home

आपकी क्या चिंताएं हैं?

close
गलत
समझना मुश्किल है
अन्य

लिंक कॉपी करें

क्या है सिनफ्लोरिक्स वैक्सीन? इसके फायदों के बारे में जानना न भूलें!

क्या है सिनफ्लोरिक्स वैक्सीन? इसके फायदों के बारे में जानना न भूलें!

अपने बच्चे को हेल्दी और खुश रखने के लिए माता-पिता हर संभव कोशिश करते हैं। इसमें उनका सही आहार, शारीरिक गतिविधियां और वैक्सीनेशन महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं। बच्चों की कमजोर इम्युनिटी के कारण डॉक्टर की सलाह के अनुसार वैक्सीन लगवाना जरूरी है। आज हम ऐसी ही एक वैक्सीन के बारे में बात करने वाले हैं जिसका नाम है सिनफ्लोरिक्स वैक्सीन (Synflorix vaccine)। यह वैक्सीन बच्चों का कई बीमारियों से बचाव करती है जैसे निमोनिया, ईयर इंफेक्शन और ब्लड इंफेक्शंस आदि। लेकिन, जहां इस वैक्सीन के कुछ फायदे हैं वहीं कुछ लोग इसे लेने के बाद साइड इफेक्ट्स का अनुभव भी कर सकते हैं। आइए जानें क्या है सिनफ्लोरिक्स वैक्सीन (Synflorix vaccine) और क्या हैं इसके फायदे व साइड इफेक्ट्स?

सिनफ्लोरिक्स वैक्सीन क्या है? (Synflorix vaccine)

जैसा की पहले ही बताया गया है कि सिनफ्लोरिक्स वैक्सीन (Synflorix vaccine) बच्चों को कई बीमारियों से बचाने में लाभदायक है जैसे निमोनिया (Pneumonia), मेनिंजाइटिस (Meningitis), ईयर और ब्लड इंफेक्शंस (Ear and blood infections) आदि। यह वैक्सीन शरीर को खुद एंटीबॉडीज बनाने में मदद करती है जिससे बच्चों की इन बीमारियों से सुरक्षा हो पाती है। सिनफ्लोरिक्स वैक्सीन (Synflorix vaccine) स्ट्रेप्टोकोकस न्यूमोनिया बैक्टीरिया (Streptococcus pneumoniae bacteria) के दस अलग-अलग स्ट्रेन्स के कारण होने वाली बीमारियों से भी सुरक्षा प्रदान करती है।

इस वैक्सीन को आमतौर पर बच्चे की ऊपरी जांघ या बाजु में इंजेक्शन के रूप में इंसर्ट किया जाता है। लेकिन, इस वैक्सीन को कभी भी अपनी मर्जी से नहीं लेना चाहिए बल्कि डॉक्टर की सलाह के बाद ही इसे लें। सिनफ्लोरिक्स वैक्सीन (Synflorix vaccine) के सबसे सामान्य साइड इफेक्ट्स में बुखार, भूख में कमी, चक्कर आना आदि शामिल है। इसके साथ ही इस वैक्सीन को लगाने के बाद इंजेक्शन साइट पर दर्द, सूजन और लालिमा भी हो सकती है। आइए जानते हैं कि सिनफ्लोरिक्स वैक्सीन (Synflorix vaccine) कैसे काम करती है।

और पढ़ें: Indirab vaccine: रेबीज के वायरल इंफेक्शन से बचने के लिए जरूर जानिए इस वैक्सीन के बारे में!

सिनफ्लोरिक्स वैक्सीन कैसे काम करती है?

इस बात का ध्यान रखना बेहद जरूरी है कि इस वैक्सीन को लेने से पहले आप अपने डॉक्टर से इसके बारे में पूरी तरह से जान लें। यही नहीं, इस वैक्सीन की कितनी डोज लेनी हैं, डोज इंटरवेल्स और फ्रीक्वेंसी भी आपके डॉक्टर ही निर्धारित करेंगे। यह सब चीजें बच्चे की उम्र, बॉडी वेट और हेल्थ कंडिशन पर निर्भर करती हैं। सिनफ्लोरिक्स वैक्सीन (Synflorix vaccine) माइल्ड इंफेक्शन की शुरुआत करके इम्युनिटी को विकसित करने में मदद करती है। इस इंफेक्शन से कोई बीमारी नहीं होती। लेकिन,शरीर का इम्यून सिस्टम भविष्य में इंफेक्शन से सुरक्षा के लिए एंटीबॉडीज बनाता है।

आमतौर पर बच्चे को सिनफ्लोरिक्स वैक्सीन की तीन डोजेज कम से कम एक महीने के गैप पर दी जाती है। इसकी पहली डोज उस समय दी जा सकती है जब बच्चा 6 महीने का होता है। तीन डोज के बाद बूस्टर डोज भी दी जाती है। यह बूस्टर डोज तीसरी डोज के 6 महीने के बाद दी जाती है। जानिए क्या हैं सिनफ्लोरिक्स वैक्सीन (Synflorix vaccine) के लाभ?

और पढ़ें: बायोवैक वैक्सीन: हेपेटाइटिस ए वायरस के गंभीर लक्षणों से राहत दिला सकती है ये वैक्सीन!

सिनफ्लोरिक्स वैक्सीन के फायदे क्या हैं? (Benefits of Synflorix vaccine)

यह वैक्सीन निमोनिया (Pneumonia), मेनिंजाइटिस (Meningitis), ईयर इंफेक्शन और ब्लड इंफेक्शंस (Ear and blood infections) से सुरक्षा करती है। यही नहीं, यह वैक्सीनेशन बच्चों, बुजुर्गों या जिन लोगों का इम्यून सिस्टम (Immune System) कमजोर है, उन्हें कई तरह के न्यूमोकोकल रोगों (Pneumococcal diseases) से बचाने के लिए जरूरी है। अगर आपके मन में इस वैक्सीन के बारे में कोई भी सवाल या चिंता है, तो अपने डॉक्टर से अवश्य बात करें। इस वैक्सीन को 6 महीने से लेकर 5 साल तक के बच्चों को लगाने की सलाह दी जाती है। इस वैक्सीन को लगाने के बाद कुछ लोग इसके साइड इफेक्ट्स का अनुभव भी कर सकते हैं। आइए जानें इन साइड इफेक्ट्स के बारे में।

हेक्साक्सिम वैक्सीन साइड इफेक्ट्स

और पढ़ें: बच्चों को टीकाकरण के बाद दर्द या सूजन की हो समस्या, तो अपनाएं ये उपाय

सिनफ्लोरिक्स वैक्सीन के साइड इफेक्ट्स (Side effects of Synflorix vaccine)

सिनफ्लोरिक्स वैक्सीन (Synflorix vaccine) से होने वाले साइड इफेक्ट्स आमतौर पर माइल्ड होते हैं और समय के साथ खुद ही ठीक हो जाते हैं। यह वैक्सीन बच्चों को कई बैक्टीरियल इंफेक्शंस से बचाती है। ऐसे में इस वैक्सीन को लेने के बाद माइल्ड बुखार या डिस्कम्फर्ट हो सकता है। इसके अलावा इस वैक्सीन के अन्य सामान्य साइड इफेक्ट्स इस प्रकार हैं:

  • इंजेक्शन साइट में दर्द (Injection Site Pain)
  • इंजेक्शन साइट पर लालिमा (Injection Site Redness)
  • इंजेक्शन साइट पर सूजन (Injection Site Swelling)
  • इंजेक्शन साइट पर हार्डनेस (Injection Site Hardness)
  • बुखार (Fever)
  • नींद आना (Feeling sleepy)
  • भूख में कमी (Loss of appetite)

सिनफ्लोरिक्स वैक्सीन के गंभीर साइड इफेक्ट्स इस प्रकार हैं:

इस वैक्सीन के कारण होने वाले गंभीर साइड इफेक्ट्स में एलर्जिक रिएक्शन शामिल हैं, जैसे:

  • स्किन रैशेस (Skin rashes)
  • हाइव्स (Hives)
  • चेहरे, होंठों, जीभ, गले में सूजन, जिसके कारण सांस लेने में समस्या हो

और पढ़ें: प्रिजर्वेटिव फ्री फ्लू वैक्सीन लेना सही है क्या? इसके बारे में आपका जानना बहुत जरूरी है….

सिनफ्लोरिक्स वैक्सीन के दुर्लभ साइड इफेक्ट्स इस प्रकार हैं:

यह तो थे सिनफ्लोरिक्स वैक्सीन (Synflorix vaccine) के साइड इफेक्ट्स। अगर यह साइड इफेक्ट्स गंभीर हों, अधिक समय तक ठीक न हों या अगर इनके कारण आपको बहुत अधिक परेशानी हो रही हो, तो इन्हें नजरअंदाज न करें। बल्कि, तुरंत डॉक्टर की सलाह लें। इसके अलावा इन साइड इफेक्ट्स को मैनेज करने के तरीके इस प्रकार हैं:

इंजेक्शन साइट पर दर्द और अन्य परेशानियां (Injection site pain and other problems)

इंजेक्शन साइट पर दर्द और अन्य परेशानियां होने पर आराम करें। इंजेक्टेड एरिया को अधिक बार मूव न करें। इसके साथ ही इस स्थान पर आइस पैक (Ice pack) रखें, ताकि आपको रेडनेस, स्वेलिंग और अन्य समस्याओं से आराम मिले। अगर यह साइड इफेक्ट्स ठीक न हों तो मेडिकल हेल्प लेना जरूरी है।

भूख में कमी (Loss of appetite)

अगर आपको सिनफ्लोरिक्स वैक्सीन (Synflorix vaccine) के बाद भूख कम लग रही है, तो कम मात्रा में थोड़ी-थोड़ी देर बाद खाएं। हमेशा पौष्टिक आहार का सेवन करें। ऐसे स्नैक्स को लें जिनमें कैलोरीज और प्रोटीन अधिक मात्रा में हो जैसे ड्राय फ्रूट्स और नट्स आदि। लेकिन, इस दौरान होने वाली किसी भी परेशानी को मामूली न समझें और डॉक्टर की सलाह लें। अब जानें कि इस वैक्सीन से पहले किन चीजों का रखना चाहिए खास ख्याल?

और पढ़ें: बैक्टीरियल जॉइन्ट इन्फ्लेमेशन! जानिए दर्द और इंफेक्शन से जुड़ी इस तकलीफ को

सिनफ्लोरिक्स वैक्सीन से पहले इन चीजों का खास ध्यान रखें?

अन्य वैक्सीन्स की तरह इस वैक्सीन को लगाने से पहले आपको इसके बारे में हर जानकारी होनी चाहिए। इसके साथ ही जिस व्यक्ति या बच्चे को यह वैक्सीन लगाई जानी है, उसके बारे में डॉक्टरों को सब कुछ पता होना चाहिए। यानी, उसकी मेडिकल और फैमिली हिस्ट्री के बारे में डॉक्टर को जरूर बताएं। इसके साथ ही इन बातों का भी ख्याल रखना जरूरी है:

  • सिनफ्लोरिक्स वैक्सीन (Synflorix vaccine) की हर एक डोज में कम से कम एक महीने का अंतर होना जरूरी है।
  • अगर आपके बच्चे को हाय टेम्प्रेचर (High Temperature) है, तो डॉक्टर को बताएं। इस स्थिति में इस वैक्सीन को नहीं लगाया जाता है
  • गर्भवती महिलाओं को इस वैक्सीन की सलाह नहीं दी जाती है। गर्भावस्था में यह वैक्सीन आपके या आपके शिशु के लिए हानिकारक हो सकती है। अगर आप गर्भवती हैं, तो डॉक्टर को इस वैक्सीन से पहले अवश्य बताएं। यही नहीं, स्तनपान कराने वाली महिलाओं को भी इसे नहीं लेना चाहिए। क्योंकि, यह दवा ब्रेस्ट मिल्क (Breast milk) के माध्यम से आपके बच्चे तक पहुंच सकती है और उसके लिए हानिकारक हो सकती है।
  • अगर आपके बच्चे को किसी तरह की कोई एलर्जी है या इसी वैक्सीन के किसी कॉम्पोनेन्ट से एलर्जी है तो भी उसे यह वैक्सीन नहीं लगवानी चाहिए।
  • अगर किसी को ब्रीदिंग प्रॉब्लम (Breathing Problem) या रेस्पिरेटरी इमेच्योरिटी (Respiratory immaturity) है, तो इस सिनफ्लोरिक्स वैक्सीन (Synflorix vaccine) से पहले डॉक्टर से अवश्य बात करें।
  • अगर आपके बच्चे की इम्युनिटी कमजोर है, उसे सीजर डिसऑर्डर्स (Seizure disorders) हैं, स्प्लीन, सिकल सेल डिजीज (Sickle cell disease) है तो भी डॉक्टर को पहले ही बता दें। इसके साथ ही अगर आपका बच्चा किसी अन्य दवा, हर्बल उत्पाद या सप्लीमेंट का सेवन कर रहा है, तो इस बारे में भी डॉक्टर को पता होना जरूरी है। क्योंकि, कई दवाईयां और अन्य प्रोडक्ट इस वैक्सीन के साथ इंटरैक्ट कर सकते हैं और नुकसानदायक साबित हो सकते हैं।

प्रेग्नेंसी में टीकाकरण की क्यों होती है जरूरत ?

(function() { var qs,js,q,s,d=document, gi=d.getElementById, ce=d.createElement, gt=d.getElementsByTagName, id="typef_orm", b="https://embed.typeform.com/"; if(!gi.call(d,id)) { js=ce.call(d,"script"); js.id=id; js.src=b+"embed.js"; q=gt.call(d,"script")[0]; q.parentNode.insertBefore(js,q) } })()

और पढ़ें: क्वाड्रोवैक्स वैक्सीन: इन बीमारियों से सुरक्षा प्रदान करती है ये वैक्सीन!

यह तो थी सिनफ्लोरिक्स वैक्सीन (Synflorix vaccine) के बारे में जानकारी। इसमें कोई संदेह नहीं है कि यह वैक्सीन बेहद प्रभावी और सुरक्षित है। इससे कई बीमारियों से बचाव भी संभव है। लेकिन, इसे लेने से पहले अपने डॉक्टर से जरूर बात करें। इसके साथ ही इसकी सही डोज के बारे में भी जान लें। अगर इसे लेने के बाद कोई भी साइड इफ़ेक्ट नजर आए तो तुरंत डॉक्टर को बताएं। आप हमारे फेसबुक पेज पर भी अपने सवालों को पूछ सकते हैं। हम आपके सभी सवालों के जवाब आपको कमेंट बॉक्स में देने की पूरी कोशिश करेंगे। अपने करीबियों को इस जानकारी से अवगत कराने के लिए आप ये आर्टिकल जरूर शेयर करें।

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र

Synflorix.https://www.immune.org.nz/vaccines/available-vaccines/synflorix .Accessed on 31/10/21

conjugate vaccine (Synflorix; PHiD-CV).https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/19725600/ .Accessed on 31/10/21

Booster Vaccination With Synflorix™. https://clinicaltrials.gov/ct2/show/NCT01641133 .Accessed on 31/10/21

SYNFLORIX. https://www.medsafe.govt.nz/consumers/cmi/s/synflorixinj.pdf .Accessed on 31/10/21

 Synflorix. https://www.paho.org/hq/dmdocuments/2009/Vacuna%2010%20Valente.pdf

.Accessed on 31/10/21

लेखक की तस्वीर badge
AnuSharma द्वारा लिखित आखिरी अपडेट कुछ हफ्ते पहले को
Sayali Chaudhari के द्वारा मेडिकली रिव्यूड