कद्दू के बीज में छुपा है अच्छी सेहत का राज

चिकित्सक द्वारा समीक्षित | द्वारा

अपडेट डेट July 20, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें
अब शेयर करें

कद्दू की सब्जी किसी को पसंद होती तो किसी को नहीं लेकिन यह स्वाद पर निर्भर करता है। ठीक जिस तरह कुछ लोगों को मीठा खाना पसंद होता है तो कुछ लोगों तीखा। कद्दू के बीज (Pupmkin Seeds) में मौजूद विटामिन-बी, आयरन, मैग्नेशियम, जिंक और प्रोटीन सेहत को कई तरह से लाभ पहुंचाने में सहायक होते हैं। आज कद्दू के बीज के सेवन से होने वाले फायदे के बारे में जानेंगे। इसमें काफी मात्रा में एंटी ऑक्सीडेंट, पॉलीअनसेचुरेटेड फैट और पोटेशियम मौजूद होता है। 

और पढ़ेंः मिसकैरिज के बाद फूड: इन चीजों को करें अवॉयड

1. हड्डियां होती है मजबूत

कद्दू के बीज में पर्याप्त मात्रा में मौजूद मैग्नीशियम हड्डियों को मजबूत बनाने और ऑस्टियोपोरोसिस के खतरे को कम करने में मदद कर सकता है। नियमित और सही मात्रा में कद्दू के बीज का सेवन करने से हड्डियों की कमजोरी को दूर किया जा सकता है।

2.डायबिटीज रहता है नियंत्रित

कद्दू के बीज का नियमित सेवन डायबिटीज के मरीजों के लिए फायदेमंद हो सकता है। एक्सपर्ट्स की मानें तो कद्दू का बीज इंसुलिन को नियमित करता है और तनाव को कम करके डायबिटीज की परेशानी को दूर कर सकता है। 

और पढ़ें: विटामिन-सी कितना फायदेमंद, जानिए पूरा ज्ञान

3. दिल को रखता है स्वस्थ

कद्दू के बीज के नियमित रूप से किया गया सेवन ब्लड प्रेशर को नियंत्रित रखने में सहायक हो सकता है। कद्दू के बीज में मौजूद फाइबर ब्लड में बैड कोलेस्ट्रॉल की मात्रा को कम करने और हार्ट प्रॉब्लम से बचाने में मदद करता है।  

4. वजन रहेगा नियंत्रित

स्वस्थ वजन बनाए रखने में कद्दू का बीज लाभदायक हो सकता है, क्योंकि इसके सेवन से पेट ज्यादा देर तक भरा हुआ महसूस होता है।  

5. डायजेशन रहता है ठीक

कद्दू के बीच में मौजूद फाइबर डायजेशन को ठीक रखने में मदद कर सकता है। 

और पढ़ें: रेड वाइन पीना क्या बना सकता है हेल्दी, जानिए इसके हेल्थ बेनीफिट्स

6. कोलेस्ट्रॉल होता है नियंत्रित

कद्दू के बीज मौजूद ओमेगा -3 फैटी का अच्छा श्रोत माना जाता है। कद्दू के बीज में फाइटोस्टेरॉल होता है जो LDL के स्तर को कम करने के लिए जाना जाता है। यह LDL (Low Density Lipoprotein) को कम करके एथेरोस्लेरोसिस और ब्लड को   जमने से रोकता है। हर दिन कद्दू के बीज खाने से, एक अच्छे कोलेस्ट्रॉल का निर्माण किया जा सकता है। 

7. इम्यून सिस्टम ठीक रहता है

कद्दू के बीज में मौजूद जिंक इम्यून सिस्टम को बेहतर बनाने में सहायक हो सकता है और वायरल, सर्दी-खांसी-जुकाम जैसे संक्रमणों से सुरक्षित रख सकता है। 

8. प्रोस्टेट में है सहायक

इसमें मौजूद जिंक की मात्रा प्रोस्टेट ग्लैंड के लिए लाभकारी हो सकता  है। जिंक होने की वजह से बिनाइन प्रोस्टेटिक और हाइपरप्लेसिया के सिम्टम को कम करने  सहायक हो सकता है। 

और पढ़ेंः इन 7 फलों को करें फ्रूट डायट में शामिल और घटाएं वजन

9. नींद नहीं आने की परेशानी होती है कम

सोने से पहले कद्दू के कुछ बीज लेना से फायदा है।  आप चाहें तो किसी फल के साथ इसे ले सकते हैं. कद्दू के बीजों का सेवन करने से तनाव कम होता है और नींद अच्छी आती है. 

10. सूजन को कम करने में सहायक है

इसमें मौजूद एंटीऑक्सीडेंट शरीर में होने वाली सूजन को करने में सहायक हो सकता है साथ ही यह अर्थराइटिस में भी सूजन को कम करने में मदद  कर सकता है। 

11. एंटीऑक्सीडेंट में उच्च

कद्दू के बीज में कैरोटिनॉयड और विटामिन ई जैसे एंटीऑक्सीडेंट होते हैं। एंटीऑक्सिडेंट सूजन को कम कर सकते हैं और हानिकारक मुक्त कणों से आपकी कोशिकाओं की रक्षा कर सकते हैं। यही कारण है कि एंटीऑक्सीडेंट से भरपूर खाद्य पदार्थों का सेवन कई बीमारियों से बचाने में मदद कर सकता है। यह माना जाता है कि कद्दू के बीजों में उच्च स्तर के एंटीऑक्सिडेंट स्वास्थ्य पर सकारात्मक प्रभाव के लिए आंशिक रूप से जिम्मेदार हैं। एक अध्ययन में कद्दू के बीज का तेल बिना किसी दुष्प्रभाव के गठिया वाले चूहों में सूजन को कम करता है, जबकि जानवरों को एक एंटी इन्फ्लेमेशन दवा दी जाती है जो प्रतिकूल प्रभाव डालती है।

कद्दू के बीज के फायदे होने के साथ-साथ यह आसानी से उपयोग किया जा सकता है। लेकिन इसका सेवन सही मात्रा किया जाना चाहिए। 

और पढ़ेंः क्या ब्राउन शुगर से ज्यादा हेल्दी है स्टीविया? जानें स्टीविया के फायदे और नुकसान

कैंसर के खतरे को कम करता है कद्दू के बीज

कद्दू के बीज से समृद्ध आहार पेट, स्तन, फेफड़े, प्रोस्टेट और पेट के कैंसर के कम जोखिम से जुड़े हुए हैं। एक अध्ययन में पाया गया कि उन्हें खाने से पोस्ट मेनोपॉज़ल महिलाओं में स्तन कैंसर का खतरा कम होता है। अन्य अध्ययनों से पता चलता है कि कद्दू के बीजों में लिगनेन स्तन कैंसर को रोकने और उसका इलाज करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकते हैं। आगे के टेस्ट-ट्यूब अध्ययन में पाया गया कि कद्दू के बीजों से युक्त एक सप्लीमेंट में प्रोस्टेट कैंसर कोशिकाओं के विकास को धीमा करने की क्षमता थी।

कद्दू के बीज में मैग्नीशियम की मात्रा अधिक होती है

कद्दू के बीज मैग्नीशियम के सबसे अच्छे प्राकृतिक स्रोतों में से एक हैं – एक खनिज जो अक्सर कई पश्चिमी आबादी के आहार में कमी है। अमेरिका में, लगभग 79% वयस्कों में अनुशंसित दैनिक राशि (16) से कम मैग्नीशियम का सेवन होता है। आपके शरीर में 600 से अधिक रासायनिक प्रतिक्रियाओं के लिए मैग्नीशियम की आवश्यकता होती है। उदाहरण के लिए, मैग्नीशियम के पर्याप्त स्तर के लिए महत्वपूर्ण हैं:

हैलो स्वास्थ्य का न्यूजलेटर प्राप्त करें

मधुमेह, हृदय रोग, हाई ब्लड प्रेशर, मोटापा, कैंसर और भी बहुत कुछ...
सब्सक्राइब' पर क्लिक करके मैं सभी नियमों व शर्तों तथा गोपनीयता नीति को स्वीकार करता/करती हूं। मैं हैलो स्वास्थ्य से भविष्य में मिलने वाले ईमेल को भी स्वीकार करता/करती हूं और जानता/जानती हूं कि मैं हैलो स्वास्थ्य के सब्सक्रिप्शन को किसी भी समय बंद कर सकता/सकती हूं।

कद्दू के बीज में फाइबर की उच्च मात्रा

कद्दू के बीज फाइबर डायट का एक बड़ा स्रोत हैं। फाइबर में उच्च आहार अच्छे पाचन स्वास्थ्य को बढ़ावा दे सकता है। इसके अलावा उच्च फाइबर आहार हृदय रोग, टाइप 2 मधुमेह और मोटापे के जोखिम को कम करते हैं।

कद्दू के बीज से स्पर्म क्वालिटी में सुधार

कम जिंक का स्तर स्पर्म की गुणवत्ता में कमी और पुरुषों में बांझपन के जोखिम को बढ़ा सकता है। चूंकि कद्दू के बीज जिंक का एक समृद्ध स्रोत हैं वे स्पर्म की गुणवत्ता में सुधार कर सकते हैं।

चूहों में एक अध्ययन से साक्ष्य से पता चलता है कि वे मानव शुक्राणु को कीमोथेरेपी और ऑटोइम्यून बीमारियों से होने वाले नुकसान से भी बचा सकते हैं। कद्दू के बीज भी एंटीऑक्सिडेंट और अन्य पोषक तत्व अधिक मात्रा में होते हैं जो स्वस्थ टेस्टोस्टेरोन के स्तर में योगदान कर सकते हैं और पूरे स्वास्थ्य में सुधार कर सकते हैं। इन सभी कारणों से प्रजनन स्तर और प्रजनन कार्य में लाभ हो सकता है खासकर पुरुषों में। कद्दू के बीज को आप किसी भी फॉर्म में खा सकते हैं वह चाहें रोस्ट करके या किसी दूसरे फूड आयटम में।

हैलो हेल्थ ग्रुप चिकित्सा सलाह, निदान या उपचार प्रदान नहीं करता है

Was this article helpful for you ?
happy unhappy
सूत्र

शायद आपको यह भी अच्छा लगे

Poorly fitting shoes- बिना फिटिंग के जूते पहनने से पैरों में दर्द क्यों होता है?

बिना फिटिंग के जूते से होने वाले नुकसान, फिट जूते पहनना जरूरी क्यों है,जानें इससे बचाव कैसे किया जाए? Poorly fitting shoes side effects in hindi.

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pooja Daphal
के द्वारा लिखा गया shalu

पंपकिन (कद्दू) एक फायदे अनेक, जानें ये है कितना गुणकारी

पंपकिन या कद्दू के फायदे क्या हैं, pumpkin benefits in hindi, पंपकिन या कद्दू को कैसे खाएं, pumpkin ko kaise khaein, kaddu ko kaise istemal karein, कद्दू का कैसे इस्तेमाल करें।

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Surender aggarwal
पोषण तथ्य, आहार और पोषण February 19, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें

2019 Year End : इलेक्ट्रॉनिक हेल्थ रिकॉर्ड क्या होता है, कैसे है ये अन्य रिकॉर्ड से सुरक्षित?

इलेक्ट्रॉनिक हेल्थ रिकॉर्ड की जानकारी in hindi. इलेक्ट्रॉनिक हेल्थ रिकॉर्ड पेशेंट का ऑनलाइन डाटा सुरक्षित रखता है। पेशेंट का डाटा भविष्य में आवश्यक जानकारी प्रदान करता है। Electronic health records

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Hemakshi J
के द्वारा लिखा गया Bhawana Awasthi
हेल्थ न्यूज, स्वास्थ्य December 26, 2019 . 4 मिनट में पढ़ें

अपनी दिल की धड़कन जानने के लिए ट्राई करें हार्ट रेट कैलक्युलेटर

हृदय एक मांसपेशियों से बना अंग है जो पूरे शरीर में पोषक तत्वों और ऑक्सीजन युक्त रक्त का संचार करता है। know about heart rate calculator

के द्वारा लिखा गया Bhawana Sharma
हृदय रोग, हेल्थ सेंटर्स November 17, 2019 . 4 मिनट में पढ़ें

Recommended for you

स्वास्थ्य के लिए अच्छी आदतें

Healthy Habits: क्या जानते हैं आप इन हेल्दी हैबिट्स का महत्व?

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया AnuSharma
प्रकाशित हुआ February 23, 2021 . 8 मिनट में पढ़ें
स्वास्थ्य

स्वास्थ्य को जानें, स्वास्थ्य को पहचानें – क्योंकि स्वास्थ्य से ही सब कुछ है!

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया AnuSharma
प्रकाशित हुआ February 22, 2021 . 8 मिनट में पढ़ें
टी इंफ्यूजन

सिर्फ ग्रीन-टी ही नहीं, इंफ्यूजन-टी भी है शरीर के लिए लाभकारी

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Hemakshi J
के द्वारा लिखा गया Bhawana Awasthi
प्रकाशित हुआ May 17, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें
जैविक खाद organic compost

बचे हुए खाने से घर पर ऐसे बनाएं ऑर्गेनिक कंपोस्ट (जैविक खाद), हेल्थ को भी होंगे फायदे

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Shikha Patel
प्रकाशित हुआ May 14, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें