home

आपकी क्या चिंताएं हैं?

close
गलत
समझना मुश्किल है
अन्य

लिंक कॉपी करें

प्रेग्नेंसी में अल्सरेटिव कोलाइटिस के लिए मेडिकेशन्स: जानिए क्या हैं इनके फायदे और नुकसान?

प्रेग्नेंसी में अल्सरेटिव कोलाइटिस के लिए मेडिकेशन्स: जानिए क्या हैं इनके फायदे और नुकसान?

प्रेग्नेंसी में अल्सरेटिव कोलाइटिस की समस्या परेशानीभरी हो सकती है। हालांकि, यह जरुरी नहीं है कि इस कंडिशंस से प्रेग्नेंसी प्रभावित हो। अल्सरेटिव कोलाइटिस से पीड़ित महिलाओं की हेल्दी और सुरक्षित प्रेग्नेंसी हो सकती है। हालांकि, इससे कुछ जटिलताओं की संभावनाएं बढ़ जाती हैं जैसे प्रेग्नेंसी लॉस, प्रीमैच्योर बर्थ और डिलीवरी कॉम्प्लीकेशन्स आदि। इस समस्या के निदान के लिए कुछ दवाईयों की सलाह दी जाती हैं। आज हम प्रेग्नेंसी में अल्सरेटिव कोलाइटिस के लिए मेडिकेशन्स (Medication for ulcerative colitis during pregnancy) कौन सी हैं, इसी के बारे में बात करने वाले हैं। जानिए, प्रेग्नेंसी में अल्सरेटिव कोलाइटिस के लिए मेडिकेशन्स (Medication for ulcerative colitis during pregnancy) के फायदे और नुकसान के बारे में? सबसे पहले जानते हैं कि अल्सरेटिव कोलाइटिस क्या है?

अल्सरेटिव कोलाइटिस क्या है? (Ulcerative colitis)

प्रेग्नेंसी में अल्सरेटिव कोलाइटिस के लिए मेडिकेशन्स (Medication for ulcerative colitis during pregnancy) से पहले यह जानना बेहद जरूरी है कि अल्सरेटिव कोलाइटिस क्या है? यह एक इंफ्लेमेटरी बॉवेल डिजीज (inflammatory bowel disease) है, जो डायजेस्टिव ट्रैक्ट में सूजन और अल्सर का कारण बन सकती है। इस समस्या के कारण लार्ज इंटेस्टाइन और रेक्टम की सबसे अंदरूनी लायनिंग प्रभावित होती हैं। इसके लक्षण समय के साथ विकसित होते हैं। यह बीमारी कमजोर करने वाली हो सकती है और कभी-कभी यह जानलेवा भी हो सकती है।

मेडलाइनप्लस (MedlinePlus) के अनुसार यह समस्या किसी भी उम्र में हो सकती है। लेकिन, इसकी शुरुआत पंद्रह और तीस साल की उम्र के बीच में होती है। हालांकि, इसका कोई इलाज नहीं लेकिन उपचार से इसके लक्षणों से छुटकारा पाया जा सकता है। अब जानिए क्या हैं इसके लक्षण?

और पढ़ें: Ulcerative Colitis: अल्सरेटिव कोलाइटिस क्या है?

अल्सरेटिव कोलाइटिस के लक्षण (Symptoms of Ulcerative colitis)

अल्सरेटिव कोलाइटिस (Ulcerative colitis) के लक्षण हर व्यक्ति में अलग हो सकते हैं और यह लक्षण इंफ्लेमेशन की गंभीरता और यह समस्या कहां है, इस पर निर्भर करते हैं। इसके लक्षण इस प्रकार हैं:

  • डायरिया जो अक्सर खून और पस के साथ होता है (Diarrhea)
  • पेट में दर्द और क्रैम्पिंग (Abdominal pain and cramping)
  • रेक्टल पैन (Rectal pain)
  • रेक्टल ब्लीडिंग (Rectal bleeding)
  • अत्यधिक इच्छा के बावजूद शौच करने में असमर्थता (Inability to defecate despite urgency)
  • वेट लॉस (Weight loss)
  • थकावट (Fatigue)
  • बुखार (Fever)
  • बच्चों में ग्रोथ सही से न होना (Failure to grow)

अल्सरेटिव कोलाइटिस (Ulcerative colitis) से पीड़ित अधिकतर लोगों में माइल्ड से लेकर मॉडरेट लक्षण हो सकते हैं। प्रेग्नेंसी में अल्सरेटिव कोलाइटिस के लिए मेडिकेशन्स (Medication for ulcerative colitis during pregnancy) की सलाह दी जा सकती है। लेकिन, इससे पहले यह जानना जरूरी है कि अल्सरेटिव कोलाइटिस का प्रेग्नेंसी पर क्या प्रभाव पड़ता है? जानिए इसके बारे में विस्तार से।

और पढ़ें: अल्सरेटिव कोलाइटिस रोगी के डाइट प्लान में क्या बदलाव करने चाहिए?

अल्सरेटिव कोलाइटिस का प्रेग्नेंसी पर क्या प्रभाव पड़ता है? (Ulcerative colitis during pregnancy)

अल्सरेटिव कोलाइटिस के कारण गर्भावस्था में कई कॉम्प्लीकेशन्स हो सकती हैं। अल्सरेटिव कोलाइटिस (Ulcerative colitis) से पीड़ित महिला को यह परेशानियां होने का जोखिम अधिक रहता है, जैसे

यही नहीं, प्रेग्नेंसी का भी अल्सरेटिव कोलाइटिस (Ulcerative colitis) पर असर हो सकता है। इसके बारे में अधिक जानकारी के लिए अपने डॉक्टर से संपर्क करना न भूलें। अब जानते हैं प्रेग्नेंसी में अल्सरेटिव कोलाइटिस के लिए मेडिकेशन्स (Medication for ulcerative colitis during pregnancy) के बारे में।

और पढ़ें: क्या अल्सरेटिव कोलाइटिस पैदा कर सकता है प्रेग्नेंसी के दौरान कॉम्प्लीकेशंस?

प्रेग्नेंसी में अल्सरेटिव कोलाइटिस के लिए मेडिकेशन्स (Medications for ulcerative colitis during pregnancy)

प्रेग्नेंसी में अल्सरेटिव कोलाइटिस (Ulcerative colitis in Pregnancy) के उपचार में ड्रग थेरेपी और सर्जरी शामिल होती है। इस समस्या के उपचार के लिए कई दवाईयों को प्रभावी माना जाता है। लेकिन, इनमें से कुछ लोगों को किन्हीं दवाईयों के कारण कुछ साइड इफेक्ट्स भी हो सकते हैं। ऐसे में आपको इनके बेनिफिट्स और रिस्क्स के बारे में जानकारी होनी चाहिए। जानिए प्रेग्नेंसी में अल्सरेटिव कोलाइटिस के लिए मेडिकेशन्स (Medication for ulcerative colitis during pregnancy) के बारे में।

एल्युमिनियम हायड्रोक्साइडऔर मैग्नीशियम हायड्रोक्साइड ड्रग (Aluminum Hydroxide and Magnesium Hydroxide Drug)

प्रेग्नेंसी में अल्सरेटिव कोलाइटिस के लिए मेडिकेशन्स (Medication for ulcerative colitis during pregnancy) में सबसे पहले नाम आता है एल्युमिनियम हायड्रोक्साइडऔर मैग्नीशियम हायड्रोक्साइड ड्रग्स का। इस ड्रग के कॉम्बिनेशन को ब्रांड नेम अलुड्रोक्स (Aludrox), डिज़िकम (Dizicum) आदि से भी जाना जाता है। यह कॉम्बिनेशन मेडिसिन में एंटासिड्स (Antacids) होते हैं, जिनका अल्सर, हार्टबर्न्स, एसिड इंडाइजेशन और पेट में परेशानियों से बचाव के लिए प्रयोग किया जाता है। यह दवाई पेट में एसिड्स को न्यूट्रलाइज करती है।

इसकी डोज रोगी की स्थिति पर निर्भर करती है। लेकिन, प्रेग्नेंसी और कई अन्य कंडिशंस में इस दवाई को लेते हुए खास सावधानियों को बरतना चाहिए। इसके साथ ही इसे डॉक्टर की सलाह के बिना न लें। इन दवाईयों को लेने के बाद कई लोग डायरिया, अपच, कब्ज, मसल्स वीकनेस और असामान्य थकावट की समस्या हो सकती है। 840 mg की यह टेबल्स ऑनलाइन लगभग 12 रुपये में उपलब्ध हैं।

प्रेग्नेंसी में अल्सरेटिव कोलाइटिस के लिए मेडिकेशन्स

और पढ़ें: हेल्थ इश्यू के साथ प्रेग्नेंसी को कैसे किया मैनेज, शेयर किया आंचल ने अपना अनुभव हमारे साथ

बाल्साजाइड (Balsalazide)

बाल्साजाइड के कई ब्रैंड नेम है जैसे कोलाज़ल (Colazal), Giazo (जियज़ो) आदि। प्रेग्नेंसी में अल्सरेटिव कोलाइटिस के लिए मेडिकेशन्स (Medication for ulcerative colitis during pregnancy) में इस ड्रग को भी प्रभावी माना जाता है। इसके कोलाज़ल (Colazal) ब्रैंड का प्रयोग माइल्ड से मॉडरेट अल्सरेटिव कोलाइटिस (Ulcerative colitis) की स्थिति पांच साल से अधिक उम्र के बच्चों और वयस्कों के लिए किया जाता है। जबकि, Giazo (जियज़ो) ब्रैंड नेम की बाल्साजाइड (Balsalazide) का प्रयोग वयस्क पुरुषों में माइल्ड से मॉडरेट एक्टिव अल्सरेटिव कोलाइटिस के उपचार के लिए किया जाता है।

इस दवा को लेने से पहले डॉक्टर की सलाह अवश्य लें, क्योंकिं गर्भावस्था में किसी भी दवा को लेने का असर शिशु पर भी होता है। इसके साथ ही इस दवा के बारे में डॉक्टर से अवश्य जान लें। क्योंकि, इसे लेने के बाद आप कुछ साइड-इफेक्ट्स का अनुभव भी कर सकते हैं जैसे सांस लेने में समस्या, मूत्र त्याग में समस्या, जोड़ों में दर्द, बुखार, सर्दी-जुकाम आदि। कोलाज़ल (Colazal) की 750mg की दस टेबलेट्स आपको ऑनलाइन लगभग 90 रुपये में मिल जाएंगी।

और पढ़ें: प्रेग्नेंसी में कब्ज की दवा खानी है, तो रखें सावधानियां, बिना परामर्श के न करें सेवन!

सिमिटिडीन (Cimetidine)

सायमेटिडीन (Cimetidine) के ब्रैंड नेम हैं टैगामेट HB (Tagamet HB) और टैगामेट (Tagamet)। सायमेटिडीन (Cimetidine) एक स्टमक एसिड रिड्यूसर (Stomach acid reducer) हैं, जिसका प्रयोग खास तरह के स्टमक अल्सर के उपचार और उससे बचाव के लिए किया जाता है। प्रेग्नेंसी में अल्सरेटिव कोलाइटिस के लिए मेडिकेशन्स (Medication for ulcerative colitis during pregnancy) में से एक दवा को गैस्ट्रोइसोफेगल रिफ्लक्स डिजीज (Gastroesophageal reflux disease) के उपचार के लिए भी इस्तेमाल किया जा सकता है। इस दवा का ओवर-द-काउंटर भी इस्तेमाल किया जा सकता है लेकिन प्रेग्नेंसी में डॉक्टर की सलाह के बिना किसी भी मेडिसिन को न लें।

अगर आप किसी अन्य दवा को ले रहे हैं या आपको कोई अन्य समस्या है तो उस स्थिति में भी इस मेडिसिन को लेने से पहले डॉक्टर की राय जरूरी है। इस दवा को लेने के बाद आपको कुछ साइड इफेक्ट्स भी हो सकते हैं जैसे कुछ एलर्जिक रिएक्शंस जैसे सांस लेने में समस्या, चेहरे या गले में सूजन आदि। लेकिन, इस दवा को लेने के बाद आपको निगलने में परेशानी, ब्लड स्टूल, मूड में बदलाव आदि समस्याएं हो तो तुरंत मेडिकल हेल्प लें। 200 mg की दस टेबलेट्स की कीमत केवल 10 रुपये है।

और पढ़ें: प्रेग्नेंसी में हार्ट प्रॉब्लम होने पर, हेल्दी डिलीवरी के लिए रखें इन बातों का ध्यान!

प्रेग्नेंसी में अल्सरेटिव कोलाइटिस के लिए मेडिकेशन्स में फमोटीडीन (Famotidine)

यह दवा पेप्सिड (Pepcid), ज़ैंटैक 360 (Zantac 360) आदि ब्रैंड नेम्स से बाजार में मौजूद है। फमोटीडीन (Famotidine) एक हिस्टामिन-2 ब्लॉकर (Histamin-2 Blocker) है, जो पेट में बनने वाले एसिड की मात्रा को कम करने का काम करती है। इसका प्रयोग कई अन्य बीमारियों के उपचार के लिए भी किया जा सकता है जैसे पेट या इंटेस्टाइन में अल्सर, गैस्ट्रोइसोफेगल रिफ्लक्स डिजीज और अल्सरेटिव कोलाइटिस (Ulcerative colitis) आदि। अगर आपको कोई भी लिवर या किडनी की समस्या है तो इस दवा को लेने से पहले डॉक्टर को अवश्य बताएं। अगर आपको किसी भी तरह की एलर्जी है, तो भी इस दवा को लेने से पहले डॉक्टर की सलाह अवश्य लें।

अन्य दवाईयों के साथ इसका सेवन करना भी कई समस्याओं की वजह बन सकता है। इसलिए, प्रेग्नेंसी में अल्सरेटिव कोलाइटिस के लिए मेडिकेशन्स (Medication for ulcerative colitis during pregnancy) में इस ड्रग को लेने से पहले डॉक्टर को इस बारे में अवश्य बताएं। ऑनलाइन इसकी15 टेबलेट्स की कीमत लगभग छे रूपये है।

और पढ़ें: सावधान! गर्भावस्था में है थैलेसिमिया, तो लापरवाही आपको पड़ सकती है भारी!

प्रेग्नेंसी में अल्सरेटिव कोलाइटिस के लिए मेडिकेशन्स में मेसालेमिन (Mesalamine)

प्रेग्नेंसी में अल्सरेटिव कोलाइटिस के लिए मेडिकेशन्स (Medication for ulcerative colitis during pregnancy) में अगली मेडिसिन है मिसालामिन (Mesalamine)। इसका प्रयोग माइल्ड से मॉडरेट अल्सरेटिव कोलाइटिस (Ulcerative colitis) के उपचार में किया जाता है। इसके साथ ही इस दवा का प्रयोग करने से इस समस्या के लक्षण फिर से नजर न आने में भी मदद मिलती है। मिसालामिन (Mesalamine) का ब्रैंड नेम्स हैं अप्रिसो (Apriso), एसाकोल एचडी (Asacol HD), डेलज़िकोल (Delzicol)आदि। इस दवा के कुछ ब्रैंड्स का प्रयोग केवल युवाओं में ही किया जाता है और कुछ का इस्तेमाल उन बच्चों में किया जाता है जिनकी उम्र कम से कम पांच साल हो। किन्हीं स्थितियों में डॉक्टर आपको इस दवा को न लेने की सलाह देते हैं जैसे किडनी स्टोन या किडनी डिजीज, लिवर संबंधी समस्याएं, स्किन कंडिशंस या पेट में ब्लॉकेज आदि। ऑनलाइन यह दवाई आपको लगभग 220 रुपये में मिल जाएंगी।

Quiz: प्रेग्नेंसी के बारे में कितना जानते हैं आप?

(function() { var qs,js,q,s,d=document, gi=d.getElementById, ce=d.createElement, gt=d.getElementsByTagName, id="typef_orm", b="https://embed.typeform.com/"; if(!gi.call(d,id)) { js=ce.call(d,"script"); js.id=id; js.src=b+"embed.js"; q=gt.call(d,"script")[0]; q.parentNode.insertBefore(js,q) } })()
powered by Typeform

और पढ़ें: गर्भावस्था के लिए आवश्यक हैं गोनाडोट्रॉपिन्स, जानिए इनके प्रकार के बारे में

यह तो थी प्रेग्नेंसी में अल्सरेटिव कोलाइटिस के लिए मेडिकेशन्स (Medication for ulcerative colitis during pregnancy) के बारे में जानकारी। जैसा की पहले ही बताया गया है कि गर्भावस्था में अल्सरेटिव कोलाइटिस के कारण कई समस्याएं हो सकती हैं। ऐसे में, इस स्थिति में डॉक्टर की सलाह का पालन करना बेहद जरूरी है। प्रेग्नेंसी में बिना डॉक्टर की सलाह के इस या किसी भी अन्य दवा का सेवन करना हानिकारक हो सकता है। इसलिए, अपनी मर्जी से कोई भी दवा लेने से बचें। यही नहीं, यह दवाईयां केवल आपके उपचार का हिस्सा हैं। इसके साथ ही हेल्दी हैबिट्स का पालन करना भी बेहद जरूरी है जैसे सही आहार का सेवन, नियमित व्यायाम, वजन को संतुलित रखना, तनाव से बचाव आदि।

आप हमारे फेसबुक पेज पर भी अपने सवालों को पूछ सकते हैं। हम आपके सभी सवालों के जवाब आपको कमेंट बॉक्स में देने की पूरी कोशिश करेंगे। अपने करीबियों को इस जानकारी से अवगत कराने के लिए आप ये आर्टिकल जरूर शेयर करें।

health-tool-icon

ड्यू डेट कैलक्युलेटर

अपनी नियत तारीख का पता लगाने के लिए इस कैलक्युलेटर का उपयोग करें। यह सिर्फ एक अनुमान है - इसकी गैरेंटी नहीं है! अधिकांश महिलाएं, लेकिन सभी नहीं, इस तिथि सीमा से पहले या बाद में एक सप्ताह के भीतर अपने शिशुओं को डिलीवर करेंगी।

सायकल लेंथ

28 दिन

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र

Pregnancy and Inflammatory Bowel Disease. https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC4836574/

.Accessed on 25/10/21

My Treatment Approach to Management of थे Pregnant Patient With Inflammatory Bowel Disease. https://www.mayoclinicproceedings.org/article/S0025-6196(13)01041-0/pdf

.Accessed on 25/10/21

Inflammatory Bowel Disease in Pregnancy Clinical Care Pathway.https://www.gastrojournal.org/article/S0016-5085(18)35437-4/pdf

.Accessed on 25/10/21

Ulcerative Colitis. https://my.clevelandclinic.org/health/diseases/10351-ulcerative-colitis

.Accessed on 25/10/21

Ulcerative Colitis. https://www.niddk.nih.gov/health-information/digestive-diseases/ulcerative-colitis

.Accessed on 25/10/21

लेखक की तस्वीर badge
Sayali Chaudhari द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 25/10/2021 को