home

हम इसे कैसे बेहतर बना सकते हैं?

close
chevron
इस आर्टिकल में गलत जानकारी दी हुई है.
chevron

हमें बताएं, क्या गलती थी.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
इस आर्टिकल में जरूरी जानकारी नहीं है.
chevron

हमें बताएं, क्या उपलब्ध नहीं है.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
हम्म्म... मेरा एक सवाल है
chevron

हम निजी हेल्थ सलाह, निदान और इलाज नहीं दे सकते, पर हम आपकी सलाह जरूर जानना चाहेंगे। कृपया बॉक्स में लिखें।

wanring-icon
यदि आप कोई मेडिकल एमरजेंसी से जूझ रहे हैं, तो तुरंत लोकल एमरजेंसी सर्विस को कॉल करें या पास के एमरजेंसी रूम और केयर सेंटर जाएं।

लिंक कॉपी करें

स्पोर्टस इंजरी: जानिए स्पोर्ट्स के दौरान लगनेवाली चोट और इनके इलाज के बारे में

स्पोर्टस इंजरी: जानिए स्पोर्ट्स के दौरान लगनेवाली चोट और इनके इलाज के बारे में

स्पोर्ट्स इंजरीज (sports injuries) का अर्थ है व्यायाम या खेल के दौरान लगने वाली चोट (injury during sports)। हालांकि, खेलते हुए या व्यायाम करते हुए शरीर के किसी भी भाग में चोट लग सकती है। लेकिन स्पोर्ट्स इंजरीज (sports injuries) शब्द का प्रयोग खासतौर पर मस्क्युलोस्केलेटल सिस्टम (musculoskeletal system) की चोट के लिए किया जाता है। यह इंजरीज अधिकतर किसी ट्रॉमा और मसल्स या जॉइंट्स के अधिक प्रयोग के कारण होती हैं। कुछ स्थितियों में आपको स्पोर्ट्स इंजरी (sports injury) होने का जोखिम अधिक रहता है जैसे अगर आप नियमित रूप से एक्टिव न हों या एक्सरसाइज करने से पहले वार्म अप न करें। यदि, आप भी हैं खेलों या व्यायाम के शौकीन, तो स्पोर्ट्स इंजरीज (sports injuries) के बारे में जानना आपके लिए बहुत जरूरी है। पाएं, व्यायाम या खेल के दौरान लगने वाली चोट (injury during sports) के बारे में जानकारी विस्तार से।

कॉमन स्पोर्ट्स इंजरीज (common sports injuries) कौन सी हैं?

सबसे पहले स्पोर्ट्स इंजरीज (sports injuries) के प्रकारों के बारे में जानते हैं। अलग-अलग स्पोर्ट्स इंजरीज के विभिन्न लक्षण और अलग जटिलताएं होती हैं। सबसे कॉमन स्पोर्ट्स इंजरीज (common sports injury) इस प्रकार हैं:

यह भी पढ़ें: Injury: चोट क्या है? जानें इसके कारण, लक्षण और उपाय

मोच (Sprains)

खेलते हुए या व्यायाम करते हुए लिगामेंट्स के निकल जाने से मोच आ सकती है। लिगामेंट्स टिश्यू का वो ग्रुप होते हैं जो हड्डियों को आपस में जोड़ते हैं।।

खिंचाव (Strains)

ओवरस्ट्रेचिंग या मांसपेशियों में चोट लगने का परिणाम हो सकता है स्ट्रेन यानी खिंचाव। टेंडन्स टिश्यू के मोटे, रेशेदार तार होते हैं जो हड्डी को मांसपेशियों से जोड़ते हैं। आमतौर पर स्ट्रेन को मोच समझा जाता है लेकिन इन दोनों में फर्क है।

घुटनों में चोट (knee injury)

ऐसी चोट जिसके लगने से घुटनों के जोड़ों को हिलने में समस्या हो वो स्पोर्ट्स इंजरी (sports injury) हो सकती है। यह चोट घुटने की मांसपेशियों और टिश्यू में ओवरस्ट्रेच से लेकर टूट जाने तक हो सकती है।

मांसपेशियों में सूजन (muscle swelling)

चोट लगने के कारण सूजन भी होना भी सामान्य है। सूजी हुई मांसपेशियां दर्दनाक और कमजोर हो सकती है और जल्दी क्षतिग्रस्त हो सकती हैं।

अकिलिस टेंडन रप्चर (Achilles Tendon Rupture)

अकिलीज टेंडन हमारी हमरे टखने के पीछे के पतले लेकिन मजबूत टेंडन होते हैं। खेल के दौरान यह टूट सकते हैं। टूटने के कारण आप अचानक भयंकर दर्द महसूस कर सकते हैं और आपको चलने में भी समस्या हो सकती है।

फ्रैक्चर (fracture)

खेल के दौरान हड्डी के टूटने से फ्रैक्चर होना भी सामान्य है।

डिस्लोकेशन स्पोर्ट इंजरी (Dislocations Sports injury )

डिस्लोकेशन के कारण शरीर की कोई हड्डी अव्यवस्थित हो सकती है। यह दर्दनाक हो सकता है और इससे सूजन और कमजोरी हो सकती है।

World Spine day: झुक कर बैठने की है आदत? तो जरा इस क्विज को खेल कर देखें:

रोटेटर कफ इंजरी (Rotator cuff injury)

रोटेटर कफ चार मांसपेशियों से बना होता है। रोटेटर कफ कंधे को सभी दिशाओं में घूमने में मदद करता है। इन मांसपेशियों में से किसी में चोट लगने से रोटेटर कफ कमजोर हो सकता है।

कॉमन स्पोर्ट्स इंजरी के कारण (sport injury causes)

स्पोर्ट्स इंजरीज (sports injuries) को दो भागों में बांटा गया है एक्यूट और क्रॉनिक

एक्यूट इंजरी किसी घटना या एक्सीडेंट के कारण हो सकती है। जिसके लक्षण आपको साफ पहले ही नजर आ सकते हैं जैसे स्लिप होना, गिर जाना, किसी चीज से टकराना आदि। यह सब एक्यूट इंजरी का कारण बन सकते हैं। खेल खेलते हुए कुछ एक्सीडेंट होना सामान्य है। सही गियर, उपकरण और सुरक्षित परिस्थितियों में खेलने से इन एक्सीडेंट्स से बचा जा सकता है। जैसे अगर आप फिसलन वाले फर्श पर कोई खेल खेलते हैं तो आपका स्लिप होना या गिरना स्वाभाविक है। इसलिए ऐसे फर्श में खेलने से बचे।

क्रॉनिक इंजरी लंबी अवधि वाली होती है इसकी शुरुआत तो एक्यूट इंजरी से होती है। लेकिन, किन्हीं कारणों से यह पूरी तरह से ठीक नहीं हो पाती। कई एथलीट इस दर्द से गुजरते हैं जो क्रॉनिक इंजरीज के कारण होती है।

यह भी पढ़ें: Hamstring Injury: हैमस्ट्रिंग चोट क्या है?

स्पोर्ट्स इंजरीज (sports injuries) से कैसे बचें?

व्यायाम करना या कोई खेल खेलना, स्वस्थ और फिट रहने के लिए बेहद जरूरी है। ऐसा सही नहीं है कि स्पोर्ट्स इंजरी (sports injury) से बचने के लिए आप खेल न खेलें या व्यायाम न करें। लेकिन, आप कुछ चीज़ों का ध्यान रख कर खेल के दौरान लगने वाली चोट (injury during sports) से बच सकते हैं, जैसे:

व्यायाम करते हुए ध्यान रखें

व्यायाम करते हुए एक फिटनेस प्लान बनाएं। जिसमें कार्डियोवैस्कुलर एक्सरसाइज, स्ट्रेंथ ट्रेनिंग और लचीलापन आदि शामिल हैं। यह सब आपकी चोट की संभावना को कम करने में मदद करेंगे। वैकल्पिक रूप से विभिन्न मसल ग्रुप के लिए एक्सरसाइज करें और हर दूसरे दिन व्यायाम करें।

शरीर को रखें ठंडा

व्यायाम या खेलकूद से पहले हमारा शरीर ठंडा होता है। गर्म शरीर की तुलना में ठंडे शरीर में जल्दी चोट लगती है। ऐसे में वार्म अप करना जरूरी है। इसके साथ ही पर्याप्त पानी पिएं। इससे आप डिहाइड्रेशन, हीट स्ट्रोक आदि से बचेंगे।

स्ट्रेचिंग करना न भूलें

स्ट्रेचिंग एक्सरसाइजेज मांसपेशियों के संकुचन और परफॉर्म करने की क्षमता में सुधार कर सकती हैं। जिससे चोट लगने का जोखिम कम हो जाता है। मांसपेशियों में स्ट्रेचिंग के एक पॉइंट तक पहुंचने तक स्ट्रेच धीरे-धीरे शुरू करना चाहिए। स्ट्रेचिंग दर्दनाक नहीं होनी चाहिए।

सही तकनीक और उपकरण

खेलते या व्यायाम करते हुए आपका हर उपकरण या प्रयोग में आने वाली चीजें सही होनी चाहिए जैसे जूते। अगर आपके जूते सही नहीं होंगे, तो यह पैर में चोट का कारण बन सकते हैं। कोई भी खेल खेलते हुए या एक्सरसाइज करते हुए सही तकनीक के बारे में जानकारी होना भी जरूरी है। जब भी आप थके हुए या दर्द में हों तब व्यायाम करना या खेलना नजरअंदाज करें। अगर आपको स्पोर्ट इंजरी होती है तो आप फिर से खेलने या व्यायाम से पहले सही इलाज कराएं और आराम करें।

अधिक करने से बचें

अगर आपको चोट लग जाती है तो जब तक आप पूरी तरह से स्वास्थ्य नहीं हो जाते। खेल या व्यायाम शुरू न करें। दर्द में खासतौर पर काम शुरू न करें।

स्पोर्ट्स इंजरीज का उपचार (sport injuries treatment) कैसे होता है?

स्पोर्ट्स इंजरी के उपचार (sport injury treatment) के बारे में जानने से पहले यह पता होना चाहिए कि आपकी स्पोर्ट इंजरी का प्रकार कौन सा है। उसके बाद ही उसका सही उपचार संभव है।

स्पोर्ट्स इंजरीज

स्पोर्ट्स इंजरीज (sports injuries) के लिए RICE मेथड

अगर आपको हलकी स्पोर्ट्स इंजरी (sports injury) है तो उपचार के लिए एक खास तरीका अपनाया जाता है जिसे RICE मेथड कहा जाता है। इसमें R को रेस्ट यानी आराम, I को ice यानी बर्फ, C को कम्प्रेशन यानी दबाव। E को एलिवेशन यानि ऊंचाई के लिए जाना जाता है। हलकी स्पोर्ट्स इंजरीज (sports injuries) के लिए यह तरीका बेहद अच्छा है। अच्छे परिणामों के लिए इस तरीके को चोट लगने के बाद 24 to 36 के बीच अपनाया जाता है। इससे सूजन कम हो जाती है। स्पोर्ट्स इंजरी (sports injury) के कारण होने वाले दर्द और नील पड़ने की समस्या से भी मुक्ति मिलती है।

यह भी पढ़ें: Head Injury : हेड इंजरी या सिर की चोट क्या है?

दवाइयां

ओवर द काउंटर और डॉक्टर द्वारा बताई सलाह से दवाई लेने से भी आपके चोट ठीक हो सकती है या दर्द और सूजन कम हो सकती है। अगर आपकी स्पोर्ट्स इंजरी (sports injury) गंभीर है तो तुरंत डॉक्टर से मिलें। अगर आपको यह लक्षण दिखें तो यह चोट गंभीर हो सकती है:

  • अधिक सूजन और दर्द
  • कोई गांठ, बम्प, या अन्य समस्या
  • जोड़ों का उपयोग करते हैं तो आवाज़ आती हो
  • कमजोरी या जोड़ पर वजन डालने में असमर्थता
  • अस्थिरता

अगर आपको चोट लगने के बाद निम्न में से कोई भी अनुभव होता है, तो भी यह आपातकालीन स्थिति है और आपको तुरंत डॉक्टर की जरूरत है:

  • सांस लेने में दिक्कत
  • सिर चकराना
  • बुखार

गंभीर खेल चोटों के लिए सर्जरी और फिजिकल थेरेपी की आवश्यकता हो सकती है। यदि चोट दो सप्ताह के भीतर ठीक नहीं होती है, तो अपने डॉक्टर से संपर्क करें।

अन्य तरीके

स्पोर्ट्स इंजरीज का उपचार (sport injury treatment) इन तरीको से भी किया जाता है:

  • कास्ट, या ब्रेस का प्रयोग
  • दर्द निवारक इंजेक्शन, जैसे कि कोर्टिसोन शॉट (Cortisone shot)
  • फिजिकल थेरेपी
  • सर्जरी

स्पोर्ट्स इंजरीज

अगर किसी को अचानक स्पोर्ट्स इंजरी (sports injury) हो जाती है तो ऐसे में क्या करना चाहिए?

अगर किसी को अचानक स्पोर्ट्स इंजरी (sports injury) हो जाती है तो ऐसे में दर्द, सूजन को दूर करने के लिए R.I.C.E. मेथड का प्रयोग करना चाहिए:

  • रेस्ट – जिस जगह पर चोट लगी है उस जगह पर अधिक दबाव न डालें और अगले कुछ दिन आराम करें।
  • आइस : आइस सूजन और जलन को कम करने में प्रभावी है इसके साथ ही यह दर्द में भी लाभदायक साबित हो सकती है। कई एथलीट जो एक गंभीर चोट पर बर्फ लगाते हैं, उन्हें असुविधा को कम करने के लिए दर्द की गोलियों की आवश्यकता नहीं होती है।
  • कंप्रेस : कंप्रेस यानी चोट वाली जगह पर दबाव बनाना। लेकिन, यह दबाव अधिक नहीं होना चाहिए। आप इस जगह को किसी बैंडेज से लपेट सकते हैं
  • एलिवेट : इंजर्ड जगह को ऊपर उठाने से सूजन, जलन और दर्द को कम करने में भी मदद मिल सकती है।

अगर इस तरीके से आराम न मिल रहा हो तो तुरंत डॉक्टर की सलाह लें और सही उपचार कराना जरूरी है।

यह भी पढ़ें: आंख में चोट लगने पर क्या करें? जानें चोट ठीक करने के उपाय

स्पोर्ट्स इंजरीज के लिए फर्स्ट एड टिप्स (First aid tips for sports injuries)

खेल के दौरान लगने वाली चोट (injury during sports) उम्र के अनुसार अलग हो सकती है। जैसे छोटी उम्र के एथलिट को फ्रैक्चर और डिस्लोकेशन का जोखिम अधिक रहता है। जानिए सामान्य स्पोर्ट्स इंजरीज (sports injuries) का प्राथमिक उपचार कैसे किया जा सकता है:

डिस्लोकेशंस (Dislocations)

अधिकतर एथलीट कंधे में डिस्लोकेशन का अनुभव करते हैं। कंधे में डिस्लोकेशन होने पर आप जॉइंट में नील, सूजन या इसे हिलाने में समस्या हो सकती है। अगर आप इस या किसी अन्य जॉइंट डिस्लोकेशन को नोटिस करते हैं, तो जॉइंट को स्थिर रखें और इसे अधिक हिलाने की कोशिश न करें। आप यहां बर्फ का प्रयोग भी कर सकते हैं। दर्द के लिए आइबुप्रोफेन या एसिटामिनोफेन ली जा सकती है। इस स्थिति में आपको तत्काल मेडिकल हेल्प की जरूरत होगी।

फ्रैक्चर (Fracture)

फ्रैक्चर होने पर भी तुरंत मेडिकल हेल्प की जरूरत होती है। जिस स्थान पर फ्रैक्चर हुआ है, उसे अधिक न हिलाएं। यदि स्प्लिंट उपलब्ध है तो उसका प्रयोग करें। प्रभावित अंग को ऊपर उठाएं और सूजन को कम करने के लिए बर्फ लगाएं। यदि त्वचा निकल गई है, तो संक्रमण से बचने के लिए घाव को ढकने का प्रयास करें। अगर उपलब्ध है, तो स्टेराइल बैंडेज (sterile bandage) का प्रयोग करें।

सूर्य नमस्कार, योग एवं स्वास्थ्य से जुड़ी जानकारी के लिए क्लिक करें-

नी इंजरीज (Knee injuries)

नी इंजरीज होने पर आप RICE मेथड का प्रयोग कर सकते हैं। इससे आपको दर्द, सूजन आदि से राहत मिल सकती है। तुरंत डॉक्टर की सलाह भी अनिवार्य है।

रोटेटर कफ इंजरीज (Rotator cuff injuries)

अगर आपको रोटेटर कफ इंजरीज होने का संदेह है तो आपको तुरंत खेल या व्यायाम करना बंद कर देना चाहिए और अपनी बाजू को आराम देना चाहिए। कंधे के जोड़ को अधिक हिलाना जारी रखने से अतिरिक्त चोट लग सकती है। यदि आप एक सप्ताह से अधिक समय तक रहने वाले लक्षणों का अनुभव करते हैं, तो हेल्थ केयर प्रोवाइडर से संपर्क करें।

स्पोर्ट्स इंजरीज

मोच और स्ट्रेनस (Sprains and strains)

यदि आपको मोच या स्ट्रेन का अनुभव होता है, तो आप यह निर्धारित नहीं कर सकते हैं कि कौन सी चोट लगी है क्योंकि इनके लक्षण एक जैसे होते हैं। मोच के लक्षणों में दर्द, सूजन और जोड़ का उपयोग न कर पाना शामिल है। स्ट्रेन के लक्षणों में मांसपेशियों में ऐंठन या क्रैम्पिंग शामिल हैं। यदि आपको किसी स्ट्रेन या मोच को महसूस कर रहे हैं, तो तुरंत खेल या व्यायाम को रोक दें जिससे चोट लगी हो। फिर दर्द और सूजन को कम करने और चिकित्सा देखभाल प्राप्त करने के लिए RICE विधि का उपयोग करें। गंभीर चोट लगने पर आपके डॉक्टर आपको बैसाखी या किसी अन्य प्रकार की सहायता का उपयोग करने के लिए कह सकते हैं ताकि आप जल्दी ठीक हो सके। आपको एक फिजिकल थेरेपी के लिए भी कहा जा सकता है।

यह भी पढ़ें: थोड़ी हिम्मत और सूझबूझ के साथ यूं करें बच्चों की चोट का इलाज

स्पोर्ट्स इंजरी (sports injury) के बाद भविष्य में किन बातों का ख्याल रखना चाहिए?

स्पोर्ट्स इंजरी (sports injury) के बाद जब आप रिकवर कर रहे हैं और फिर से अपना खेल या व्यायाम शुरू करने वाले हैं। तो आपको कुछ खास बातों का ख्याल रखना चाहिए जैसे:

  • अब आपको ऐसे प्रोटेक्टिव गियर की जरूरत होगी, जो आपके शरीर को चोट से बचा सके। जैसे आप अपने जूतों में बदलाव ला सकते हैं। ऐसे जूते लें जो आपके पैर को चोट से बचा सकें।
  • फिर से, इंजरी से बचने के लिए प्रैक्टिस और गेम से पहले वार्म अप अवश्य करें। जब आप चोट के बाद पहली बार अपने खेल में वापस आते हैं तो इसे धीरे-धीरे से शुरुआत करें। एकदम पहले की तरह खेलने या व्यायाम करने न लग जाएं। ऐसा करना आपके लिए नुकसानदायक हो सकता है।

स्पोर्ट इंजरी (sport injury) से बचने के लिए सबसे जरूरी है कि अपनी सीमाओं और शरीर के इशारों को समझें। अगर आपके आपको चोट लगी है या चोट लगे हुए अंग में फिर से दर्द हो रहा हो, तो तुरंत खेल या व्यायाम बंद करें और आराम करें। अगर आपको दर्द से राहत न मिल रही हो या दर्द बढ़ रही हो तो तुरंत डॉक्टर की सलाह लें।

health-tool-icon

बीएमआई कैलक्युलेटर

अपने बॉडी मास इंडेक्स (बीएमआई) की जांच करने के लिए इस कैलक्युलेटर का उपयोग करें और पता करें कि क्या आपका वजन हेल्दी है। आप इस उपकरण का उपयोग अपने बच्चे के बीएमआई की जांच के लिए भी कर सकते हैं।

पुरुष

महिला

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

लेखक की तस्वीर badge
AnuSharma द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 11/02/2021 को
डॉ. प्रणाली पाटील के द्वारा मेडिकली रिव्यूड
x