आपकी क्या चिंताएं हैं?

close
गलत
समझना मुश्किल है
अन्य

लिंक कॉपी करें

बच्चों के लिए गुड फैट क्यों हैं जरूरी, इन फूड्स से मिलता है उन्हें गुड फैट

बच्चों के लिए गुड फैट क्यों हैं जरूरी, इन फूड्स से मिलता है उन्हें गुड फैट

अक्सर फैट को लेकर लोगों के मन में यही धारणा होती है कि यह हमारे स्वास्थ्य के लिए बुरा होता है। लेकिन, ये जरूरी नहीं है कि सभी फैट‌्स बुरें हों। कुछ ऐसे भी गूड फैट‌्स होते हैं, जो खासतौर पर बच्चाें के शरीर के विकास के लिए जरूरी होते हैं। इसलिए अक्सर पेरेंट्स कंफ्यूज हो जाते हैं कि बच्चों के लिए गुड फैट (Good Fat) क्या है? फैट का मुख्य काम फैट बच्चे के शरीर का विकास (Child Development) के लिए बहुत जरूरी है। वहीं, बढ़ती उम्र के बच्चों का वजन बढ़ाने में भी मदगगार है । आइए हैलो स्वास्थ्य आपको बताएगा कि आपके बच्चे के लिए गुड फैट क्या है और आप उसे कैसे दे सकते हैं।

और पढ़ें : बच्चे का इम्यून सिस्टम बढ़ाने के लिए उसे जरूर दें ये 8 फूड्स

जानें बच्चों के लिए गुड फैट पर एक्सपर्ट की राय (Experts tips on good fats for kids)

बाल रोग विशेषज्ञ डॉ. आलोक भारद्वाज के मुताबिक “बच्चों के लिए फैट ज्यादा जरूरी है। फैट ही उसके शारीरिक और मानसिक विकास (Mental development) को प्रेरित करता है। वहीं, जिन बच्चों का वजन कम है उन्हें फैट देना बहुत जरूरी है। क्योंकि फैट वजन बढ़ाने में मददगार साबित होता है। अमूमन फैट दो तरह के होते हैं, सैचुरेटेड फैट और अनसैचुरेटेड फैट। सैचुरेटेड फैट (Saturated fat) बच्चे के लिए सही होता है। जिसे आप बच्चे की जरूरत के हिसाब से दे सकती हैं।”

सैचुरेटेड फैट : ये स्थाई फैट है, जो पकाने के लिए सही होता है। जैसे- नारियल का तेल, मक्खन, सरसों का तेल, घी जैसे फैट को हम पका के बच्चे के खाने के रूप में दे सकते हैं।

अनसैचुरेटेड फैट : ये फैट नहीं पकाया जाता है। जैसे- ऑलिव ऑयल (Olive oil), सीसम ऑयल, एवोकाडो ऑयल (Avocado oil) और कॉड लिवर ऑयल सलाद के साथ या कच्चा ही बच्चे को दें। ये हेलदी फैट्स बच्चे की सेहत के लिए सही हैं।

और पढ़ें : ये 8 फूड्स बच्चे की हाईट बढ़ाने में करेंगे मदद

बच्चों के लिए गुड फैट (Good fat for kids) इन फूड्स से मिलता है

बच्चों के लिए गुड फैट अच्छा सोर्स है अंडा

अंडे के पीले हिस्से में भी हेल्दी फैट्स मौजूद होते हैं। इसलिए बच्चे को अंडा देना उसके स्वास्थ्य के प्रति आपकी सजगता को दिखाएगा। अंडे में भरपूर मात्रा में प्रोटीन, फैट्स, मिनरल, विटामिन ए और विटामिन बी12 पाया जाता है। इसके अलावा अंडा खाने से बच्चे के शरीर और इम्यून सिस्टम (Immune system) का विकास भी तेजी से होगा।

दही से भी करें बच्चों के लिए गुड फैट की खुराक पूरी

क्रीम से भरपूर दही भी बच्चे के लिए हेल्दी फैट है। कैल्शियम, विटामिन्स और मिनरल से भरपूर फुल क्रीम दही बच्चे के लिए एक हेल्दी विकल्प है। दही खाने से बच्चे का पाचन तंत्र भी दुरुस्त रहता है। दही खाने से बच्चे में इम्यून सिस्टम भी बेहतर होता है।

और पढ़ें : दूध का पाचन होने में कितना समय लगता है? जानिए दूध के बारे में सबकुछ

मक्खन या कोकोनट बटर भी है बच्चों के लिए गुड फूड का अच्छा सोर्स

मक्खन और कोकोनट बटर फैट (Coconut butter fat) से भरपूर होता है। बच्चों को मक्खन हर चीज के साथ पसंद आता है। मक्खन खाने से बच्चे के शरीर का सही विकास होता है।

एवोकैडो से मिलता है बच्चों के लिए गुड फैट

एवोकैडो में विटामिन, प्रोटीन (Protein) और मिनरल्स के साथ फैट ज्यादा मात्रा में होती है। इस फल में पाए जाने वाला फैट गुड फैट होता है। 100 ग्राम ऐवोकाडो में लगभग 15 ग्राम फैट पाया जाता है।

ड्राई फ्रूट्स (Dry Fruits)

बच्चे को ड्राई फ्रूट्स हेल्दी फैट्स के रूप में दे सकते हैं। जिससे बच्चे का स्वास्थ्य भी ठीक होगा और शरीर को नेचुरल फैट्स भी मिलेंगे।

देसी घी है बच्चों के लिए गुड फैट का अच्छा स्त्रोत

खाने के ऊपर बच्चों को घी मिल जाए तो फिर क्या कहना। हाई-न्यूट्रिशनल वैल्यू से भरपूर देसी घी को खाने से बच्चे का वजन बढ़ता है। ये सैचुरेटेड फैट है, जिससे बच्चे को ताकत मिलती है। आप बच्चे की खिचड़ी, चावल, दलिया आदि में देसी घी मिलाकर दे सकते हैं।

टोफू (Tofu)

बच्चों के लिए गुड फैट की खुराक को पूरा करने के लिए फूड्स की तलाश कर रहे हैं तो टोफू आपके लिए एक ऑप्शन हो सकता है। टोफू से बच्चों को गुड फैट के साथ-साथ प्रोटीन (Protein) और फाइबर भी मिलता है। इसके अलावा टोफू से बच्चे को रोज की जरूरत का कैल्शियम मिल जाता है, जो उनकी हड्डियों के लिए अच्छा साबित होता है।

और पढ़ें : सभी उम्र के बच्चों में होती हैं ये 7 पोषक तत्वों की कमी

गुड फैट से कैसे बनाएं रेसिपीज? (Good fat recipes)

ऐवोकाडो सैंडविच बनाकर बच्चों के लिए गुड फूड का करें इंतजाम

बच्चों को सैंडविच बहुत पसंद होती है। इसलिए आप अपने बच्चे को गुड फैट के रूप में ये ऐवोकाडो से बनी सैंडविच दे सकते हैं।

ऐवोकाडो सैंडविच

सामग्री :

  • बारीक कटे हुए ऐवोकाडो – ¼
  • स्लाइस ब्रेड – 4
  • मायोनीज – 1 टेबलस्पून
  • शहद – 1 टेबलस्पून
  • कटे टमाटर – 1
  • कटे खीरे – 1
  • प्याज – 1
  • काली मिर्च पाउडर – स्वादानुसार
  • नमक – स्वादानुसार

बनाने की विधि :

एक कटोरे में मायोनीज डाल लें। इसमें शहद, नमक और काली मिर्च मिलाएं। एक ब्रेड लें और टमाटर, खीरा, प्याज और ऐवेकाडो को ब्रेड पर रखें। इसके ऊपर से मायोनीज का बना हुआ पेस्ट डालें। पूरे ब्रेड पर उसे अच्छे से फैलाएं। अब ऊपर से दूसरा ब्रेड रख दें। बच्चे को इसे टोमैटो सॉस के साथ सर्व करें।

और पढ़ें : जानिए बच्चे के लिए क्यों जरूरी है सही पोषण?

ड्राई फ्रूट (Dry fruits) के हलवे से भी मिलेगा बच्चों के लिए गुड फैट

बच्चों को हलवा वैसे भी बहुत पसंद होता है। इसके अलावा अगर आप बच्चे को ड्राई फ्रूट का हलवा दे रही हैं तो आप उसे कई चीजों से मिलने वाला गुड फैट दे रही हैं।

ड्राई फ्रूट हलवा

सामग्री :

  • पिस्ता (बारीक कटे) – आधा कप
  • अखरोट (बारीक कटे) – आधा कप
  • बादाम (बारीक कटे) – एक कप
  • इलायची पाउडर – 1/4 टीस्पून
  • खजूर कटे हुए – आधा कप
  • चीनी – डेढ़ कप
  • पानी – एक कप
  • दूध – आधा कप
  • घी – तीन टेबलस्पून

बनाने की विधि :

सबसे पहले एक कड़ाही में घी डालें। इसे गरम होने दें, फिर इसमें पिस्ता, बादाम, अखरोट (Walnuts) को हल्का सा भून लें। फिर इसमें खजूर और चीनी को पीस लें। अब इस पेस्ट को हलवे में मिलाएं। इसके बाद दूध और पानी मिलाएं। इसे लगातार चलाते रहें। लगभग पांच से सात मिनट तक इसे पकाएं। फिर इसमें इलायची पाउडर (Cardamom powder) डालें। ड्राई फ्रूट्स का हलवा तैयार है। आप इसे हल्का ठंडा कर बच्चे को परोसें।

ये कुछ फूड और रेसिपीज हैं, जिन्हें आप अपने बच्चे को खाने के लिए दे सकते हैं। इसके अलावा अंडे से भी बच्चे को कई सारी रेसिपीज बना कर खिला सकती हैं। ये सभी गुड फैट्स बच्चे के लिए जरूरी होने के साथ ही टेस्टी भी होगा।

health-tool-icon

बेबी वैक्सीन शेड्यूलर

इम्यूनाइजेशन शेड्यूल का इस्तेमाल यह जानने के लिए करें कि आपके बच्चे को कब और किन टीकों की आवश्यकता है

आपके बेबी का जेंडर क्या है?

पुरुष

महिला

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

लेखक की तस्वीर badge
Shayali Rekha द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 23/09/2021 को
और Hello Swasthya Medical Panel द्वारा फैक्ट चेक्ड