backup og meta
खोज
स्वास्थ्य उपकरण
बचाना

अमेजन के जंगल में लगी आग हम सब के लिए है खतरनाक

के द्वारा मेडिकली रिव्यूड Dr Sharayu Maknikar


Bhawana Awasthi द्वारा लिखित · अपडेटेड 02/01/2020

अमेजन के जंगल में लगी आग हम सब के लिए है खतरनाक

‘लंग्स ऑफ द प्लेनेट’ यानी ‘पृथ्वी के फेफड़े’ कहे जाने वाले अमेजन के जंगल में भीषण आग लगी है। इसकी वजह से पेड़-पौधे, पशु-पक्षी मर रहे हैं। 15 अगस्त को मुख्य रूप से अमेजन के जंगल में अब तक 9500 किमी क्षेत्र में आग फैल चुकी है। आपको जानकर हैरानी होगी कि 2.1 मिलियन स्क्वेयर मील में फैला हुआ अमेजन जंगल, पृथ्वी को अकेले 20 फिसदी ऑक्सीजन प्रदान करने में मदद करता है। ऐसे में अमेजल के जंगल में लगी आग हमारे लिए कई मायनों में खतरनाक है।

यह भी पढ़ेंः गर्भनिरोधक दवा से शिशु को हो सकती है सांस की परेशानी, और भी हैं नुकसान

अमेजन के जंगल में लगातार लग रही है आग

ब्राजील स्थित अमेजन के जंगल को पृथ्वी पर मौजूद सबसे महत्वपूर्ण सिस्टम माना जाता है। ब्राजील के नेशनल इंस्टीट्यूट फॉर स्पेस रिसर्च की रिपोर्ट के अनुसार, आग लगने का सिलसिला साल 2018 से शुरू हुआ है, जो इस साल दोगुना हो गया है और इसे स्पेस से साफ देखा जा सकता है। अमेजन जंगल में लगी आग के बारे में जानकारी सबको है, लेकिन यह पृथ्वी और मनुष्य के लिए कितना जरूरी है, इसके बारे में बात करना भी बेदह जरूरी है।

अमेजन के जंगल की खतरनाक है ये पर्यावरण के लिए

अमेजन के जंगल में लगी आग पृथ्वी को कई तरह से नुकसान पहुंचा रही है। जंगल में लगी आग को दावानल कहते हैं। यह एक ऐसी दुर्घटना है, जिसमें जंगल के एक हिस्से या फिर पूरे वन में आग लग जाती है, जो फैलती रहती है। इस स्थिति में जंगल में उपस्थित जीव-जन्तु, पेड़-पौधे और हमें मिलने वाली वनस्पतियां और जड़ी-बूटियां जलकर राख हो जाती हैं। दावानल की स्थिति तब पैदा होती है, जब वनस्पति और मिट्टी सूख जाती हैं या फिर मिट्टी में आद्रता की कमी आ जाती है। आग लगने का मुख्य कारण प्राकृतिक कारण भी हो सकता है, जैसे बिजली गिरना या फिर अचानक से घर्षण पैदा होना। कई बार जंगल की आग मानव निर्मित भी हो सकती है। जलती हुई सिगरेट को जंगल में फेंक देने या फिर किसी लापरवाही की वजह से वन में चिंगारी लगने से भी आग पूरे जंगल में फैल जाती है। सूखें पेड़-पौधों और घास में आग तेजी से फैलती है और देखते ही देखते पूरे जंगल में आग तेजी से फैल जाती और सब जलाकर खाक कर देती है। इस आग की वजह से ग्लोबल वॉर्मिंग या धरती का तापमान बढ़ने जैसे समस्याएं जन्म ले रही हैं। इसका सीधा असर इंसानों पर पड़ेगा। बार-बार लगने वाली इस आग की वजह से पृथ्वी में ऑक्सिजन की कमी हो रही है और कार्बन डाईऑक्साइड का उत्सर्जन बढ़ता जा रहा है।

amazon fire nasa image

यह भी पढ़ेंः Lung Cancer : फेफड़े का कैंसर क्या है?

अमेजन के जंगल की आग इतनी भयंकर कि काला पड़ गया आसमान

अमेजन के जंगल में लगी आग का असर उसके आस-पास के क्षेत्रों (Para और Mato Grosso) में साफ दिख रहा है। यहां के स्थानीय निवासियों ने बताया कि शाम को करीब 3 से 4 बजे आसमान काला नजर आ रहा था। अमेजन के जंगल से करीब 2000 मील दूर Sao Paulo तक धुंआ और स्मॉग फैल गया है। अमेजन के जंगल की आग इतनी भयंकर है कि इसका धुआं अंतरिक्ष में भी दिख रहा है।

वनों के लिए खतरनाक होता है सूखा

अमेजन जंगल के बारे में जानकारी के तौर पर बता दें कि जुलाई से अक्टूबर तक का सीजन ड्राय सीजन होता है। ज्यादातर ये सीजन अमेजन के जंगल के साथ-साथ दूसरे वनों के लिए भी खतरनाक होते हैं, क्योंकि इस सीजन में वन में आग लगने का खतरा ज्यादा होता है। प्राकृतिक कारणों के साथ ही कई बार यहां के किसान जान-बूझकर वन में आग लगा देते हैं।

अमेजन के जंगल कितनी खतरनाक है पर्यावरण के लिए

अमेजन के जंगल में लगी आग न सिर्फ वायु की गुणवत्ता कम होने का कारण हो सकती है, बल्कि ऐसे कई अन्य जीवित चीजें हैं जो अमेजन के जंगल पर पूरी तरह से निर्भर करते हैं, जिनमें मुख्य हैंः

यह भी पढ़ेंः प्रति मिनट 6.5 लीटर हवा खींचते हैं हम, जानें सांसों (breathing) के बारे में ऐसे ही मजेदार फैक्ट्स

1. अमेजन के जंगल में रहने वाले जंगली जानवर

अमेजन के जंगल में हजारों प्रजातियों से भी अधिक जानवरों की प्रजातियां रहती हैं। जंगला जितना बढ़ा और घना है, वहीं जानवरों के सुरक्षित जीवन की संभावना भी उतनी ही अधित है। अमेजन के जंगल में लगी आग के कारण इन जानवरों को भी जोखिम पहुंचा है। अमेजन के जंगल में न सिर्फ जमीन पर रहने वाले, बल्कि ऐसे कई जानवर भी रहते है, जो जमीन के अंदर भी रहते हैं और पेड़ों पर अपना बसेरा बना कर भी रहते हैं, इन सभी को नुकसान पहुंचा है। जानकारी के मुताबिक, अमेजन के जंगल में जगुआर, कैपीबारा, मीठे पानी की डॉल्फिन, स्लॉथ, आर्मडिलोस और टैपर्स सहित कई स्तनधारी जीव रहते हैं। यहां 1,000 से अधिक पक्षियों की प्रजातियां भी पाई जाती है, जिसमें मकोव, उल्लू, गिद्ध और किंगफिशर भी शामिल हैं।

2.जड़ी-बूटियों को नुकसान

अमेजन का जंगल पेड़-पौधों और झाड़ियों से कहीं अधिक मायने जड़ी-बूटियों के लिए रखता है। वहां पर कई तरह की जड़ी-बूटियां पाई जाती है, जो अब जलकर राख बन चुकी हैं।

3.जानवरो के निवास और भोजन की कमी

अमेजन के जंगल में आग लगने के कारण बहुत से जानवरों और पक्षियों के निवास भी जल गए हैं। ऐसे में उन जानवरों और पक्षियों को नए निवास और भोजन की तलाश करने में परेशानी हो सकती है। इसके अलावा जंगल की मिट्टी में अधिक आर्द्रता रहती है, जिसकी वजह से बहुत से कीड़ें-मकोड़े और जमीन के अंदर बिलों में अपना घर बनाकर रहने वाले छोटे जानवरों की भी काफी संख्या कम हो गई है।

यह भी पढ़ेंः कोकोनट वॉटर से वेट लॉस होता है, क्या आप इस बारे में जानते हैं?

4.वायु गुणवत्ता में होगी ऑक्सीजन की भारी कमी

विश्व वन्यजीव निधि ते अनुमान के मुताबिक, अमेजन में लगभग 34 लाख लोग रहते हैं, जिसमें लगभग 385 स्वगेशी लोग शामिल हैं। आमतौर पर जंगल का एक बड़ा क्षेत्र अपना मौसम खुद ही बना लेते हैं। अगर इनके क्षेत्र में भारी कमी हो, तो पर्यावरण का संतुलन काफी हद तक बिगड़ सकता है। बारिश में कमी हो सकती है और वायु की गुणवत्ता भी घट सकती है। वहीं, अमेजन के जंगल द्वारा छोड़ा गया पानी पूरे ग्रह के जल चक्र को भी प्रभावित करता है। प्रकाश संश्लेषण की प्रक्रिया के माध्यम से अमेजन के जंगल अकेले दुनिया को ऑक्सीजन का 20 फिसदी हिस्सा प्रदान करता है। वहीं बड़े स्तर के जंगल वातावरण से कार्बन को अवशोषित करते हैं, जिससे जलवायु परिवर्तन की गति भी धीमी हो जाती है। लेकिन, अमेजन के जंगल में लगी आग का प्रभाव इन सब पर दिखाई देगा। जंगल में आग लगने के कारण वातावरण में कार्बन डाइऑक्साइड रिलीज होगा।

5.फेफड़ों का स्वास्थ्य होगा प्रभावित

अमेजन के जंगल में आग लगने के बाद उसका धुआं अंतरिक्ष से भी देखा गया। धुएं में राख के बहुत छोटे-छोटे कण होते हैं, जो सांस लेने की प्रक्रिया के दौरान फेफड़ों में बड़ी मात्रा में इक्ठ्ठा हो सकते हैं। साथ ही, धुआं खत्म नहीं होता है, बल्कि वह बहुत दूर तक हवा में घूमता रहता है, जो एक-एक करके कई शहरों के लिए जोखिम बन सकता है।

ऊपर दी गई जानकारी किसी भी चिकित्सक द्वारा प्रदान नहीं की जाती। अमेजन के जंगल में लगी आग के कारण आपके स्वास्थ्य पर किस तरह का प्रभाव पड़ सकता है, इस बारे में अधिक जानकारी के लिए कृपया अपने डॉक्टर से बात करें।

और पढ़ेंः-

जानें क्या है फेफड़े की टीबी (Pulmonary Tuberculosis)?

ट्रेंडिंग हेल्थ टॉपिक 2019: दिल्ली का वायु प्रदूषण रहा टॉप गूगल सर्च में, जानिए कौन रहा दूसरे नंबर पर

World COPD Day: स्मोकिंग को बाय-बाय बोल कर सीओपीडी से बचें

नवजात शिशु का मल उसके स्वास्थ्य के बारे में क्या बताता है?

डिस्क्लेमर

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।



के द्वारा मेडिकली रिव्यूड

Dr Sharayu Maknikar


Bhawana Awasthi द्वारा लिखित · अपडेटेड 02/01/2020

ad iconadvertisement

Was this article helpful?

ad iconadvertisement
ad iconadvertisement