home

What are your concerns?

close
Inaccurate
Hard to understand
Other

लिंक कॉपी करें

रेड रास्पबेरी लीफ टी: प्रेग्नेंसी में इस तरह से फायदेमंद है यह हर्बल टी

रेड रास्पबेरी लीफ टी: प्रेग्नेंसी में इस तरह से फायदेमंद है यह हर्बल टी

प्रेग्नेंसी में होने वाली मां को अपना और गर्भ में पल रहे अपने शिशु की खास देखभाल करने की जरूरत होती है। इस कंडिशन में जहां कुछ चीजों का सेवन करना फायदेमंद माना जाता है, वहीं किन्हीं चीजों का सेवन करने की सलाह नहीं दी जाती। प्रेग्नेंसी के दौरान लाभदायक चीजों की लिस्ट बहुत लंबी है। इन्हीं में से एक है रेड रास्पबेरी लीफ टी (Red Raspberry Leaf Tea)। यह एक हर्बल टी है जिसका सेवन कई सालों से प्रेग्नेंसी में किया जाता है। रेड रास्पबेरी एक ऐसा प्लांट है, जो यूरोप और एशिया के कुछ हिस्सों में अधिक पाया जाता है। यह पौधा एक स्वीट और न्युट्रिशयस बेरीज के लिए जाना जाता है। आइए जानते हैं प्रेग्नेंसी में रेड रास्पबेरी लीफ टी (Red Raspberry Leaf Tea) के फायदों के बारे में विस्तार से। सबसे पहले जानिए रेड रास्पबेरी लीफ टी (Red Raspberry Leaf Tea) क्या है?

रेड रास्पबेरी लीफ टी क्या है? (Red Raspberry Leaf Tea)

रेड रास्पबेरी लीफ (Red Raspberry Leaf), रास्पबेरी प्लांट का वो हिस्सा है, जिसका प्रेग्नेंट और पोस्टपार्टम महिलाओं के लिए ट्रेडिशनल रेमेडी के रूप में प्रयोग किया जाता है। इस प्लांट को वैसे तो लंबे समय से इसके मेडिसिनल बेनिफिट्स के लिए जाना जाता है। लेकिन, मॉडर्न साइंस पारंपरिक रूप से इसके प्रयोग के दावों की पुष्टि नहीं करती है। रेड रास्पबेरी लीफ टी (Red Raspberry Leaf Tea) का सेवन रास्पबेरी की तरह नहीं किया जाता है। इसका स्वाद सामान्य ब्लैक टी की तरह होता है। प्रेग्नेंट महिलाओं को यह टी लेने के कई लाभ होते हैं जैसे लेबर इंड्यूस करने के लिए और मिल्क प्रोडक्शन को बूस्ट करने के लिए आदि। लेकिन, इसके कुछ साइड इफेक्ट्स भी हो सकते हैं। अब पाइए रेड रास्पबेरी लीफ टी न्यूट्रिशन इंफॉर्मेशन।

और पढ़ें: सावधान! गर्भावस्था में है थैलेसिमिया, तो लापरवाही आपको पड़ सकती है भारी!

न्यूट्रिशन इंफॉर्मेशन (Nutrition Information)

ऐसा माना जाता है कि रेड रास्पबेरी लीफ टी (Red Raspberry Leaf Tea) कैलोरीज या अन्य मैक्रोन्यूट्रिएंट्स का स्त्रोत नहीं है। लेकिन, इसमें निम्नलिखित चीजें पर्याप्त मात्रा में होती हैं, जैसे:

यह चाय पोटेशियम का भी अच्छा स्त्रोत है। अध्ययन यह भी बताते हैं कि पोटेशियम से ब्लड प्रेशर (Blood Pressure) सही रेंज में रहता है, जिससे स्ट्रोक का रिस्क कम हो सकता है। इसके अलावा प्रेग्नेंसी में इसके कई लाभ हैं। आइए जानते हैं अब प्रेग्नेंसी में रेड रास्पबेरी लीफ टी (Red Raspberry Leaf Tea) के फायदों के बारे में।

और पढ़ें: मूड स्विंग्स केवल गर्भावस्था ही नहीं, बल्कि टाइप 1 डायबिटीज का संकेत भी हो सकता है

प्रेग्नेंसी में रेड रास्पबेरी लीफ टी के फायदे क्या हैं? (Benefits of Red Raspberry Leaf Tea)

रेड रास्पबेरी लीफ टी (Red Raspberry Leaf Tea) को विटामिन और मिनरल्स का अच्छा सोर्स माना जाता है। हालांकि, कुछ खास मेडिकल कंडिशंस से पीड़ित लोगों के लिए यह हर्बल टी कॉम्प्लीकेशन्स का कारण भी बन सकती है। प्रेग्नेंसी में इसके लाभ इस प्रकार हो सकते हैं:

लैक्टेशन सपोर्ट (Lactation Support)

जैसा की पहले ही बताया गया है रेड रास्पबेरी लीफ (Red Raspberry Leaf) का प्रयोग लेक्टेटिंग महिलाओं में मिल्क प्रोडक्शन को बूस्ट करने के लिए ट्रेडिशनल रेमेडी के रूप में किया जाता है। ऐसा भी माना जाता है कि इस दौरान रेड रास्पबेरी लीफ टी (Red Raspberry Leaf Tea) को लेने से कोई साइड इफ़ेक्ट भी नहीं होते हैं। लेकिन, इसमें पॉलीफेनोल्स (Polyphenols) होते हैं जो ब्रेस्ट मिल्क में पाए जाते हैं। हालांकि, क्लीनिकल रिसर्च इस बात का दावा नहीं करती है कि इस चाय से ब्रेस्टफीडिंग कराने वाली महिलाओं को लाभ होता है। इसलिए, जो महिलाएं ब्रेस्ट मिल्क करा रही हों। उन्हें इस हर्बल टी या किसी भी सप्लीमेंट को लेने से पहले अपने डॉक्टर से सलाह अवश्य लेनी चाहिए।

लेबर को इंड्यूस करने के लिए (Induction of Labor)

रेड रास्पबेरी लीफ टी (Red Raspberry Leaf Tea) का प्रयोग प्रेग्नेंट महिलाओं में लेबर इंडक्शन के लिए हर्बल सप्लीमेंट्स के रूप में किया जाता है। इस हर्ब और अन्य हर्बल सप्लीमेंट्स का इस कंडिशन में प्रयोग करने का सबसे मुख्य कारण यह है कि यह पिटोसिन (Pitocin) का प्राकृतिक अल्टरनेटिव है। पिटोसिन (Pitocin) एक नेचुरल हॉर्मोन है, जो लेबर को इंड्यूस करने के लिए यूट्रस को कॉन्ट्रेक्ट करने का कारण बनता है। इसके साथ ही चाइल्डबर्थ के दौरान लेबर कॉन्ट्रैक्शंस को मजबूत और चाइल्डबर्थ के बाद ब्लड को कंट्रोल करने में भी इसे लाभदायक माना जाता है।

और पढ़ें: गर्भावस्था के लिए आवश्यक हैं गोनाडोट्रॉपिन्स, जानिए इनके प्रकार के बारे में

यूटेराइन हेल्थ में सुधार (Improvement in Uterine health)

ऐसा माना जाता है कि यह टी गर्भाशय में रक्त के प्रवाह को बढ़ाने और यूटेराइन मसल फाइबरस (Uterine muscle fibers) को मजबूत बनाने में मददगार है। जिससे लेबर में भी मदद मिलती है।

प्री-टर्म और पोस्ट टर्म बर्थ के रेट को कम करे (Lower rates of pre-term and post-term birth)

स्टडी के अनुसार जो महिलाएं रेड रास्पबेरी लीफ टी (Red Raspberry Leaf Tea) का सेवन करती हैं, उनमें ड्यू डेट के नजदीक ही प्रसव ही संभावना रहती है। यानी, उनमें प्री-टर्म और पोस्ट टर्म बर्थ का रेट कम होता है। इस बारे में अधिक जानकारी के लिए अपने डॉक्टर से अवश्य जानें।

जी मिचलाना कम होता है (Reduce nausea)

जी मिचलाना प्रेग्नेंसी में होने वाली सबसे सामान्य समस्या है, खासतौर पर पहली तिमाही में। ऐसे में इस समस्या में रेड रास्पबेरी लीफ टी (Red Raspberry Leaf Tea) का सेवन फायदेमंद होता है। मॉर्निंग सिकनेस से राहत पाने में यह टी सहायक है। लेबर पैन से राहत पाने में भी यह टी लाभदायक है, हालांकि इस बात को कन्फर्म करने के लिए कोई स्टडी उपलब्ध नहीं है। रेड रास्पबेरी लीफ टी (Red Raspberry Leaf Tea) पर अभी किये गए शोध पर्याप्त नहीं हैं और इसके बारे में अधिक अध्ययन किए जाने जरूरी हैं। लेकिन, प्रेग्नेंसी में कोई भी दवा, हर्बल उत्पाद या अन्य चीजों का सेवन करने से पहले डॉक्टर की सलाह लेना जरूरी है। जानिए इस हर्बल चाय को कितनी मात्रा में लेना चाहिए?

रेड रास्पबेरी लीफ टी

और पढ़ें: गर्भावस्था में अंडे खाने से पहले जरूर जानें, गर्भावस्था में अंडा खाना सही या गलत ?

रेड रास्पबेरी लीफ टी की कितनी डोज लेना सुरक्षित है? (Dose of Red Raspberry Leaf Tea)

हालांकि, रेड रास्पबेरी लीफ टी (Red Raspberry Leaf Tea) को अधिकतर लोगों के लिए सुरक्षित माना जाता है। लेकिन, हर चीज की अधिकता हमारे लिए हानिकारक हो सकती है, फिर वो चीज चाहे हर्बल ही क्यों न हो। ऐसा माना जाता है कि इस हर्ब का सेवन करने के बाद अधिकतर जो साइड-इफेक्ट्स नजर आते हैं, वो माइल्ड होते हैं। यही नहीं, इस हर्बल टी में लैक्सेटिव प्रॉपर्टीज (Laxative Properties) भी होती हैं और यह हर्ब लूज मोशन का कारण बन सकती है। यही नहीं, इसके सेवन से माइल्ड डाययूरेटिक इफ़ेक्ट (Mild diuretic effect) भी हो सकते हैं, जिससे यूरिनेशन (Urination) बढ़ सकती है। ऐसे में, इसे लेने से पहले डॉक्टर से अवश्य बात करनी चाहिए। इसे कितनी मात्रा में लेना चाहिए इस बारे में भी सही जानकारी होना आवश्यक है।

रेड रास्पबेरी लीफ टी (Red Raspberry Leaf Tea) को रोजाना एक से तीन कप की मात्रा में लेना सुरक्षित माना जाता है। लेकिन, प्रेग्नेंसी के शुरुआती महीनों यानी फर्स्ट ट्राइमेस्टर (First Trimester) में इसे एक कप ही लेना गर्भवती महिला के लिए सेफ माना जाता है। अगर आप इसका सेवन करने के बाद कोई भी समस्या का अनुभव करें, तो तुरंत डॉक्टर की सलाह लेना जरूरी है। अब जानते हैं कि किन स्थितियों में इस चाय को लेना सुरक्षित नहीं है।

और पढ़ें: महिलाओं में सेक्स हॉर्मोन्स कौन से हैं, यह मासिक धर्म, गर्भावस्था और अन्य कार्यों को कैसे प्रभावित करते हैं?

प्रेग्नेंसी में किन स्थितियों में रेड रास्पबेरी लीफ टी का सेवन नहीं करना चाहिए?

रेड रास्पबेरी लीफ टी (Red Raspberry Leaf Tea) के प्रेंग्नेंसी में लाभ के बारे में तो आप जान ही गए होंगे। ऐसा भी माना जाता है कि इसके एंटी-इंफ्लेमेटरी गुणों के कारण यह प्रेग्नेंसी में होने वाली रैशेज और अन्य स्किन प्रॉब्लम (Skin Problem) की संभावनाओं को कम करती है। नेशनल लाइब्रेरी ऑफ मेडिसिन (National Library of Medicine) के अनुसार अपने एंटी-ऑक्सीडेटिव (Anti-oxidative) और एंटी-इंफ्लेमेटरी (Anti-inflammatory) गुणों के कारण यह हर्बल टी त्वचा के लिए बेहद लाभदायक है। लेकिन, इन स्थितियों में इस टी का सेवन न करें:

  • अगर आप पहले सी-सेक्शन प्रसव से गुजर चुकी हों।
  • अगर आपको प्रेग्नेंसी के सेकंड हाफ में वजायनल ब्लीडिंग हो, तो आप इस चाय का सेवन न करें।
  • अगर आपको ओवेरियन कैंसर (Ovarian cancer), एंडोमेट्रियोसिस (Endometriosis) या फाइब्रॉइड्स (Fibroids) का जोखिम हो, तो भी इसका सेवन करने से बचें।
  • अगर आप प्री-मेच्योर लेबर (Premature Labor) से गुजरी हों, तो भी इसे न लें।
  • अगर गर्भ में आपका बच्चा ब्रीच (Breech) पोजीशन में हो तो भी रेड रास्पबेरी लीफ टी (Red Raspberry Leaf Tea) को नजरअंदाज करें।
  • अगर आपको प्रेग्नेंसी कॉम्प्लीकेशन्स हो जैसे हाय ब्लड प्रेशर (High blood pressure) है, तो इस चाय का सेवन नहीं करना चाहिए।
  • अगर आपके गर्भ में ट्विन्स या अधिक बच्चे हों, तो इस स्थिति में भी इस टी को लेने की सलाह नहीं दी जाती है।
  • अगर आपको जेस्टेशनल डायबिटीज (Gestational diabetes) जैसी समस्या हो, तो भी इस हर्बल टी को नहीं लेना चाहिए।

इनके अलावा कुछ अन्य स्थितियों में भी आपको यह टी न लेने की सलाह दी जा सकती है। इसीलिए, इसे लेने से पहले डॉक्टर से बात करना जरूरी है।

रेड रास्पबेरी लीफ टी

Quiz: प्रेग्नेंसी के बारे में कितना जानते हैं आप?

powered by Typeform

और पढ़ें: क्या आप जानते हैं गर्भावस्था के दौरान शहद का इस्तेमाल कितना लाभदायक है?

यह तो थी रेड रास्पबेरी लीफ टी (Red Raspberry Leaf Tea) के बारे में जानकारी। संक्षेप में बताया जाए तो यह टी यूटेराइन वॉल्स (Uterine walls) को मजबूत करने और लेबर टाइम को कम करने में मदद करती है। यही नहीं, महिलाओं में प्रीमेंस्ट्रुअल लक्षणों से आराम देने में भी लाभदायक है। इसे लेने से पहले और इसकी सही मात्रा जानने के लिए डॉक्टर से अवश्य बात करें। अगर आप प्रेग्नेंसी में हर्बल रेमेडी को लेना चाहते हैं, तो रेड रास्पबेरी लीफ टी (Red Raspberry Leaf Tea) आपके लिए अच्छा विकल्प हो सकता है। लेकिन डॉक्टर या किसी एक्सपर्ट की सलाह के बाद ही इसका सेवन करें, अन्यथा यह आपके लिए हानिकारक साबित हो सकता है।

अगर आपके मन में कोई भी सवाल है तो आप हमारे फेसबुक पेज पर भी अपने सवालों को पूछ सकते हैं। हम आपके सभी सवालों के जवाब आपको कमेंट बॉक्स में देने की पूरी कोशिश करेंगे। अपने करीबियों को इस जानकारी से अवगत कराने के लिए आप ये आर्टिकल जरूर शेयर करें।

health-tool-icon

ड्यू डेट कैलक्युलेटर

अपनी नियत तारीख का पता लगाने के लिए इस कैलक्युलेटर का उपयोग करें। यह सिर्फ एक अनुमान है - इसकी गैरेंटी नहीं है! अधिकांश महिलाएं, लेकिन सभी नहीं, इस तिथि सीमा से पहले या बाद में एक सप्ताह के भीतर अपने शिशुओं को डिलीवर करेंगी।

सायकल लेंथ

28 दिन

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र

Raspberry leaf and its effect on labour: safety and efficacy.https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/10754818/ .Accessed on 9/10/21

Red Raspberry Leaf Tea. https://www.lamaze.org/Giving-Birth-with-Confidence/GBWC-Post/so-you-want-to-know-about-red-raspberry-leaf-tea-1 .Accessed on 9/10/21

Raspberry leaves turning over a new leaf for pregnancy. https://www.rcm.org.uk/news-views/rcm-opinion/raspberry-leaves-turning-over-a-new-leaf-for-pregnancy/ .Accessed on 9/10/21

Raspberry leaf: panacea for pregnancy and labour or problem?. https://www.herbalgram.org/resources/herbalgram/issues/56/table-of-contents/article2353/ .Accessed on 9/10/21

COMMITTEE ON TOXICITY OF CHEMICALS IN FOOD, CONSUMER PRODUCTS AND THE ENVIRONMENT. https://cot.food.gov.uk/sites/default/files/2020-10/TOX.2020.51-%20Herbal%20Supplements%20Used%20in%20Pregnancy%20v.02.pdf .Accessed on 9/10/21

Pregnancy, parental care. https://medlineplus.gov/pregnancy.html.Accessed on 9/10/21

Pregnancy, birth and baby.https://www.health.gov.au/health-topics/pregnancy-birth-and-baby. 

.Accessed on 9/10/21

लेखक की तस्वीर badge
AnuSharma द्वारा लिखित आखिरी अपडेट एक हफ्ते पहले को
डॉ. हेमाक्षी जत्तानी के द्वारा मेडिकली रिव्यूड