home

आपकी क्या चिंताएं हैं?

close
गलत
समझना मुश्किल है
अन्य

लिंक कॉपी करें

बच्चों को प्रोटॉन पंप इन्हिबिटर्स देने से पहले जान लें यह जरूरी बातें!

बच्चों को प्रोटॉन पंप इन्हिबिटर्स देने से पहले जान लें यह जरूरी बातें!

बच्चों के स्वास्थ्य का खास ख्याल रखना अवश्य है। क्योंकि, बच्चों का इम्यून सिस्टम (Immune System) कमजोर होता है, इसलिए वो बहुत ही जल्दी बीमार पड़ते हैं। डायजेस्टिव सिस्टम यानी हमारा पाचन तंत्र हमारे स्वास्थ्य में बेहद महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। डायजेस्टिव सिस्टम से जुडी कुछ समस्याएं बेहद घातक हो सकती हैं। बच्चों में भी पाचन तंत्र संबंधी समस्याएं होना आम हैं जैसे पेट में दर्द, डायरिया आदि। डायजेस्टिव प्रॉब्लम्स में डॉक्टर बच्चों को कुछ दवाईयों की सलाह दे सकते हैं। जिनमें से एक हैं बच्चों के लिए प्रोटॉन पंप इन्हिबिटर्स (Proton pump inhibitors for kids)। आइए जानते हैं बच्चों के लिए प्रोटॉन पंप इन्हिबिटर्स (Proton pump inhibitors for kids) के बारे में। लेकिन, सबसे पहले प्रोटॉन पंप इन्हिबिटर्स (Proton pump inhibitors) क्या होते हैं इनके बारे में जान लेते हैं।

प्रोटॉन पंप इन्हिबिटर्स क्या है? (Proton pump inhibitors)

प्रोटॉन पंप इन्हिबिटर्स (Proton pump inhibitors) ऐसी ड्रग्स हैं जिनका प्रयोग कई समस्याओं के उपचार में किया जाता है। यह ड्रग्स, दवाईयों की उस क्लास से संबंध रखती हैं, जो उन सेल्स पर काम करती हैं, जो पेट को सही रखती है। ताकि, एसिड के प्रोडक्शन को कम किया जा सके। यानी, यह दवाईयां पेट के एसिड को कम करने का काम करती हैं। यह एसिड पेट की लायनिंग में ग्लैंड्स द्वारा बनाए जाते हैं। प्रोटॉन पंप इन्हिबिटर्स (Proton pump inhibitors) कई एसिड से संबंधित कंडिशंस से बचाव और उनके उपचार के लिए प्रयोग की जाती है, जैसे:

  • इसोफेजियल डुओडेनल (Esophageal duodenal) और पेट में अल्सर (Stomach ulcers)
  • नॉन-स्टेरॉइडल एंटी-इंफ्लेमेटरी ड्रग से जुड़ा अल्सर (NSAID-associated ulcer)
  • गैस्ट्रोइसोफेगल रिफ्लक्स डिजीज (Gastroesophageal reflux disease)
  • जोलिंगर-एलिसन सिंड्रोम (Zollinger-Ellison syndrome)

कुछ अन्य समस्याओं की स्थिति में भी इन दवाईयों का इस्तेमाल किया जा सकता है। इस दवाई के प्रयोग से पहले डॉक्टर से यह अवश्य जान लें कि इसकी कितनी डोज बच्चे को देना सही रहेगा। इसके साथ ही इन दवाईयों का सेवन कितने समय तक करना है, यह जानना भी आवश्यक है। इस दवा को लेने से पहले इस के लेबल पर लिखी इंस्ट्रक्शंस को अच्छे से पढ़ना चाहिए। अब जानिए कि बच्चों के लिए प्रोटॉन पंप इन्हिबिटर्स (Proton pump inhibitors for kids) कौन से हैं?

और पढ़ें: टॉप डायजेस्टिव एंजाइम्स : यह एंजाइम्स निभाएं पाचन से जुड़ी परेशानियों को दूर करने में महत्वपूर्ण भूमिका

बच्चों के लिए प्रोटॉन पंप इन्हिबिटर्स (Proton pump inhibitors for kids)

एक साल से कम उम्र के बच्चों के लिए प्रोटॉन पंप इन्हिबिटर्स (Proton pump inhibitors) की सलाह नहीं दी जाती है। हालांकि प्रोटॉन पंप इन्हिबिटर्स (Proton pump inhibitors) में से एक दवा को कुछ स्थितियों में एक महीने से बड़े नवजात शिशुओं के प्रयोग के लिए अप्रूव किया गया है। इसे इसोमेप्राजोल (Esomeprazole) कहा जाता है। डॉक्टर बच्चे की कंडीशन के अनुसार उन्हें इस ड्रग की सलाह दे सकते हैं। जानिए बच्चों के लिए प्रोटॉन पंप इन्हिबिटर्स (Proton pump inhibitors) कौन-कौन से हैं?

बच्चों के लिए प्रोटॉन पंप इन्हिबिटर्स में इसोमेप्राजोल (Esomeprazole)

इसोमेप्राजोल (Esomeprazole) को इसके ब्रैन्ड नेम नेक्सियम (Nexium) से भी जाना जाता है। इस दवा का प्रयोग गैस्ट्रोइसोफेगल रिफ्लक्स डिजीज (Gastroesophageal reflux disease) और अन्य स्टमक एसिड से जुडी समस्याओं जैसे ज़ोलिंगर-एलिसन सिंड्रोम (Zollinger-Ellison syndrome) आदि के उपचार के लिए किया जाता है। हेलिकोबैक्टर पाइलोरी (Helicobacter pylori ) के साथ होने वाले इंफेक्शन के कारण गैस्ट्रिक अल्सर से भी यह दवा छुटकारा दिला सकती है। बच्चों के लिए प्रोटॉन पंप इन्हिबिटर्स (Proton pump inhibitors for kids) की सलाह केवल तभी दी जाती है, अगर डॉक्टर ने इसे लेने के लिए कहा हो। इस दवा को अपने बच्चे को देने से पहले कई चीजों का ध्यान रखना बेहद जरूरी है, जैसे:

  • इसोमेप्राजोल (Esomeprazole) लेने के बाद किडनी प्रॉब्लम (Kidney Problem) हो सकती है। अगर इसे लेने के बाद आपका बच्चा सामान्य से कम मूत्र त्याग करे या उसके यूरिन में खून आए, तो तुरंत डॉक्टर को बताएं।
  • डायरिया एक नए इंफेक्शन का संकेत है। इसलिए, अगर आप अपने बच्चे में इस दवा को लेने के बाद डायरिया के लक्षण अनुभव करते हैं। जो वाटरी हो या जिसमें खून आए, तो भी डॉक्टर को बताएं।
  • इसोमेप्राजोल (Esomeprazole) को लेने के बाद ल्यूपस के नए या बदतर लक्षण नजर आ सकते हैं। ऐसे में, अगर आप पीड़ित बच्चे के गालों या बाजु में स्किन रैशेज का अनुभव करें तो तुरंत डॉक्टर को बताएं।

अगर आपका बच्चा एलर्जिक है, किसी अन्य गंभीर समस्या से पीड़ित है या किसी अन्य दवा को ले रहा है। तो सबसे पहले आपने डॉक्टर को इसके बारे में जानकारी देना अनिवार्य है। क्योंकि, ऐसे में इस दवा को लेने से बच्चे की स्थिति बदतर हो सकती है। कभी भी बिना डॉक्टर की सलाह के अपने बच्चे को यह दवा न दें। क्योंकि, इसके कुछ अन्य साइड इफेक्ट्स भी हो सकते हैं जैसे गंभीर पेट में दर्द, सिजर्स,किडनी प्रॉब्लम, जोड़ों में दर्द आदि। इसोमेप्राजोल (Esomeprazole) की 28 टेबलेट्स की एक स्ट्रिप ऑनलाइन लगभग 65 रुपये में उपलब्ध है।

बच्चों के लिए प्रोटोन पंप इन्हिबिटर्स

और पढ़ें: अपने बच्चे के आहार को लेकर हैं परेशान, तो जानिए बच्चों के लिए हेल्दी फूड पिरामिड के बारे में

बच्चों के लिए प्रोटॉन पंप इन्हिबिटर्स में ओमेप्रोजोल (Omeprazole)

ओमेप्रोजोल (Omeprazole) एक प्रोटॉन पंप इन्हीबिटर (Proton pump inhibitor) है। जो पेट में बनने वाले एसिड की मात्रा को कम करता है। इसका ब्रैन्ड नेम प्रिलोसेक (Prilosec) है। इस दवा का प्रयोग भी गैस्ट्रोइसोफेगल रिफ्लक्स डिजीज (Gastroesophageal reflux disease) और अन्य कुछ स्थितियों जिनके कारण पेट में अत्यधिक एसिड बनता है, उनके उपचार के लिए किया जा सकता है। इरोसिव एसोफजाइटिस (Erosive Esophagitis) के उपचार में भी इसकी सलाह दी जा सकती है। एक साल से अधिक उम्र के बच्चों को यह दवा दी जा सकती है। लेकिन, इसे बच्चों को देने से पहले डॉक्टर से इसके बारे में पूरी जानकारी लेना आवश्यक है।

इस दवा को हेलिकोबैक्टर पाइलोरी (Helicobacter pylori) के संक्रमण के कारण होने वाले गैस्ट्रिक अल्सर के इलाज के लिए एंटीबायोटिक दवाओं (Antibiotic Medicines) के साथ भी दिया जा सकता है। अगर आपके बच्चे को अन्य कोई गंभीर बीमारी है या वो किसी अन्य समस्या के लिए दवा ले रहा है, तो उसे ओमेप्रोजोल (Omeprazole) देने से पहले डॉक्टर को इसके बारे में बताना बेहद जरूरी है।

यही नहीं, इस दवा को लेने के बाद बच्चे कुछ साइड इफेक्ट्स का अनुभव भी कर सकते हैं जैसे पेट दर्द (Stomach ache), डायरिया (Diarrhea), किडनी प्रॉब्लम (Kidney Problem), एलर्जी (Allergy) आदि। ऐसी स्थिति में भी तुरंत बच्चे को दवा देना बंद करें और मेडिकल हेल्प लें। ओमेप्रोजोल (Omeprazole) की दस टेबलेट्स की एक स्ट्रिप को आप ऑनलाइन केवल 30 रूपये में खरीद सकते हैं।

और पढ़ें: प्रेग्नेंसी में लो कार्ब डायट बच्चे और मां दोनों के लिए हो सकती है नुकसान दायक, अपनाने से पढ़ लें ये लेख

लैंसोप्राजोल (Lansoprazole)

जैसा की आप जानते ही हैं कि लैंसोप्राजोल एक प्रोटॉन पंप इन्हीबिटर (Proton pump inhibitor) है, जो पेट से एसिड की मात्रा को कम करती है। इसका ब्रैन्ड नेम है प्रेवेसिड (Prevacid)। बच्चों के लिए प्रोटॉन पंप इन्हिबिटर्स (Proton pump inhibitors for kids) में इस दवा की सलाह भी दी जा सकती है। वयस्क इस दवा को लगातार हार्टबर्न की परेशानी से छुटकारा पाने के लिए ओवर द काउंटर (Over the counter) लेते हैं। हालांकि हार्टबर्न के लक्षणों से एकदम छुटकारा पाने के लिए इस दवा का प्रयोग नहीं किया जा सकता। अगर आपके बच्चे को कोई एलर्जी है तो इस दवा को उसे देने से बचें। अगर आपके बच्चे को लिवर डिजीज (Liver Disease), ल्यूपस (Lupus), खून में मैग्नीशियम का लो लेवल (Low Level of Magnesium) आदि परेशानियां हैं तो भी तुरंत डॉक्टर की सलाह लें।

लैंसोप्राजोल (Lansoprazole) को अपने बच्चे को उसी तरह या उसी डोज में दें जैसे डॉक्टर ने बताया हो। इसके प्रयोग से पहले दवा के लेबल पर लिखी इंस्ट्रक्शन को अवश्य पढ़ लें। यह दवा डायरिया का कारण बन सकती है। अगर इस दवा को लेने के बाद बच्चे में डायरिया के लक्षण नजर आएं और यह वाटरी या ब्लडी हो, तो कोई भी एंटी डायरिया दवा लेने से पहले डॉक्टर को अवश्य बताएं। कई दवाईयां लैंसोप्रल के कार्य को प्रभावित कर सकती हैं और कुछ दवाईयों को इसके साथ नहीं लेने के लिए कहा जाता है। इनमें कुछ प्रिस्क्रिप्शनल और ओवर द काउंटर दवाईयां, विटामिन और हर्बल उत्पाद शामिल हैं। इसलिए बच्चों को यह दवा देने से पहले डॉक्टर को इस बारे में पूरी जानकारी देना जरूरी है। यह दवा ऑनलाइन 80 रूपये में आपको मिल जाएगी।

और पढ़ें: रसल सिल्वर सिंड्रोम : इस कंडिशन में हो सकती है बच्चे के विकास में देरी, समय रहते इसे पहचानना है जरूरी

बच्चों के लिए प्रोटॉन पंप इन्हिबिटर्स में रेबेप्राजोल (Rabeprazole)

बच्चों के लिए प्रोटॉन पंप इन्हिबिटर्स (Proton pump inhibitors for kids) में अगली है रेबेप्राजोल (Rabeprazole)। रेबेप्राजोल का प्रयोग वयस्कों और एक साल से अधिक उम्र के बच्चों में गैस्ट्रोइसोफेगल रिफ्लक्स डिजीज (Gastroesophageal reflux disease) के लक्षणों के उपचार के लिए शार्ट टर्म ट्रीटमेंट के रूप में प्रयोग किया जाता है। हालांकि, वयस्कों में इस दवा का प्रयोग कई अन्य स्थितियों के उपचार में किया जा सकता है। इस दवा का ब्रैन्ड नेम है एसीपहेक्स (AcipHex)। बच्चे को यह दवा देना सही है या नहीं इसके बारे में आपके डॉक्टर आपको अच्छे से गाइड कर सकते हैं।

इसके साथ ही वो यह भी बता सकते हैं कि आपको अपने बच्चे को इस दवा की कितनी डोज देनी चाहिए और कितने समय तक इसे बच्चे को देना सही रहेगा। अगर इस दवा को लेने के बाद आपके बच्चे को कोई समस्या हो, तो तुरंत इस दवा को बंद कर दें और मेडिकल हेल्प लें। इस दवा को अपने बच्चे को देने से पहले डॉक्टर को रोगी की मेडिकल और निजी हिस्ट्री अवश्य बताएं। रेबेप्राजोल (Rabeprazole) की 10 टेबलेट्स की कीमत ऑनलाइन 35 रुपये है।

और पढ़ें: डायजेस्टिव हेल्थ से हैं परेशान, तो अपनाएं इस लो FODMAP डायट को

पैंटोप्राजोल (Pantoprazole)

पैंटोप्राजोल एक प्रोटॉन पंप इन्हीबिटर (Proton pump inhibitor) है, जिसका इस्तेमाल भी पेट में एसिड की मात्रा के उत्पादन को कम करने के लिए किया जाता है। इसके अलावा इसका प्रयोग इरोसिव एसोफजाइटिस (Erosive Esophagitis) के उपचार में भी किया जा सकता है। लेकिन, इस स्थिति में वयस्कों और पांच साल से बड़े बच्चों को ही इसे दिया जा सकता है। इसका ब्रैन्ड नेम प्रोटॉनिक्स (Protonix) है। लेकिन, बच्चों को इसे तभी दें अगर डॉक्टर ने लेने के लिए कहा हो। इसके साथ ही इसकी डोज को लेकर डॉक्टर से जानना बेहद जरूरी है। यही नहीं, डॉक्टर से इसके बारे में डॉक्टर से पूरी जानकारी लेना अनिवार्य है ताकि आपके बच्चे को कोई समस्या न हो। पैंटोप्राजोल (Pantoprazole) की दस टेबलेट्स की एक स्ट्रिप आप ऑनलाइन 75 रुपये में खरीद सकते हैं।

बच्चों के लिए प्रोटॉन पंप इन्हिबिटर्स (Proton pump inhibitors for kids) के बारे में तो आप जान ही गए होंगे। वयस्कों को भी इन दवाओं को बिना डॉक्टर की प्रिस्क्रिप्शन के लेने से बचना चाहिए। खासतौर पर अगर आप किसी गंभीर बीमारी के मरीज हों, गर्भवती हों या ब्रेस्टफीडिंग करा रही हों। बड़ों के जैसे ही बच्चों के लिए प्रोटॉन पंप इन्हिबिटर्स (Proton pump inhibitors for kids) के कुछ साइड इफेक्ट्स भी हो सकते हैं, जिनके बारे में जानकारी होना भी आवश्यक है। जानिए इसके साइड इफेक्ट्स के बारे में।

और पढ़ें: डायबिटीज में ब्रेस्टफीडिंग, क्या इससे बच्चे को भी डायबिटीज हाे सकती है?

बच्चों के लिए प्रोटॉन पंप इन्हिबिटर्स के साइड इफेक्ट्स (Side effects of Proton pump inhibitors for kids)

एक साल से अधिक उम्र के बच्चों के लिए प्रोटॉन पंप इन्हिबिटर्स (Proton pump inhibitors for kids) को सुरक्षित माना जाता है। सभी प्रोटॉन पंप इन्हीबिटर (Proton pump inhibitor) एक जैसे काम करते हैं। लेकिन, आपके बच्चे के लिए कौन सी दवा सही रहेगी यह बात डॉक्टर उस की कंडिशन को ध्यान में रखकर निर्धारित करेंगे। रोगी इस दवा को लेने के बाद कुछ साइड इफेक्ट्स का अनुभव कर सकते हैं। यह सामान्य साइड इफेक्ट्स इस प्रकार हैं

Quiz : गैस दर्द का क्या है कारण? क्विज से जानें गैस को दूर करने के टिप्स

(function() { var qs,js,q,s,d=document, gi=d.getElementById, ce=d.createElement, gt=d.getElementsByTagName, id="typef_orm", b="https://embed.typeform.com/"; if(!gi.call(d,id)) { js=ce.call(d,"script"); js.id=id; js.src=b+"embed.js"; q=gt.call(d,"script")[0]; q.parentNode.insertBefore(js,q) } })()
powered by Typeform

और पढ़ें: अच्छी ग्रोथ के लिए छह साल के बच्चे की डायट में शामिल करें ये चीजें!

इसके अलावा कुछ अन्य साइड इफेक्ट्स भी आपको अपने बच्चे में नजर आ सकते हैं। ऐसा जरूरी नहीं है कि इन दवाओं को लेने के बाद हर रोगी को साइड इफेक्ट्स का अनुभव हो। किंतु, अपने बच्चे पर नजर रखें और अगर आपको अपने बच्चे में कोई भी दुष्प्रभाव नजर आता है, तो तुरंत मेडिकल हेल्प लें। यह तो थी बच्चों के लिए प्रोटॉन पंप इन्हिबिटर्स (Proton pump inhibitors for kids) के बारे में जानकारी। मेडलायनप्लस (MedlinePlus) के अनुसार इस दवाईयों को ओरली लिया जाता है। यह प्रोटॉन पंप इन्हिबिटर्स (Proton pump inhibitors) टेबलेट और कैप्सूल्स के रूप में उपलब्ध हैं। इस दवा को दिन के पहले मील से तीस मिनट्स पहले लेने के लिए कहा जाता है।

यह दवाईयां बिना डॉक्टर की प्रिस्क्रिप्शन के भी उपलब्ध हैं। लेकिन, डॉक्टर की सलाह के बिना इसे न लें खासतौर पर अगर यह दवा बच्चे के लिए हो। अगर आपके दिमाग में इस दवा को लेकर कोई भी चिंता या सवाल है तो अपने डॉक्टर से इस बारे में अवश्य पूछें। इसके साथ ही आप हमारे फेसबुक पेज पर भी अपने सवालों को पूछ सकते हैं। हम आपके सभी सवालों के जवाब आपको कमेंट बॉक्स में देने की पूरी कोशिश करेंगे। अपने करीबियों को इस जानकारी से अवगत कराने के लिए आप ये आर्टिकल जरूर शेयर करें।

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र
लेखक की तस्वीर badge
AnuSharma द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 18/09/2021 को
Sayali Chaudhari के द्वारा मेडिकली रिव्यूड