home

हम इसे कैसे बेहतर बना सकते हैं?

close
chevron
इस आर्टिकल में गलत जानकारी दी हुई है.
chevron

हमें बताएं, क्या गलती थी.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
इस आर्टिकल में जरूरी जानकारी नहीं है.
chevron

हमें बताएं, क्या उपलब्ध नहीं है.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
हम्म्म... मेरा एक सवाल है
chevron

हम निजी हेल्थ सलाह, निदान और इलाज नहीं दे सकते, पर हम आपकी सलाह जरूर जानना चाहेंगे। कृपया बॉक्स में लिखें।

wanring-icon
यदि आप कोई मेडिकल एमरजेंसी से जूझ रहे हैं, तो तुरंत लोकल एमरजेंसी सर्विस को कॉल करें या पास के एमरजेंसी रूम और केयर सेंटर जाएं।

लिंक कॉपी करें

Cardiac Surgery : कार्डिएक सर्जरी क्या है?

परिचय|प्रकार|जोखिम|रिकवरी
Cardiac Surgery : कार्डिएक सर्जरी क्या है?

परिचय

कार्डिएक सर्जरी (Cardiac Surgery) क्या है?

हमारे शरीर में दिल का काम महत्वपूर्ण होता है। दिल की समस्याओं को दूर करने के लिए हार्ट सर्जरी यानी कार्डिएक सर्जरी की जाती है। हर साल हमारे देश में दिल की समस्याओं से जूझ रहे लोगों के दिल की सर्जरी की जाती है। बच्चों, वयस्कों और बुजुर्गों सभी के लिए इस सर्जरी के माध्यम से दिल की समस्याओं को ठीक किया जाता है। एडल्ट्स में कोरोनरी आर्टरी बाईपास ग्राफ्टिंग कॉमन है। ग्राफ्टेड आर्टरी कोरोनरी आर्टरी को ब्लॉक कर देता है।

कार्डिएक सर्जरी (Cardiac Surgery) कब की जाती है?

निम्न स्थितियों में कार्डिएक सर्जरी की जा सकती है, जिसमें शामलि हैंः

  • हार्ट वाल्व को रिप्लेस करने के लिए।
  • हार्ट के एबनॉर्मल डैमेज को रिपेयर करने के लिए।
  • हार्ट बीट को कंट्रोल करने के लिए मेडिकल डिवाइस का इम्प्लांट।
  • डैमेज हार्ट को हेल्दी हार्ट के साथ रिप्लेस करना।

यह भी पढ़ेंः Abdominoplasty : एब्डोमिनोप्लास्टी सर्जरी क्या है?

कार्डिएक अरेस्ट क्या है? (cardiac arrest)

हार्ट में अचानक होने वाली समस्या को कार्डिएक अरेस्ट (cardiac arrest) कहते हैं। ये समस्या उन लोगों को भी हो सकती है जिन्हें कभी भी दिल की कोई भी बीमारी न हुई हो। एबनॉर्मल हार्ट रिदम के कारण ये समस्या होती है। कार्डिएक अरेस्ट (cardiac arrest) ज्यादा घातक इसलिए है क्योंकि इसमें हमारा दिल अचानक से शरीर के विभिन्न हिस्सों में खून पहुंचाना बंद कर देता है और ह्रदय का धड़कना बंद हो जाता है।

कार्डिएक अरेस्ट के लक्षण क्या हो सकते हैं? (Symptoms of cardiac arrest)

निम्न स्थितियां कार्डिएक अरेस्ट के लक्षण में शामिल हो सकते हैंः

  • अचानक से गिर जाना
  • नाड़ी का न चलना या महसूस न करना
  • चेहरे के रंग में बदलाव होना (त्वता का रंग ग्रे दिखाई देना)
  • बेचैनी महसूस करना
  • सांस का रूक जाना
  • खांसी आना
  • सांस फूलना
  • सीने में दर्द होना
  • बेहोश होना
  • चक्कर आना
  • अचानक से आंखों के सामने अंधेरा होना
  • घबराहट होना
  • बहुत ज्यादा पसीना आना, आदि।

यह भी पढ़ेंः Aortic Valve Replacement : एरोटिक वाल्व रिप्लेसमेंट क्या है?

प्रकार

कार्डिएक अरेस्ट के क्या कारण हो सकते हैं? (Causes of cardiac arrest)

कार्डिएक अरेस्ट नीचे दिए हुए कारणों की वजह से हो सकता है, जैसे कि,

  • वेंट्रिकुलर फाइब्रिलेशन( Ventricular Fibrillation )
  • वेंट्रीकुलर टैकीकार्डिया (Ventricular Tachycardia)
  • कोरोनरी हार्ट डिजीज (Coronary Heart Disease)
  • हार्ट में बदलाव आना
  • पेसमेकर (Pacemaker) का खराब होना
  • रेस्पिरेटरी अरेस्ट (Respiratory Arrest)
  • घुटन या जकड़न का होना
  • हार्ट अटैक का होना
  • एलेक्ट्रोक्युशन (Electrocution)
  • हाइपोथर्मिया (Hypothermia)
  • बहुत ज्यादा शराब या नशे का सेवन करना।

कार्डिएक सर्जरी के बारे में मुझे क्या पता होना चाहिए?

कार्डिएक सर्जरी कराने से पहले आपको इसके प्रकार और उपचार की विधियों के बारे में अपने डॉक्टर से बात करनी चाहिए। आमतौर पर कार्डिएक अरेस्ट आने पर सर्जन दो तरह की सर्जरी की विधियों की प्रक्रिया में से किसी एक का विकल्प आपके लिए चुन सकते हैं। जिनमें शामिल हैंः

बायपास सर्जरी (Bypass surgery)

हृदय के अंदर एक धमनी होती है जो इंटरनल मेमोरी आर्टरी (Internal mammary artery) कहलाती है। सर्जरी के समय धमनी का ऑपरेशन किया जाता है। इसमें हाथ या पैर की नस का उपयोग वाहक नली के तौर पर किया जाता है। हृदय की तीनों मुख्य धमनियों में समस्या होने पर ही ऑपरेशन किया जाता है। इसको बायपास सर्जरी इसलिए कहते हैं क्योंकि जहां पर ब्लॉकेज होती है उससे आगे बायपास नली के जरिए हृदय की मांसपेशियों में रक्त का प्रवाह कराया जाता है.

ओपन हार्ट सर्जरी (Open heart surgery)

हार्ट के वॉल्व में समस्या होने पर डॉक्टर ओपन हार्ट सर्जरी (open heart surgery) करते हैं। हृदय के अंदर चार वॉल्व होते हैं। कई केसेस ऐसे आएं है जहां बांयी तरफ के वॉल्व में समस्या आती है। बांयी तरफ के वॉल्व्स में सिकुड़न की समस्या होने लगती है। कभी-कभार ये वाल्व लीक करने लगते है।इस दौरान डॉक्टर सर्जरी के माध्यम से इन वॉल्व्स को बदलते हैं। इसे ओपन हार्ट सर्जरी कहा जाता है।

यह भी पढ़ेंः Lumbar Discectomy Surgery: लम्बर डिस्केक्टॉमी सर्जरी क्या है?

जोखिम

कार्डिएक अरेस्ट की जांच करवाने के लिए किस तरह के टेस्ट किए जा सकते हैं? (Tests for cardiac arrest)

कार्डिएक अरेस्ट का परीक्षण करने के लिए आपके डॉक्टर आपको निम्न टेस्ट की सलाह दे सकते हैं, जिनमें शामिल हैंः

कार्डिएक सर्जरी के लिए मुझे कैसी तैयारी करनी चाहिए?

कार्डिएक सर्जरी आमतौर पर गंभीर स्थिति से लेकर आपातकालीन स्थिति में भी की जा सकती है। इसके लिए आपको किस तरह से तैयारी करनी चाहिए, इसके बारे में आप अपने डॉक्टर से आधिक जानकारी ले सकते हैं।

कोरोनरी हार्ट डिजीज की संभावना किन लोगों में अधिक हो सकती है?

इस तरक के लोगों में कोरोनरी हार्ट डिजीज की संभावना अन्य लोगों के मुकाबले अधिक हो सकती हैः

कोरोनरी आर्टरीज में फैट्स (Fats) के जमने की वजह से धमनियों में अवरोध पैदा हो जाता है। जिसकी वजह से हार्ट को सही मात्रा में खून नहीं पहुंचता है। जब हार्ट का एक बड़ा हिस्सा इस स्थिति से प्रभावित हो जाता है, तब हार्ट अटैक के होने संभावना बढ़ जाती है।जो लोग अधिक ध्रूमपान करते हैं या ​अधिक तैलीय युक्त भोजन करते हैं, उनमें हार्ट डीसीज की संभावना बढ़ जाती है। साथ ही हाई ब्लड प्रेशर, मोटापा,अधिक प्रदूषित जगह पर रहने वाले लोग, डायबिटिक ,जैनेटिक तौर पर हार्ट अटैक की हिस्ट्री रखने वाले लोगों में इस बीमारी की संभावना बढ़ जाती है।

यह भी पढ़ेंः Achilles Tendon Rupture: अकिलिस टेंडन सर्जरी क्या है?

रिकवरी

कार्डिएक सर्जरी के बाद क्या होता है?

  • कार्डिएक सर्जरी की प्रक्रिया के बाद रिकवरी होने में काफी लंबा समय लग सकता है। हालांकि, इस सर्जरी की प्रक्रिया कितनी सफल होगी और कितनी जल्दी रिकवरी होगी, यह व्यक्ति के उम्र और स्वास्थ्य की स्थिति पर भी निर्भर कर सकता है।
  • अधिकतर मामलों में कार्डिएक सर्जरी के पेशेंट चार से छह हफ्तों में 75 फीसदी तक रिकवरी कर लेते हैं। हालांकि, रिकवरी के दौरान और रिकवरी के कुछ महीनों बाद भी पेशेंट को ज्यादा से ज्यादा आराम करने की सलाह दी जा सकती है।
  • सर्जरी के बाद रिकवरी के दौरान आपको अधिक से अधिक आराम करने की सलाह दी जाती है, लेकिन आपको पूरा समय बिस्तर पर नहीं लेते रहने की भी सलाह दी जा सकती है। दिन भर में कम से कम एक बार थोड़ी-बहुत शारीरिक पहल करने की सलाह भी दी जा सकती है। इस दौरान छोटे-छोटे कदमों से थोड़ा चलने की सलाह दी जा सकती है।
  • सर्जरी के एक महीने बाद भी आपको ड्राइविंग करने, भारी शारीरिक कामकाज करने, तेजी से झुकने, दौड़ने जैसे आदतों से बचने की सलाह दी जा सकती है।

हैलो स्वास्थ्य किसी भी तरह की कोई भी मेडिकल सलाह नहीं दे रहा है। अगर इससे जुड़ा आपका कोई सवाल है, तो अधिक जानकारी के लिए आप अपने डॉक्टर या सर्जन से संपर्क कर सकते हैं।

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र

Recovering from heart surgery. https://www.health.harvard.edu/heart-health/recovering-from-heart-surgery. Accessed on 02 May, 2020.

Open-Heart Surgery. https://www.healthline.com/health/open-heart-surgery. Accessed on 02 May, 2020.

Heart Surgery. https://medlineplus.gov/heartsurgery.html. Accessed on 02 May, 2020.

Minimally invasive heart surgery. https://www.mayoclinic.org/tests-procedures/minimally-invasive-heart-surgery/about/pac-20384895. Accessed on 02 May, 2020.

Cardiac Surgery. https://www.ncbi.nlm.nih.gov/books/NBK532935/. Accessed on 02 May, 2020.

लेखक की तस्वीर badge
Bhawana Awasthi द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 09/06/2021 को
डॉ. प्रणाली पाटील के द्वारा मेडिकली रिव्यूड
x