home

हम इसे कैसे बेहतर बना सकते हैं?

close
chevron
इस आर्टिकल में गलत जानकारी दी हुई है.
chevron

हमें बताएं, क्या गलती थी.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
इस आर्टिकल में जरूरी जानकारी नहीं है.
chevron

हमें बताएं, क्या उपलब्ध नहीं है.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
हम्म्म... मेरा एक सवाल है
chevron

हम निजी हेल्थ सलाह, निदान और इलाज नहीं दे सकते, पर हम आपकी सलाह जरूर जानना चाहेंगे। कृपया बॉक्स में लिखें।

wanring-icon
यदि आप कोई मेडिकल एमरजेंसी से जूझ रहे हैं, तो तुरंत लोकल एमरजेंसी सर्विस को कॉल करें या पास के एमरजेंसी रूम और केयर सेंटर जाएं।

लिंक कॉपी करें

कभी नहीं सुना होगा ऐसी अजब गजब बीमारी के बारे में

कभी नहीं सुना होगा ऐसी अजब गजब बीमारी के बारे में

दुनिया में अजब गजब चीजों की कोई कमी नहीं है। हमारे आस-पास कई ऐसे लोग होते हैं, जो हम सब से थोड़े अलग होते हैं। लेकिन जब हमें उनसे संबंधित तथ्यों के बारे में पता चलता है तो हमें दिमाग पर जोर डालने के लिए मजबूर कर देते हैं। कुछ ऐसे ही अजब गजब बीमारी के बारे में आप जानकर हैरान रह जाएंगे। कभी आपने किसी बच्चे को पूंछ के साथ पैदा होते हुए देखा है, या फिर किसी लड़की के पास दो वजायना के बारे में सुना है? तो आइए जानते हैं कुछ ऐसी ही अजब गजब बीमारी के बारे में…

और पढ़ें : पिछले दस सालों से डूगर के सीने में धड़क रहा है नकली दिल

पूंछ के साथ पैदा होते ही बच्चा हो गया फेमस

नोएडा के अस्पताल में जन्मे ऑटो चालक कौशलेंद्र कुमार का बच्चा पैदा होने के साथ ही फेमस हो गया। बच्चे का जन्म होते ही रिश्तेदारों का तांता अस्पताल में लग जाता है। लेकिन, इस अजब गजब बीमारी ग्रसित बच्चे को देखने के लिए गांव तो गांव आस-पास के लोग भी दूर-दूर से आने लगे।

मैनपुरी के रहने वाले कौशलेन्द्र ने बताया कि उन्होंने अपनी गर्भवती पत्नि अल्का को दनकौर के प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र (primary health centre) में भर्ती कराया। जहां नॉर्मल डिलिवरी से उनके बच्चे का जन्म हुआ। एक बच्चे ने पूंछ के साथ जन्म लिया है। यह खबर जैसे ही अस्पताल में फैली वैसे ही अस्पताल के कर्मचारी ही नहीं अस्पताल के बाहर से भी लोग अस्पताल की ओर भागे चले आए। भीड़ इतनी ज्यादा बढ़ गई कि डॉक्टरों ने माता-पिता को बच्चे के साथ अस्पताल से डिस्चार्ज करना पड़ा। सामान्य तौर पर इतनी जल्दी डिस्चार्ज नहीं किया जाता है। लेकिन अजब गजब बीमारी से ग्रसित बच्चे के कारण भीड़ लगने लगी थी, तो मजबूरी में डॉक्टर को डिस्चार्ज करना पड़ा।

और पढ़ें : सेबेशियस हॉर्न की बीमारी के कारण इस व्यक्ति के सिर पर निकली सींग

डॉक्टर भी देख कर रह गए हैरान

दनकौर स्थित प्राइमरी हेल्थ सेंटर में अजब गजब बीमारी के साथ जन्मे बच्चे को देखकर डॉक्टर भी हैरान रह गए। दरअसल बच्चा पूंछ के साथ जन्मा था। पूंछ का आकार-प्रकार देखकर यह अफवाह फैल गई कि बच्चा दो रिप्रोडक्टिव ऑर्गन (reproductive organ) के साथ पैदा हुआ है। लेकिन, बाद में डॉक्टरों ने साफ किया कि यह रिप्रोडक्टिव ऑर्गन नहीं है। डॉक्टरों ने उन्हें शांत करते हुए बताया कि बच्चे को इस अजब गजब बीमारी से किसी भी तरह का खतरा नहीं है।

डॉक्टर ने बताई ये वजह

डॉक्टर ने बताया कि एक अजब गजब बीमारी कंजेनाइटल एनॉमली (congenital anomaly) की वजह से बच्चे की पूंछ निकल आई है। एक या दो फीसदी लोगों में ही कंजेनाइटल एनॉमली (congenital anomaly) पाई जाती है। एनॉमली की वजह से कान में दिक्क्त, बाल ज्यादा होना या शरीर के अन्य किसी अंग में इस तरह की दिक्कत हो सकती है।

नोएडा के सीएमओ (chief medical officer) डॉक्टर अनुराग भार्गव ने बताया कि बच्चा पूरी तरह से स्वस्थ है। इस अजब गजब बीमारी से बच्चे पर किसी तरह का बुरा असर नहीं पड़ेगा। वह सामान्य बच्चों की तरह ही है और अन्य बच्चों की तरह मां का दूध पी रहा है।

और पढ़ें : नकली दांतों को सहारा देती है ये टेक्नीक, जानिए इसके बारे में सब कुछ

क्या है कंजेनाइटल एनॉमली (congenital anomaly)?

डॉ. भार्गव ने बताया कि अजब गजब बीमारी कंजेनाइटल एनॉमली (congenital anomaly) एक तरीके का सैक्रोकोक्सिजिएल टेराटोमा (sacrococcygeal teratoma) यानी यह एक तरह का ट्यूमर होता है, जो मां के गर्भाशय में ही पनप जाता है। यह टेलबोन (tailbone) या बेबी कोक्सिस (baby coccyx) से बढ़ता है। डॉ अनुराग ने कहा कि जल्द ही बच्चे को अस्पताल लाकर एमआरआई (MRI) कराने के बाद मांस के टुकड़े को अलग कर दिया जाएगा।

और पढ़ें : गर्भ में भी पॉल्यूशन से बच्चे को हो सकता है खतरा

अल्ट्रासाउंड की रिपोर्ट थी सामान्य

बता दें कि कौशलेंद्र ने अल्का का अल्ट्रासाउंड बच्चे के जन्म से पहले कराया था, लेकिन रिपोर्ट में अजब गजब बीमारी का कहीं कोई जिक्र नहीं था। रिपोर्ट में लिखा था नो ओबियस कोंजेनाइटल एनॉमली (no obvious congenital anomalies) ही दिया गया। कौशलेंद्र कुमार ने बताया कि 18 जून और 20 सितम्बर को अल्का का अल्ट्रासाउंड किया गया था। इसकी रिपोर्ट में ऐसी कोई भी संभावना जाहिर नहीं की गई थी।

और पढ़ें : बच्चों की ओरल हाइजीन को ‘हाय’ कहने के लिए शुगर को कहें ‘बाय’

7 साल के बच्चे के मुंह से निकले 526 दांत

इंसान के मुंह में औसतन 32 दांत होते हैं। लेकिन अगर आपको पता चले कि एक बच्चे के मुंह में 526 दांत हैं, तो आपको हैरानी होगी। लेकिन ऐसी अजब गजब बीमारी के बारे में आप जान कर हैरान रह जाएंगे। चेन्नई के सविता डेंटल कॉलेज में एक सात साल के बच्चे के मुंह से 526 दांत निकले। डॉक्टर्स के मुताबिक बच्चे को दांत दर्द और मसूड़ों में सूजन की शिकायत थी। डॉक्टर ने टेस्ट में पाया कि बच्चे को अजब गजब बीमारी ‘कंपाउंड ओडोनटोम’ (Compound odontoma) की समस्या है। मामले की गंभीरता को देखते हुए उन्होंने ऑपरेशन करने का फैसला लिया। ऑपरेशन के समय बच्चे के मुंह में पाउच दिखाई दिया, जिसमें 526 दांत थे।

526 teeth

और पढ़ें : Reticulocyte Test : रेटिकुलोसाइट टेस्ट क्या है?

‘कंपाउंड ओडोनटोम क्या है?

अजब गजब बीमारी कंपाउंड ओडोनटोम अनुवांशिक या फिर प्राकृतिक कारणों से हो सकता है। अस्पताल द्वारा दी गई जानकारी के आधार पर सर्जरी कर के निकाले गए सभी दांतों का आकार इंसान के सामान्य दांत के जैसा नहीं था। इनकी लंबाई 1 मिलीमीटर से 15 मिलीमीटर तक की थी। ये इनेमल (enamel) क्राउन से ढके हुए थे। वाकई में ये डेंटिस्ट्री (Dentistry) में पढ़े जाने वाले दुर्लभ केसेस में से एक है। इस अजब गजब बीमारी ने सभी लोगों को नए तथ्यों की खोज करने पर मजबूर कर दिया है।

एक लड़की के पास दो वजायना के साथ गर्भाशय भी हैं दो

मॉली रोज टेलर (Molly Rose Taylor) नाम की एक लड़की एक अजब गजब बीमारी से ग्रसित थी। उसे खुद अपनी समस्या के बारे में लगभग 17 साल बाद पता चला। मॉली रोज टेलर के पास दो वजायना, वॉम्ब (wombs) और सर्विक्स (cervices) हैं। 19 साल की मॉली को नौ साल की उम्र में ही पीरियड्स शुरू हो गए थे। उस समय मॉली को नहीं पता था कि इतनी जल्दी पीरियड्स उन्हें एक अजब-गजब बीमारि के कारण आ गए हैं। उन्हें उस समय पीरियड्स में बहुत ज्यादा दर्द हो रहा था।

डॉक्टर को दिखाने पर भी कुछ पता नहीं चला। मॉली को इतना ज्यादा दर्द होता था कि वह कई बार बेहोश भी हो जाती थी। जब भी मॉली पीरियड्स में टैम्पून का प्रयोग करती थी, तो टैम्पून अपने आप बाहर आ जाता था।

और पढ़ें : गर्भधारण के लिए सेक्स ही काफी नहीं, ये फैक्टर भी हैं जरूरी

दो वजायना के कारण होती थी पीरियड्स में हैवी ब्लीडिंग

मॉली को अपनी अजब गजब बीमारी के बारे में तब पता चला जब वह अपने बॉयफ्रेंड के साथ शारीरिक संबंध बनाए। तब उन्हें पता चला कि उनके पास दो वजायना है। 2017 में एक गायनेकोलॉजिस्ट ने उनकी इस अजब गजब बीमारी के बारे में पता लगाया। डॉक्टर ने मॉली को बताया कि उन्हें यूट्रस डिडेलफिस (uterus didelphys) नामक अजब गजब बीमारी है।

हर तीन हजार में से एक महिला इस अजब गजब बीमारी से प्रभावित होती है। इस अजब गजब बीमारी में दोनों वजायना से पीरियड एक साथ आते हैं। कहने का मतलब यह है कि दो पीरियड्स एक साथ आते हैं। इसलिए मॉली को पीरियड्स में ज्यादा दर्द होता था।

और पढ़ें : पीरियड्स से जुड़ी गलत धारणाएं और उनकी सच्चाई

2017 में मॉली ने लॉनजिट्यूडिनल सेप्टम को रिमूव कराने के लिए यूनिवर्सिटी कॉलेज लंदन हॉस्पिटल में ऑपरेशन कराया। जिसके बाद डॉक्टर्स ने सर्जरी के द्वारा उनकी एक वजायना, वॉम्ब, सर्विक्स को निकाल दिया।

और पढ़ें : कैसे स्ट्रेस लेना बन सकता है इनफर्टिलिटी की वजह?

यूट्रस डाइडेलफिस क्या है?

यूट्रस डाइडेलफिस को डबल यूट्रस भी कहते हैं। इसमें महिला का जन्म दो यूट्रस के साथ होता है। कभी-कभी इसमें अलग-अलग सर्विक्स और दो वजायना भी होती हैं। ऐसा इसलिए होता है क्योंकि महिला का भ्रूण में यूट्रस दो छोटी ट्यूबों के रूप में बाहर आना शुरू हो जाता है। जब भ्रूण विकसित हो जाता है, तब ट्यूब जुड़कर एक ऑर्गन बन जाता है, जो यूट्रस होता है। कई बार ये ट्यूब्स पूरी तरह नहीं जुड़ पाती और दोनों अलग-अलग विकसित होती हैं। इन महिलाओं में दो वॉम्ब होते हैं। प्यूबर्टी के बाद ही इसके बारे में मालूम होता है। इसका पता लगाने के लिए अल्ट्रासाउंड कराया जाता है। इस अजब गजब बीमारी में ऐसा भी हो सकती है कि एक साथ महिला दो बार प्रेग्नेंट हो जाए और दोनों वॉम्ब में उसके एक-एक बच्चा हो।

हैलो स्वास्थ्य किसी भी तरह की मेडिकल सलाह नहीं दे रहा है। अधिक जानकारी के लिए आप अपने डॉक्टर से बात करें।

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र

Congenital anomalies/https://www.who.int/Accessed on 13/12/2019

Congenital Abnormalities/https://www.healthychildren.org/Accessed on 13/12/2019

Birth Defects and Congenital Anomalies | Symptoms and Causes/http://www.childrenshospital.org/Accessed on 13/12/2019

What is a congenital disorder?/https://www.pregnancybirthbaby.org.au/what-is-a-congenital-disorder/Accessed on 13/12/2019

1.4 Congenital Anomalies – Definitions/https://www.cdc.gov/ncbddd/birthdefects/surveillancemanual/chapters/chapter-1/chapter1-4.html/Accessed on 13/12/2019

Woman with agonising period pain discovers why when she first has sex/www.news.com.au/Accessed on 13/12/2019

Nanny, 19, discovers she has two vaginas after years of agonising period pains/https://www.mirror.co.uk/news/uk-news/nanny-19-discovers-two-vaginas-20588622/Accessed on 13/12/2019

Teenager with TWO vaginas, wombs and cervixes says it took doctors eight years to spot her unusual anatomy after they repeatedly dismissed her excruciating period pains/www.dailymail.co.uk/Accessed on 13/12/2019

Woman reveals what it’s like to have two vaginas, two cervixes and two wombs/https://metro.co.uk/2019/10/22/woman-reveals-like-two-vaginas-two-cervixes-two-wombs-10964355/Accessed on 13/12/2019

Woman born with two vaginas, two wombs and two cervixes defies odds to become mum/https://www.mirror.co.uk/news/uk-news/woman-born-two-vaginas-two-20419704/Accessed on 13/12/2019

लेखक की तस्वीर
Dr Sharayu Maknikar के द्वारा मेडिकल समीक्षा
Hema Dhoulakhandi द्वारा लिखित
अपडेटेड 26/09/2019
x