home

हम इसे कैसे बेहतर बना सकते हैं?

close
chevron
इस आर्टिकल में गलत जानकारी दी हुई है.
chevron

हमें बताएं, क्या गलती थी.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
इस आर्टिकल में जरूरी जानकारी नहीं है.
chevron

हमें बताएं, क्या उपलब्ध नहीं है.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
हम्म्म... मेरा एक सवाल है
chevron

हम निजी हेल्थ सलाह, निदान और इलाज नहीं दे सकते, पर हम आपकी सलाह जरूर जानना चाहेंगे। कृपया बॉक्स में लिखें।

wanring-icon
यदि आप कोई मेडिकल एमरजेंसी से जूझ रहे हैं, तो तुरंत लोकल एमरजेंसी सर्विस को कॉल करें या पास के एमरजेंसी रूम और केयर सेंटर जाएं।

लिंक कॉपी करें

एथेरोस्क्लेरोसिस और ब्लड प्रेशर मेडिकेशंस: जरूर जानिए इन दवाओं के बेनिफिट्स!

एथेरोस्क्लेरोसिस और ब्लड प्रेशर मेडिकेशंस: जरूर जानिए इन दवाओं के बेनिफिट्स!

हाय ब्लड प्रेशर (High blood Pressure) यानी हायपरटेंशन एक सामान्य कंडिशन है। जिसमें आर्टरी वॉल्स के अगेंस्ट ब्लड की लॉन्ग-टर्म फाॅर्स इतनी हाय होती है कि यह कई स्वास्थ्य समस्याओं का कारण बन सकती है जैसे हार्ट डिजीज। इस रोग को कई हेल्थ कॉम्प्लिकेशन्स की वजह भी माना जाता है। हाय ब्लड प्रेशर के उपचार में लाइफस्टाइल में परिवर्तन के साथ-साथ कई दवाइयां भी शामिल हैं। आज हम बात करने वाले हैं एथेरोस्क्लेरोसिस और ब्लड प्रेशर मेडिकेशंस (Atherosclerosis and Blood pressure medications) के बारे में। आइए जानते हैं एथेरोस्क्लेरोसिस और ब्लड प्रेशर मेडिकेशंस (Atherosclerosis and Blood pressure medications) के बारे में विस्तार से। सबसे पहले जान लेते हैं एथेरोस्क्लेरोसिस और ब्लड प्रेशर के बारे में।

एथेरोस्क्लेरोसिस और ब्लड प्रेशर (Atherosclerosis and Blood pressure)

अगर हाय ब्लड प्रेशर (High Blood Pressure) का सही से उपचार न किया जाए, तो इससे जुड़ी सबसे गंभीर हेल्थ प्रॉब्लम है एथेरोस्क्लेरोसिस। एथेरोस्क्लेरोसिस वो कंडिशन है, जिसमें आर्टरीज में प्लाक जमा हो जाता है। जब इसके कारण ब्लड फ्लो में बाधा आती है और हार्ट मसल्स तक ब्लड की सप्लाई नहीं हो पाती। तो इसका परिणाम होता है कोरोनरी आर्टरी डिजीज। हाय ब्लड प्रेशर के पीड़ित व्यक्ति को यह समस्या होने की संभावना अधिक होती है क्योंकि हाय ब्लड प्रेशर आर्टरी वाल्स के अगेंस्ट फाॅर्स लगाता है। समय के साथ यह अतिरिक्त प्रेशर आर्टरीज को डैमेज कर सकता है।

एथेरोस्क्लेरोसिस की स्थिति में आर्टरी का सरफेस हार्ड हो जाता है, जिससे स्मॉल ब्लड क्लॉट्स बनते हैं और यह हार्ट अटैक या स्ट्रोक का कारण बनते हैं। हाय ब्लड प्रेशर के कारण होने वाली एथेरोस्क्लेरोसिस की बीमारी के उपचार के लिए कई दवाईयों का प्रयोग किया जाता है। जानिए इन एथेरोस्क्लेरोसिस और ब्लड प्रेशर मेडिकेशंस (Atherosclerosis and Blood pressure medications) के बारे में।

और पढ़ें: कहीं आप गलती से तो नहीं ले रहे हायपरटेंशन बढ़ाने वाली दवाएं?

एथेरोस्क्लेरोसिस और ब्लड प्रेशर मेडिकेशंस (Atherosclerosis and Blood pressure medications)

हाय ब्लड प्रेशर और एथेरोस्क्लेरोसिस के रिस्क को कम करने के लिए कई ड्रग्स की सलाह दी जाती है। इन दवाईयों में डाययूरेटिक्स (Diuretics), बीटा ब्लॉकर्स (Beta-blockers), कैल्शियम चैनल ब्लॉकर्स (Calcium channel blockers), एंजियोटेंसिन कंवर्टिंग एंजाइम इन्हिबिटर्स (Angiotensin-converting enzyme), एंजियोटेंसिन II रिसेप्टर ब्लॉकर्स (Angiotensin II receptor blockers) और अल्फा ब्लॉकर्स (alpha blockers) शामिल हैं। मरीज को कौन सी मेडिसिन देनी है, यह बात डॉक्टर निर्धारित करते हैं। आइए जानते हैं एथेरोस्क्लेरोसिस और ब्लड प्रेशर मेडिकेशंस (Atherosclerosis and Blood pressure medications) कौन सी हैं इसके बारे में।

और पढ़ें: एथेरोस्क्लेरोसिस के ट्रीटमेंट के लिए अपनाएं कुछ आसान नैचुरल तरीके

डाययूरेटिक्स (Diuretics)

डाययूरेटिक्स को वाटर पिल्स भी कहा जाता है, जिन्हें लेने से यूरिनेशन बढ़ती है। इससे शरीर में सोडियम और फ्लूइड की मात्रा कम होती है। यही नहीं इसे ब्लड वॉल्यूम कम होता है जिससे ब्लड प्रेशर लो होने में मदद मिलती है। माइल्ड हायपरटेंशन का उपचार कई बार इन ड्रग्स से किया जा सकता है। यह दवाईयां इस प्रकार हैं:

क्लोरथालिडोन (Chlorthalidone)

क्लोरथालिडोन (Chlorthalidone) के ब्रांड नेम्स हाइग्रोटन (Hygroton) और थैलिटोन (Thalitone) हैं। एथेरोस्क्लेरोसिस और ब्लड प्रेशर मेडिकेशंस (Atherosclerosis and Blood pressure medications) में इस दवाई का प्रयोग किया जा सकता है। यह वो डाययूरेटिक्स है जो शरीर को अधिक नमक अवशोषित करने से बचाती है। इससे फ्लूइड रिटेंशन की समस्या से छुटकारा मिलता है। लेकिन, इस दवा को लेने के बाद कुछ लोग कई साइड इफेक्ट्स का अनुभव भी कर सकते हैं जैसे सिरदर्द होना, मसल्स का कमजोर होना, कब्ज, उल्टी आना आदि। इसलिए कभी भी इन दवाईयों को डॉक्टर की सलाह के बिना न लें। इस दवा की कीमत की जानकारी उपलब्ध नहीं है।

फ्यूरोसेमाइड (Furosemide)

एथेरोस्क्लेरोसिस और ब्लड प्रेशर मेडिकेशंस (Atherosclerosis and Blood pressure medications) में अगली है फ्यूरोसेमाइड (Furosemide)। इसके कई ब्रांड नेम हैं जैसे लेसिक्स (Lasix), डायक्वा-2 (Diaqua-2) आदि। यह ड्रग शरीर को अधिक नमक और सोडियम को एब्जॉर्ब करने से रोकती है, जिससे एक्स्ट्रा नमक पेशाब के माध्यम से शरीर से बाहर निकल जाता है। लेकिन, इस दवाई के कई साइड इफेक्ट्स हो सकते हैं जैसे डायरिया, सिरदर्द, त्वचा का पीला होना आदि। इस ड्रग की 20 mg की 100 टेबलेट्स लगभग 6,753 रुपये है।

इसके अलावा कुछ अन्य डाययूरेटिक्स भी एथेरोस्क्लेरोसिस और ब्लड प्रेशर की स्थिति में प्रयोग की जा सकती हैं। जैसे टॉर्सेमाइड (Torsemide), मेटोलाजोन (Metolazone), क्लोरथालिडन (Chlorthalidone), क्लोरोथिजाइड (Chlorothiazide), फ्यूरोसेमाइड (Furosemide) आदि। डॉक्टर की सलाह के बाद ही इनका प्रयोग करना चाहिए।

और पढ़ें: एथेरोस्क्लेरोसिस पैथोजेनेसिसि क्या है, कैसे होता है प्लाक का निर्माण?

एथेरोस्क्लेरोसिस और ब्लड प्रेशर मेडिकेशंस में बीटा ब्लॉकर्स (Beta Blockers)

बीटा ब्लॉकर्स सीधा हार्ट पर काम करते हैं, जिससे ब्लड प्रेशर कम होने में मदद मिलती है। यह एथेरोस्क्लेरोसिस और ब्लड प्रेशर मेडिकेशंस (Atherosclerosis and Blood pressure medications) हार्ट रेट और पंपिंग की फाॅर्स को कम करती हैं। इन बीटा ब्लॉकर्स में यह ड्रग्स शामिल हैं:

कार्वेडिलॉल (Carvedilol)

कार्वेडिलॉल (Carvedilol) का ब्रांड नेम कार्डिवस (Cardivas) है। यह दवाई हार्ट रेट को कम करती है और ब्लड वेसल्स (Blood Vessels) को रिलैक्स करती हैं। इसके कारण हार्ट अच्छे से ब्लड पंप कर पाता है, लेकिन इस दवाई को लेने के बाद आप ब्लड प्रेशर का लो होना, सिरदर्द, थकावट जैसी समस्याओं का अनुभव कर सकते हैं। इसलिए डॉक्टर की सलाह के बाद ही इसे लें। यह दवा ऑनलाइन लगभग 40 रुपये में उपलब्ध है।

एटेनोलॉल (Atenolol)

बीटा ब्लॉकर्स में एटेनोलॉल (Atenolol) को ब्रांड नेम टेनोर्मिन (Tenormin) से भी जाना जाता है। इसका प्रयोग हाय ब्लड प्रेशर और कई हार्ट डिजीज के उपचार में किया जाता है। इस दवा को लेने के बाद कई साइड इफेक्ट्स भी हो सकते हैं जैसे थकावट, हार्ट रेट का स्लो होना और डायरिया आदि शामिल हैं। लेकिन, इसका सेवन केवल डॉक्टर की सलाह के बाद ही करें। यह ड्रग ऑनलाइन लगभग 22 रुपये में मिल जाएगी।

यह तो थी एथेरोस्क्लेरोसिस और ब्लड प्रेशर मेडिकेशंस (Atherosclerosis and Blood pressure medications) बीटा ब्लॉकर्स के बारे में जानकारी। इसके अलावा कई अन्य दवाईयों का प्रयोग भी किया जा सकता है, जैसे प्रोप्रेनालोल (Propranolol), बिसोप्रोलोल (Bisoprolol), मेटोप्रोलोल सक्सिनेट (Metoprolol Succinate) आदि।

और पढ़ें: एथेरोस्क्लेरोसिस रिवर्सल : क्या मुमकिन है इस बीमारी को ठीक करना?

एंजियोटेंसिन कंवर्टिंग एंजाइम इन्हिबिटर्स (Angiotensin converting enzyme inhibitors)

एंजियोटेंसिन शरीर में मौजूद वो हॉर्मोन है जो ब्लड वेसल्स को तंग करता है। एंजियोटेंसिन कंवर्टिंग एंजाइम इन्हिबिटर्स (Angiotensin converting enzyme inhibitors) शरीर में एंजियोटेंसिन के उत्पादन को कम करता है, जिससे ब्लड प्रेशर कम होने में मदद मिलती है। एथेरोस्क्लेरोसिस और ब्लड प्रेशर मेडिकेशंस (Atherosclerosis and Blood pressure medications) में इस ड्रग के उदाहरण इस प्रकार हैं:

एनेलाप्रिल (Enalapril)

एनेलाप्रिल (Enalapril) को ब्रांड नेम्स एपेनेड (Epaned) और वेसोटेक (Vasotec) से भी जाना जाता है। इन दवाईयों की मदद से शरीर में एंजियोटेंसिन की मात्रा कम की जा सकती है जिससे ब्लड प्रेशर कम होने में मदद मिलती है। लेकिन, इस दवाई को लेने के कई साइड इफेक्ट्स भी हो सकते हैं जैसे चक्कर आना, पीलिया, ब्लीडिंग, हार्टबीट का कम होना आदि। इन ड्रग्स को तभी लें अगर डॉक्टर ने इसे लेने के लिए कहा हो। यह दवा आपको लगभग 1500 रुपए में मिलेगी।

काप्टोप्रिल (captopril)

काप्टोप्रिल का ब्रांड नेम कैपोटेन (Capoten) है। यह दवा भी हाय ब्लड प्रेशर को कम करने में सहायक होती हैं। जिससे हार्ट फेलियर (Heart Failure) और स्ट्रोक (Stroke) जैसी समस्याओं से भी बचाव हो सकता है। इस दवा को केवल तभी लें अगर डॉक्टर ने लेने के की सलाह दी हो। इसके साइड इफेक्ट्स में रैशेज, पेट में दर्द, कब्ज, उल्टी आना आदि शामिल हैं। यह ड्रग ऑनलाइन 171 रुपए में उपलब्ध है।

एंजियोटेंसिन कंवर्टिंग एंजाइम इन्हिबिटर्स (Angiotensin-converting enzyme inhibitors) में लिसिनोप्रिल (Lisinopril), रैमीप्रील (Ramipril), ट्रांडोलप्रिल (Trandolapril) आदि भी शामिल हैं। रोगी की स्थिति के अनुसार डॉक्टर उन्हें उपयुक्त दवाई की सलाह देंगे।

एथेरोस्क्लेरोसिस और ब्लड प्रेशर मेडिकेशंस

और पढ़ें: हायपरटेंशन में इस तरह से करें बीटा ब्लॉकर्स (Beta Blockers) का इस्तेमाल!

कैल्शियम चैनल ब्लॉकर्स (Calcium channel blockers)

एथेरोस्क्लेरोसिस और ब्लड प्रेशर मेडिकेशंस (Atherosclerosis and Blood pressure medications) में अगली है ड्रग कैल्शियम चैनल ब्लॉकर्स। कैल्शियम हार्ट और ब्लड वेसल्स में कॉन्ट्रैक्शंस की स्ट्रेंथ और फाॅर्स को बढ़ाता है। स्मूथ मसल टिश्यू में इसकी एंट्री को ब्लॉक करने से यह प्रभाव कम हो जाता है। कैल्शियम चैनल ब्लॉकर्स ब्लड वेसल्स को रिलैक्स करते हैं तो हार्ट रेट को रिड्यूस करते हैं। इसके उदाहरण इस प्रकार हैं:

एम्लोडिपाइन (Amlodipine)

एम्लोडिपाइन (Amlodipine) को ब्रांड नेम नोरवेस्क (Norvasc) से भी जाना जाता है। यह दवाई ब्लड वेसल्स को रिलैक्स करती है। इससे ब्लड फ्लो सही से होता है। इस दवाई को लेने से एड़ियों में सूजन, सिरदर्द, जी मचलना जैसी समस्याएं हो सकती हैं। इसलिए, इसे आप डॉक्टर के बताए अनुसार ही लें। इसकी कीमत की जानकारी ऑनलाइन नहीं दी गयी है।

निफेडिपाइन (Nifedipine)

निफेडिपाइन (Nifedipine) को ब्रांड नेम कार्डिन SR (Cardene SR) से भी जाना जाता है। एथेरोस्क्लेरोसिस और ब्लड प्रेशर मेडिकेशंस (Atherosclerosis and Blood pressure medications) में इसका इस्तेमाल भी किया जा सकता है। इससे ब्लड प्रेशर कम होने में मदद मिलती है जिससे कई गंभीर हार्ट डिजीज से बचा जा सकता है। लेकिन, डॉक्टर की राय के बाद ही इसे लें। इसकी 10 टेबलेट्स की कीमत लगभग 7 रुपए है।

यह तो थी एथेरोस्क्लेरोसिस और ब्लड प्रेशर मेडिकेशंस (Atherosclerosis and Blood pressure medications) में कैल्शियम चैनल ब्लॉकर्स के बारे में जानकारी। इसके अलावा इन समस्याओं के उपचार में वेरापमिल (Verapamil), डिल्टियाजेम (Diltazem) आदि जैसे कैल्शियम चैनल ब्लॉकर्स का इस्तेमाल भी किया जा सकता है।

और पढ़ें: ये लक्षण आपमें हो सकते हैं मैलिग्नेंट हायपरटेंशन के, संकट से बचने के लिए इसे न करें अनदेखा…

एंजियोटेंसिन रिसेप्टर ब्लॉकर्स (Angiotensin receptor blockers)

एंजियोटेंसिन हॉर्मोन्स ब्लड वेसल्स को तंग करते हैं, जिससे ब्लड फ्लो होने में मदद मिलती है। एंजियोटेंसिन रिसेप्टर ब्लॉकर्स शरीर में एंजियोटेंसिन के उत्पादन को रोकती हैं। इससे ब्लड प्रेशर को लो होने में मदद मिलती है। इसके उदाहरण इस प्रकार हैं:

एजिल्सर्टन (Azilsartan)

एजिल्सर्टन (Azilsartan) को इसके ब्रांड नेम एडारबी (Edarbi) से भी जाना जाता है। ब्लड वेसल को रिलैक्स करने और ब्लड फ्लो को सही रखने के लिए इस दवा का प्रयोग किया जाता है। इससे ब्लड प्रेशर को लो होने में भी मदद मिलती है। इस दवा की 14 टेबलेट्स लगभग 100 रुपये की है। लेकिन, इसे लेने के बाद आप कुछ साइड इफेक्ट्स का अनुभव भी कर सकता है जैसे चक्कर आना,कमजोरी, चेस्ट पैन, सिरदर्द आदि। इसलिए, इसे केवल तभी लें जब डॉक्टर ने लेने को कहा हो।

कैंडेसार्टन (Candesartan)

कैंडेसार्टन (Candesartan) का ब्रांड नेम है एटाकेंट (Atacand)। इसका प्रयोग हाय ब्लड प्रेशर और अन्य कई हार्ट डिजीज (Heart Disease) के उपचार के लिए किया जाता है। ब्लड प्रेशर के कम होने से स्ट्रोक (Stroke) और हार्ट अटैक (Heart Attack) का जोखिम कम हो जाता है। कैंडेसार्टन(Candesartan) 14 टेबलेट्स ऑनलाइन लगभग 100 रुपये में उपलब्ध हैं।

एथेरोस्क्लेरोसिस और ब्लड प्रेशर मेडिकेशंस (Atherosclerosis and Blood pressure medications) में एंजियोटेंसिन रिसेप्टर ब्लॉकर्स (Angiotensin receptor blockers) में अन्य ड्रग्स को भी शामिल किया जा सकता है। जैसे एप्रोसार्टन (Eprosartan), इर्बेसार्टन (Irbesartan), लोसार्टन (Losartan), वैलसार्टन (Valsartan), ओल्मेसार्टन (Olmesartan) आदि।

और पढ़ें: Alpha-beta blockers: जानिए हायपरटेंशन में अल्फा-बीटा ब्लॉकर्स के फायदे और नुकसान

एथेरोस्क्लेरोसिस और ब्लड प्रेशर मेडिकेशंस में अल्फा ब्लॉकर्स (Alpha blockers)

एथेरोस्क्लेरोसिस और ब्लड प्रेशर मेडिकेशंस (Atherosclerosis and Blood pressure medications) में अगली ड्रग है अल्फा ब्लॉकर्स। यह दवाईयां ब्लड वेसल्स को डायलेट करती हैं जिससे ब्लड प्रेशर लो होता है। इन दवाईयों का प्रयोग हार्ट डिजीज के साथ ही अन्य कई समस्याओं के उपचार में भी किया जाता है। इसके उदाहरण इस प्रकार हैं:

डॉक्साजोसिन (Doxazosin)

डॉक्साजोसिन (Doxazosin) के कई ब्रांड में हैं जैसे कार्डरा (Cardura), डोक्सडोरा (Doxadura), कैस्कर (Cascor), कार्डुरन (Carduran) आदि। इनका प्रयोग हाय ब्लड प्रेशर को कम करने के लिए किया जाता है। इसके अलावा कई अन्य समस्याओं के उपचार के लिए इस दवा का प्रयोग किया जाता है। एथेरोस्क्लेरोसिस और ब्लड प्रेशर मेडिकेशंस (Atherosclerosis and Blood pressure medications) में कुछ अन्य अल्फा ब्लॉकर्स (Alpha blockers) की सलाह भी डॉक्टर दे सकते हैं जैसे प्राजोसिन (Prazosin) और टेराजोसिन (Terazosin)। लेकिन, इनका सेवन तभी करें जब डॉक्टर ने इन्हें आपको लेने को कहा हो। क्योंकि, इन्हें अपनी मर्जी से लेना हानिकारक हो सकता है।

हाय ब्लड प्रेशर से जुड़ी महत्वपूर्ण जानकारी के लिए नीचे दी इस क्विज को खेलिए।

(function() { var qs,js,q,s,d=document, gi=d.getElementById, ce=d.createElement, gt=d.getElementsByTagName, id=”typef_orm”, b=”https://embed.typeform.com/”; if(!gi.call(d,id)) { js=ce.call(d,”script”); js.id=id; js.src=b+”embed.js”; q=gt.call(d,”script”)[0]; q.parentNode.insertBefore(js,q) } })()

powered by Typeform

और पढ़ें: हायपरटेंशन में ARBs को लेने से इस तरह से दिखाई पड़ता है असर!

यह तो थी एथेरोस्क्लेरोसिस और ब्लड प्रेशर मेडिकेशंस (Atherosclerosis and Blood pressure medications) के बारे में जानकारी। इन कंडिशंस में डॉक्टर आपको कुछ अन्य दवाईयों की सलाह भी दे सकते हैं। यह दवाईयां रोगी की स्थिति, बीमारी आदि पर निर्भर करती हैं। इन दवाईयों को कब और कितनी मात्रा में लेना है, इसके बारे में भी आपको अपने डॉक्टर से जान लेना चाहिए। डॉक्टर की राय, नियमित चेकअप और सही उपचार से आपको जल्दी रिकवर होने और एक क्वालिटी लाइफ जीने में मदद मिलेगी। प्रेग्नेंसी में हाय ब्लड प्रेशर के शुरुआती उपचार के लिए तीन सबसे सामान्य दवाईयों की सलाह दी जा सकती है जैसे लैबेटालॉल (Labetalol),निफेडिपाइन (Nifedipine) और मिथैलडोपा (Methyldopa)। कुछ हायपरटेंशन की दवाईयों को इस स्थिति में न लेने के लिए कहा जाता है। गर्भावस्था में हाय ब्लड प्रेशर की स्थिति में आपको कौन सी ड्रग लेनी चाहिए ,इसके बारे में डॉक्टर की सलाह लेना जरूरी है।

उम्मीद करते हैं कि आपको एथेरोस्क्लेरोसिस और ब्लड प्रेशर मेडिकेशंस (Atherosclerosis and Blood pressure medications) से संबंधित जरूरी जानकारियां मिल गई होंगी। अधिक जानकारी के लिए एक्सपर्ट से सलाह जरूर लें। अगर आपके मन में अन्य कोई सवाल हैं तो आप हमारे फेसबुक पेज पर पूछ सकते हैं। हम आपके सभी सवालों के जवाब आपको कमेंट बॉक्स में देने की पूरी कोशिश करेंगे। अपने करीबियों को इस जानकारी से अवगत कराने के लिए आप ये आर्टिकल जरूर शेयर करें।

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र

Hypertension, Antihypertensive Drugs and Atherosclerosis.https://www.ahajournals.org/doi/pdf/10.1161/01.CIR.48.5.1112.Accessed on 14/8/21

Hypertension and atherosclerosis: effects of antihypertensive drugs on arterial flow patterns. https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/2481160/ .Accessed on 14/8/21

Arteriosclerosis / atherosclerosis. https://www.mayoclinic.org/diseases-conditions/arteriosclerosis-atherosclerosis/diagnosis-treatment/drc-20350575 .Accessed on 14/8/21

Atherosclerosis and Blood pressure medications.https://care.diabetesjournals.org/content/40/9/1273 .Accessed on 14/8/21

Atherosclerosis. https://medlineplus.gov/atherosclerosis.html .Accessed on 14/8/21

Coronary Artery disease/ https://www.cdc.gov/heartdisease/coronary_ad.htm/ Accessed on 22nd September 2021

लेखक की तस्वीर badge
AnuSharma द्वारा लिखित आखिरी अपडेट कुछ घंटे पहले को
Sayali Chaudhari के द्वारा मेडिकली रिव्यूड
x