सेक्स कब और कितनी बार करें, जानें बेस्ट सेक्स टाइम

चिकित्सक द्वारा समीक्षित | द्वारा

अपडेट डेट अक्टूबर 14, 2020 . 7 मिनट में पढ़ें
अब शेयर करें

इंसान के लिए खाना, पीना, एक्सरसाइज करना, हंसना, रोना जरूरी है और इन सभी को जीवन का हिस्सा माना जाता है उसी तरह लाइफ में सेक्स हर इंसान के लिए न केवल जरूरत बल्कि मानसिक व शारीरिक तौर पर महत्वपूर्ण बन चुका है। वैसे तो सेक्स के काफी फायदें हैं, इसे करने से आत्म संतुष्टि होने के साथ कई हेल्थ बेनीफिट्स होते हैं। वहीं सही समय पर सेक्स कर आप आत्म संतुष्टि का एहसास कर सकते हैं। मॉर्निंग सेक्स और इवनिंग सेक्स को लेकर पुराना विवाद है। इसके पक्ष व विपक्ष को लेकर पुरुषों व महिलाओं के अलग-अलग मत हो सकते हैं। पुरुषों के लिए दिन का समय बेस्ट सेक्स टाइम है वहीं महिलाएं सेक्स करने के लिए शाम का समय बेस्ट मानती हैं।

क्योंकि इस समय तक वो अपने काम को पूरा कर लेती हैं, वहीं बच्चे भी सोने के लिए चले जाते हैं। सेक्स के लिए समय यानि टाइमिंग भी काफी महत्तव रखता है। सही समय पर सेक्स कर आत्मसंतुष्टि हासिल की जा सकती है, तो आइए इस आर्टिकल में हम जानते हैं कि सेक्स कब और कितनी बार करें। वहीं पुरुषों व महिलाओं को किस समय सेक्स करने की इच्छा होती है।

और पढ़ें: कॉन्डोमलेस सेक्स के क्या होते हैं रिस्क, बीमारियों से बचाव के लिए यह जानना है जरूरी

टेस्टोस्टेरोन का होता है अंतर

सेक्स कब और कितनी बार करें यह जानने के पूर्व यह हमें पता होना चाहिए कि पुरुषों व महिलाओं को सेक्स करने की सबसे अधिक कब इच्छा होती है। पुरुषों में सुबह छह से नौ बजे टेस्टोस्टेरोन में काफी ज्यादा इजाफा होता है। इसलिए सुबह के समय उन्हें सेक्स करने की इच्छा ज्यादा होती है। वहीं महिलाओं में सुबह-सुबह सबसे कम टेस्टोस्टेरोन हॉर्मोन बनते हैं। इस कारण पुरुषों के मुकाबले उन्हें सुबह के वक्त सेक्स करने की उतनी इच्छा नहीं होती है। शाम के वक्त महिलाओं में थोड़ा टेस्टोस्टेरोन बढ़ता है इसलिए वो उस समय सेक्स करना पसंद करती हैं।

हैलो स्वास्थ्य का न्यूजलेटर प्राप्त करें

मधुमेह, हृदय रोग, हाई ब्लड प्रेशर, मोटापा, कैंसर और भी बहुत कुछ...
सब्सक्राइब' पर क्लिक करके मैं सभी नियमों व शर्तों तथा गोपनीयता नीति को स्वीकार करता/करती हूं। मैं हैलो स्वास्थ्य से भविष्य में मिलने वाले ईमेल को भी स्वीकार करता/करती हूं और जानता/जानती हूं कि मैं हैलो स्वास्थ्य के सब्सक्रिप्शन को किसी भी समय बंद कर सकता/सकती हूं।

बड़ा काम करने के पहले

सेक्स कब और कितनी बार या सेक्स टाइम तय करें हर किसी के लिए यह जानना बेहद जरूरी है। शोध से पता चला है कि सेक्स करने से हमारे नर्व शांत होते हैं, ब्लड प्रेशर कम होने के साथ तनाव कम होता है। शोध से पता चला है कि यदि कोई सार्वजनिक मंच पर बोलने के पहले सेक्स करे तो वह कम तनाव महसूस करता है। इसलिए हमें बड़ा काम करने के पहले सेक्स करें तो उस काम को आसानी से कर सकते हैं।

और पढ़ें: कहीं आपकी लो सेक्स ड्राइव (low sex drive) का कारण ये दवाएं तो नहीं?

सुबह के वक्त सेक्स करना है सबसे बेस्ट

सेक्स कब और कितनी बार करना चाहिए जानने के लिए जरूरी है कि आप सेक्स करने के लिए सुबह का वक्त चुनें। हमारा शरीर सुबह में सेक्स करने के लिए बना है। इस वक्त सिर्फ टेस्टोस्टेरोन का लेवल ही नहीं बढ़ता बल्कि सुबह के समय हमारी एनर्जी ज्यादा होती है। वहीं इस वक्त सेक्स करने से ऑक्सीटॉसिन के लेवल में इजाफा होता है, ऐसे में आप व आपके पार्टनर के बीच बॉन्डिंग दिन भर मजबूत रहती है और एंडोर्फिन आपके मूड को अच्छा रखते हैं।

मौसम बदलने पर जब थोड़ा कमजोर महसूस करें तब सेक्स कर बढ़ाएं इम्युनिटी

सुनने में यह थोड़ा अटपटा जरूर है, लेकिन शोध से पता चला है कि सेक्स कर हम अपनी इम्युनिटी बढ़ा सकते हैं। ऐसे में मौसम में होने वाले बदलाव के कारण जब आप थोड़े बीमार हो तो ऐसे में सेक्स कर अपनी इम्युनिटी बढ़ा सकते हैं। सेक्स कब और कितनी बार करें इससे काफी फर्क पड़ता है, क्योंकि सेक्स करने से हमारे इम्युनिटी पावर में इजाफा होता है।

कोरोना वायरस व सेक्स लाइफ में कनेक्शन जानें, खेलें क्विज: क्या कोरोना वायरस और सेक्स लाइफ के बीच कनेक्शन है? अगर जानते हैं इस बारे में तो खेलें क्विज

पीरियड साइकिल के 14वें दिन करें सेक्स

सेक्स कब और कितनी बार करें इसके पीछे पीरियड साइकिल भी अहम रोल अदा करता है। महिलाएं पीरियड साइकिल के 14वें दिन सेक्स कर ज्यादा संतुष्टि पा सकतीं हैं। हालिया शोध से यह पता चला है कि पीरियड साइकिल के दूसरे सप्ताह में महिलाओं के क्लिटोरिस में 20 फीसदी इजाफा होता है। वहीं आपका ऑर्गैज्म भी इसी दिन आता है, यही वो दिन है जिस वक्त आपका ओवेलूशन शुरू होता है। ऐसे में महिलाओं में इस दिन सेक्स करने की इच्छा भी ज्यादा होती है।

सेक्स कब और कितनी बार करना चाहिए को आप हार्मोन साइकिल से भी जोड़कर देख सकते हैं। पुरुषों में दिन में जहां रोजाना 25 से 50 फीसदी टेस्टोस्टेरोन में इजाफा होता है वहीं उन्हें सेक्स की इच्छा ज्यादा करती है। वहीं महिलाओं के मामले में ऐसा नहीं है। महिलाओं के टेस्टोस्टेरोन में रोजाना बदलाव नहीं होता, बल्कि महीने में एक बार होता है, वो भी पीरियड साइकिल के 14वें दिन। इस दौरान महिलाएं भी सेक्स को लेकर ठीक वैसा ही फील करती हैं जैसा कि पुरुष।

और पढ़ें: बायसेक्सुअल के बारे में जाने हर जरूरी बात, यह कैसे हैं गे और लेस्बियन से अलग

वर्कआउट करने के बाद करें सेक्स

सेक्स कब और कितनी बार करें इसके लिए जरूरी है कि आप वर्कआउट करने के बाद सेक्स कर सकते हैं। ऐसा कर आप सामान्य से  काफी अच्छा महसूस करेंगे। यहां तक कि ज्यादा समय तक सेक्स कर पाते हैं। ऑस्टिन में यूनिवर्सिटी ऑफ टेक्सॉस में किए एक शोध के अनुसार कामुख सामग्री के प्रति महिलाओं के रिएक्शन हासिल किए। इसमें महिलाओं को 20 मिनट तक साइकिल राइड कराया गया, उसके बाद देखा गया है कि महिलाओं के जेनाइटल रीजन में एक्सरसाइज के बाद 169 फीसदी ज्यादा तेजी से ब्लड फ्लो हो रहा था। वहीं वर्कआउट के बाद आप शारिरिक तौर पर फिट भी हो जाते हैं। एक्सरसाइज करने से हमारे शरीर में टेस्टोस्टेरोन हॉर्मोन में इजाफा होता है। यह सेक्स के लिए काफी अहम हॉर्मोन माना जाता है। जब आप एक्सरसाइज करते हैं तो आपकी इच्छाओं में भी इजाफा होता है।

और पढ़ें: पुरुषों के लिए सेक्स टिप्स: जानें हेल्दी सेक्स लाइफ के लिए क्या करना चाहिए और क्या नहीं?

योग भी एक्सरसाइज का सबसे अच्छा माध्यम है, इसे अपनाने के लिए एक्सपर्ट से जानें खासियत

खराब दिन के बाद करें सेक्स, तनाव से मुक्ति और अच्छा फील करेंगे

सेक्स कब और कितनी बार करें इसके लिए आप जब भी आपका दिन खराब जाए तो आप सेक्स कर सकते हैं। ऑफिस हो या फिर कहीं और जब भी आपका दिन सही से न गुजरे तो आप सेक्स कर तनाव को कम कर सकते हैं। तनाव को लेकर शराब पीने से बेहतर है कि आप सेक्स कर तनाव दूर करें। शोध से पता चला है कि सेक्स ही नहीं यदि तनाव के बाद आप अपने पार्टनर के हाथों को पकड़ते हैं तो उससे भी काफी हद तक आपका तनाव दूर होता है। वहीं बेड पर फ्रस्टेशन निकाल आप बेहतर तरीके से सेक्स कर पाते हैं। लेकिन इसके लिए जरूरी है कि आपका पार्टनर भी आपको सपोर्ट करे।

और पढ़ें: छोटे लिंग के साथ बेहतर सेक्स करने के लिए अपनाएं ये आसान तरीके

आपने कोई एक्टीविटी की हो जिसके बाद आप डर गए हो या कुछ डरावना सपना देखा हो

सेक्स कब और कितनी बार करें इसके लिए आप इसे अपना सकते हैं। यानि जब भी आप डरा हुआ महसूस करें, खासतौर पर तब जब आप जिप लाइनिंग, रोलर कोस्टर राइड से आए हों या फिर आपने कोई डरावनी फिल्म देखी हो, इस अवस्था में आपका एड्रेनिल पंप करता है। ऐसे मौकों पर आपको सेक्स की ज्यादा इच्छा होती है। इसलिए अपनी सेक्स संबंधी इच्छा को पूरा करने के लिए आप सेक्स कर सकते हैं।

और पढ़ें: क्या आप ब्रेकअप के बाद इन्वॉल्व हैं रिवेंज सेक्स में? जानें इसके कारण क्या हैं

शारीरिक संबंध कब और कितनी बार बनायें इसके साथ ही साफ सफाई भी है बेहद जरूरी

सेक्स कब और कितनी बार करें इसको लेकर सफाई बड़ा फैक्टर है। ज्यादातर महिलाएं सेक्स करने के पहले नहाना व सफाई और फ्रेश होने के बाद सेक्स करना पसंद करतीं हैं। तो ऐसे में महिलाओं को मॉर्निंग ब्रिद (सुबह की गंदी सांसें) और रात के समय पुरुषों के शरीर से आने वाली पसीने की बदबू के कारण उनका मूड खराब हो सकता है। ऐसे में पुरुष पार्टनर महिलाओं की इस डिमांड को भांप, इन कमियों को दूर कर सेक्स की संतुष्टि हासिल कर सकते हैं।

powered by Typeform

मॉर्निंग सेक्स के फायदे

सेक्स कब और कितनी बार करें इसको लेकरमॉर्निंग सेक्स सबसे बेहतर होता है। इसलिए जरूरी है कि इसके फायदे के बारे में भी जानना चाहिए ताकि ज्यादा से ज्यादा इसका लाभ उठा सकें।

  • लंबे समय तक कर पाते हैं सेक्स : सेक्स कब और कितनी बार करें इसके लिए जरूरी है कि सेक्स करना यह उतना अहम नहीं है बल्कि लंबे समय तक सेक्स करना ज्यादा जरूरी है। सुबह में सेक्स करने से व्यक्ति लंबे समय तक सेक्स कर पाता है। शरीर में यदि टेस्टोस्टेरोन का लेवल ज्यादा होगा तो संभव है कि हमारे पार्टनर की कामोत्तेजना भी बढ़ेगी। वहीं ज्यादा टेस्टोस्टेरोन का लेवल होने से हमारे इरेक्शन की स्ट्रेंथ भी बढ़ती है।
  • कडल हार्मोन ऑक्सीटॉसिन को करता है रिलीज : सेक्स कब और कितनी बार करें के लिए सुबह में सेक्स कर आप इमोशनली तौर पर भी अपने पार्टनर के और नजदीक आ सकते हैं। ऐसा इसलिए है कि सुबह में सेक्स करने से ऑक्सीटॉसिन निकलता है, जिसे कडल हॉर्मोन भी कहते हैं। ऑक्सीटॉसिन हमारे दिमाग में पाए जाने वाला एक खास कैमिकल है जो लव और बॉन्डिंग को मजबूत करता है। सेक्स के दौरान जब ऑक्सीटॉसिन निकलता है तो आपकी आपके पार्टनर के साथ बॉन्डिंग और मजबूत होती है।
  • हमारा शरीर पूरी तरह सेक्स के लिए तैयार : सेक्स कब और कितनी बार करें के लिए मॉर्निंग का समय ही चुनें, क्योंकि इस वक्त हमारा शरीर पूरी तरह से तैयार होता है। सुबह से वक्त हमारे शरीर में टेस्टोस्टेरोन और एस्ट्रोजन का लेवल अपनी ऊंचाई पर रहता है। 2013 में किए शोध से पता चला कि हमारी कामोत्तेजना हमारे हॉर्मोन के स्तर से प्रभावित करती है, हॉर्मोन ज्यादा होने पर हमें सेक्स की इच्छा भी ज्यादा होती है।
  • तनाव को करता है दूर :  सेक्स कब और कितनी बार करें के तहत सेक्स का तनाव से नाता है। यदि आप तनावमुत होना चाहते हैं तो जरूरी है कि आप सुबह में सेक्स का आनंद उठाएं। 2010 में किए एक शोध से पता चला है कि प्लेजर एक्टीविटी कर स्ट्रेस हॉर्मोन को कम कर सकते हैं। वहीं सेक्स कर यदि आप कोई काम करते हैं तो आप ज्यादा अच्छा फील कर पाते हैं।

और पढ़ें : सेक्स के बारे में सोचते रहना नहीं है कोई बीमारी, ऐसे कंट्रोल में रख सकते हैं अपनी फीलिंग्स

  • एंडोर्फिन करता है रिलीज : मॉर्निंग में सेक्स करने से हमारा शरीर एंडोर्फिन नामन तत्व रिलीज करता है। यह दर्द निवारण कैमिकल हमारे मूड को ठीक करने में मदद करते हैं। यही कारण है कि सेक्स के दौरान आप ज्यादा उत्साहित महसूस करते हैं।
  • वर्कआउट की श्रेणी में आता है सेक्स : यह तो सही है कि सेक्स की तुलना रनिंग, या फिर एक घंटे तक की जाने वाली वर्कआउट से नहीं की जा सकती। बावजूद इसके सेक्स काफी अच्छा वर्कआउट है। सेक्स कर हम प्रति मिनट करीब पांच कैलोरी बर्न कर सकते हैं। सेक्स कब और कितनी बार करें के लिए आप इसे मॉर्निंग में ट्राय कर सकते हैं वहीं इसे वर्कआउट के तौर पर भी ले सकते हैं।
  • हमारे दिमाग के लिए लाभकारी : सेक्स कब और कितनी बार करें के लिए हमने कई फैक्ट्स जान लिए लेकिन यह हमारे दिमाग के लिए भी काफी जरूरी होता है। मॉर्निंग सेक्स हमारे दिमाग के लिए पावर बूस्टर का काम करता है। शोध से पता चला है कि मॉर्निंग सेक्स करने से न्यूरोट्रांसमीटर्स और हॉर्मोन रिलीज करता है। वहीं एक प्रकार का डोपामाइन हॉर्मोन रिलीज करता है जो हमें अच्छा महसूस कराते हैं।
  • हमेशा जवां दिखने में करता है मदद : मॉर्निंग सेक्स कर हम हमेशा जवां रह सकते हैं। एक्सपर्ट का मानना है कि सेक्स के जरिए हम जवां दिख सकते हैं, क्योंकि सेक्स के दौरान ऑक्सीटॉसिन, बीटा एंडोर्फिन और अन्य एंटी इम्फ्लेमेटरी मॉलीक्यूल का रिसाव होता है।

और पढ़ें: जानें,सेक्स एजुकेशन क्या है ,और क्यों है समाज में जरूरी

सेक्स से खुश, स्वस्थ्य और पार्टनर के साथ मजबूत होती है बांडिंग

सेक्स कब और कितनी बार करें इसको लेकर यदि कोई भी कपल सप्ताह में तीन बार सेक्स करता है तो वो ज्यादा संतुष्टि हासिल कर सकता है। वहीं दूसरों की तुलना में ज्यादा जवां भी दिखता है। इसलिए जरूरी है कि जीवन में तनाव कम करने, पार्टनर के साथ बांडिंग मजबूत करने के साथ और फिजिकली फिट रहने के लिए सेक्स करना चाहिए। वहीं समय का ध्यान रख सेक्स करें तो और आत्मसंतुष्टि का एहसास कर सकते हैं। बता दें कि मॉर्निंग सेक्स के फायदे अनंत हैं।

दिन की अच्छी शुरुआत आप मॉर्निंग सेक्स के बाद कर सकते हैं। इसलिए हमेशा शारिरिक और मानसिक तौर पर स्वस्थ्य रहने के लिए सेक्स को अपनी दिनचर्या में शामिल करें। यदि सेक्स या सेक्स कब और कितनी बार करें इससे जुड़ी को जानकारी चाहते हैं, तो डॉक्टर से संपर्क करें।

और पढ़ें: मॉर्निंग सेक्स के फायदे पाने के लिए जानिए कुछ बेहतरीन टिप्स

निष्कर्ष

सभी कपल के जीवन में एक न एक बार यह सवाल जरूर आता है कि सामान्य रूप से लोग दिन या सप्ताह में कितनी बार सेक्स करते होंगे? अगर आप भी ऐसा सोचते हैं, तो इसमें कोई गलत बात या असामान्यता नहीं है। हालांकि, हर कपल की सेक्स लाइफ अलग होती है। कोई रोजाना सेक्स करते हैं, तो कई केवल सप्ताह में एक या दो बार। ऐसे में यदि आपको लगता है कि आपकी सेक्स लाइफ में कमी है तो इसके बारे में अपने थेरेपिस्ट या पार्टनर से परामर्श करें।

हैलो हेल्थ ग्रुप चिकित्सा सलाह, निदान या उपचार प्रदान नहीं करता है

क्या यह आर्टिकल आपके लिए फायदेमंद था?
happy unhappy
सूत्र

शायद आपको यह भी अच्छा लगे

हर्पीस के साथ सेक्स संभव है या नहीं, जानने के लिए पढ़ें यह आर्टिकल

हर्पीस के साथ सेक्स करना चाहिए या नहीं इसको लेकर जानें क्या करें व क्या नहीं। क्या बरतें सावधानी। संक्रमण का खतरा कैसे होता है कम, जानने के लिए पढ़ें।

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Satish singh

फर्स्ट टाइम सेक्स के बाद ब्लीडिंग होना सामान्य है या असामान्य, इसके पीछे का कारण जानें

फर्स्ट टाइम सेक्स ब्लीडिंग होना सामान्य है या असामान्य, किसे होता है और किसको नहीं होता। इससे बचाव के लिए क्या करें और क्या नहीं, कब लें डॉक्टरी सलाह जानें।

के द्वारा लिखा गया Satish singh

क्या आपने हस्तमैथुन साइड इफेक्ट्स के बारे में सुना है? जानिए सही और गलत में अंतर

हस्तमैथुन साइड इफेक्ट्स को जानने के साथ इससे जुड़े मिथ को जानें। जानिए क्या है masturbation side effects, हस्तमैथुन के हैं बहुत से फ़ायदे।

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Satish singh

कॉन्डोमलेस सेक्स के क्या होते हैं रिस्क, बीमारियों से बचाव के लिए यह जानना है जरूरी

कॉन्डोमलेस सेक्स काफी घातक होता है, इसका इस्तेमाल करने वाले लोग कई बीमारियों से बच जाते हैं। वहीं जो इस्तेमाल नहीं करते उन्हें बीमारी का खतरा रहता है।

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Satish singh

Recommended for you

सेक्स क्विज: sex quiz

Quiz: क्या आप सेक्स करने के लिए दिमागी रूप से हैं तैयार?

के द्वारा लिखा गया Surender Aggarwal
प्रकाशित हुआ अक्टूबर 17, 2020 . 1 मिनट में पढ़ें
सेक्स ड्राइव क्विज -sex drive quiz

क्या आपकी सेक्स ड्राइव है कम? ऐसे लगाएं पता

के द्वारा लिखा गया Surender Aggarwal
प्रकाशित हुआ अक्टूबर 16, 2020 . 1 मिनट में पढ़ें
हिस्टेरेक्टॉमी के बाद सेक्स

क्या हिस्टेरेक्टॉमी (Hysterectomy) सर्जरी के बाद भी सेक्स लाइफ रहेगी हिट?

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Shikha Patel
प्रकाशित हुआ सितम्बर 10, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें
पीठ दर्द के साथ बेहतर सेक्स - better sex with back pain

पीठ दर्द के साथ बेहतर सेक्स के लिए ध्यान रखें ये जरूरी बातें

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Shikha Patel
प्रकाशित हुआ सितम्बर 1, 2020 . 5 मिनट में पढ़ें