बच्चों में पोषण की कमी के इन संकेतों को न करें अनदेखा

चिकित्सक द्वारा समीक्षित | द्वारा

अपडेट डेट जनवरी 9, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें
अब शेयर करें

जब कोई बच्चा पोषण संबंधी कमियों से पीड़ित होता है, तो वह कुपोषण का शिकार होने लगते हैं। बच्चों के शरीरिक और अच्छे मानसिक विकास में उनके खानपान की महत्वपूर्ण भूमिका है। अगर उसमें किसी प्रकार की कमी हो जाती है तो बच्चे के विकास में भी फर्क पड़ना शुरू हो जाता है। इस बारे में डॉ श्रीनिवास (चिकित्सा पदाधिकारी, स्वास्थ्य विभाग, बिहार सरकार) ने हैलो स्वास्थ्य को बताया  कि 12 वर्ष की  उम्र वाले बच्चे का भोजन एक युवक के बराबर होता है और 14 से 18 साल की लड़की के लिए 2,800 – 3,000 कैलोरी का आहार पोषण के लिए ठीक माना जाता है। इसी अवस्था के बालक के पोषण के लिये 3,000 – 3,400 कैलोरी का आहार मिलना चाहिए। यदि उनमें पोषण की कमी होती है तो कई लक्षण दिखाई देने लगते हैं, जैसे कि-

प्रतिदिन के आहार में भिन्न पोषण तत्वों का अनुपात, जो बचाएगा पोषण संबंधी कमियों से

बच्चों में पोषण की कमी से होने वाली समस्याएं :

बच्चों में पोषण की कमी के कारण अवसाद और घबराहट (Depression and anxiety)

अवसाद और घबराहट मानसिक स्थितियां हैं। लेकिन, आश्चर्य की बात यह है कि इनसे जुड़ी अधिकांश मामलों में इन समस्याओं की वजह शिशु में पोषक तत्वों की कमी (nutritional deficiencies) होती है। जब बच्चों को पोषण तत्वों की पर्याप्त मात्रा नहीं मिल पाती है तो उसे घबराहट और बेचैनी महसूस होने लगती है। जिसके कारण उनमें चिड़चिड़ापन आ जाता है।

यह भी पढ़ें: बच्चों के मानसिक तनाव को दूर करने के 5 उपाय

हाइपरएक्टिविटी (Hyperactivity) भी बच्चे में पोषण की कमी का संकेत

बहुत से बच्चे कभी शांत और आराम से नहीं बैठते हैं। उनका मस्तिष्क बहुत ज्यादा एक्टिव होता है। आपने भी देखा होगा कि इस तरह के बच्चे हर समय दौड़ते और कूदते हुए रहते हैं। हालांकि यह स्थिति बहुत हद तक आनुवंशिकी होता है  लेकिन, कई बच्चे कई एक्टिव नहीं होते हैं क्योंकि वो अंदर से कमजोर होते हैं। इसलिए उनके भोजन में पोषक तत्वों को शामिल करना चाहिए, जैसे फल, दूध और हरी सब्जियां आदि।

 बोलने में देरी की समस्या (Delay in speech)

बच्चों में देर से बोलने की समस्या की मुख्य वजह है विटामिन बी-12 की कमी। इसलिए उन्हें विटामिन बी-12की कमी को पूरा करने के लिए सप्लिमेंट देना उचित नहीं है। बेहतर यह कि हम शिशु के आहार में ऐसे चीजों को शामिल करें जिन में प्रचुर विटामिन बी-12 में पाया जाता है। B12 वाले अहारों में अंडा, मीट, मछली, दूध और दूध से बने उत्पाद जैसे कि पनीर, छास, दही, इत्यादि है।

यह भी पढ़ें: बच्चे के लिए दूध और दलिया की हेल्दी रेसिपी आईडिया

बच्चों में पोषण की कमी के कारण होता है मोटापा (Obesity and excessive weight problem)

क्या आप यह सोचते हैं कि, पोषक तत्वों की कमी से केवल कुपोषण होता है, जिसमें बच्चे दुबले पतले होते हैं, तो गलत है। आपको यह बात  दें कि पोषण की कमी से मोटापा और अत्यधिक वजन की समस्या भी हो सकती है। दरअसल मोटापा और अत्यधिक वजन की समस्या कुपोषण से ही संबंधित है।

यह भी पढ़ें: क्या हार्मोन डायट से कम हो सकता है मोटापा?

बच्चों में पोषण की कमी से रूखी त्वचा

रूखी त्वचा और बालों की एक वजह यह भी है कि शिशु के शरीर में वसा विलय विटामिन (fat soluble vitamins) की कमी हो रही है उदाहरण के लिए  विटामिन ए, डी, ई और के-2 इत्यादि।

यह भी पढ़ें: हेल्दी बालों के लिए इस्तेमाल करें होम मेड हेयर कंडीशनर

बच्चों में पोषण की कमी के कारण टेढ़े दांत (Crowding of Teeth)

अटपटा जरूर लगे आपको पर  लेकिन, सच बात है कि अगर शिशु अत्यधिक घने दांतों (Crowding of Teeth) की समस्या से पीड़ित है तो हो सकता है उसके अंदर कुछ पोषक तत्वों की कमी (nutritional deficiencies) है।

दांतो का खराब होना (Tooth decay) भी है बच्चों में पोषण की कमी का संकेत

दांतो की सड़न और कैविटी की मुख्य वजह है अत्यधिक मात्रा में चीनी का सेवन, बच्चों का दिन भर चॉकलेट खाना, और दांतो को साफ न रखना। लेकिन, क्या आप यह भी जानते हैं कि बच्चों के दांतो की सड़न और कैविटीज का कारण बच्चों में पोषक तत्वों की कमी होने पर भी हो सकती है।

यह भी पढ़ें: चाइनीज जेल (Gel) से होगा कैविटीज का चुटकियों में इलाज

बच्चों में पोषण की कमी के कारण सर्दी-जुकाम का बार-बार होना (Recurrent cold)

आप यकिन नहीं करेंगे लेकिन, मेरे बचपन में यह मेरी सबसे बड़ी समस्या थी। क्या आप किसी बच्चे को जानते हैं जो हमेशा सर्दी या जुकाम की समस्या से पीड़ित रहता है? अगर हां,  तो उसके आहार से वे पोषक तत्व नहीं मिल पा रहे हैं, जो शरीर को स्वस्थ्य रखने के लिए जरूरी हैं।

यह भी पढ़ें: सर्दियों में बच्चे का कैसे रखें ध्यान?

बच्चों में पोषण की कमी के कारण जिद्दी स्वभाव

यह भी पढ़ें : जानें प्री-टीन्स में होने वाले मूड स्विंग्स को कैसे हैंडल करें

शिशु रोग विशेषज्ञों के अनुसार स्वस्थ वसा और ओमेगा 3 शिशु को अच्छे स्वभाव में रखने में मदद करते हैं। अगर शिशु के शरीर को इसकी पर्याप्त मात्रा मिले तो शिशु का मूड बेहतर रहता है।

बच्चों में पोषण की कमी के कारण हड्डियों की समस्याएं (orthopaedic diseases)

बच्चों में हड्डियों की बीमारी (orthopaedic diseases) को भी पोषक तत्वों की कमी से जोड़ कर कुछ अध्ययन में देखा गया है। गर्भवती महिलाएं अपने आहारों में फल, साग-सब्जियों को सम्मिलित करके भी अपने होने वाले बच्चों को इस बीमारी से बचा सकती हैं।

बच्चों में पोषण की कमी के अन्य संकेत और लक्षण

बच्चों में पोषण की कमी के कुछ अन्य संकेत और लक्षण हैं:

  • थकान और कमजोरी
  • चिड़चिड़ापन
  • खराब प्रतिरक्षा प्रणाली के कारण संक्रमण के प्रति संवेदनशीलता बढ़ जाती है
  • सूखी और पपड़ीदार त्वचा
  • अपर्याप्त, अवरुद्ध विकास
  • फूला हुआ पेट
  • घाव, संक्रमण और बीमारी से ठीक होने में लंबा समय लगना
  • मांसपेशियों का कम होना
  • व्यवहारिक और बौद्धिक विकास का धीमा होना
  • मानसिक कार्यक्षमता और पाचन समस्याओं में कमी

यह भी पढ़ें:

बच्चों के लिए सिंपल बेबी फूड रेसिपी, जिन्हें सरपट खाते हैं टॉडलर्स

बच्चों को खड़े होना सीखाना है, तो कपड़ों का भी रखें ध्यान

बच्चों में फूड एलर्जी का कारण कहीं उनका पसंदीदा पीनट बटर तो नहीं

गर्भवती महिलाओं को ज्यादा पसीना क्यों आता है?

हैलो हेल्थ ग्रुप चिकित्सा सलाह, निदान या उपचार प्रदान नहीं करता है

संबंधित लेख:

    क्या यह आर्टिकल आपके लिए फायदेमंद था?
    happy unhappy"
    सूत्र

    Recommended for you

    बच्चों की नींद के घरेलू नुस्खे-Bacchon ki neend ke gharelu nuskhe

    बच्चों की नींद के घरेलू नुस्खे: जानें क्या करें क्या न करें

    चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
    के द्वारा लिखा गया Ankita Mishra
    प्रकाशित हुआ अप्रैल 16, 2020 . 5 मिनट में पढ़ें
    Malnutrition,कुपोषण

    Malnutrition: कुपोषण क्या है? जानिए इसके कारण, लक्षण और उपाय

    चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
    के द्वारा लिखा गया Mona narang
    प्रकाशित हुआ फ़रवरी 25, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें
    बिल एंड मेलिंडा गेट्स फाउंडेशन-bill-gates-on-malnutrition

    बिल गेट्स ने कहा, 20 सालों में कुपोषण को हराना होगा

    चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
    के द्वारा लिखा गया Sunil Kumar
    प्रकाशित हुआ अक्टूबर 9, 2019 . 4 मिनट में पढ़ें
    बच्चों में पोषक तत्वों की कमी

    बच्चों में पोषक तत्वों की कमी बन सकती है गंभीर बीमारियों का कारण

    चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Shruthi Shridhar
    के द्वारा लिखा गया Shayali Rekha
    प्रकाशित हुआ सितम्बर 23, 2019 . 4 मिनट में पढ़ें