क्यों सेक्स करने का मन करता है, जानें पुरुषों-महिलाओं में आखिर क्यों जगती है यह फीलिंग्स

चिकित्सक द्वारा समीक्षित | द्वारा

अपडेट डेट अगस्त 10, 2020 . 8 मिनट में पढ़ें
अब शेयर करें

क्या आपने कभी इस बात पर गौर किया है कि क्यों मुझे सेक्स करने का मन करता है और क्यों सेक्स करने का मन नहीं करता। इस मामले में पुरुषों और महिलाओं की फीलिंग्स अलग-अलग हो सकती है। किसी को सेक्स आनंदमयी एहसास पाने के लिए कर सकता है तो किसी को ऑर्गेज्म पाने की ललक के कारण। वहीं सेक्स न करने के पीछे भी कई कारण हैं। बहरहाल, सेक्स इंसानों की जरूरत है, वहीं मानसिक और शारिरिक रूप से स्वस्थ्य रहने के लिए एक बेहतर जरिया भी। जिसे कर व्यक्ति खुद को संतुष्ट महसूस करता है। तो आइए इस आर्टिकल में क्यों सेक्स करने का मन करता है जानने के साथ इससे जुड़े विभिन्न पहलुओं को भी जानते हैं।

सेक्स आनंददायक क्यों होता है

जेनाइटल हमारे शरीर के अहम भाग में से एक हैं। यह शरीर के कई अंगों को आनंददायक महसूस कराते हैं। क्यों मुझे सेक्स करने का मन करता है, इसका सीधा संबंध हमारे दिमाग पर निर्भर करता है। दिमाग हार्मोन रिलीज करते हैं, जिससे सेक्स के दौरान आनंद का एहसास होता है। साइंटिस्ट का भी यही मानना है कि सेक्स काफी आरामदायक एहसास है। यही कारण है कि लोगों को सेक्स करने का मन करता है।

हैलो स्वास्थ्य का न्यूजलेटर प्राप्त करें

मधुमेह, हृदय रोग, हाई ब्लड प्रेशर, मोटापा, कैंसर और भी बहुत कुछ...
सब्सक्राइब' पर क्लिक करके मैं सभी नियमों व शर्तों तथा गोपनीयता नीति को स्वीकार करता/करती हूं। मैं हैलो स्वास्थ्य से भविष्य में मिलने वाले ईमेल को भी स्वीकार करता/करती हूं और जानता/जानती हूं कि मैं हैलो स्वास्थ्य के सब्सक्रिप्शन को किसी भी समय बंद कर सकता/सकती हूं।

जानें साइंटिफिक कारण

क्यों मुझे सेक्स करने का मन करता है, यदि इसके कारणों के बारे में जाना जाए तो साइंटिफिक तौर पर सेक्स के दौरान हमारे शरीर में कई प्रकार की प्रतिक्रियाएं होती हैं, जिससे हम अच्छा महसूस करते हैं। आनंद की यह भावनाएं शारीरिक और भावनात्मक रूप से संबंधित होती हैं, ऐसा हम तभी अनुभव करते हैं जब सेक्स कर रहे होते हैं, इस दौरान हमारी इच्छाएं तीव्र गति से काम करती हैं। सेक्स के दौरान आनंददायक एहसास के पीछे कई कारण हैं, जिनमें

इन चारों कारणों की वजह से किसी भी महिला और पुरुष को इंटरकोर्स या मास्टरबेशन के दौरान आनंद का एहसास होता है। वैसे हर व्यक्ति का शरीर अलग होता है, ठीक उसी प्रकार वो सेक्स को लेकर अलग-अलग अनुभूति महसूस कर सकता है।

1960 में सेक्स पर शोध कर रहे वीलियम मास्टर्स और वर्जीनिया जॉन्सन ने इन चार सेक्सुअल अराउसल (sexual arousal) की पहचान की। इनका शरीर पर अलग अलग असर हो सकता है।

  • रिसोल्यूशन : क्यों मुझे सेक्स करने का मन करता है इसके लिए रिसोल्यूशन भी जिम्मेदार है। ऑर्गेज्म के बाद हमारे मसल्स रिलेक्स होते हैं। वहीं हमारा शरीर उत्तेजना के पूर्व की स्थिति में आ जाता है। पुरुषों और महिलाओं में यह स्थिति अलग-अलग हो सकती है। देखा गया है कि पुरुषों में वीर्य के निकलने के तुंरत बाद ऑर्गेज्म का एहसास होता है, लेकिन महिलाओं में नहीं। रिसोल्यूशन स्टेज के दौरान कई महिला और पुरुष उत्तेजना से भरपूर हो जाते हैं।
  • ऑर्गेज्म : सही मानसिक अवस्था के साथ यदि उत्तेजना आए तो व्यक्ति ऑर्गेज्म का एहसास कर सकता है। ज्यादातर महिलाओं में देखा गया है कि क्लिटोरियल में उत्तेजना के कारण उनमें ऑर्गेज्म जल्दी आता है। लेकिन कुछ लोगों के लिए यह ऑर्गेज्म तक पहुंचने का जरिया है। पुरुषों के लिंग के ऊपरी छोर को कुछ देर के लिए उत्तेजित किया जाए तो उन्हें ऑर्गेज्म का एहसास होता है। ज्यादातर पुरुषों में ऑर्गेज्म आने तक उनका वीर्य निकल जाता है। लेकिन यह भी संभव है कि बिना वीर्य के आए ही वो ऑर्गेज्म का एहसास कर पाए। कुछ महिलाएं भी ऑर्गेज्म के दौरान इजाक्युलेट करती हैं। हालांकि इस द्रव में ऐसा क्या खास होता है, यह अभी भी शोध का विषय है। दोनों ही पुरुष व महिलाएं सेक्स के दौरान होने वाले मसल्स कांटरेक्शन के साथ ऑर्गेज्म का एहसास करते हैं। पुरुषों में जहां रेक्टम, पेनिस, पेल्विस में संकुचन होता है वहीं महिलाओं के वजाइना, यूट्रस, रेक्टम में इसका एहसास होता है। कुछ लोगों को पूरे शरीर में संकुचन का एहसास होता है।
  • प्लेटियू : क्यों मुझे सेक्स करने का मन करता है, इसके तहत प्लेटियू भी एक स्टेज है। इसके अंतर्गत व्यक्ति की उत्तेजना तीव्र बनी रहती है। वहीं वजाइना, पेनिस और क्लिटोरिस काफी सेंसेटिव बन जाते हैं। इस दौरान व्यक्ति कई प्रकार की सेंसिटिविटी को एहसास कर सकता है। इस अवस्था के दौरान व्यक्ति की उत्तेजना कभी बढ़ सकती है तो कभी घट सकती है।
  • एक्साइटमेंट : क्यों मुझे सेक्स करने का मन करता है, इसके तहत एक्साइटमेंट-उत्तेजना काफी अहम रोल अदा करता है। इस अवस्था के दौरान पेनिस, वजाइना, पेल्विस, वाल्वा और क्लिटोरिस में मौजूद टिशू में पर्याप्त मात्रा में रक्त भर जाते हैं। ऐसे में इन खास जगहों पर नर्व में सेंसिटिविटी काफी ज्यादा बढ़ जाती है। इस प्रकार के ब्लड एक प्रकार का फ्लूड, जिसे ट्रांसलुसेंट कहते हैं, इजात करता है। यह वजाइना में लूब्रिकेट का काम करता है। सेक्स के दौरान मसल्स में घर्षण होने की वजह से कई लोगों का ब्लड फ्लो तेज होने के कारण वो तेज-तेज सांस लेने लगते हैं।

और पढ़ें : यौन और रोमांटिक आकर्षण: जानिए कहीं काम-वासना को आप प्यार तो नहीं समझ रहे?

जानें दिमाग पर सेक्स का क्या पड़ता है प्रभाव

क्यों मुझे सेक्स करने का मन करता है इसका संबंध दिमाग से भी जुड़ा है। सेक्स से जुड़ा आनंद हासिल करने के लिए दिमाग यौन संवेदनाओं को समझता है। सेक्सुअल एरिया में मौजूद नर्व हमारे दिमाग को खास प्रकार के सिग्नल भेजते हैं। वहीं दिमाग उन सिग्नल की मदद से सेक्सुअल सेंसेशन को इजात करता है। शरीर में न्यूरोट्रांसमीटर (Neurotransmitters) एक प्रकार का कैमिकल मैसेंजर है। जो दिमाग को शरीर के अन्य भागों से बात करने में मदद करता है। कुछ न्यूरोट्रांसमीटर की भूमिका सेक्सुअल प्लेजर से भी जुड़ी हुई है, जैसे

  • नॉर-एपिनेफ्रीन(Norepinephrine):रक्त वाहिकाओं को पतला और संकुचित करता है, जिससे जननांग अधिक संवेदनशील हो जाते हैं। यौन उत्तेजना के दौरान शरीर इसे जारी करता है। 
  • सेरोटोनिन (serotonin): सेक्स के दौरान अराउसल फेज में हमारा शरीर एक प्रकार का सेरोटोनिन (serotonin) नामक पदार्थ का रिसाव करता है यह उत्तेजना के दौरान अच्छी भावनाओं के साथ खुशी की भावना को सामने लाता है।
  • प्रोलैक्टिन (Prolactin levels) : प्रोलैक्टिन लेवल ऑर्गेज्म के दौरान काफी बढ़ जाता है। यह हार्मोन सेक्सुअल रिस्पांस से संबंधित है।
  • डोपमाइन (Dopamine) : डोपमाइन एक प्रकार का हार्मोन है, जो सेक्सुअल अराउसल के दौरान बढ़ जाता है। वहीं अपनी इच्छाओं की पूर्ति करने के लिए शरीर से इसका रिसाव होता है।
  • ऑक्सीटोसिन (Oxytocin) : ऑक्सीटोसिन को लव और बांडिंग हार्मोन भी कहा जाता है। इस हार्मोन का रिसाव होने से कपल्स में एक दूसरे के प्रति प्यार, करीबी बढ़ती है। ऑर्गेज्म के बाद हमारा शरीर यह हार्मोन रिलीज करता है।

और पढ़ें : यौन उत्पीड़न क्या है, जानिए इससे जुड़े कानून और बचाव

कैसे करें बेहतर सेक्स

क्यों मुझे सेक्स करने का मन करता है इसके बारे में तो हमने काफी कुछ जान लिया, वहीं बेहतर सेक्स कैसे करें इसके बारे में भी जानना जरूरी हो जाता है। इसके लिए इन तरीकों को आजमाकर बेहतर सेक्स कर सकते हैं। जैसे-

  • सही पार्टनर का चयन कर : क्यों मुझे सेक्स करने का मन करता है का संबंध इससे भी जुड़ा है, यदि आप सेक्स के लिए सही पार्टनर का चयन करते हैं तो आपको बार-बार सेक्स करने की इच्छा होगी। ऐसे में उसी पार्टनर का चयन करें जो आपकी इच्छाओं को पूरा करता है
  • नए-नए तरीके करें इजात : सेक्स काफी आरामदायक एहसास है। प्लेजर का एहसास करने के लिए दोनों पार्टनर को नए-नए तरीकों का इजात करते रहना चाहिए।
  • अलग-अलग तरीकों के पोज को अपनाकर आनंदमयी एहसास पाएं : इसके लिए आपको और आपके पार्टनर को समय देना होगा, आप वैसे सेक्स पोज ट्राई कीजिए, जिससे आपको और आपके पार्टनर को आनंद का एहसास होता है और आप काफी ज्यादा खुशी महसूस करते हैं। सेक्स की जिज्ञासा को समझने के लिए मास्टरबेटिंग सरल, स्वस्थ्य और सामान्य तरीका है। आप चाहें तो इसे भी आजमा सकते हैं।
  • पार्टनर से बात करें : सेक्सुअल जरूरतों को समझने के लिए आपको अपने पार्टनर से बात करनी होगी कि उसे क्या चाहिए और क्या नहीं। इससे जो निष्कर्ष निकलकर आएगा सेक्स के दौरान उसे आजमाएं।

योग की शुरुआत करके शारिरिक और मानसिक रूप से स्वस्थ्य रहा जा सकता है, ऐसे में एक्सपर्ट का वीडियो देख योग की जरूरी जानकारी को जानें

सेक्स के बाद अच्छा एहसास न होने के पीछे का कारण भी जानें

यूं तो अभी तक हमने क्यों मुझे सेक्स करने का मन करता है इसको लेकर कई अहम जानकारी जानी, वहीं यह भी जानना जरूरी है कि सेक्स के बाद अच्छा महसूस न होने का कारण क्या है। तो बता दें कि सेक्स सभी के लिए आनंददायक एहसास नहीं है। वहीं कई लोग तोसेक्स के दौरान दर्द का एहसास करते हैं। ऐसा ज्यादातर महिलाओं में देखने को मिलता है। करीब 75 फीसदी महिलाओं को जीवन के किसी न किसी प्वाइंट पर सेक्स के दौरान दर्द की समस्या देखने को मिलती है। वहीं करीब 10 से 20 फीसदी महिलाएं नियमित तौर पर सेक्स के दौरान दर्द या फिर डिस्परेयूनिया (dyspareunia) का एहसास करती हैं।

महिलाओं में सेक्स के दौरान दर्द होने के सामान्य कारण

  • हार्मोनल बदलाव के कारण वजाइना ड्रायनेस का होना या दर्द का एहसास होना
  • मसल्स इंज्युरी और डिसफंक्शन के कारण खासतौर पर शिशु के जन्म के बाद पेल्विक फ्लोर इंज्युरी होने की वजह से
  • वजाइनल इंफेक्शन जैसे यीस्ट इंफेक्शन के कारण
  • वुलवोडीनिया (vulvodynia) एक प्रकार की क्रॉनिक बीमारी है जिसके कारण खुजली और सेक्स करने के दौरान दर्द का एहसास होता है

और पढ़ें : यौन शोषण क्या है: इससे जुड़े कानून के बारे में जानिए

पुरुष भी सेक्स के दौरान दर्द का एहसास कर सकते हैं, जैसे

ऐसे में वैसे लोग जो सेक्स के दौरान आनंद महसूस नहीं करते हैं उन्हें सेक्स की इच्छा भी नहीं करती है। वहीं वैसे लोग जो डिमाईसेक्सुअल (demisexual) होते हैं, वो सीमित अवस्थाओं में ही सेक्स की इच्छा करते हैं, जिसमें वो आनंद महसूस करते हैं। खासतौर से तब जब वो पार्टनर के साथ प्यार में होते हैं।

दोनों ही जेंडर के साथ इन कारणों से सेक्स की इच्छा पर पड़ सकता है असर

  • अपर्याप्त लूब्रिकेशन के कारण, जिसकी वजह से सेक्स के दौरान दर्द होना
  • सेक्सुअली ट्रांसमिटेड इंफेक्शन के कारण
  • सेक्सुअल इंटरेक्शन के कारण जो पार्टनर के सेक्सुअल इच्छाओं और इंटरेस्ट को कम करे
  • एक या एक से अधिक पार्टनर के साथ सेक्स करने से
  • अराउसल न आने के कारण
  • पूर्व में किसी प्रकार का यौन शोषण, हादसा, एक्सीडेंट के कारण जिसकी वजह से दर्द का एहसास होना

सेक्स के दौरान होने वाले दर्द की स्थिति में लेनी चाहिए डॉक्टरी सलाह

  • दर्द के कारण इंज्युरी हो जाए, चाइल्ड बर्थ या मेडिकल प्रोसिजर के कारण
  • दर्द जब अन्य कारणों से भी होने लगे, जैसे पेशाब के दौरान दर्द, असामान्य वजाइनल ब्लीडिंग
  • मैनेजिंग स्ट्रेटेजी भी जब काम न आए, जैसे लूब्रिकेंट का इस्तेमाल या फिर सेक्स पोजिशन को बदलने के कारण
  • दर्द जब लंबे समय तक बना रहे या फिर और बिगड़ता जाए

सेक्स का कतई अर्थ नहीं कि आप चोटिल हो जाएं, इस दौरान आपको दर्द का एहसास हो। वहीं यदि आपको सेक्स के दौरान दर्द का एहसास होता है तो इसका इलाज संभव है आपको डॉक्टरी सलाह लेनी चाहिए।

कोरोना और सेक्स लाइफ के कनेक्शन को जानने के लिए खेलें क्विज : क्या कोरोना वायरस और सेक्स लाइफ के बीच कनेक्शन है? अगर जानते हैं इस बारे में तो खेलें क्विज

जानें सेफ सेक्स और आनंदमयी सेक्स के टिप्स

क्यों मुझे सेक्स करने का मन करता है, यह जानने के बाद सेफ सेक्स और आनंदमयी सेक्स के टिप्स को जानना बेहद ही जरूरी हो जाता है। इसके लिए आप अपने पार्टनर से सेक्स संबंधी बातों को शेयर कर उनकी जरूरतों के हिसाब से सेक्स करें तो ज्यादा अच्छा महसूस करेंगे। 2018 में हुए शोध के अनुसार पुरुष व महिलाएं कुछ स्ट्रेटेजी अपनाकर ऑर्गेज्म पा सकते हैं। वहीं आनंदमयी सेक्स का अनुभव कर सकते हैं। उसके तहत इन जरूरी बातों को अपनाना होगा, जैसे

  • ओरल सेक्स या फिर मेनुअल जेनाइटल स्टिमुलेशन जैसे फिंगरिंग करें
  • सेक्स के दौरान प्यार का एहसास करें
  • सेक्सुअल इच्छाओं और जरूरतों को पार्टनर से साझा करें
  • रिलेशनशिप सेटिस्फेक्शन हासिल कर
  • लंबे समय तक सेक्स करें

यह रणनीति अलग-अलग लोगों पर अलग-अलग तरह से लागू होती है, जैसे महिलाओं में बिना क्लिटोरल स्टिमुलेशन के ऑर्गेज्म नहीं आता है।

महिलाओं को कुछ खास सेक्सुअल पोजिशन में ही स्टिमुलेशन का एहसास होता है। ऐसे में जिस सेक्स पोजिशन में उन्हें स्टिमुलेशन का एहसास होता है उन्हें वही ट्राई करना चाहिए। पुरुषों की बात करें तो उन्हें सेक्स में मजा तभी आता है जब सेक्स लंबा चलता है, महिलाओं का ऑर्गेज्म आने में समय लगता है, ऐसे में सेक्स लंबा चले तो महिलाओं को भी संतुष्टि हासिल होती है। लंबी और गहरी सांस लेने से पुरुष वीर्य को निकलने में थोड़ा रोक सकते हैं और सेक्स टाइम लंबा खिंचता है।

वैसे व्यक्ति जिन्हें सेक्स के दौरान इरेक्शन में समस्या होती है उन्हें एक्सरसाइज कर ब्लड फ्लो को बढ़ाकर सेक्सुअल परफॉर्मेंस के साथ इरेक्शन को बढ़ाना चाहिए। इरेक्टाइल डिस्फंक्शन से जूझ रहे लोगों को दवा का सेवन करना चाहिए, डॉक्टरी की सलाह के बाद वो चाहें तो सिलडिनेफिल- वियाग्रा (sildenafil (Viagra) ) का सेवन कर सकते हैं।

लोग यह महसूस करते होंगे सेक्सुअल लूब्रिकेशन का इस्तेमाल करने से फ्रिक्शन घटता है और सेक्स करने में राहत मिलती है। ऐसे में किसी को सेक्स करने का मन करे तो वो बाजार से इसकी खरीदारी कर सकते हैं।

पेल्विक फ्लोर एक्सरसाइज है बेस्ट, इस एक्सरसाइज को कर मसल्स को मजबूत कर सकते हैं। क्योंकि ऑर्गेज्म में इसका काफी अहम योगदान होता है। इसे करने से पुरुषों व महिलाओं का स्ट्रांगर ऑर्गेज्म आता है और उन्हें अपने ऑर्गेज्म पर काबू करने में मदद मिलती है। आप चाहें तो एक्सपर्ट की मदद से इस एक्सरसाइज को कर सकते हैं। वहीं कुछ लोगों को फिजिकल थेरेपिस्ट से मिलने की भी जरूरत पड़ सकती है। जो आपको सेक्स को इंज्वाय करने का सुझाव दे सकता है।

और पढ़ें : सेक्स मिस्टेक्स (sex mistakes) : यौन संबंध के समय जाने-अनजाने महिलाएं करती हैं ये 9 गलतियां  

क्यों मुझे सेक्स करने का मन करता है, इसके हैं कई कारण, बस करें इंज्वाय

क्यों मुझे सेक्स करने का मन करता है इसका सही-सही कारण किसी के पास नहीं है। कई लोग अलग-अलग सेक्स पोज अपनाकर सेक्सुअल प्लेजर का एहसास कर सकते हैं। यदि सेक्सुल प्लेजर का एहसास न हो तो जरूरी है कि आप अपने पार्टनर से खुलकर बातें करें ताकि सेक्स संबंधी परेशानी को सिर्फ बातों से ही हल किया जा सके। वहीं जरूरत पड़ने पर डॉक्टर या किसी एक्सपर्ट की मदद लेकर अपनी समस्याओं का हल निकाल सकते हैं।

हैलो हेल्थ ग्रुप चिकित्सा सलाह, निदान या उपचार प्रदान नहीं करता है

संबंधित लेख:

क्या यह आर्टिकल आपके लिए फायदेमंद था?
happy unhappy"
सूत्र

शायद आपको यह भी अच्छा लगे

क्या आपने हस्तमैथुन साइड इफेक्ट्स के बारे में सुना है? जानिए सही और गलत में अंतर

हस्तमैथुन साइड इफेक्ट्स को जानने के साथ इससे जुड़े मिथ को जानें। जानिए क्या है masturbation side effects, हस्तमैथुन के हैं बहुत से फ़ायदे।

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Satish singh

कॉन्डोमलेस सेक्स के क्या होते हैं रिस्क, बीमारियों से बचाव के लिए यह जानना है जरूरी

कॉन्डोमलेस सेक्स काफी घातक होता है, इसका इस्तेमाल करने वाले लोग कई बीमारियों से बच जाते हैं वहीं जो इस्तेमाल नहीं करते उन्हें बीमारी का खतरा रहता है।

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Satish singh

डाले अपने सेक्स जीवन में नयी मिठास तंत्र सेक्स के साथ

अगर आप सेक्स जीवन में कुछ नया करने के इच्छुक हैं तो तंत्र सेक्स को आजमाए और लौटा लाएं अपने सेक्स जीवन में नयी मिठास : तंत्र सेक्स (tanta sex) के साथ।

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Mishita Sinha

जानें, रोते हुए सेक्स और बाद में रोना क्या सामान्य है?

रोते हुए सेक्स का आपके इमोशन, ट्रामा, पूर्व में हुए शारिरिक शोषण के साथ कई खुशी व अन्य कारणों पर निर्भर करता है, जानें ऐसा क्यों होता है व कैसे इससे निपटें।

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Satish singh

Recommended for you

हिस्टेरेक्टॉमी के बाद सेक्स

क्या हिस्टेरेक्टॉमी (Hysterectomy) सर्जरी के बाद भी सेक्स लाइफ रहेगी हिट?

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Shikha Patel
प्रकाशित हुआ सितम्बर 10, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें
पीठ दर्द के साथ बेहतर सेक्स - better sex with back pain

पीठ दर्द के साथ बेहतर सेक्स के लिए ध्यान रखें ये जरूरी बातें

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Shikha Patel
प्रकाशित हुआ सितम्बर 1, 2020 . 5 मिनट में पढ़ें
हर्पीस के साथ सेक्स

हर्पीस के साथ सेक्स संभव है या नहीं, जानने के लिए पढ़ें यह आर्टिकल

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Satish singh
प्रकाशित हुआ अगस्त 28, 2020 . 6 मिनट में पढ़ें
फर्स्ट टाइम सेक्स ब्लीडिंग

फर्स्ट टाइम सेक्स के बाद ब्लीडिंग होना सामान्य है या असामान्य, इसके पीछे का कारण जानें

के द्वारा लिखा गया Satish singh
प्रकाशित हुआ अगस्त 26, 2020 . 7 मिनट में पढ़ें