home

आपकी क्या चिंताएं हैं?

close
गलत
समझना मुश्किल है
अन्य

लिंक कॉपी करें

पैंक्रियाज की सेहत को बनाए रखने के लिए अपनाएं इन आसान तरीकों को!

पैंक्रियाज की सेहत को बनाए रखने के लिए अपनाएं इन आसान तरीकों को!

पैंक्रियाज हमारे डायजेस्टिव सिस्टम का एक महत्वपूर्ण हिस्सा है, जो फूड को डायजेस्ट करने में मदद करता है। इसके साथ ही अन्य समस्याओं से राहत पाने में भी यह मददगार है। पैंक्रियाज एक ऐसा अंग है, जिसके बिना भी जीवन संभव है। कई स्थितियों में इसे रिमूव करना जरूरी हो जाता है।, हालांकि पैंक्रियाज को डॉक्टर तभी रिमूव करते हैं, अगर रोगी को कोई गंभीर मेडिकल समस्या हो जैसे पैंक्रियाटिक कैंसर। इससे जुड़ी किसी भी गंभीर समस्या से बचने के लिए पैंक्रियाज की सेहत (How to keep Pancreas Healthy) का ख्याल रखना जरूरी है। आइए, जानते हैं कि कैसे रखा जा सकता है पैंक्रियाज की सेहत (How to keep Pancreas Healthy) को दुरुस्त और जानिए इससे जुड़ी कुछ खास बातों को। सबसे पहले पाइए जानकारी पैंक्रियाज के बारे में।

पैंक्रियाज क्या है? (Pancreas)

नेशनल इंस्टीटूट्स ऑफ हेल्थ (National Institutes of Health) के अनुसार हमारे आहार का असर हमारे वजन और वेस्टलायन पर पड़ता है। हमारी अनहेल्दी ईटिंग हैबिट्स का प्रभाव शरीर के अन्य अंगों जैसे पैंक्रियाज पर भी होता है। बहुत अधिक खाने, ड्रिंक और स्मोक करने से पैंक्रियाज पर बहुत अधिक स्ट्रेस पड़ता है, जिससे गंभीर हेल्थ इशूज हो सकते हैं। पैंक्रियाज पेट के पीछे होता है। इसके चारों तरफ इंटेस्टाइन, लिवर और गॉलब्लेडर जैसे अंग होते हैं। यह अंग और अन्य पास के ऑर्गन्स एक साथ काम करते हैं, ताकि फूड को डायजेस्ट करने में मदद मिले।

पैंक्रियाज एक यूनिक ऑर्गन है जो एंडोक्राइन (Endocrine) और एक्सोक्राइन ग्लैंड (Exocrine Gland) दोनों है। पैंक्रियाज लगभग 15 सेंटीमीटर लंबा होता है। यह डायजेशन व अब्सॉर्प्शन के लिए जरूरी एंजाइम्स और पैंक्रियाटिक जूस प्रोड्यूस करता है। इसके साथ ही यह एंजाइम प्रोटीन, कार्बोहायड्रेट और लिपिड्स आदि को ब्रेक डाउन करने में भी मददगार है। यही नहीं, पैंक्रियाज कई खास हॉर्मोन्स जैसे सोमेटोस्टैटिन (Somatostatin), ग्लूकागॉन (Glucagon), पैंक्रियाटिक पॉलीपेप्टाइड (Pancreatic polypeptide) और इंसुलिन आदि को भी प्रोड्यूस करता है, जो शुगर लेवल और ग्लूकागॉन को रेगुलेट करने में सहायक हैं। पैंक्रियाज की सेहत (How to keep Pancreas Healthy) के बारे में अधिक जानकारी से पहले पैंक्रियाज से जुडी कई डिजीज के बारे में जान लेते हैं।

और पढ़ें: पैंक्रियाज फंक्शन के लिए एक्सरसाइज की लिस्ट में यहां बताई गई 6 एक्सरसाइज आप कर सकते हैं शामिल

पैंक्रियाज से जुड़ी डिजीज कौन सी हैं? (Pancreas Disease)

पैंक्रियाज से जुड़ी सबसे सामान्य डिजीज है पैंक्रियाटायटिस (Pancreatitis) और पैंक्रियाटिक कैंसर (Pancreatic cancer)। पैंक्रियाटायटिस, पैंक्रियाज की सूजन को कहा जाता है। यह समस्या आमतौर पर एल्कोहॉल और गॉलस्टोन्स के कारण होती है। इसके साथ ही इसका कारण कुछ खास दवाईयां, डायटरी हैबिट्स और जेनेटिक प्रेडिस्पोसिशन (Genetic predisposition) भी इसके कारण हो सकते हैं। पैंक्रियाटिक कैंसर (Pancreatic cancer) सामान्यतया एंजाइम-प्रोड्यूसिंग (Enzyme-producing) और डक्टल सेल्स (Ductal cells) का एडेनोकार्सिनोमा (Adenocarcinoma) होता है। दुर्लभ रूप से यह कैंसर एंडोक्राइन सेल्स से पैदा होता है।

स्मोकिंग और एल्कोहॉल पैंक्रियाज के कैंसर के सबसे सामान्य रिस्क फैक्टर्स हैं। हालांकि, पैंक्रियाटायटिस (Pancreatitis) स्वयं में ही एक रिस्क फैक्टर हो सकता है। पैंक्रियाज के सेहत के बारे में जानने से पहले उन कारणों के बारे में जानकारी होना आवश्यक है जो पैंक्रियाज के नुकसान का कारण बन सकते हैं।

और पढ़ें: एक्सरसाइज और इंसुलिन रेजिस्टेंस : डायबिटीज पेशेंट एक्सरसाइज से पहले इन बातों का रखें ध्यान

इन कारणों की वजह से हो सकता है पैंक्रियाज को नुकसान (Causes of Pancreas Problems)

ऐसी कई कंडिशन हैं, जो पैंक्रियाज को कमजोर बनाने के कारण बन सकती हैं, जैसे डायबिटीज (Diabetes), पैंक्रियाटिक कैंसर (Pancreatic cancer) और अन्य इशूज आदि। इसके अलावा कुछ खाद्य-पदार्थ और अन्य लाइफस्टाइल फैक्टर्स भी इसमें मुख्य भूमिका निभाते हैं। यह कुछ फैक्टर्स इस प्रकार हैं:

  • स्मोकिंग (Smoking)
  • अधिक एल्कोहॉल का सेवन (Excessive alcohol consumption)
  • ऐसे आहार का सेवन करना जिसमें केमिकल हों, जैसे एडिटिव्स, प्रिज़र्वेटिव्स और कलरिंग (Foods containing chemicals)
  • फैटी फूड्स (Fatty foods)– ऐसे आहार का सेवन करना, जिसके कारण ट्राइग्लिसराइड्स लेवल (Triglyceride level) बढ़ता है, खासतौर पर सैचुरेटेड फैट्स (Saturated fats) और ट्रांस फैट्स (Trans fats)।
  • रिफाइंड प्रोडक्ट्स (Refined products)- अधिक प्रोसेस्ड और रिफाइंड उत्पाद जैसे चीनी और मैदे के सेवन से भी पैंक्रियाज को नुकसान हो सकता है। यही नहीं, कुछ इमोशंस जैसे गुस्सा, चिंता, स्ट्रेस आदि भी अग्न्याशय में समस्या की वजह बन सकते हैं। अब जानते हैं पैंक्रियाज की सेहत (How to keep Pancreas Healthy) को सही बनाए रखने के तरीकों के बारे में।

पैंक्रियाज की सेहत

और पढ़ें: डायबिटीज में मसल्स बिल्डिंग एक्सरसाइस क्या फायदेमंद है?

पैंक्रियाज की सेहत को सही कैसे रखें? (How to keep Pancreas Healthy)

पैंक्रियाज की सेहत (How to keep Pancreas Healthy) को सही रखने के लिए आपका अपने खानपान या जीवनशैली में सही बदलाव बेहद जरूरी है। अगर आपको पैंक्रियाज से संबंधी कोई समस्या है, तो अपने आहार का खास ख्याल रखें। क्योंकि, कुछ खाद्य पदार्थ इस समस्या को बढ़ा सकते हैं। आइए जानें पैंक्रियाज की सेहत (How to keep Pancreas Healthy) को सही रखने और बेहतर बनाने के तरीके क्या हैं:

पैंक्रियाज की सेहत के लिए सही आहार (Right food for Pancreas Health)

पैंक्रियाज की सेहत (How to keep Pancreas Healthy) को सही बनाए रखने के लिए राइट फूड के साथ ही पर्याप्त पेय पदार्थों को लेना भी आवश्यक है। इसके साथ ही आप हायली प्रोसेस्ड फूड्स और फ्रायड फूड्स को लेने से बचें। इन चीजों को अपने आहार में शामिल करना न भूलें:

  • सब्जियां (Vegetables)
  • बीन्स और दालें (Beans and lentils)
  • फल (Fruits)
  • साबुत अनाज (Whole grains)
  • अन्य प्लांट बेस्ड फूड्स जो तले हुए न हों (Other plant-based foods)

पैंक्रियाज की सेहत (How to keep Pancreas Healthy) के लिए ऐसे आहार का सेवन करना भी फायदेमंद होता है, जिनमें फैट्स कम मात्रा में हो। फल, सब्जियों, दालों, साबुत अनाज आदि में फायबर अधिक मात्रा में होता है, इसलिए यह भी लाभदायक साबित हो सकते हैं। अधिक फायबर लेने से ब्लड में गॉलस्टोन्स या फैट के हाय लेवल के होने की संभावना कम हो सकती है। यह दोनों स्थितियां एक्यूट पैंक्रियाटायटिस (Pancreatitis) का सामान्य कारण हैं। इसके साथ ही फायबर और ऊपर दिए आहार एंटी-ऑक्सीडेंट्स हैं। इन आहारों का सेवन करने से सूजन से राहत मिलती है। लीन मीट का सेवन भी अग्न्याशय के स्वास्थ्य के लिए लाभदायक है।

सही मात्रा में ओमेगा-3 फैटी एसिड्स (Omega-3 fatty acids) लेने से भी ट्राइग्लिसराइड्स का लेवल सही रहता है। यह फैटी एसिड्स अखरोट और काजू, चिया सीड्स, कोल्ड वॉटर फिश और हरी सब्जियों से प्राप्त किए जा सकते हैं। अधिक मात्रा में एंटीऑक्सीडेंट्स लेने से पैंक्रियाटिक कैंसर का जोखिम कम हो सकता है, जिन फूड्स में एंटीऑक्सीडेंट्स अधिक होते हैं, उन्हें लेना पैंक्रियाज की सेहत (How to keep Pancreas Healthy) के लिए फायदेमंद होता है।

इसलिए, एंटीऑक्सीडेंट युक्त आहार का सेवन करें जैसे अंगूर, ब्लूबेरी, रेड बेरीज, मेवे, हरी सब्जियां, साबुत अनाज, मछली, ग्रीन टी आदि। इसके साथ ही अधिक से अधिक पानी पीना भी पैंक्रियाज की सेहत (How to keep Pancreas Healthy) को बनाए रखने के लिए जरूरी है। अब जानते हैं उन खाद्य पदार्थों के बारे में जिनका सेवन पैंक्रियाज के लिए हानिकारक हो सकता है।

और पढ़ें: केटोन्यूरिया और टाइप वन डायबिटीज : क्यों है ये समस्याएं एक-दूसरे से जुड़ी हुई?

पैंक्रियाज की सेहत के लिए इन खाद्य पदार्थों को करें नजरअंदाज

जहां कुछ फूड्स पैंक्रियाज की सेहत (How to keep Pancreas Healthy) के लिए लाभदायक माने जाते हैं। वहीं, कुछ चीजों का सेवन अग्नाशय के स्वास्थ्य के लिए बेहद हानिकारक है। पैंक्रियाज की सेहत के लिए इन खाद्य पदार्थों को नजरअंदाज करना ही आपके लिए फायदेमंद होगा। जानिए इनके बारे में:

एल्कोहॉल (Alcohol)

अगर आप पैंक्रियाज की सेहत (How to keep Pancreas Healthy) को लेकर चिंतित हैं, तो ऐसे में आपको एल्कोहॉल का सेवन पूरी तरह से छोड़ना होगा। एल्कोहॉल के अधिक सेवन से न केवल हमारे पैंक्रियाज को नुकसान होता है, बल्कि इससे क्रोनिक पैंक्रियाटायटिस (Chronic Pancreatitis) का जोखिम भी बढ़ता है। यही नहीं, इसके कारण ट्राइग्लिसराइड्स का लेवल भी बढ़ता है, जो पैंक्रियाटायटिस का मेजर रिस्क फैक्टर है। अधिक एल्कोहॉल का सेवन करने से यह समस्या बढ़ती है, जिससे कई अन्य हेल्थ इशूज की संभावना भी अधिक रहती है और इनका सेवन जोखिम भरा भी हो सकता है।

और पढ़ें: डायबिटीज और माइंडफुलनेस: डायबिटीज को मैनेज करने में काम आ सकता है मेडिटेशन का यह तरीका

फ्रायड फूड्स और फाय फैट फूड्स (Fried foods and high-fat foods)

फ्रायड और हाय फैट फूड्स जैसे बर्गर और फ्रेंच फ्राइज भी पैंक्रियाज की सेहत (How to keep Pancreas Healthy) के लिए नुकसानदायक हैं। पैंक्रियाज फैट डायजेशन में मदद करता है। लेकिन, अगर आप अधिक मात्रा में फैट को ग्रहण करते हैं, तो पैंक्रियाज को उन्हें पचाने में अधिक मेहनत करनी पड़ती हैं। हायफैट फूड जिन्हें नजरअंदाज करना चाहिए, वो इस प्रकार हैं:

  • डेयरी प्रोडक्ट्स (Dairy products)
  • प्रोसेस्ड मीट्स (Processed meats)
  • मेयोनेज़ (Mayonnaise)
  • पोटैटो चिप्स (Potato chips)
  • इन प्रोसेस्ड और हाय फैट फूड्स का सेवन करना हार्ट डिजीज (Heart Disease) का भी कारण बन सकता है।

रिफाइंड कार्बोहाइड्रेट्स (Refined carbohydrates)

अगर आप अपने पैंक्रियाज की सेहत (How to keep Pancreas Healthy) को बेहतर बनाना चाहते हैं, तो आपको रिफाइंड कार्बोहायड्रेट जैसे व्हाइट ब्रेड और हाय शुगर फूड्स का सेवन सीमित मात्रा में करना चाहिए। रिफाइंड कार्बोहायड्रेट (Refined carbohydrates) के कारण पैंक्रियाज अधिक मात्रा में इंसुलिन को रिलीज करता है। अधिक शुगर युक्त आहार के कारण ट्राइग्लिसराइड्स का लेवल भी बढ़ता है और हाय ट्राइग्लिसराइड्स लेवल एक्यूट पैंक्रियाटायटिस (Pancreatitis) के लिए रिस्क फैक्टर है।

और पढ़ें: Serum insulin test: पैंक्रियाज से प्रोड्यूज होने वाले इंसुलिन के बारे में जानकारी देता है ये टेस्ट!

पैंक्रियाज की सेहत के लिए अन्य फैक्टर्स

सही खानपान के साथ ही पैंक्रियाज की सेहत (How to keep Pancreas Healthy) को बनाए रखने के लिए कई अन्य चीजों का भी ध्यान रखना जरूरी है, जैसे:

  • नियमित व्यायाम करें (Regular Exercise): अध्ययन के मुताबिक ओवरवेट लोगों में गॉलस्टोन होने की संभावना अधिक होती है। जिसके कारण उन्हें एक्यूट पैंक्रियाटायटिस (Pancreatitis) का रिस्क बढ़ता है। इसलिए नियमित व्यायाम जरूरी है। व्यायाम करने से वजन सही रहता है, पैंक्रियाज की सेहत (How to keep Pancreas Healthy) सुधरती है और पैंक्रियाटायटिस का जोखिम कम रहता है।
  • स्मोकिंग छोड़ दें (Quit smoking): कई रिसर्च यह बताती हैं कि स्मोकिंग करना क्रोनिक और एक्यूट पैंक्रियाज की समस्याओं का कारण बन सकता है। इसके कारण पैंक्रियाज की सेहत (How to keep Pancreas Healthy) को नुकसान होता है और कई नई हेल्थ प्रॉब्लम्स की संभावना बढ़ती है।

क्या आप जानते हैं कि डायबिटीज को रिवर्स कैसे कर सकते हैं? तो खेलिए यह क्विज!

और पढ़ें: डायबिटीज में एरोबिक एक्सरसाइज: मधुमेह के रोगियों के लिए बेहद फायदेमंद साबित हो सकते हैं ये व्यायाम!

यह तो थी पैंक्रियाज की सेहत (How to keep Pancreas Healthy) के बारे में पूरी जानकारी। शरीर के अन्य अंगों की तरह इसका हेल्दी रहना बेहद जरूरी है। अगर आपको अपने पैंक्रियाज संबंधी कोई भी समस्या नजर आती है, तो तुरंत मेडिकल हेल्प लें। इसमें कोई भी परेशानी होने पर तुरंत निदान, स्क्रीनिंग टेस्ट और उपचार जरूरी है। पैंक्रियाज की सेहत (How to keep Pancreas Healthy) को बनाए रखने के लिए हेल्दी लाइफस्टाइल अपनाएं जैसे सही आहार का सेवन करें, वजन को सही बनाए रखें, व्यायाम करें आदि। अगर आपको इससे संबंधित कोई भी जानकारी चाहिए, तो अपने डॉक्टर से बात करना न भूलें।

अगर आपके मन में कोई भी सवाल है तो आप हमारे फेसबुक पेज पर भी अपने सवालों को पूछ सकते हैं। हम आपके सभी सवालों के जवाब आपको कमेंट बॉक्स में देने की पूरी कोशिश करेंगे। अपने करीबियों को इस जानकारी से अवगत कराने के लिए आप ये आर्टिकल जरूर शेयर करें।

health-tool-icon

बीएमआई कैलक्युलेटर

अपने बॉडी मास इंडेक्स (बीएमआई) की जांच करने के लिए इस कैलक्युलेटर का उपयोग करें और पता करें कि क्या आपका वजन हेल्दी है। आप इस उपकरण का उपयोग अपने बच्चे के बीएमआई की जांच के लिए भी कर सकते हैं।

पुरुष

महिला

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र
लेखक की तस्वीर badge
AnuSharma द्वारा लिखित आखिरी अपडेट एक हफ्ते पहले को
Sayali Chaudhari के द्वारा मेडिकली रिव्यूड