home

हम इसे कैसे बेहतर बना सकते हैं?

close
chevron
इस आर्टिकल में गलत जानकारी दी हुई है.
chevron

हमें बताएं, क्या गलती थी.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
इस आर्टिकल में जरूरी जानकारी नहीं है.
chevron

हमें बताएं, क्या उपलब्ध नहीं है.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
हम्म्म... मेरा एक सवाल है
chevron

हम निजी हेल्थ सलाह, निदान और इलाज नहीं दे सकते, पर हम आपकी सलाह जरूर जानना चाहेंगे। कृपया बॉक्स में लिखें।

wanring-icon
यदि आप कोई मेडिकल एमरजेंसी से जूझ रहे हैं, तो तुरंत लोकल एमरजेंसी सर्विस को कॉल करें या पास के एमरजेंसी रूम और केयर सेंटर जाएं।

लिंक कॉपी करें

Makhana: मखाना क्या है?

Makhana: मखाना क्या है?
परिचय|उपयोग|सावधानियां और चेतावनी|साइड इफेक्ट|मात्रा/ डोज़

परिचय

मखाना (फॉक्स नट) क्या है?

मखाना (फॉक्स नट) सूखा मेवा है जिसे फॉक्स नट्स के नाम से जाना जाता है। इसे आर्गेनिक हर्ब भी कहते हैं क्योंकि इसे बिना किसी रासायनिक खाद या कीटनाशक के मदद से उगाया जाता है। ज्यादातर इसका प्रयोग मिठाइयों में होता है। मखाना खाने के फायदे बहुत है क्योंकि मखाने में प्रोटीन, कैल्शियम, पोटेशियम और सोडियम पर्याप्त मात्रा में पाया जाता है। 100 ग्राम मखाने में 350 कैलोरी होती।

मखाना (फॉक्स नट) में पोषण तत्व अच्छी मात्रा में पाए जाते हैं, जो आपके लिए एक परफेक्ट हेल्दी स्नैक हो सकता है। अगर कोई अपना वजन घटाना चाहता है तो मखाना खाना उसके लिए बेहद फायदेमंद साबित हो सकता है। इसके अलावा मखाना बहुत कम कैलोरी का होता है। 100 ग्राम मखाना में 347 कैलोरी पाई जाती है। इसके अलावा 100 ग्राम मखाने में निम्न न्यूट्रीशन पाए जाते हैं :

  • कैलोरी- 347 कैलोरी
  • प्रोटीन – 9.7 ग्राम
  • फैट्स- 0.1 ग्राम
  • कार्बोहाइड्रेट– 76.9 ग्राम
  • फाइबर- 14.5 ग्राम

मखाना (फॉक्स नट) कैसे काम करता है?

आयुर्वेद के अनुसार, मखाना (फॉक्स नट) (Makhana) शरीर को ठंडा और शांति देने वाला होता है । मखाना (Makhana) गर्भधारण करने में मदद पहुंचाता है साथ ही मखाने में मौजूद प्रोटीन मसल्स बनाने और फिट रखने में मदद करता है।

और पढ़ें :Papaya : पपीता क्या है?

उपयोग

मखाना या लोटस सीड के उपयोग

  • बढ़ती उम्र के लक्षणों को कम करने के लिए
  • स्ट्रेस दूर करने मे
  • मांसपेशियों की मजबूती
  • दिल से जुडी बीमारियों को दूर करने के लिए
  • मखानों में कोलेस्ट्रॉल, सोडियम और फैट कम मात्रा में होता है। इसलिए भूख लगने पर यह नाश्ते का आदर्श विकल्प साबित हो सकता है।
  • मखानों में मैग्नीशियम काफी उच्च मात्रा में वहीं सोडियम काफी काम मात्रा में पाया जाता है। यही कारण है कि यह हृदय रोग और मोटापे से पीड़ित लोगों के बेहद फायदेमंद होता है।
  • मखाने (फॉक्स नट) में कैल्शियम और आयरन भरपूर मात्रा में होने के कारण गर्भवती को मखाना दिया जाता है। यह गर्भवती महिलाओं में उच्च रक्तचाप और मधुमेह रोकने में मदद करता है।
  • कहा जाता है मखाने कॉफी की लत छुड़ाने में भी मदद कर सकते हैं।
  • उच्च मात्रा में कैल्शियम होने के कारण यह हड्डी और दांतों के स्वास्थ्य के लिए अच्छा है।
  • मखाना ब्लड में धीरे-धीरे ग्लूकोज छोड़ते हैं। जिससे लंबे समय तक भूख नहीं लगती। इसलिए यह वजन घटाने में मदद करता है।
  • मखानों (फॉक्स नट) या लोटस सीड में फाइबर भरपूर मात्रा में होता है, जो कि हाजमे को अच्छा रखने लिए काफी फायदेमंद होता है।
  • मखाना (फॉक्स नट) शीघ्रपतन से बचता है और वीर्य की गुणवत्ता और मात्रा को बढ़ाने में मदद करता है।
  • मखाने (फॉक्स नट) में एस्ट्रिंजेंट नामक तत्त्व होता है जो किडनी की बीमारी को दूर रखने में आपकी मदद करता है।

और पढ़ें : Cassie absolute: कैसी एब्सोल्युट क्या है?

सावधानियां और चेतावनी

मखाना (फॉक्स नट) का उपयोग करने से पहले मुझे क्या पता होना चाहिए?

अपने चिकित्सक या फार्मासिस्ट या हर्बलिस्ट से परामर्श करें, यदि:

  • अगर आप प्रेगनेंट है या उसके बारे में सोच रही है, या फिर बच्चे को दूध पिला रही है, तो इस दौरान आपको डॉक्टर से बात करनी चाहिए क्योंकि इस अवस्था मे आपको डॉक्टर की बताई दवाओं का ही सेवन करना चाहिए। हालांकि, आयुर्वेद के अनुसार, यह शरीर को ठंडा और शांति देने वाला होता है और गर्भधारण करने में मदद पहुंचाता है,
  • आप डॉक्टरी सलाह या बिना किसी सलाह वाली दवाओं का सेवन कर रही है
  • आपको मखाना (फॉक्स नट) या उसके किसी सबटेंस, दवा या किसी अन्य जुड़ी बूटी से कोई एलर्जी तो नहीं
  • आपको किसी दूसरी चीजों से एलर्जी तो नहीं जैसे, खाने,रंग, खाने को सुरक्षित रखने वाले पदार्थ या जानवरों से।

किसी भी हर्बल के सेवन करने के नियम उतने ही सख्त होते है जितने कि अंग्रेजी दावा के । सुरक्षा के लिहाज से अभी इसमें और अध्ययन की जरूरत है। हर्बल सप्पलीमेंट के सेवन से होने वाले फायदे से पहले आपको इसके खतरों को समझ लेना चाहिए। ज्यादा जानकारी के लिए अपने हर्बल एक्सपर्ट से बात कीजिये।

और पढ़ें : Danshen: डेनशेन क्या है?

साइड इफेक्ट

मखाना के इस्तेमाल से मुझे क्या साइड इफेक्ट हो सकते है?

मखाना (फॉक्स नट) खाने के कई स्वास्थ्य लाभ हैं। लेकिन जब कोई चीज ज्यादा मात्रा में खाई जाती है तो उसके नुकसान भी हैं। इसी तरह मखाना खाने पर आपको भी कुछ साइड इफेक्ट्स का सामना करना पड़ सकता है।

एलर्जी

कई लोगों को मखाने (फॉक्स नट) से एलर्जी होती है। अगर आपको मखाने का सेवन करने पर एलर्जी के कोई भी लक्षण दिखाई देते हैं तो आप तुरंत अपने डॉक्टर से संपर्क करें।

और पढ़ें : Chinese Rhubarb: चाइनीज रुबाब क्या है?

एंटी एरिदमिक

मखाना (फॉक्स नट) की एंटी एरिदमिक होती है। अगर किसी भी व्यक्ति का एरिदमिया का इलाज चल रहा है तो तो मखाना (फॉक्स नट) का सेवन नहीं करना चाहिए। इस संबंध में आपको अपने डॉक्टर से परामर्श करना चाहिए।

ब्लड शुगर लेवल

मखाना (फॉक्स नट) शरीर में ब्लड शुगर के स्तर को कम करने में मदद करता है। डायबिटीज के मरीज को मखाना डॉक्टर से परामर्श पर ही खाना चाहिए। क्योंकि अगर पेशेंट को इंसुलिन की दवा दी जा रही है तो उसका शुगर लेवल और भी अधिक कम हो जाएगा।

कब्ज की शिकायत

अधिक मात्रा में मखाना (फॉक्स नट) या लोटस सीड का सेवन करने से कब्ज की शिकायत, पेट फूलना और सूजन की समस्या हो सकती है। अगर आप पहले से ही कब्ज से पीड़ित हैं, तो मखाना खाने से आपको बचना चाहिए।

और पढ़ें : Coriander: धनिया क्या है?

मात्रा/ डोज़

मखाना के सेवन की सामान्य खुराक क्या है?

  • रात को सोने से पहले दूध के साथ मखाना (फॉक्स नट) या लोटस सीड लेने से नींद अच्छी आती है. साथ ही स्ट्रेस भी कम होता है.
  • इसके औषधीय गुणों के चलते अमरीकन हर्बल फूड प्रोडक्ट एसोसिएशन द्वारा इसे क्लास वन फूड का दर्जा दिया गया है । यह जीर्ण अतिसार, ल्यूकोरिया, शुक्राणुओं की कमी की समस्या में कारगर सिद्ध हो सकता है ।
  • यह एंटीऑक्सीडेंट गुणों से भरपूर है। इसलिए श्वसनतंत्र, ब्लेडर एवं जनन तंत्र से संबंधित बीमारियों में यह लाभप्रद होता है।
  • मखाना (फॉक्स नट) या लोटस सीड का नियमित सेवन करने से ब्लड प्रेशर कंट्रोल और कमर और घुटने के दर्द में आराम रहता है।
  • प्रसव के बाद महिलाओं में आई कमजोरी को दूर करने के लिए इसे दिया जाता है

दी गई किसी भी जानकारी को मेडिकल एडवाइस के रूप में ना देखे । उपयोग से पहले अपने हर्बलिस्ट या डॉक्टर से अपनी सही खुराक के बारे में बात करे।

मखाना किस रूप में आता है?

  • मखाना सूखे मेवे के रूप में आता है

अगर आपको किसी भी तरह की समस्या हो तो आप अपने डॉक्टर से जरूर पूछ लें।

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र

makhana ncbi.nlm.nih.gov/pubmed/23983146  Accessed 27/1/2020

Current Advances in the Metabolomics Study on Lotus Seeds https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC4913082/ Accessed 27/1/2020

The Power of the Lotus ncbi.nlm.nih.gov/pubmed/23458922Accessed 27/1/2020

Lotus seeds facts and health benefits ndb.nal.usda.gov/ndb/foods/show/3039?qlookup=11254&max=25&man=&lfacet=&new=1  Accessed 27/1/2020

लेखक की तस्वीर
Dr Sharayu Maknikar के द्वारा मेडिकल समीक्षा
Smrit Singh द्वारा लिखित
अपडेटेड 09/07/2019
x