home

हम इसे कैसे बेहतर बना सकते हैं?

close
chevron
इस आर्टिकल में गलत जानकारी दी हुई है.
chevron

हमें बताएं, क्या गलती थी.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
इस आर्टिकल में जरूरी जानकारी नहीं है.
chevron

हमें बताएं, क्या उपलब्ध नहीं है.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
हम्म्म... मेरा एक सवाल है
chevron

हम निजी हेल्थ सलाह, निदान और इलाज नहीं दे सकते, पर हम आपकी सलाह जरूर जानना चाहेंगे। कृपया बॉक्स में लिखें।

wanring-icon
यदि आप कोई मेडिकल एमरजेंसी से जूझ रहे हैं, तो तुरंत लोकल एमरजेंसी सर्विस को कॉल करें या पास के एमरजेंसी रूम और केयर सेंटर जाएं।

लिंक कॉपी करें

कुछ महिलाओं को हो सकती है वजन बढ़ाने की जरूरत, फॉलो करें ये टिप्स

कुछ महिलाओं को हो सकती है वजन बढ़ाने की जरूरत, फॉलो करें ये टिप्स

वजन बढ़ाना भी वजन कम करने जितनी ही मुश्किल प्रक्रिया है। खास तौर पर महिलाओं के लिए तो यह बहुत ही मुश्किल माना जाता है। ज्यादातर पुरुष वजन बढ़ाने के उपाय के लिए जिम या मार्केट में मिलने वाले प्रोटीन्स का सहारा लेकर आसानी से वजन बढ़ा सकते हैं, लेकिन हर एक महिला के लिए जिम जाना आसान नहीं होता। हालांकि, वजन बढ़ाने के उपाय कई हैं। लेकिन वजन बढ़ाने के उपाय अपनाने से पहले यह जानना बेहद जरूरी है कि आपके शरीर के दुबले-पतले होने के पीछे असली कारण क्या है? आपका दैनिक आहार क्या है? क्या आपके शरीर के दुबले-पतले होने के वजन कहीं वंशानुगत तो नहीं?

तो चलिए अपने इस आर्टिकल में जानते हैं वजन बढ़ाने के उपाय और कैसे दुबले-पतले शरीर को सुडौल और आकर्षक बना सकती हैं महिलाएं साथ ही उनके कम वजन होने के कारण।

और पढ़ें : जानिए किस तरह हम अपनी गलत आदत से छुटकारा पा सकते हैं?

वजन बढ़ाने के उपाय से पहले समझें इसका कारण

कम वजन होने के पीछे आनुवांशिकी कारण, अधूरा आहार, मानसिक या किसी तरह की शारीरिक बीमारी भी वजह हो सकती हैः

1. आनुवांशिक वजह

आनुवांशिकी का तात्पर्य सीधे आपके पूर्वजों से जुड़ा हुआ है। अगर आपसे पहले आपके माता-पिता या दादा-दादी का शरीर किसी कारण या बीमारी से दिखने में बहुत दुबला-पतला रहा हो, तो यहां यह संभावना बढ़ जाती है कि उसके आने वाले वंशजों में भी यह बीमारी होगी। कुछ बच्चों में अनुवांशिक दोष जन्म के साथ ही दिखाई देने लगते हैं तो कुछ में इसके लक्षण यौनावस्था या किशोरावस्था में ही नजर आते हैं। ऐसी महिलाओं को भी वजन बढ़ाने में काफी मुश्किलें आती हैं।

2. दैनिक आहार में पोषक तत्वों की कमी

बिगड़ती लाइफस्टाइल, खान-पान और भाग-दौड़ भरी जिंदगी के कारण बहुत सी महिलाओं का दैनिक आहार हमेशा अधूरा रह जाता है। हालांकि, अधिकतर महिलाएं अर्थिक तंगी के कारण भी पोषक से भरपूर आहार से वंचित रह जाती हैं। अगर आप पूरी तरह से स्वस्थ हैं, लेकिन आप दुबलेपन का शिकार हैं तो हो सकता है कि आप अपने आहार में भरपूर पोषक तत्वों को शामिल नहीं कर रहे हैं।

और पढ़ें : इस बॉल से करें एक्सरसाइज, मोटापा होगा कम और बाजु भी आएंगे शेप में

3. पांचन तंत्र में गड़बड़ी

कई लोग अपने भोजन में पोषक तत्वों से भरपूर खाद्य पदार्थ का सेवन करते हैं लेकिन इसे उनका शरीर पचाने में असमर्थ होता है। जिसकी वजन से खाने में शामिल पोषक तत्व जैसे, विटामिन, मिनरल्स, आयरन आदि शरीर अवशोषित नहीं कर पाता है। ऐसे व्यक्तियों का पाचन तंत्र कमजोर होता है और इस वजह से भी उनका वजन बहुत कम रह जाता है।

4. मानसिक बीमारी

जो लोग बहुत ज्यादा तनाव या चिंता करते हैं वो भी दुबलेपन का शिकार हो सकते हैं। मानसिक बीमारी के कारण भूख नहीं लगने की समस्या देखी जाती है। खाने-पीने पर ध्यान नहीं देने की वजन से उनका शरीर धीर-धीरे कई बीमारियों की चपेट में आ सकता है।

5. शारीरिक बीमारी

अगर किसी व्यक्ति को हाइपरथायराइडिज्म, कैंसर, ट्यूबरकुलोसिस या फिर एचआईवी एड्स जैसी गंभीर बीमारियां है तो वो भी अपना वजन बढ़ाने में कई तरह की दिक्कते महसूस कर सकते हैं। ये सभी बीमारियां वजन कम करने का सबसे बड़ा कारण मानी जाती है। इसकी वजह से थकान, भूख न लगना और सुस्ती जैसे लक्षण हमेशा महसूस होते रहते हैं।

और पढ़ें : नेचुरल रूप से घटाना है वजन तो फॉलो करें इंटरमिटेंट फास्टिंग डायट, जानिए एक्सपर्ट से

महिलाएं ऐसें बढ़ाएं अपना वजनः

1. दिन में करें एक्सरसाइज

ऐसी बहुत से एक्सरसाइज हैं, जिनकी मदद से आप आसानी से अपना वजन बढ़ा सकती हैं। जिसके लिए आपको सप्ताह के 6 दिनों में 30 से 40 मिनट तक वजन बढ़ाने वाली एक्सरसाइज करनी होगी।

वजन बढ़ाने वाली एक्सरसाइजः

  • स्क्वैट (उठक-बैठक)- दिन में कम से कम 2 बार, 20 सेट।
  • पुश अप्‍स- दिन में एक बार, शुरूआत में 20 पुश अप्स लगाएं। धीरे-धीरे आप इसकी संख्या बढ़ा सकती हैं।
  • ट्राइसेप्‍स डिप्‍स- दिन में एक बार 10 से 15 मिनट के लिए।
  • प्‍लैंक- दिन में 1 से 2 बार, 10 से 20 सेट कर सकती हैं।
  • रिवर्स प्‍लैंक ब्रिज- दिन में 2 बार, 5 से 8 मिनट के लिए।

2. पोषण से भरपूर आहार

प्रतिदिन 500 कैलोरी का उपभोग करें। हमेशा घर पर बना खाना ही खाएं। हरी सब्जियां, ताजा फल और उनके जूस, नाश्ते में ड्राइ फ्रूट्स, साबूत आनाज और दूध से बनी चीजों का ज्यादा से ज्यादा सेवन करें।

3. वजन बढ़ाने वाले आहारः

  • केला और ड्राई फ्रूट्स- सुबह नाश्ते में आप एक गिलास दूध में 3 से 4 केला मिक्स करें और उसका शेक बना कर पी सकते हैं। आप चाहें तो इसमें अपनी पसंद के अनुसार ड्राई फ्रूट्स भी शामिल कर सकते हैं।
  • मौसमी फल और सब्जियां – भारत में हर अलग-अलग मौसम के अनुसार ही मार्केट में सब्जियां और फल देखें जाते हैं। जो सेहत के लिए पोषक तत्वों से भरपूर होते हैं।
  • साबूत आनाज- चना, दालें, बाजरा, मक्का, मटर आदि।

और पढ़ें : जानें कैसा होना चाहिए आपका वर्कआउट प्लान!

4. मन को रखें हमेशा खुश

खुश रहना भी वजन बढ़ाने के उपाय में शामिल होता है। अगर अपका मन खुश रहेगा तो दिन भर आपको साकारात्मक विचार आते रहेंगे। आप किसी भी काम को करने का सबसे बेहतर तरीका ढूंढने में सफल हो सकते हैं। जिसका प्रभाव आपके शरीर पर भी देखा जा सकता है।

5. खुश रहने के तरीकेः

  • किसी भी तरह का तनाव है तो उसे परिवार के साथ साझा करें।
  • किसी भी काम को गुस्से से निपटाने की बजाय ठंड़े और शांत दिमाग से उस मुद्दे पर विचार करने की कोशिश करें।
  • सामाजिक व्यवहार को बढ़ाएं।
  • जब भी काम से फुरसत मिले तो परिवार के साथ कहीं घूमने या किसी रिश्तेदार या दोस्त से मिलने की योजना बना सकते हैं।

6. शरीर को रखें दुरुस्त

वजन बढ़ाने के उपाय के साथ ही साफ-सफाई का पूरा ध्यान रखें। जो भी खाने जा रहे हैं उसका शरीर पर किस तरह का प्रभाव हो सकता है। इसके बारे में जरूर विचार करें। शरीर के लिए घातक जैसे, नशीले पदार्थों का सेवन न करें। अगर आप किसी बीमारी से पीड़ित हैं, तो जल्द से जल्द इसका इलाज करवाएं और नियमित तौर पर अपने स्वास्थ्य की देख-रेख करते रहें।

अगर आप पहले से ही इन बातों का पालन कर रहे हैं लेकिन वजन बढ़ाने के उपाय से सफल परिणाम नहीं मिल रहा तो अपने डॉक्टर से संपर्क करें। डॉक्टर की सलाहनुसार ही आप अपने दैनिक आहार की मात्रा भी निश्चित कर सकते हैं।

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

लेखक की तस्वीर
Dr. Pranali Patil के द्वारा मेडिकल समीक्षा
Ankita mishra द्वारा लिखित
अपडेटेड 04/07/2019
x