Nicotinic Acid : निकोटिनिक एसिड क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां

चिकित्सक द्वारा समीक्षित | द्वारा

अपडेट डेट February 13, 2020 . 7 मिनट में पढ़ें
अब शेयर करें

परिचय

निकोटिनिक एसिड (Nicotinic acid) क्या है?

निकोटिनिक एसिड या नियासिन विटामिन बी3 का ऑर्गेनिक कंपाउंड है, जो मानव पोषण के लिए जरूरी है। यह pyridinecarboxylic एसिड समूह से संबंधित है। इसका फॉर्मूला C ₆H ₅NO ₂ है।

उपयोग

निकोटिनिक एसिड (Nicotinic acid) का इस्तेमाल किस लिए होता है?

निकोटिनिक एसिड का इस्तेमाल बॉडी में नायसिन की कमी (पेलाग्रा) (pellagra) में होता है। नायसिन की कमी से कुछ विशेष प्रकार की समस्याएं (एल्कोहॉल का गलत इस्तेमाल या लत, छोटी आंत का पोषक तत्वों को ना सोख पाना, हार्टनप डीजेज (नॉनपोलप एमिनो एसिड का बॉडी में ना सोखना)), खराब खान पान या लंबे वक्त तक कुछ दवाइयों का इस्तेमाल करने से होने वाली दिक्कतों (isoniazid जैसी दवा) के इलाज में होता है। नायसिन की कमी से डायरिया, मति भ्रम होना, जुबान पर लालिमा पड़ना/ सूजन, त्वचा का छिलना या लाल पड़ना। नायसिन को विटामिन बी3 के नाम से भी जाना जाता है, जो विटामिन बी कॉम्प्लैक्स में से एक है। अच्छी सेहत के लिए विटामिन्स बॉडी को पोषक तत्वों को तोड़ने में मदद करते हैं।

मुझे निकोटिनिक एसिड (Nicotinic acid) का इस्तेमाल कैसे करना चाहिए?

कम फैट वाले भोजन या स्नैक्स के साथ डॉक्टर की सलाह पर निकोटिनिक एसिड का सेवन किया जा सकता है। आमतौर पर दिन में एक से तीन बार ऐसा किया जा सकता है। इसके पैकेज पर छपे दिशा निर्देशों का पालन करें। यदि डॉक्टर आपको निकोटिनिक एसिड लेने की सलाह देता है तो उसके दिशा निर्देशों का पालन करें। यदि आप इसकी जानकारी को लेकर अभी भी आश्वस्त नही हैं तो अपने डॉक्टर या फार्मासिस्ट से सलाह लें। नायसिन कई फॉर्म्यूलेशन (तुरंत और धीरे-धीरे घुलने या रिलीज होने वाली) में उपलब्ध है। बिना डॉक्टर की सलाह के इसके ब्रांड, स्ट्रेंथ या फॉर्म को न बदलें। इससे लिवर की समस्याएं आ सकती हैं। इसके कैप्सूल को पूरा निगलें। कैप्सूल या गोली को चबाएं या तोड़े नहीं। ऐसा करने से एक बार में पूरी दवा निकल जाएगी और साइड इफेक्ट्स की संभावना बढ़ जाएगी। ऐसा तब तक ना करें जब तक डॉक्टर इसकी सलाह न दे।

मुझे निकोटिनिक एसिड (Nicotinic acid) कैसे स्टोर करना चाहिए?

निकोटिनिक एसिड को स्टोर करने का सबसे बेहतर तरीका है इसे कमरे के तापमान पर रखना। इसे सूर्य की सीधी किरणों और नमी से दूर रखें। दवा को खराब होने से बचाने के लिए आपको निकोटिनिक एसिड को बाथरूम या फ्रीजर में नहीं रखना है। निकोटिनिक एसिड के अलग-अलग ब्रांड्स को अलग तरीकों से स्टोर किया जाता है। इसे रखने से पहले सबसे बेहतर होगा कि आप दवा के पैकेज पर छपे निर्देशों को पढ़ लें या फार्मासिस्ट से पूछें। सुरक्षा की दृष्टि से सभी दवाइयों को अपने बच्चों और पेट्स से दूर रखें। जब तक कहा न जाए, तब तक सुरक्षा की दृष्टि से आपको निकोटिनिक एसिड को टॉयलेट या नाली में नहीं बहाना है। आवश्यकता ना रहने या एक्सपायरी की स्थिति में दवा का समुचित तरीके से निस्तारण जरूरी है। सुरक्षित तरीके से इसका निस्तारण करने के लिए अपने फार्मासिस्ट से सलाह लें।

सावधानियां और चेतावनी

निकोटिनिक एसिड (Nicotinic acid) का इस्तेमाल करने से पहले मुझे क्या पता होना चाहिए?

निम्नलिखित परिस्थितियों में इसका इस्तेमाल करने से पहले डॉक्टर या फार्मासिस्ट से सलाह लें:

  • यदि आप प्रेग्नेंट या  ब्रेस्टफीडिंग करा रही हैं। दोनों ही स्थितियों में सिर्फ डॉक्टर की सलाह पर ही दवा खानी चाहिए।
  • यदि आप अन्य दवाइयां ले रही हैं। इसमें डॉक्टर की लिखी हुई और गैर लिखी हुई दवाइयां शामिल हैं, जो मार्केट में बिना डॉक्टर के प्रिस्क्रिप्शन के खरीद के लिए उपलब्ध हैं।
  • यदि आपको बेहद ही लो ब्लड प्रेशर, एल्कोहॉल यूज, विगत समय में ब्लीडिंग की समस्या (प्लेटलेट्स का कम रहना), डायबिटीज, गॉलब्लैडर की बीमारी, ग्लूकोमा, गाउट, हार्ट की बीमारी (हालिया हार्ट अटैक, अस्थिर एंजिना), गुर्दे की समस्या, लिवर की समस्या/ लिवर में एंजायम बढ़ना, गैर इलाज किया हुआ मिनरल का असंतुलन (लो फोस्पेट लेवल), विगत समय में पेट/ आंत का अल्सर, हाइपरथायरॉइडिज्म की समस्या रही है, इसका इस्तेमाल करने से पहले अपने डॉक्टर से सलाह अवश्य लें।
  • यदि आपको कोई बीमारी, डिसऑर्डर या कोई अन्य मेडिकल कंडिशन है।

क्या निकोटिनिक एसिड (Nicotinic acid) एल्कोहोल के साथ रिएक्शन कर सकती है?

निकोटिनिक एसिड आपको चक्कर आ सकते हैं। एल्कोहॉल या मारिजोना से आपको और चक्कर आ सकते हैं। दोनों चीजों का एक साथ सेवन ना करें। जब तक आप सुरक्षित रूप से ड्राइव, मशीन का इस्तेमाल या कोई अन्य कार्य न कर लें, तब तक ऐसा करने से बचें। अपने अल्कोहोल को सीमित करें। यदि आप मारिजोना का इस्तेमाल कर रहे हैं तो अपने डॉक्टर से सलाह अवश्य लें।

विशेष सावधानियां और चुनौतियां

प्रेग्नेंसी: गर्भावस्था के दौरान आपको सिर्फ उन्हीं दवाइयों का इस्तेमाल करना चाहिए, जिनकी जरूरत हो। दवा का इस्तेमाल करने से पहले उसके खतरे और फायदे के बारे में अपने डॉक्टर से सलाह अवश्य लें।

ब्रेस्टफीडिंग: निकोटिनिक एसिड मां के दूध के जरिए शिशु की बॉडी में प्रवेश कर सकता है। ब्रेस्टफीडिंग में इसका इस्तेमाल करने से पहले अपने डॉक्टर से सलाह लें।

सर्जरी: सर्जरी से पहले उन सभी प्रोडक्ट्स के बारे में अपने डेंटिस्ट या डॉक्टर को जानकारी दें, जिना इस्तेमाल आपने किया है। इसमें डॉक्टर की लिखी हुई और गैर लिखी हुई हर्बल दवाइयां शामिल हैं।

ब्लड शुगर: दुर्लभ मामलो में यह दवा मुश्किल से आपके ब्लड शुगर को बढ़ा सकती है, जिससे डायबिटीज और बदतर हो सकती है। यदि आपको पहले से ही डायबिटीज है तो नियमित रूप से अपने ब्लड शुगर लेवल की जांच कराएं और परिणाम को डॉक्टर के साथ साझा करें। यदि आपको प्यास / यूरिन बढ़ने जैसे हाई ब्लड शुगर के लक्षण दिखाई देते हैं तो इसकी सूचना अपने डॉक्टर को तुरंत दें। आपकी डायबिटीज की दवाइयों में परिवर्तन करने की आवश्यकता पड़ सकती है।

यह भी पढ़ें: शुगर लेवल को ऐसे कंट्रोल करता है नाशपाती

साइड इफेक्ट्स

निकोटिनिक एसिड (Nicotinic acid) से मुझे क्या साइड इफेक्ट्स हो सकते हैं?

निकोटिनिक एसिड से आपको निम्नलिखित साइड इफेक्ट्स हो सकते हैं:

  • गर्दन और चेहरे में गर्महाट होना
  • सिरदर्द
  • खुजली
  • जलन
  • पसीना आना
  • पेट खराब
  • उबकाई
  • उल्टी
  • डायरिया
  • इस दवा को लेने के 20 मिनट से 4 घंटे के भीतर ठंड लगना या झुनझुनी हो सकती है।
  • कुछ घंटो तक चेहरे पर लालिमा रह सकती है।
  • जैसे ही बॉडी इस दवा को अडजस्ट करेगी वैसी ही इन लक्षणों में सुधार होगा।

इन लक्षणों के लंबे वक्त तक रहने पर तुरंत अपने डॉक्टर या फार्मासिस्ट को सूचित करें। चक्कर आने के खतरे को कम करने के लिए बैठे या लेटी हुई अवस्था से धीरे-धीरे उठें। यदि आप ब्लड प्रेशर की दवा ले रहे हैं, तब भी यह बहुत जरूरी है।

निम्नलिखित साइड इफेक्ट्स की स्थिति में तुरंत अपने डॉक्टर को सूचित करें:

इसके गंभीर साइड इफेक्ट्स दुर्लभ मामलों में ही समाने आते हैं। गंभीर एलर्जिक रिएक्शन जैसे लालिमा पड़ना, खुजली/सूजन (चेहरे, जुबान, गले की सूजन) गंभीर चक्कर आना, सांस लेने में समस्या के लक्षण दिखते ही तुरंत अपने डॉक्टर को सूचित करें।

हालांकि, हर व्यक्ति को उपरोक्त साइड इफेक्ट्स का अनुभव नहीं होता है। ऊपर बताए गए साइड इफेक्ट के अलावा भी निकोटिनिक के कुछ साइड इफेक्ट्स हो सकते हैं, जिन्हें ऊपर सूचीबद्ध नहीं किया गया है। यदि आप इसके साइड इफेक्ट्स को लेकर चिंतित हैं तो अपने डॉक्टर या हर्बलिस्ट से सलाह लें।

यह भी पढ़ें: Uric Acid Blood Test : यूरिक एसिड ब्लड टेस्ट क्या है?

निकोटिनिक एसिड (Nicotinic acid) से मुझे क्या रिएक्शन हो सकता है?

निकोटिनिक एसिड आपकी मौजूदा दवाइयों के साथ रिएक्शन कर सकता है या दवा के कार्य करने का तरीका परिवर्तित हो सकता है। इससे गंभीर साइड इफेक्ट्स की संभावना बढ़ा जाती है। ऐसे में उन सभी प्रोडक्ट्स की लिस्ट बनाएं, जिनका इस्तेमाल आप कर रहे हैं। इस लिस्ट में डॉक्टर के लिखे और गैर लिखे, हर्बल प्रोडक्ट्स को शामिल करें। इसके बाद इस लिस्ट को अपने डॉक्टर या फार्मासिस्ट के साथ साझा करें। बिना डॉक्टर की मंजूरी के दवा को बंद, शुरू या डोज में बदलाव ना करें।

  • वॉफारिन (warfarin), हेपारिन्स (heparins) दवाइयां, जो ब्लड को पतला करती हैं, इनके साथ निकोटिनिक एसिड रिएक्शन कर सकता है।

सभी डायट्री सप्लिमेंट्स या विटामिन्स के पैकेज को सावधानी पूर्वक चेक करें, क्योंकि इनमें नायसिन या नियासिनामाइड (niacinamide) हो सकता है। दोनों का एक साथ सेवन करने से गंभीर साइड इफेक्ट्स हो सकते हैं। इसकी अधिक जानकारी के लिए अपने डॉक्टर से सलाह लें।

इसके अलावा, यह प्रयोगशाला में होने वाले कुछ जांच में हस्तक्षेप कर सकता है, जिससे गलत परीणाम आ सकते हैं। ऐसे में जांचकर्ता को उन सभी प्रोडक्ट्स की जानकारी दें, जिनका आप इस्तेमाल करते हैं।

यह भी पढ़ें: रात को सोते समय बेवजह क्यों आने लगता है पसीना?

डोसेज

उपरोक्त जानकारी चिकित्सा सलाह का विकल्प नहीं हो सकती। इसका इस्तेमाल करने से पहले हमेशा अपने डॉक्टर या फार्मासिस्ट से सलाह लें।

निकोटिनिक एसिड (Nicotinic acid) का सामान्य डोज क्या है?

हाइपरलाइपोप्रोटीनेमिया में अडल्ट्स के लिए सामान्य डोज:

तुरंत रिलीज के लिए:

शुरुआती डोज:250 mg शाम के खाने के बाद दिन में एक बार। अपेक्षित परिणाम हासिल करने के लिए हर 4-7 दिन तक इसकी फ्रीक्वेंसी बढ़ा दें या थेरेप्यूटिक डोज का पहला लेवल (1.5 to 2 ग्राम प्रतिदिन 2 से 3 डोज में विभाजित करें)। यदि दो महीने के बाद उपयुक्त परिणाम न मिलने पर डोज को एक हफ्ते के अंतराल के बाद डोज को दो से चार हफ्तों तक बढ़ा दें।

मेंटेनेंस डोज: 1 से 2 ग्राम मौखिक रूप से दिन में दो से तीन बार।

मैक्सिमम डोज: 6 ग्राम प्रतिदिन ( 2 से 3 तीन डोज में बांटे)

सस्टेन्ड रिलीज:

  • 1 से 4 हफ्ते: 500 mg मौखिक रूप से सोते वक्त।
  • 5 से 8 हफ्ते: 1000 mg मौखिक रूप से सोते वक्त।
  • आठ हफ्ते बाद: मरीज की शहनशीलता और प्रतिक्रिया पर। यदि 1000 mg प्रतिदिन का रिस्पॉन्स अपर्याप्त है तो 1500 mg प्रतिदिन तक डोज बढ़ा दें। इसके बाद इसे 2000 mg प्रतिदिन तक बढ़ाया जा सकता है। चार हफ्तों की अवधि के भीतर प्रतिदिन का डोज 500 mg से ज्यादा नहीं बढ़ाया जा सकता।
  • मेंटेनेंस डोज: 1000 to 2000 mg मौखिक रूप से सोते वक्त।
  • मैक्सिम डोज: 2000 mg प्रतिदिन।

विटामिन और मिनरल के तौर पर अडल्ट्स के लिए डोज:

  • पुरुषों के लिए: 16 mg प्रतिदिन
  • महिलाओं के लिए : 14 mg प्रतिदिन
  • प्रेग्नेंसी: 18 mg प्रतिदिन
  • ब्रेस्टफीडिंग: 17 mg/day

बच्चों के लिए विटामिन/ मिनरल सप्लिमेंटेशन के तौर पर डोज:

उपयुक्त डोज:

  • 0 से 6 महीने के नवजात शिशु: 2 mg प्रतिदिन
  • 7 से 12 महीने के शिशु: 4 mg प्रतिदिन

रेकोमेंडेड डायट्री अलाउंस (RDA)

  • 1 से 3 तीन वर्ष तक के बच्चे: 6 mg प्रतिदिन
  • 4 से 8 वर्ष के बच्चे: 8 mg प्रतिदिन
  • 9 से 13 वर्ष के बच्चे: 12 mg प्रतिदिन
  • 14 से 18 वर्ष के लड़के के लिए: 16 mg प्रतिदिन
  • 14 से 18 वर्ष की लड़कियों के लिए: 14 mg प्रतिदिन
  • प्रेग्नेंसी: 18 mg प्रतिदिन
  • ब्रेस्टफीडिंग: 17 mg प्रतिदिन

नोट : ध्यान रहे कि आप खुद से इसकी खुराक न लें, हमेशा डॉक्टर की सलाह से ही इसे लें।

ओवरडोज या आपात स्थिति में मुझे क्या करना चाहिए?

आपात या ओवरडोज की स्थिति में तुरंत अपने नजदीकी डॉक्टर या आपातकालीन सेवा से संपर्क करें।

निकोटिनिक एसिड (Nicotinic acid) का डोज मिस हो जाए तो क्या करूं?

निकोटिनिक एसिड का डोज मिस हो जाता है तो जल्द से जल्द इसे लें। हालांकि, यदि आपका अगली खुराक का समय नजदीक आ गया है तो भूले हुए डोज को न खाएं। पहले से तय नियमित डोज को लें। एक बार में दो खुराक न खाएं।

हैलो हेल्थ ग्रुप चिकित्सा सलाह, निदान या इलाज मुहैया नहीं कराता है।

और पढ़ें :-

Calcium carbonate : कैल्शियम कार्बोनेट क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां

Uric Acid Blood Test : यूरिक एसिड ब्लड टेस्ट क्या है?

Vitamin B12: विटामिन बी-12 क्या है?

Ascorbic Acid (Vitamin C) : विटामिन सी क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां

हैलो हेल्थ ग्रुप चिकित्सा सलाह, निदान या उपचार प्रदान नहीं करता है

Was this article helpful for you ?
happy unhappy

संबंधित लेख:

    शायद आपको यह भी अच्छा लगे

    Bifilac: बिफिलेक क्या है? जानिए इसके उपयोग और साइड इफेक्ट्स

    बिफिलेक दवा की जानकारी in hindi वहीं इसके उपयोग, डोज और सावधानी और चेतावनी के साथ इसके साइड इफेक्ट्स और इसमें मौजूद तत्व व स्टोरेज जानने के लिए पढ़ें।

    चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
    के द्वारा लिखा गया Satish singh

    Chinese Rhubarb: चाइनीज रुबाब क्या है?

    जानिए चाइनीज रुबाब की जानकारी in hindi, फायदे, लाभ, चाइनीज रुबाब उपयोग, इस्तेमाल कैसे करें, कब लें, कैसे लें, कितना लें, खुराक, Chinese Rhubarb डोज, ओवरडोज, साइड इफेक्ट्स, नुकसान, दुष्प्रभाव और सावधानियां।

    चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pooja Daphal
    के द्वारा लिखा गया Mona narang

    Rose Geranium Oil: रोज जेरेनियम ऑयल क्या है?

    जानिए रोज जेरेनियम ऑयल की जानकारी in hindi, फायदे, लाभ, रोज जेरेनियम ऑयल उपयोग, इस्तेमाल कैसे करें, कब लें, कैसे लें, कितना लें, खुराक, Rose Geranium Oil डोज, ओवरडोज, साइड इफेक्ट्स, नुकसान, दुष्प्रभाव और सावधानियां।

    चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Hemakshi J
    के द्वारा लिखा गया Anu sharma

    कोरोना के कहर के बाद अब चीन में हंता वायरस, एक की हुई मौत

    हंता वायरस की जानकारी in hindi. वायरस के लक्षण hantavirus Symptoms, कोरोना वायरस के बाद अब चीन में फैला ये वायरस Hantaviruses

    चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
    के द्वारा लिखा गया Bhawana Awasthi

    Recommended for you

    इरिटेबल बॉवेल सिंड्रोम का यूनानी इलाज (Unani treatment for Irritable bowel syndrome)

    इरिटेबल बॉवेल सिंड्रोम (IBS) का यूनानी इलाज कैसे किया जाता है?

    चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
    के द्वारा लिखा गया Nidhi Sinha
    प्रकाशित हुआ January 27, 2021 . 4 मिनट में पढ़ें
    निजोनाइड टैबलेट Nizonide Tablet

    Nizonide Tablet : निजोनाइड टैबलेट क्या है? जानिए इसके उपयोग और साइड इफेक्ट्स

    चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
    के द्वारा लिखा गया Shayali Rekha
    प्रकाशित हुआ August 17, 2020 . 5 मिनट में पढ़ें
    बरगद -banyan tree

    बरगद के फायदे एवं नुकसान – Health Benefits of Banyan Tree (Bargad ka Ped)

    चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pooja Daphal
    के द्वारा लिखा गया Ankita mishra
    प्रकाशित हुआ June 8, 2020 . 5 मिनट में पढ़ें
    विजीलैक-vizylac

    Vizylac: विजीलैक क्या है? जानिए इसके उपयोग और साइड इफेक्ट्स

    चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
    के द्वारा लिखा गया Bhawana Awasthi
    प्रकाशित हुआ June 2, 2020 . 6 मिनट में पढ़ें