मीठी-रसीली बेरीज के बारे में क्या ये बातें जानते हैं आप?

    मीठी-रसीली बेरीज के बारे में क्या ये बातें जानते हैं आप?

    आपने स्ट्रॉबेरी, ब्लूबेरी आदि बैरीज तो खाई ही होगी, लेकिन क्या आपको पता है कि बेरी प्रजाति के इन फलों के 400 से भी अधिक प्रकार है। बेरी रेड, ब्लू और पर्पल के अलावा व्हाइट और यलो कलर का भी होता है। खट्टे-मीठे स्वाद वाली बेरीज सेहत के लिए बहुत फायदेमंद होती है। इस आर्टिकल में हम आपको बताने जा रहे हैं बेरीज के प्रकार और फायदे के बारे में (Type of berries and their benefits)। बेरीज के प्रकार और फायदे (Type of berries and their benefits) जानने के बाद यकीनन आप इसे अपनी डेली डायट का हिस्सा बनाएंगे।

    बेरीज क्या है? (What are berries)

    बेरीज फल का एक प्रकार है जो कई वैरायटी में मिलता है। यह गोल, छोटे, मुलायम और कई रंगों में मिलते हैं। खट्टे-मीठे स्वाद वाली बेरीज जैम और मीठे व्यंजन बनाने में इस्तेमाल होती है। यह पोषक तत्वों से भरपूर होती है। खासतौर पर इसमें फाइबर (Fiber), विटामिन सी (Vitamin C) और एंटीऑक्सीडेंटड पॉलीफेनोल्स (Antioxidant polyphenols)। इसलिए बेरीज (berries) को अपनी डेली डायट में शामिल करके आप कई क्रॉनिक डिसीज (chronic diseases) के लक्षणों को कम कर सकते हैं।

    बेरीज में मौजूद पोषक तत्व (Berries nutritional value)

    बेरीज में कई तरह के पोषक तत्व होते हैं, जो आपको कई तरह की बीमारियों से बचाने में मदद करते हैं। बेरीज में मौजूद पोषक तत्वों में शामिल है-

    एंटीऑक्सीडेंट (Antioxidants) – सभी तरह की बेरीज में एंटीऑक्सीडेंट (antioxidants) होता है। कम ही लोग जानते हैं कि एंटीऑक्सीडेंट बीमारियों से बचाने में मदद करने के साथ ही आपकी त्वचा और बालों को भी स्वस्थ बनाता है। आप भी बेरी स्मूदी एंजॉय करिए और खुद को हेल्दी रखिए।

    लो कैलोरी (Low calories) – यदि आपको बेरीज बहुत पसंद हैं, तो आप बिना टेंशन के जी भर के बेरीज खा सकते हैं, क्योंकि इसमें कैलोरी की मात्रा बहुत कम होती है। तो जो लोग वजन कम (Weight loss) करना चाहते हैं उन्हें अपनी डायट में बेरीज जरूर शामिल करनी चाहिए। रसीले बेरीज में पानी की भरपूर मात्रा होती है तो बेरीज खाकर आप डिहाइड्रेशन (Dehydration) से भी बच सकते हैं। एक कप ब्लूबेरी में सिर्फ 80 कैलोरी (calories) होती है। तो स्नैक्स में चिप्स और नमकीन खाने की बजाय अलग-अलग टाइप के बेरीज खाएं।

    और पढ़ें- डायजेस्टिव हेल्थ से हैं परेशान, तो अपनाएं इस लो FODMAP डायट को

    फाइबर (Fiber) – लगभग सभी बेरीज में 80 प्रतिशत पानी होता है और बाकी बचा फाइबर। फाइबर हेल्दी डायट का अहम हिस्सा है। यह आपके बाउल हेल्थ (bowel health) को दुरुस्त रखने के साथ वजन नियंत्रित रखने में मदद करता है। लेकिन फाइबर का पूरा सेवन करने के लिए जरूरी है कि आप बेरीज को ऐसे ही छिलके साथ खाएं, क्योंकि जूस निकालकर छानने पर फाइबर अलग हो जाता है या फिर इसे पीसकर स्मूदी बनाकर पीएं।

    फोलेट (Folate)- फोलेट जिसे विटामिन बी के नाम से भी जाना जाता है, कार्डियोवस्कुलर हेल्थ (Cardiovascular health) के लिए बहुत जरूरी है। कई स्टडी भी बताती है कि यह डिप्रेशन (depression) जैसे मूड डिसऑर्डर को दूर करने में मददगार है। बेरीज खासतौर पर प्रेग्नेंट महिलाओं केलिए बहुत फायदेमंद है। यह न सिर्फ भ्रूण के विकास संबंधी डिसऑर्डर (fetal growth disorders) से बचाव करता है, बल्कि न्यूरोलॉजिकल बर्थ डिफेक्ट (neurological birth defects) को भी रोकता है।

    इन बीमारियों से बचाव कर सकती है बेरीज (Berries may prevent these diseases)

    Type of berries and their benefits-बेरीज के प्रकार और फायदे

    सही मात्रा में नियमित रूप से बेरीज के सेवन से आप कई तरह की बीमारियों से बच सकते हैं, जिसमें शामिल है-

    डायबिटीज (Diabetes)- बेरीज में मौजूद पोषक तत्व टाइप 2 डायबिटीज (type 2 diabetes) से बचाव में मदद करते हैं। इतना ही नहीं डायबिटीज मरीजों के लिए भी बेरीज खाना फायदेमंद है। फाइबर (Fiber) से भरपूर बेरी बहुत मीठी नहीं होती यानी इसमें ढेर सारी शुगर की मात्रा नहीं होती जो इसे डायबिटीज पेशेंट के लिए परफेक्ट फ्रूट बनाती है

    मानसिक कमजोरी (mental decline) से बचाव- कई अध्ययन बताते हैं कि जो महिलाएं अक्सर बेरीज खाती है उम्र बढ़ने के साथ ही उन्हें मानसिक कमजोरी जैसे याददाश्त कम होना, सोचने और तर्क शक्ति में कमी आने जैसी समस्याएं नहीं होती।

    यूरिनरी ट्रैक्ट इंफेक्शन (urinary tract infections)- यह महिलाओं में होने वाली आम बीमारी है। कई स्टडी के मुताबिक, क्रैनबेरी का जूस (cranberry juice) पीने से यूरिनरी ट्रैक्ट इंफेक्शन से जल्दी रिकवरी होती है। दरअसल, क्रैनबेरी में कई पौष्टिक त्तव होते हैं जो इंफेक्शन पैदा करने वाले हानिकारक तत्वों को शरीर से बाहर निकालने में मदद करता है। ब्लूबेरी भी क्रैनबेरी की तरह ही फायदेमंद है। बेहतर यूरिनरी ट्रैक्ट हेल्थ के लिए क्रैनबेरी और ब्लूबेरी जूस (cranberry and blueberry juice) पीना अच्छा विकल्प है।

    और पढ़ें- अगर आप हैं एथलिट, तो वजन कम करने के लिए फॉलो करें इस हेल्दी डायट को!

    दिल की बीमारी (Heart disease) से बचाव- सभी तरह की बेरीज दिल के लिए फायदेमंद होती है। क्योंकि बेरीज फैट-फ्री, कोलेस्ट्रॉल फ्री और पौष्टिक तत्वों से भरपूर होती है, तो आपके हार्ट को हेल्दी रखने में मदद करती है।

    आंखों को स्वस्थ (Eyes healthy) रखने में मदद करती है – हर हफ्ते कम से कम 3 सर्विंग बेरीज खाने से मस्क्यूलर डिजनरेशन (macular degeneration) से बचा जा सकता है।

    कैंसर (cancer) से बचाव- कई अध्ययन बताते हैं कि क्रैनबेरी (cranberries) आपके संपूर्ण स्वास्थ्य को ठीक रखने में मदद करके आपको हेल्दी रखता है। साथ ही इसमें मौजूद कुछ केमिकल्स कैंसर सेल्स (cancer cells) को बनने से रोकते हैं।

    अल्जाइमार रोग (Alzheimer’s disease) से बचाव- कई स्टडी में यह साबित हुआ है कि बेरीज में मौजूद पॉलीफेनोलिक्स (polyphenolics) मस्तिष्क में जमा हानिकारक टॉक्सिन को बाहर निकाल देती है, यह टॉक्सिन ही अल्जाइमर रोग के लिए जिम्मेदार होते हैं।

    बेरीज के प्रकार और फायदे (Type of berries and their benefits)

    बेरीज कई तरह की होती है, जानकारों का मानना है कि दुनिया में इसकी 400 से भी अधिक वैरायटी है। यहां हम आपको बेरीज के कुछ लोकप्रिय प्रकार के बारे में बताने जा रहे हैं। आइए जानते हैं, बेरीज के प्रकार और फायदे (Type of berries and their benefits)।

    बेरीज के प्रकार और फायदे : स्ट्रॉबेरी (STRAWBERRY)

    बेरीज के प्रकार और फायदे (Type of berries and their benefits) में सबसे पहले बात करते हैं स्ट्रॉबेरी की, जो बच्चों को बहुत पसंद आती है। लाल रंग की स्ट्रॉबेरी एंटीऑक्सीडेंट भरपूर मात्रा में होती है जो शरीर में हैवी मेटल्स को न्यूट्रिलाइज करने और डिटॉक्स करने में मदद करता है। इसके अलावा इसमें विटामिन्स और मिनरल्स की भी भरपूर मात्रा होती है जो आपको स्वस्थ रहने में मदद करती है। इस बेरी के हेल्थ बेनिफिट्स में शामिल है-

    • हाय ब्लड प्रेशर (High blood pressure) और कोलेस्ट्रॉल (Cholesterol) कम करने में मददगार हो सकता।
    • मस्तिष्क (Brain) पर उम्र के असर को कम करता है
    • ब्लड शुगर (Blood sugar) लेवल को नियंत्रित रखने में मदद करता है।

    बेरीज के प्रकार और फायदे: ब्लूबेरी (BLUEBERRY)

    ब्लूबेरी विटामिन सी, के और बी6 से भरपूर होता है। साथ ही यह फाइबर, पोटैशियम, पॉली न्यूट्रिएंट्स और एंटीऑक्सीडेंट का बेहतरीन स्रोत है। इस बेरी के हेल्थ बेनिफिट्स में शामिल है-

    • नियमित रूप से इसके सेवन से दिल की बीमारियों (Heart disease) का खतरा कम हो जाता है, क्योंकि यह ब्लड में कोलेस्ट्रॉल (Cholesterol) की मात्रा कम करने में मदद करता है।
    • इसमें मौजूद एंटीऑक्सीडेंट तनाव कम करने में मदद करता है।
    • यह बैड कोलेस्ट्रॉल का लेवल कम करने में मदद करता है जिससे हार्ट अटैक का खतरा कम हो जाता है और आर्टरी सही तरीके से काम करती है।
    • ब्लूबेरी इंसुलिन की संवेदनशीलत में सुधार करके इसे बढ़ाता है जिससे टाइप 2 डायबिटीज (type 2 diabetes) का जोखिम कम हो जाता है।

    रास्पबेरी (RASPBERRY)

    विटामिन्स, एंटीऑक्सीडेंट, डायट्री फाइबर और मिनरल्स से भरपूर रास्पबेरी में इलैजिक एसिड (Ellagic acid) नामक तत्व होता है जो कैंसर सेल्स के विकास को रोककर कैंसर से बचाव करता है। इस बेरी के हेल्थ बेनिफिट्स में शामिल है-

    • ब्रेन पावर बढ़ाने के साथ ही न्यूरोलॉजिकल सिस्टम को दुरुस्त रखता है।
    • इसमें मौजूद एंटीऑक्सीडेंट कार्डियोवस्कुलर डिसीज के खतरे को कम करता है।
    • इसमें मौजूद फाइबर और पानी कब्ज की समस्या दूर करके पाचन को दुरुस्त रखता है।
    • इसमें मौजूद तत्व इन्फ्लामेशन (inflammation) को रोकता है जो टाइप 2 डायबिटीज का जोखिम कारक हो सकता है।

    और पढ़ें- मिलिट्री डायट : वेट लॉस के लिए ये है एक स्पेशल डायट!

    बेरीज के प्रकार और फायदे: क्रैनबेरी (CRANBERRY)

    बेरीज के प्रकार और फायदे (Type of berries and their benefits) में अब बात क्रैनबेरी की जो महिलाओं के लिए बहुत फायदेमंद हो सकती है। जानकारों के मुताबिक, यह वजाइनल प्रॉब्लम (Vaginal problems) में बहुत फायदेमंद है। इसमें एंटीऑक्सीडेंट, एंटी-कैंसर, एंटी इन्फ्लामेट्री गुण होते हैं साथ ही यह विटामिन के, कॉपर, विटामिन सी और मैग्नीशियम का अच्छा स्रोत है। इस बेरी के हेल्थ बेनिफिट्स में शामिल है-

    • रिसर्चर के मुताबिक, यूरिनरी ट्रैक्ट इंफेक्शन (urinary tract infection (UTI)) के खतरे को कम करता है।
    • यह सर्वाइकल कैंसर (cervical cancer ) और हेल्दी वजाइनल pH (healthy vaginal pH) को मेंटेन करने में मदद करता है।
    • इम्यून फंक्शन (immune function) को बेहतर बनाने में मदद करता है।
    • ब्लड प्रेशर (blood pressure) को कम करता है।

    गोजी बेरी (GOJI BERRY)

    Type of berries and their benefits-बेरीज के प्रकार और फायदे

    गोजी बेरी में बीटा कैरोटीन (Beta-carotene) होता है जो आंखों, त्वचा और बालों को स्वस्थ बनाता है। इसके नियमित सेवन से इम्यून सिस्टम मजबूत बनता है। इसमें थायामिन (Thiamine), राइबोफ्लेविन (Riboflavin), ल्यूटिन (Lutein), लाइकोपीन (Lycopene), ज़ेक्सैन्थिन (Zeaxanthin), पॉलीसेकेराइड्स (Polysaccharides) और पेप्टिडोग्लाइकेन्स (Peptidoglycans) होता है। इस बेरी के हेल्थ बेनिफिट्स में शामिल है-

    • इम्यूनिटी बूस्ट करता है।
    • दिल की बीमारियों से लड़ने में मदद करता है।
    • मस्तिष्क को स्वस्थ रखने में मददगार।
    • पाचन ठीक रखता है।

    ध्यान रखें कि प्रेग्नेंट और ब्रेस्टफीड कराने वाली महिलाओं और ब्लड थिनर लेने वालों का इसका सेवन नहीं करना चाहिए।

    अकाई बेरी (ACAI BERRY)

    बेरीज के प्रकार और फायदे (Type of berries and their benefits) में चलिए जानते हैं अकाई बेरी के बारे में जिसमें एंथसायनिन (Anthocyanin) की मात्रा अधिक होती है। यह प्लांट एंटीऑक्सीडेंट है जो कोलेस्ट्रॉल लेवल को कम करने में मदद करता है। इस बेरी के हेल्थ बेनिफिट्स में शामिल है-

    • इसके नियमित सेवन से वजन कम (Weight loss) करने में मदद मिलती है।
    • डाइजेशन (Digestion) ठीक रखने में मदद मिलती है
    • इरिटेशन (Irritation) कम करता है

    और पढ़ें- क्या आप चाहते हैं डायबिटीज डायट से वजन घटाना? तो ये डायट प्लान आएंगे काम!

    ब्लैकबेरी (BLACKBERRY)

    इसमें बायोफ्लेवोनॉयड, विटामिन सी और कई फायदेमंद तत्व होते हैं। ब्लूबेरी में सोडियम और कैलोरी की मात्रा कम होती है। यह एंटीऑक्सीडेंट (Antioxidants) से भरपूर होता है। इस बेरी के हेल्थ बेनिफिट्स में शामिल है-

    • इसमें मौजूद विटामि सी घाव को जल्दी ठीक करने और आयरन के अवशोषण में मदद करता है।
    • कोलेस्ट्रॉल और ब्लड शुगर लेवल को नियंत्रित रखता है।
    • इसमें मौजूद मैग्नीशियम ऑस्टियोपोरोसिस (Osteoporosis) और सिजर्स के खतरे को कम करने में मदद करता है।

    बेरीज के प्रकार और फायदे: गूजबेरी (GOOSEBERRY)

    बेरीज के प्रकार और फायदे (Type of berries and their benefits) में अब बात गूजबेरी की जिसे आंवला भी कहा जाता है जो विटामिन सी से भरपूर होता है और आपके मेटाबॉलिक रेट और पाचन को तेज करता है। यह प्रोटीन को तेजी से पचने में मदद करता है। इस बेरी के फायदे में शामिल है-

    • यह शरीर को फ्री रेडिकल्स के प्रति सुरक्षा प्रदान करता है।
    • संक्रमण और बीमारियों से सुरक्षा देता है।
    • नियमित सेवन से बाल और त्वचा हेल्दी बनी रहती है।
    • ब्लड शुगर लेवल को कंट्रोल करने में मददगार है।बेरीज के प्रकार और फायदे

    बेरीज के प्रकार और फायदे: एल्डरबेरी (ELDERBERRY)

    यह डायट्री फाइबर से भरपूर होता है। इसके अलावा इसमें विटामिन ए और सी की भी भरपूर मात्रा होती है, जो आपके पूरे शरीर को स्वस्थ रखने में मदद करता है। एल्डरबेरी के फूलों का इस्तेमाल चाय, सिरप और अन्य पेय बनाने में किया जाता है। इस बेरी के फायदे में शामिल है-

    • कब्ज और गैस की समस्या से छुटकारा दिलाता है।
    • इम्यून सिस्टम को मजबूत करने में मददगार है।
    • गैस्ट्रोइन्टेस्टाइनल सिस्टम (Gastrointestinal system) को हेल्दी रखता है।

    बिलबेरी (BILBERRY)

    बेरीज के प्रकार और फायदे (Type of berries and their benefits) में अब बात सबसे छोटे बेरी यानी बलबेरी की जो ब्लूबेरी से तीन गुणा छोटा होता है, लेकिन फ्लेवर और स्वरूप उसकी तरह ही होता है। इसमें एंटीऑक्सीडेंट की मात्रा बहुत अधिक होती है। इस बेरी के फायदे में शामिल है-

    • दिल के लिए फायदेमंद। इसमें मौजूद विटामिन-के ब्लड क्लॉट्स को बनने से रोकता है।
    • आंखों की रोशनी को तेज करने में मददगार है।
    • मसूड़ों की सूजन कम करता है।
    • ब्लड शुगर लेवल को नियंत्रित रखने में मदद करता है।

    बेरीज की वैसे तो बहुत सारी वैरायटी है, लेकिन सब आसानी से मिलती नहीं है। आपके आसपास इसकी जो भी वैरायटी मिले उसका सेवन करें, क्योंकि हर तरह की बेरी सेहत के लिए फायदेमंद होती है। बेरीज के प्रकार और फायदे (Type of berries and their benefits) जानने के बाद तो यकीनन आप इसे अपनी डायट में शामिल करना चाहेंगे।

    हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

    लेखक की तस्वीर badge
    Toshini Rathod द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 07/11/2021 को
    डॉ. प्रणाली पाटील के द्वारा मेडिकली रिव्यूड