एक्सरसाइज करते समय स्पोर्ट्स ब्रा पहनने के फायदे

चिकित्सक द्वारा समीक्षित | द्वारा

अपडेट डेट अक्टूबर 17, 2020 . 5 मिनट में पढ़ें
अब शेयर करें

वर्कआउट, योगा, वॉक, जुम्बा, जॉगिंग, मॉर्निग वॉक जैसी एक्टिविटीज करते समय लोग कपड़ों के फैब्रिक और स्पोर्ट्स वियर पर काफी ध्यान देते हैं। लेकिन, अंडरगारमेंट को काफी अनदेखा करते हैं। जबकि, इन गतिविधियों के लिए बॉडी का कम्फर्टेबल होना बेहद जरूरी है। इसके लिए जरूरी है सामान्य ब्रा की जगह स्पोर्ट्स ब्रा का इस्तेमाल किया जाए तभी ठीक से एक्सरसाइज हो पाएगी। एक्सरसाइज करते समय स्पोर्ट्स ब्रा पहनने के फायदे क्या हैं? जानते हैं इस आर्टिकल में जानेंगे:-

  • स्पोर्ट्स ब्रा क्यों जरूरी है?
  • स्पोर्ट्स ब्रा के फायदे क्या हैं?
  • स्पोर्ट्स ब्रा खरीदते वक्त किन बातों का ध्यान रखें?  
  • ब्रा सही से फिट हो उसके लिए तीन स्टेप्स क्या हैं? 
  • स्पोर्ट्स ब्रा से जुड़े अहम सवाल और उसके जवाब क्या हैं? 

स्पोर्ट्स ब्रा क्यों जरूरी है?

दरअसल, नॉर्मल ब्रा की तुलना में स्पोर्ट्स ब्रा ज्यादा आरामदायक होती हैं। साथ ही जिमिंग, स्विमिंग, जुम्बा, वर्कआउट आदि के दौरान ऐसी ब्रा पहनने से ये गतिविधियां आसानी से की जा सकती हैं। 

और पढ़ें : लोअर बॉडी को टोन करना चाहते हैं? ये एक्सरसाइज आएगी आपके काम

स्पोर्ट्स ब्रा के फायदे (Sports bra benefits) क्या हैं?

स्पोर्ट्स ब्रा के निम्नलिखित फायदे हैं। जैसे:

  1. वर्कआउट और जिम के लिए परफेक्ट है स्पोर्ट्स ब्रा
  2. ब्रेस्ट पेन की समस्या से मिलती है राहत 
  3. पूरे सपोर्ट के लिए सही है स्पोर्ट्स ब्रा
  4. कमर दर्द से बचाव करती है
  5. ब्लड सर्क्युलेशन रहता है सही 

1. वर्कआउट और जिम के लिए परफेक्ट है स्पोर्ट्स ब्रा

रोजाना वर्कआउट करते समय ब्रेस्‍ट के लिगामेंट्स खिंच जाते हैं और लंबे समय तक ऐसे एक्सरसाइज करते रहने से स्तनों का आकार खराब हो जाता है। ऐसे में जिम जाते समय स्पोर्ट्स ब्रा पहनना महिलाओं को इन परेशानियों से बचा सकता है। इसलिए, ब्रेस्ट को हमेशा फिट और स्वस्थ्य रखने के लिए ऐसी ब्रा एक बेहतर विकल्प होता है। अगर आप जिम जाने का प्लान कर रही हैं तो स्पोर्ट्स ब्रा का ही चुनाव करें।

और पढ़ें : व्यायाम शुरू करने वाले हैं, तो अपनाएं ये तरीके

हैलो स्वास्थ्य का न्यूजलेटर प्राप्त करें

मधुमेह, हृदय रोग, हाई ब्लड प्रेशर, मोटापा, कैंसर और भी बहुत कुछ...
सब्सक्राइब' पर क्लिक करके मैं सभी नियमों व शर्तों तथा गोपनीयता नीति को स्वीकार करता/करती हूं। मैं हैलो स्वास्थ्य से भविष्य में मिलने वाले ईमेल को भी स्वीकार करता/करती हूं और जानता/जानती हूं कि मैं हैलो स्वास्थ्य के सब्सक्रिप्शन को किसी भी समय बंद कर सकता/सकती हूं।

2. ब्रेस्ट में दर्द होता है कम 

शारीरिक गतिविधियों के समय स्तनों की मसल्स प्रभावित होती है। इसलिए, स्तनों में अक्सर दर्द की समस्या हो जाती है। खासतौर से अगर अपर बॉडी एक्सरसाइज की जा रही हों। इस दर्द को कम करने के लिए स्पोर्ट्स ब्रा पहनना सही रहता है। इनमें वायर न होने की वजह से रेगुलर ब्रा की तरह ब्रेस्ट को कसती नहीं हैं बल्कि आरामदायक होती है।

और पढ़ें : ये हैं बेस्ट लेग एक्सरसाइज, जो देंगी टोंड लेग्स

3. पूरे सपोर्ट के लिए सही है स्पोर्ट्स ब्रा

फिजिकल एक्टिविटी (जैसे वर्कआउट, जुंबा, जॉगिंग, वॉकिंग, एरोबिक आदि) के दौरान ब्रेस्‍ट मूवमेंट दर्दनाक और असुविधाजनक हो सकता है। ऐसी ब्रा स्तनों को पूरा सपोर्ट देती है जिससे ब्रेस्‍ट की मूवमेंट कम होती है।

और पढ़ें : ब्रा न पहनने के फायदे जानकर आप भी रह जाएंगे हैरान

4. कमर दर्द से बचाव करती है

स्पोर्ट्स और अन्य गतिविधियों के अलावा जिन महिलाओं के ब्रेस्ट का साइज बड़ा होता है उन्हें कमर और पीठ दर्द की समस्या से जूझना पड़ सकता है। ऐसे में  स्पोर्ट्स ब्रा का चुनाव इन तकलीफों को दूर करने में मददगार साबित हो सकती है।

और पढ़ें : अंडरवायर ब्रा पहनने से होता है ब्रेस्ट कैंसर का खतरा ?

5. ब्लड सर्क्युलेशन रहता है सही 

रेगुलर ब्रा में मौजूद हुक और इलास्टिक से ब्लड सर्क्युलेशन की समस्या आती है। ऐसे में स्पोर्ट्स ब्रा लाभदायक होती है। इसको पहनने से रक्त-संचरण सही रहता  है। इसलिए इसे बिना किसी असहजता के लंबे समय तक पहना जा सकता है।

और पढ़ें : स्तनपान कराने वाली महिलाओं को कैसी ब्रा पहननी चाहिए?

स्पोर्ट्स ब्रा खरीदते समय ध्यान दें ये बातें 

  • वर्क आउट या दूसरी फिजिकल एक्टिविटी के दौरान स्तनों की देखभाल के लिए, स्पोर्ट्स ब्रा का चयन करते समय कप साइज का ध्यान दें।
  • यदि ब्रेस्ट साइज बड़ा है तो ऐसी ब्रा चुनें जो आपके ब्रेस्ट कप को सही से सपोर्ट दे।
  • ब्रा चुनते समय उसकी पट्टियों को भी देखें। पट्टी टाइट और पतली होनी की जगह सॉफ्ट और चौड़ी होना चाहिए। हाई इम्पैक्ट वर्कआउट के लिए वाइड स्ट्रैप यानी चौड़ी स्ट्रैप वाली स्पोर्ट्स ब्रा खरीदें।
  • ब्रा के फैब्रिक को भी ध्यान में रखें। फैब्रिक जितना सॉफ्ट होगा, शरीर के लिए उतना ही सही रहेगा। इसके साथ ही स्किन में खुजली आदि की भी समस्या नहीं होगी।
  • वॉकिंग या योगा जैसी एक्टिविटी के लिए लो इम्पैक्ट वाली स्पोर्ट्स ब्रा खरीदें।
  • सपोर्टिव ब्रा का सही से फिट होना भी बेहद जरूरी है। अगर ऐसा नहीं होता है तो स्पोर्ट्स ब्रा पहनने का कोई मतलब नहीं।

ब्रा सही से फिट हो उसके लिए ये तीन स्टेप्स अपनाएं

  1.  ब्रैंड को सही से फिट करें। ध्यान रखें कि आपके ब्रेस्ट और खासकर आर्मपिट के पास का हिस्सा इसके अंदर रहे।
  2. स्ट्रैप्स को चेक करें कि कहीं इनमें मुड़ाव, खिंचाव या गैप तो नहीं आ रहा।
  3. ब्रा के नीचे का हिस्सा शेप में फिट हो रहा है या नहीं इसपर भी गौर करें।

अगर इस सब के बावजूद स्पोर्ट्स ब्रा ठीक से फिट नहीं हो रही है तो दूसरी ब्रा ट्राय करें।

  • अगर आप कार्डियो, रनिंग, योगा या जिमिंग करने की सोच रही हैं तो स्पोर्ट्स वियर के साथ-साथ स्पोर्ट्स ब्रा भी खरीदें। मार्केट में हाई/लो इम्पैक्ट वाली स्पोर्ट्स ब्रा ऑनलाइन भी मौजूद हैं। अपनी सुविधानुसार सही से इनका चयन करें। ये तो बात हो गई स्पोर्ट्स ब्रा की अब आइए जानते हैं कि आपका जिम वियर कैसा होना चाहिए।
  • जब भी अपने जिम वियर का चुनाव करें, तो सबसे पहले वो किस फैब्रिक का बना है, इस बात का ध्यान रखें। जिम में कसरत या वर्कआउट करते समय बहुत अधिक पसीना आता है। इसलिए, अगर आपके कपड़ों का फैब्रिक ऐसा होगा, जो पसीने को न सोख पाए, तो आपके लिए यह बिल्कुल भी आरामदायक नहीं होगा। ऐसे फैब्रिक वाले कपड़ों को चुनें, जो पसीने को आराम से सोख लें। इसके लिए सूती या लाइक्रा जैसे कपड़ों से बनें जिम वियर को चुनना चाहिए, जो आसानी से पसीना सोख लेते हैं।
  • कपड़े की फिटिंग इस बात पर निर्भर करती है कि आप कौन सी कसरत कर रहे हैं। अगर आप रनिंग या जिम उपकरणों के साथ एक्सरसाइज कर रहे हैं, तो ढीले-ढाले या शॉर्ट कपड़ों को पहन सकते हैं। लेकिन, अगर आप योग जैसे अभ्यास को कर रहे हैं, तो आपको ऐसे कपड़े पहने चाहिए, जो स्ट्रैचेबल हों।
  • आपके जिम वियर का रंग कैसा हो, यह आपके ऊपर निर्भर करता है। लेकिन, गर्मियों में हल्के रंग के कपड़ों को चुनें, ताकि वो अधिक गर्मी न सोखें। इससे आपको अधिक गर्मी नहीं लगेगी। जबकि, सर्दी के दिनों में गहरे रंग के जिम वियर आपको गर्म रखेंगे।
  • आपको मौसम के अनुसार, अपने जिम वियर को चुनना चाहिए। जैसे गर्मी में खुले-खुले और पसीना सोखने वाले कपड़े लें या वो कपड़े लें, जिनमें आपको गर्मी न लगे। बरसात में भी कपड़ों में पसीना नहीं आना चाहिए, जबकि सर्दी के मौसम में आपके जिम वियर में आपको गर्मी नहीं लगनी चाहिए।

स्पोर्ट्स ब्रा हो या नॉर्मल ब्रा, लेकिन वैसी महिलाएं जो ब्रेस्ट साइज बड़े होने की वजह से परेशान रहती हैं, तो ऐसे में आपको यह सोच कर परेशान नहीं होना चाहिए। कई बार पैडेड ब्रा ऐसी महिलाएं अवॉयड करती हैं, लेकिन यह निर्णय गलत है। बिग ब्रेस्ट साइज के लिए भी पैडेड ब्रा फिट लुक देती है और सपोर्ट भी बेहतर मिलता है।

और पढ़ें : रोज करेंगे योग तो दूर होंगे ये रोग, जानिए किस बीमारी के लिए कौन-सा योगासन है बेस्ट

स्पोर्ट्स ब्रा से जुड़े अहम सवाल और उसके जवाब

सवाल: क्या स्पोर्ट्स ब्रा पहनने से ब्रेस्ट साइज को बढ़ाया जा सकता है?

जवाब: ब्रा पहनने से ब्रेस्ट के साइज को बढ़ाया नहीं जा सकता है, लेकिन ब्रा की वजह ब्रेस्ट का आकार ठीक रहता है और आरामदायक भी महसूस कर सकती हैं। अगर ब्रेस्ट साइज से छोटा ब्रा साइज पहना जाए, तो इससे ब्रेस्ट पेन की समस्या शुरू हो सकती है। इसलिए ब्रेस्ट के शेप को बेहतर रहने में ब्रा की अहम भूमिका होती है।

सवाल: क्या स्पोर्ट्स ब्रा हमेशा पहनना जा सकता है?

जवाब: अगर स्पोर्ट्स ब्रा का साइज ठीक है और इसे पहन के आप आरामदायक महसूस करती हैं, तो स्पोर्ट्स ब्रा पहनना सही विकल्प हो सकता है। अगर इसे लंबे वक्त तक पहनने से आप कंफर्टेबल महसूस नहीं कर पा रहीं हैं, तो फिर इसे न पहनें।

सवाल: स्पोर्ट्स ब्रा क्यों पहनना आवश्यक है?

जवाब: स्पोर्ट्स ब्रा से ब्रेस्ट को बेहतर सपोर्ट मिलता है, लेकिन एक्सरसाइज या स्पोर्ट्स एक्टिविटी के दौरान स्पोर्ट्स ब्रा ज्यादा कंफर्टेबल है। स्पोर्ट्स ब्रा पहनने से वर्कआउट या स्पोर्ट्स के दौरान डिस्कम्फर्ट आप महसूस नहीं कर सकती हैं। इसलिए ज्यादातर महिलाएं वर्कआउट के दौरान स्पोर्ट्स ब्रा पहनना प्रेफर करती हैं।

सवाल: किस तरह का ब्रा रोजाना पहनना चाहिए?

जवाब: वैसे ब्रा पहनें जो आरामदायक हो। ब्रा के लुक के साथ-साथ कम्फर्ट का भी पूरा-पूरा ध्यान रखें।

हैलो हेल्थ ग्रुप चिकित्सा सलाह, निदान या उपचार प्रदान नहीं करता है

क्या यह आर्टिकल आपके लिए फायदेमंद था?
happy unhappy
सूत्र

शायद आपको यह भी अच्छा लगे

पहली बार न्यूड होने पर महिलाओं को सताने वाला डर क्या है?

पहले बार पार्टनर के सामने न्यूड होना हर किसी के लिए घबराहट भरा होता है। क्या आप जानते हैं कि महिलाओं को किन वजहों से न्यूड होने पर डर लगता है? यहां जानें..

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Hemakshi J
के द्वारा लिखा गया Hema Dhoulakhandi

स्तनपान के दौरान ब्रा कैसी पहननी चाहिए?

स्तनपान के दौरान ब्रा कैसी होनी चाहिए, स्तनपान के दौरान ब्रा का इस्तेमाल कैसे करें, ब्रा पहनने के फायदे और नुकसान, breastfeeding Bra in Hindi.

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Abhishek Kanade
के द्वारा लिखा गया Shayali Rekha
स्तनपान, पेरेंटिंग अक्टूबर 5, 2019 . 4 मिनट में पढ़ें

स्तनपान छुड़ाने के बाद ब्रेस्ट को लूज होने से कैसे बचाएं?

एक वक्त आने के बाद मां बच्चे को स्तनपान कराना बंद कर देती है। लेकिन इसके बाद स्तन ढीले हो जाते हैं, जिस कारण ढीले स्तन हो (Breast Sag) जाते हैं। जानिए स्तनपान के बाद ढीले स्तन होने से कैसे बचा जाए।

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Abhishek Kanade
के द्वारा लिखा गया Shayali Rekha
स्तनपान, पेरेंटिंग अक्टूबर 5, 2019 . 4 मिनट में पढ़ें

ब्रा न पहनना कैसे है आपके लिए फायदेमंद जानें?

ब्रा न पहनना आपकी हेल्थ के लिए अच्छा होता है। going braless benefits in Hindi, रात में सोते समय ब्रा न पहनने के फायदे, ब्रा न पहनने के लाभ, Benefits of wearing no Bra in hindi...

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Hemakshi J
के द्वारा लिखा गया Anu sharma
ब्यूटी/ ग्रूमिंग, स्वस्थ जीवन सितम्बर 24, 2019 . 4 मिनट में पढ़ें

Recommended for you

ब्रा फीटिंग गाइड

ब्रा फीटिंग गाइड : जो हर लड़की को जानना है जरूरी

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Shayali Rekha
प्रकाशित हुआ मई 19, 2020 . 5 मिनट में पढ़ें
ब्रा से जुड़े मिथ

बिना ब्रा पहने कॉन्फिडेंट कैसे फील कर सकती हैं? जानें ब्रा से जुड़े मिथ

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Shayali Rekha
प्रकाशित हुआ अप्रैल 15, 2020 . 7 मिनट में पढ़ें
जिम जाने के कपड़े-gym wear

जिम जाते वक्त पहनने चाहिए कैसे कपड़े, क्या जानते हैं आप?

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया indirabharti
प्रकाशित हुआ फ़रवरी 17, 2020 . 5 मिनट में पढ़ें
ब्रा के बारे में-know about bra

क्या आप जानते हैं? दुनिया की सबसे महंगी ब्रा के बारे में?

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Hemakshi J
के द्वारा लिखा गया Shikha Patel
प्रकाशित हुआ दिसम्बर 12, 2019 . 4 मिनट में पढ़ें