रुटिन बॉडी मसाज के हैं इतने फायदे, क्या जानते हैं आप?

चिकित्सक द्वारा समीक्षित | द्वारा

अपडेट डेट दिसम्बर 30, 2019 . 4 मिनट में पढ़ें
अब शेयर करें

देर तक काम करने या लंबे सफर के बाद बहुत थकान महसूस होती है। लेकिन रुटिन बॉडी मसाज आपकी इस थकान को चुटकियों में भगा सकता है। मसाज पार्लर जाकर मसाज लेने का समय नहीं है तो घर पर मसाज लें।

ये भी पढ़ेंः हेयर मसाज से दूर होती है दिल की बीमारियां, जाने अन्य 6 फायदे

सवालः

मेरे कुछ दोस्त रुटिन से बॉडी मसाज करवाते हैं, क्या रुटिन बॉडी मसाज करना फायदेमंद होता है?

जवाबः

हमारे शरीर को हेल्दी और फिट रखने के लिए मसाज जरूरी है। एक रुटिन के अनुसार बॉडी मसाज लेना यकिनन फायदेमंद सबाति होगा। यह आपकी मांसपेशियों को रिलेक्स करता है, स्ट्रेस को कम करता है, शरीर के दर्द को भी कम करता है और ब्लड सर्कुलेशन को बढ़ाता है।

हर बार मसाज करने के लिए आपको मसाज सेंटर पर जाने की जरूरत नहीं है, कभी आपके पास समय की कमी हो तो आप घर पर केवल 10-15 मिनट में मसाज करवा सकते हैं। मसाज ज्यादातर तिल के तेल या नारियल तेल से की जाती है। मसाज करने से पहले अपने शरीर को गीले कपड़ें से साफ करें। इसके बाद गर्म पानी में तेल की कटोरी रखें। तेल हल्का गरम करके अपनी हथेलियों पर तेल लेकर मालिश शुरू करें। सर से शुरू करें और गर्दन तक करें। ऐसे ही आप दोनों हाथ और पैर पर मसाज करें फिर छाती, पेट, बैक पर सर्कुलर मोशन में मसाज करें।

मसाज आप खुद कर सकते हैं या घर में किसी की मदद ले सकते हैं। मसाज होने के बाद कुछ देर अपनी आंखें बंद करके पेट के बल आराम करें। मसाज करके उठने के बाद गर्म पानी से नहां सकते हैं। मसाज एक बहुत ही आसान और संतुष्टि देने वाली एक्टिविटी है, जिसके बाद आप हल्का और शांत महसूस करते हैं।

मसाज के और भी फायदे आपको नजर आएंगे जैसे अच्छी नींद आना, मेंटली हेल्दी महसूस करना, एक्टिव महसूस करना और इसके अलावा इससे आपकी इंम्यूनिटी भी स्ट्रॉन्ग होती है।

यह भी पढ़ें:  हैलो न्यू मॉम : मैटरनिटी लीव (Maternity Leave) के बाद जा रही हैं फिर से काम करने, तो ध्यान रखें ये बातें

रुटिन बॉडी मसाज कराने से होते हैं ये फायदे:

स्ट्रेस को दूर करता है:

दफ्तर की टेंशन से लेकर पर्सनल लाइफ का स्ट्रेस दूर करने के लिए आप रुटिन बॉडी मसाज का सहारा ले सकते हैं। मसाज कराने से बॉडी में स्ट्रेस और टेंशन पैदा करने वाले कार्टिलोस हॉर्मोन का स्तर कम होता है।

दर्द को दूर करता है:

दिन भर दफ्तर में एक ही कुर्सी पर बैठे बैठे कमर दर्द होने लगती है। ऐसे में आप घर जाकर रुटिन मसाज ले सकते हैं। ये दर्द निवारक की तरह काम करती है। इससे सिर दर्द से लेकर कमर दर्द के लिए फायदेमंद माना जाता है।

अंगों की कार्यक्षमता बढ़ती है:

बॉडी मसाज के दौरान प्रेशर पोइंट्स पर दबाव पड़ता है। इससे बेहतर तो महसूस होता ही है। साथ ही अंदरूनी अंगों की कार्यक्षमता बेहतर होती है।

ब्लड प्रेशर को नियंत्रित करने में मददगार:

मसाज करने से शरीर में ब्लड सर्कुलेशन बेहतर होता है और साथ में चुस्ती भी बनी होती है। रुटिन मसाज कराने से ब्लड प्रेशर नॉर्मल होता है। इससे हार्ट रेट भी नॉर्मल होता है और हृदय स्वस्थ रहता है।

एक्स्ट्रा फैट को दूर करता है:

रोजाना मसाज कराने से शरीर का एक्सट्रा फैट बर्न होता है। इसके साथ ही शरीर में लचीलापन आता है। ये मसल्स की स्टिफनेस को दूर करने में भी मदद करती है।

अच्छी नींद में मदद करता है:

दिनभर की थकान के बाद बॉडी मसाज कराने से मसल्स रिलैक्स करती हैं। इससे थकान तो दूर होती ही है साथ ही अच्छी नींद भी आती है।

डायजेशन में सुधार करता है:

मसाज से आंतों की क्षमता बेहतर होती है। बॉडी से टॉक्सिन्स निकल जाते हैं। डायजेशन अच्छा होता है।

त्वचा में ग्लो आता है:

रुटिन बॉडी मसाज कराने से त्वचा को पोषण मिलता है। इससे स्किन हेल्दी और ग्लोइंग बनी रहती है। इसके साथ ही रंगत में निखार आता है।

सूजन को दूर करती है:

यदि शरीर के किसी हिस्से में काफी समय से सूजन है तो रुटिन बॉडी मसाज करने से ये कम हो सकती है। शरीर में सूजन वाले हिस्से पर मसाज करने से उस जगह की नसों पर दबाव पड़ेगा। धीरे-धीरे खुद सूजन कम हो जाएगी।

यह भी पढ़ें:  बॉडी को एक्टिव करने के साथ ही वजन घटाता है बॉडी मसाज, जानें 9 फायदे

रुटिन बॉडी मसाज करने के लिए फॉलो करें ये टिप्स:

  • रुटीन बॉडी मसाज शुरुआत हल्के हाथों से हेड मसाज से शुरू करें। सिर के साथ-साथ चेहरे की भी मालिश करें।
  • इसके बाद गर्दन पर जाएं। हल्के हाथों से गर्दन पर मालिश करें।
  • गर्दन के बाद कंधों पर फोकस करें। इसके लिए हाथों को गोल-गोल तरीके से चलाएं। फिर उंगलियों की दिशा में मसाज करें।
  • माथे की मसाज करते वक्त दोनों उंगलियों को आईब्रो के बीच में रखें। बाकी उंगलियां सिर के दोनों और रखनी होंगी। चेहरे की त्वचा बहुत संवेदनशील होती है इसलिए हल्के हाथों से मसाज करें। इसके बाद कानों की साइड में मालिश करें।
  • ठुड्डी पर मसाज करें। ये जॉ लाइन को टोन करने के साथ ऊर्जा के प्रवाह को बढ़ाती है। इसके लिए अंगूठों को ठुड्डी पर रखें। उंगलियों से जबड़े को प्रेस करें। हल्के हाथों से अंगूठों से नीचे व बाहर की ओर मालिश करें।
  • कोहनियों और कलाइयों पर मसाज करें। अब सीने और पेट पर मसाज करें। ध्यान रखें इन दोनों जगहों पर जोर न लगाएं। क्योंकि इन
  • दोनों हिस्सों में शरीर के महत्वपूर्ण अंग होते हैं। जैसे दिल, फेफड़े आदि इन्हीं जगह पर होते हैं। इसलिए अगर पेट या सीने की तरफ मसाज करें तो बेहद हल्के हाथों से और सावधानी के साथ।
  • कमर पर हमेशा नीचे से ऊपर की तरफ मसाज करना बेहतर होता है। कमर पर आप उंगलियों से दबाव बनाकर भी मसाज कर सकते हैं।
  • अब बारी आती है टांग पर मसाज करने की। इसके लिए हमेशा जांघ से पैर की तरफ मसाज करें। घुटनों पर हमेशा गोल-गोल मालिश करनी चाहिए।

यह भी पढ़ें:   एक्सरसाइज के बारे में ये फैक्ट्स पढ़कर कल से ही शुरू कर देंगे कसरत

रुटिन बॉडी मसाज के लिए किन तेल का इस्तेमाल करना चाहिए?

  • रुटिन बॉडी मसाज के लिए आमतौर पर तिल, सरसों और नारियल तेल का उपयोग किया जाता है। ये तीनों तेल हमारे घरों में भी उपलब्ध होते हैं।
  • यदि आप चेहरे के ग्लो के लिए मसाज कर रहे हैं तो आप तेल में केसर मिलाकर मालिश कर सकते हैं।
  • दर्दों के लिए कर रहे मसाज के लिए ज्यादातर लोग सरसों के तेल का प्रयोग करते हैं।
  • भारत में जैतून के तेल का भी बॉडी मसाज के लिए इस्तेमाल किया जाता है। इसे मसाज के लिए अच्छा माना जाता है।
  • रुटिन बॉडी मसाज के लिए आप ऑयल की जगह मलाई, दूध, मक्खन का भी प्रयोग कर सकते हैं।

नोट : नए संशोधन की डॉ. प्रणाली पाटील द्वारा समीक्षा

और पढ़ेंः

इन 5 ऑयल्स से करें शिशु की मसाज, मिलेंगे बेहतर रिजल्ट

कब और कैसे करें पेरिनियल मसाज? जानिए इसके फायदे

हेयर मसाज से दूर होती है दिल की बीमारियां, जाने अन्य 6 फायदे

बॉडी मसाज के लिए यूज कर सकते हैं अलग-अलग प्रकार के तेल

  

हैलो हेल्थ ग्रुप चिकित्सा सलाह, निदान या उपचार प्रदान नहीं करता है

क्या यह आर्टिकल आपके लिए फायदेमंद था?
happy unhappy

संबंधित लेख:

    शायद आपको यह भी अच्छा लगे

    Duzela 20 Capsule : डूजेला 20 कैप्सूल क्या है? जानिए इसके उपयोग और साइड इफेक्ट्स

    डूजेला 20 कैप्सूल जानकारी in hindi, फायदे, लाभ, डूजेला 20 कैप्सूल का उपयोग, इस्तेमाल कैसे करें, कब लें, कैसे लें, कितना लें, खुराक, Duzela 20 Capsule डोज, ओवरडोज, साइड इफेक्ट्स, नुकसान, दुष्प्रभाव और सावधानियां।

    चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
    के द्वारा लिखा गया Shikha Patel
    दवाइयां A-Z, ड्रग्स और हर्बल अगस्त 28, 2020 . 5 मिनट में पढ़ें

    Quiz: गुड स्ट्रेस क्या है और यह कैसे हमारी मदद करता है जानने के लिए खेलिए यह क्विज

    अच्छा तनाव क्या है, अच्छे तनाव के लाभ, अच्छा तनाव के लाभ क्या हैं, कैसे है यह अत्यधिक तनाव से अलग जानिए इस बारे में विस्तार से, good stress in hindi

    के द्वारा लिखा गया Anu sharma
    क्विज अगस्त 24, 2020 . 1 मिनट में पढ़ें

    Eliwel Tablet : एलिवेल टैबलेट क्या है? जानिए इसके उपयोग और साइड इफेक्ट्स

    एलिवेल टैबलेट जानकारी in hindi, फायदे, लाभ, एलिवेल टैबलेट का उपयोग, इस्तेमाल कैसे करें, कब लें, कैसे लें, कितना लें, खुराक, Eliwel Tablet डोज, ओवरडोज, साइड इफेक्ट्स, नुकसान, दुष्प्रभाव और सावधानियां।

    चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
    के द्वारा लिखा गया Shikha Patel
    दवाइयां A-Z, ड्रग्स और हर्बल अगस्त 13, 2020 . 7 मिनट में पढ़ें

    एक्टर समीर शर्मा ने किया सुसाइड, ‘क्योंकि सास भी कभी बहु थी’ सीरियल में कर चुके हैं रोल प्ले

    समीर शर्मा ने सुसाइड कर लिया। मुंबई के मलाड में घर पर पंखे से लटका मिला शव। वे 'कहानी घर घर की', 'क्योंकि सास भी कभी बहु थी' जैसे कई शो किए हैं। sameer sharma suicide in hindi

    चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
    के द्वारा लिखा गया Shikha Patel
    स्वास्थ्य बुलेटिन, लोकल खबरें अगस्त 6, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें

    Recommended for you

    लाफ्टर थेरेपी

    लाफ्टर थेरेपी : हंसो, हंसाओं और डिप्रेशन को दूर भगाओं

    चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
    के द्वारा लिखा गया Shikha Patel
    प्रकाशित हुआ सितम्बर 8, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें
    पेट थेरेपी

    पेट्स पालना नहीं है कोई सिरदर्दी, बल्कि स्ट्रेस को दूर करने की है एक बढ़िया रेमेडी

    चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
    के द्वारा लिखा गया Shikha Patel
    प्रकाशित हुआ सितम्बर 7, 2020 . 5 मिनट में पढ़ें
    रिटायरमेंट के बाद मेंटल हेल्थ

    रिटायरमेंट के बाद बिगड़ सकती है मेंटल हेल्थ, ऐसे रखें बुजुर्गों का ख्याल

    चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
    के द्वारा लिखा गया Shikha Patel
    प्रकाशित हुआ सितम्बर 4, 2020 . 5 मिनट में पढ़ें
    लॉकडाउन में टीचर्स का मानसिक स्वास्थ्य

    टीचर्स डे: ऑनलाइन क्लासेज से टीचर्स की बढ़ती टेंशन को दूर करेंगे ये आसान टिप्स

    चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
    के द्वारा लिखा गया Shikha Patel
    प्रकाशित हुआ सितम्बर 2, 2020 . 5 मिनट में पढ़ें