्शंस (Acute ear infections)
  • ईयरड्रम स्कारिंग (Eardrum scarring)
  • ईयर का डैमेज होना जिससे कारण हियरिंग लॉस हो सकता है (Damage to ear)
  • स्पीच का प्रभावित होना या लैंग्वेज डिले होना (Affected speech or language delay)

और पढ़ें: अपने बच्चे के आहार को लेकर हैं परेशान, तो जानिए बच्चों के लिए हेल्दी फूड पिरामिड के बारे में

ओटिटिस मीडिया इफ्यूजन से बचाव (Otitis media effusion)

ओटिटिस मीडिया इफ्यूजन (Otitis media effusion) की समस्या अधिकतर पतछड़ और सर्दी के महीनों में होती है। लेकिन, कुछ चीजों से इसके विकास का जोखिम कम किया जा सकता है। यह तरीके इस प्रकार हैं:

निमोनिया और फ्लू वैक्सीन से भी ओटिटिस मीडिया इफ्यूजन (Otitis media effusion) की संभावना कम हो सकती है।

और पढ़ें: कानों के रोग को न समझें मामूली, पहचानें क्या हैं इनके लक्षण!

ओटिटिस मीडिया इफ्यूजन की समस्या बेहद सामान्य है। इसके कारण कोई लॉन्ग टर्म डैमेज नहीं होता है। हालांकि अगर यह समस्या आपके बच्चे को बार-बार होती है, तो अपने डॉक्टर से इस बारे में बात अवश्य करें ताकि सही समय पर ईयर इंफेक्शन और ओटिटिस मीडिया इफ्यूजन से बचाव हो सके। छोटे बच्चों में सुनने की समस्याओं पर ध्यान देना महत्वपूर्ण है क्योंकि इससे लॉन्ग-टर्म लैंग्वेज डिले की समस्या हो सकती है। ओटिटिस मीडिया इफ्यूजन से पीड़ित अधिकतर लोग बहुत जल्दी ठीक हो जाते हैं और उन पर लॉन्ग टर्म इफ़ेक्ट नहीं होते हैं।

आप हमारे फेसबुक पेज पर भी अपने सवालों को पूछ सकते हैं। हम आपके सभी सवालों के जवाब आपको कमेंट बॉक्स में देने की पूरी कोशिश करेंगे। अपने करीबियों को इस जानकारी से अवगत कराने के लिए आप ये आर्टिकल जरूर शेयर करें।

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र

Management of otitis media with effusion in children. https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC4170480/ .Accessed on 2/11/21

Otitis Media with Effusion. https://www.chop.edu/conditions-diseases/otitis-media-effusion-ome .Accessed on 2/11/21

Otitis media with effusion. https://medlineplus.gov/ency/article/007010.htm .Accessed on 2/11/21

Otitis Media (with Effusion). https://familydoctor.org/condition/otitis-media-with-effusion/ .Accessed on 2/11/21

Otitis Media (Middle Ear Infection) in Adults. https://www.entcolumbia.org/health-library/otitis-media-middle-ear-infection-adults

.Accessed on 2/11/21

लेखक की तस्वीर badge
AnuSharma द्वारा लिखित आखिरी अपडेट कुछ हफ्ते पहले को
Sayali Chaudhari के द्वारा मेडिकली रिव्यूड