20 से 39 साल के पुरुषों का बॉडी चेकअप जरूर कराएं, जानें क्यों?

चिकित्सक द्वारा समीक्षित | द्वारा

अपडेट डेट सितम्बर 3, 2020 . 5 मिनट में पढ़ें
अब शेयर करें

हम में से कई लोग ऐसे हैं जो अस्पताल जाने से डरते हैं और इसी वजह से बॉडी चेकअप भी नहीं करवाते हैं। जब हैलो स्वास्थ्य की टीम ने मेल यानी कि पुरुषों का बॉडी चेकअप के बारे में आम लोगों से जानना चाहा तो ज्यादातर लोगों का कहना था कि वे डायट और वर्कआउट का ध्यान रखते हैं। अपने आपको फिट महसूस करने की वजह से रेगुलर बॉडी चेकअप नहीं करवाते हैं। लेकिन ये काफी अजीब स्थिति है कि हम अंदर से सोचते हैं कि हम फिट है, खास कर के पुरुष। जबकि ये आपकी गलतफहमी भी हो सकती है। इसलिए बेहतर यही होगा कि 40 का होने का इंतजार ना करें, बल्कि 20 से 39 साल के पुरुषों का बॉडी चेकअप जरूर कराएं। इस आर्टिकल में आप 20 से 39 साल के पुरुषों का बॉडी चेकअप (Body checkup for Men) के बारे में जानेंगे कि कौन से आप कौन से बॉडी चेकअप करा सकते हैं?

हैलो स्वास्थ्य का न्यूजलेटर प्राप्त करें

मधुमेह, हृदय रोग, हाई ब्लड प्रेशर, मोटापा, कैंसर और भी बहुत कुछ...
सब्सक्राइब' पर क्लिक करके मैं सभी नियमों व शर्तों तथा गोपनीयता नीति को स्वीकार करता/करती हूं। मैं हैलो स्वास्थ्य से भविष्य में मिलने वाले ईमेल को भी स्वीकार करता/करती हूं और जानता/जानती हूं कि मैं हैलो स्वास्थ्य के सब्सक्रिप्शन को किसी भी समय बंद कर सकता/सकती हूं।

तबीयत खराब होने के बाद कराया बॉडी चेकअप

मुंबई में रहने वाले 33 वर्षीय रोहित कुमार ने बताया कि “मैं बॉडी चेकअप नहीं करवाता था लेकिन, मैं एक बार बीमार पड़ गया। डॉक्टर से मिलने और दवा लेने के बावजूद मैं ठीक नहीं हो रहा था। ऐसी स्थिति में डॉक्टर ने मुझे ब्लड टेस्ट करवाने की सलाह दी। इस टेस्ट रिपोर्ट में मेरा शुगर लेवल बॉर्डर लाइन से थोड़ा नीचे था। अगर मैं इस समय ध्यान नहीं देता, तो मुझे डायबिटीज की समस्या हो सकती थी। मेरी फेमिली हिस्ट्री में डायबिटीज से कोई पीड़ित नहीं है यह डॉक्टर को बताने के बाद डॉक्टर ने मुझे डायट से जुड़ी जानकारी दी और यह बताया कि मुझे शुगर की समस्या तनाव की वजह से हो सकती थी। खैर मैंने अपने आप पर ध्यान रखना शुरू किया और रेगुलर बॉडी चेकअप भी करवाने लगा।”

रोहित की कहानी पढ़ कर आपको कुछ समझ में आया! जी हां, पुरुषों का बॉडी चेकअप भी उतना ही जरूरी है, जितना महिलाओं का बॉडी चेकअप। हालांकि, महिलाएं कभी पीरियड्स और कभी प्रेग्नेंसी के चलते बॉडी चेकअप करा ही लेती हैं। लेकिन पुरुष जब तक बीमार नहीं होते हैं, तब तक खुद को फिट ही समझते हैं। आइए जानते हैं कि पुरुषों का बॉडी चेकअप किस तरह से कराना चाहिए?

और पढ़ें : 18 साल के बाद हर महिला को करवानी चाहिए ये 8 शारीरिक जांच

20 से 39 साल के पुरुषों का बॉडी चेकअप

20 से 39 साल के पुरुषों को निम्नलिखित शारीरिक जांच करवाना चाहिए। जिससे उन्हें अपने बॉडी फिटनेस का पता चल सके। आप निम्न बॉडी चेखअप करा सकते हैं :

पुरुषों का बॉडी चेकअप 1: ब्लड प्रेशर टेस्ट

High Blood Pressure Diet Quiz

पुरुषों को ब्लड प्रेशर चेकअप कम से कम 2 साल में एक बार करवाना चाहिए। नॉर्मल ब्लड प्रेशर 120 से 139 mm Hg (सिस्टोलिक) और 80 से 89 mm Hg (डायस्टोलिक) होता है। अगर ब्लड प्रेशर इससे ज्यादा बढ़ता है या इससे कम होता है, तो दोनों ही स्थिति में ब्लड प्रेशर मॉनिटर करना चाहिए। इसके साथ ही अगर कोई व्यक्ति दिल से जुड़ी बीमारी, डायबिटीज, किडनी या फिर कोई अन्य शारीरिक परेशानियों से पीड़ित हैं तो उसे डॉक्टर के संपर्क में रहना चाहिए। यह हमेशा ध्यान रखें कि अगर हाई ब्लड प्रेशर की परेशानी होती है या लो ब्लड प्रेशर की समस्या होती है तो दोनों स्थिति में ध्यान रखने की आवश्यकता होती है।

और पढ़ें: ब्लड प्रेशर रीडिंग के दो नम्बरों का क्या अर्थ है? जानने के लिए पढ़ें

पुरुषों का बॉडी चेकअप 2: कोलेस्ट्रॉल की जांच

Total cholesterol test

20 से 35 साल के एज ग्रुप के पुरुषों को कोलेस्ट्रॉल की जांच अवश्य करवानी चाहिए। ऐसे लोग जिनका कोलेस्ट्रॉल लेवल नियंत्रित है उन्हें यह टेस्ट बार-बार न करवाकर 5 साल में सिर्फ एक बार करवाना चाहिए। वहीं, अगर आप दिल से जुड़ी बीमारी, डायबिटीज, किडनी या फिर कोई अन्य शारीरिक परेशानियों से पीड़ित हैं तो डॉक्टर की सलाह के अनुसार टेस्ट करवाएं। कोलेस्ट्रॉल लेवल संतुलित रहने से हार्ट डिजीज से बचा जा सकता है।

और पढ़ें : Cholesterol Test: कोलेस्ट्रॉल टेस्ट क्या है?

पुरुषों का बॉडी चेकअप 3: डायबिटीज टेस्ट

Skin infection due to Diabetes - डायबिटीज के कारण त्वचा संक्रमण

डायबिटीज की समस्या अनुवांशिक मानी जाती है, लेकिन कई बार डायबिटीज जैसी परेशानी खराब लाइफस्टाइल की वजह से भी हो सकती है। इसलिए अगर किसी पुरुष का ब्लड प्रेशर 140/80 mm Hg से ज्यादा रहता है, तो उसे डायबिटीज का खतरा हो सकता है। इसके साथ ही यह भी ध्यान रखें कि अगर बॉडी मास इंडेक्स (BMI) 25 से ज्यादा है तो ऐसी स्थिति में ब्लड शुगर लेवल बढ़ सकता है। इसलिए वजन संतुलित रखें और BMI 23 से ज्यादा न होने दें। वहीं अगर आप दिल से जुड़ी बीमारी, किडनी या फिर कोई अन्य शारीरिक परेशानियों से पीड़ित है तो डॉक्टर के सलाह अनुसार टेस्ट करवाएं। अगर आप फिट हैं, तो साल में एक बार डायबिटीज की जांच जरूर करवाएं।

और पढ़ें : घर पर डायबिटीज टेस्ट कैसे करें?

पुरुषों का बॉडी चेकअप 4: डेंटल चेकअप

दांत की सफाई

दांत दर्द को लोग सबसे ज्यादा नजरअंदाज करते हैं। डेंटिस्ट के अनुसार ऐसा नहीं करना चाहिए क्योंकि दांत से जुड़ी परेशानी आपके दिल को भी परेशान कर सकती है। इसलिए अगर आपको डेंटल प्रॉब्लम नहीं भी है, तब भी एक साल में कम से कम दो बार डेंटल चेकअप करवाना चाहिए।

और पढ़ें : क्या आप दांतों की समस्याएं डेंटिस्ट को दिखाने से डरते हैं? जानें डेंटल एंग्जायटी के बारे में 

पुरुषों का बॉडी चेकअप 5: आंखों की जांच

आंखों पर स्क्रीन का असर

अगर आपको विजन प्रॉब्लम है, तो साल में 2 बार या जरूरत पड़ने पर आई चेकअप करवाना चाहिए। अगर आपकी आंखें ठीक हैं और कोई परेशानी नहीं है, तो साल में एक बार आई टेस्ट जरूर करवाएं। वहीं अगर आप डायबिटीज की समस्या से पीड़ित हैं, तो आई चेकअप को नजअंदाज न करें।

और पढ़ें: घर पर आंखों की देखभाल कैसे करें? अपनाएं ये टिप्स

पुरुषों का बॉडी चेकअप 6: इंफेक्शन डिजीज स्क्रीनिंग

hiv test

सेक्सुअली एक्टिव किसी भी पुरुष को सिफलिस (Syphilis), क्लैमाइडिया (Chlamydia) और HIV जैसे अन्य इंफेक्शन का खतरा है या कोई ऐसी मेडिकल हिस्ट्री रही है, तो इंफेक्शन डिजीज स्क्रीनिंग एक साल में एक बार करवाना चाहिए या स्वास्थ्य विशेषज्ञ के अनुसार जांच करवाना चाहिए। इससे ना सिर्फ आप खुद की बीमारी का पता लगा पाएंगे, बल्कि अपने सेक्स पार्टनर को भी संक्रमित होने से रोक सकते हैं।

और पढ़ें : HIV Test : एचआईवी टेस्ट क्या है?

पुरुषों का बॉडी चेकअप 7: टेस्टिकुलर एग्जाम

टेस्टिक्युलर बायोप्सी testicular biopsy

20 साल से ज्यादा उम्र के पुरुषों को टेस्टिकुलर एग्जामिनेशन यानि कि अपने वृषण की जांच करनी चाहिए। यह जांच पुरुष खुद से भी कर सकते हैं। अगर आपके टेस्टिस का साइज बढ़ गया है तो डॉक्टर से जरूर मिलें।

और पढ़ें : Testicular Ultrasound: टेस्टिकुलर अल्ट्रासाउंड क्या है?

पुरुषों का बॉडी चेकअप 8 : इम्यूनाइजेशन टेस्ट

इम्यूनिटी बढ़ाने के उपाय-How to boost immune system

अगर आपको हमेशा सर्दी-जुकाम होता है या बार-बार किसी प्रकार की एलर्जी होती है तो आपको अपना इम्यूनाइजेशन टेस्ट कराना जरूरी है, क्योंकि इम्यून सिस्टम ही हमारे शरीर का सुरक्षा कवच है। इम्यून सिस्टम के बारे में जानने के लिए आपको साल में एक बार इम्यूनाइजेशन टेस्ट जरूर कराना चाहिए।

इन ऊपर बताए गए बॉडी चेकअप को करवाने के लिए आपको थोड़ा वक्त निकालना पड़ेगा। ऐसा करने से आप स्वस्थ रह सकते हैं और किसी भी बीमारी की दस्तक देने की आहट आपको पहले ही मिल जाएगी। बीमारी की जानकारी अगर जल्दी मिल जाए तो किसी भी बीमारी से लड़ना आसान हो जाता है फिर चाहे वह कैंसर जैसी घातक बीमारी ही क्यों न हो। स्वस्थ रहने के लिए पौष्टिक आहार के साथ-साथ एक्सरसाइज भी करना जरूरी होता है। अगर आप जिम जाकर वर्कआउट नहीं कर पा रहें हैं, तो घर पर भी एक्सरसाइज कर सकते हैं। इसके साथ ही अगर आप चाहें तो वॉकिंग कर सकते हैं या स्विमिंग कर सकते हैं। इन एक्टिविटीज से बॉडी वेट बैलेंस्ड रहता है और किसी भी बीमारी का खतरा टल सकता है।

और पढ़ें : क्यों जरूरी है फुल बॉडी चेकअप?

पुरुषों के बॉडी चेकअप की रिपोर्ट आने के बाद क्या करें?

एलजीबीटी समुदाय का डर

बॉडी चेकअप के दौरान या रिपोर्ट्स आने के बाद आपको अपने हेल्थ एक्सपर्ट को निम्नलिखित बातें अवश्य बतानी चाहिए। जैसे :-

  • आपको कभी डिप्रेशन की समस्या हुई है या नहीं
  •  एल्कोहॉल का सेवन करते हैं या नहीं
  • आपको स्मोकिंग की आदत है या नहीं

क्विज खेलें : पुरुषों को कौन से जरूरी स्क्रीनिंग टेस्ट कराने चाहिए, जानने के लिए खेलें यह क्विज

इन सब के बावजूद अगर आप खुद कोई शारीरिक परेशानी महसूस करते हैं, तो इसकी जानकारी भी डॉक्टर को दें। डॉक्टर से कभी भी अपनी शारीरिक परेशानियों को छुपाएं नहीं। वैसे तो रिपोर्ट्स से उन्हें आपके सेहत की जानकारी मिल जाती है, लेकिन अगर आप खुद से भी उन्हें अपनी शारीरिक परेशानियों के बारे में बताते हैं, तो यह आपके लिए बेहतर होगा। अगर आप पुरुषों का बॉडी चेकअप से जुड़े किसी तरह के कोई सवाल का जवाब जानना चाहते हैं तो विशेषज्ञों से समझना बेहतर होगा।

हैलो हेल्थ ग्रुप चिकित्सा सलाह, निदान या उपचार प्रदान नहीं करता है

क्या यह आर्टिकल आपके लिए फायदेमंद था?
happy unhappy
सूत्र

शायद आपको यह भी अच्छा लगे

हाइब्रिड फूड्स और सब्जियां क्या हैं? जानिए इनके फायदे और नुकसान

हाइब्रिड फूड क्या होते हैं? हाइब्रिड फूड के सेवन से शरीर को कितना फायदा होता है? इन सभी सवालों के जबाव मिलेंगे इस आर्टिकल में। Hybrid food in hindi

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Satish singh
आहार और पोषण, स्वस्थ जीवन अप्रैल 15, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें

REM sleep behavior disorder : रैपिड आई मूवमेंट स्लीप बिहेवियर डिसऑर्डर

रैपिड आई मूवमेंट(REM) स्लीप बिहेवियर डिसऑर्डर एक नींद की बीमारी है, जिसमें हम शारीरिक रूप से अप्रिय सपने या दुःस्वप्न में तेज आवाज़,बाते करना, या शारीरिक गत

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pooja Daphal
के द्वारा लिखा गया Siddharth Srivastav
हेल्थ कंडिशन्स, स्वास्थ्य ज्ञान A-Z अप्रैल 15, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें

क्या प्रेग्नेंसी में रोना गर्भ में पल रहे शिशु के लिए हो सकता है खतरनाक?

क्या प्रेग्नेंसी में रोना गर्भ में पल रहे शिशु के मानसिक स्वास्थ्य के लिए हानिकारक हो सकता है? प्रेगनेंसी में रोना डिप्रेशन का संकेत तो नहीं?

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Nidhi Sinha
प्रेग्नेंसी स्टेजेस, प्रेग्नेंसी अप्रैल 13, 2020 . 7 मिनट में पढ़ें

बच्चों के लिए नुकसानदायक फूड, जो भूल कर भी उन्हें न दे

जानिए बच्चों के लिए नुकसानदायक फूड की लिस्ट में कौन-से खाद्य पदार्थ शामिल हैं? एक साल से कम उम्र के बच्चों को अंडा और शहद क्यों नहीं देना चाहिए?

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pooja Daphal
के द्वारा लिखा गया Nidhi Sinha
बच्चों की देखभाल, पेरेंटिंग अप्रैल 6, 2020 . 7 मिनट में पढ़ें

Recommended for you

टाइप-1 डायबिटीज क्या है

टाइप-1 डायबिटीज क्या है? जानें क्या है जेनेटिक्स का टाइप-1 डायबिटीज से रिश्ता

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Mousumi dutta
प्रकाशित हुआ सितम्बर 17, 2020 . 8 मिनट में पढ़ें
Change your bad habits- गलत आदतों से छुटकारा

क्यों न इस स्वतंत्रता दिवस अपनी इन गलत आदतों से छुटकारा पाया जाए

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Kanchan Singh
प्रकाशित हुआ अगस्त 14, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें
एनीमिया डाइट चार्ट

बेस्ट एनीमिया डाइट चार्ट को अपनाकर बीमारी से करें बचाव

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Satish singh
प्रकाशित हुआ जुलाई 22, 2020 . 5 मिनट में पढ़ें
पहली बार प्रेग्नेंसी चेकअप -first-prenatal-appointment

पहली बार प्रेग्नेंसी चेकअप के दौरान आपके साथ क्या-क्या होता है?

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Ankita Mishra
प्रकाशित हुआ मई 7, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें