home

हम इसे कैसे बेहतर बना सकते हैं?

close
chevron
इस आर्टिकल में गलत जानकारी दी हुई है.
chevron

हमें बताएं, क्या गलती थी.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
इस आर्टिकल में जरूरी जानकारी नहीं है.
chevron

हमें बताएं, क्या उपलब्ध नहीं है.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
हम्म्म... मेरा एक सवाल है
chevron

हम निजी हेल्थ सलाह, निदान और इलाज नहीं दे सकते, पर हम आपकी सलाह जरूर जानना चाहेंगे। कृपया बॉक्स में लिखें।

wanring-icon
यदि आप कोई मेडिकल एमरजेंसी से जूझ रहे हैं, तो तुरंत लोकल एमरजेंसी सर्विस को कॉल करें या पास के एमरजेंसी रूम और केयर सेंटर जाएं।

लिंक कॉपी करें

पैलियो डायट क्या है? जानिए इसके अनगिनत फायदे

पैलियो डायट क्या है? जानिए इसके अनगिनत फायदे

आज के समय में लोगों के लिए फिटनेस उनकी पहली प्राथमिकता बन गई है, केवल लुक को लेकर के ही नहीं बल्कि गुड हेल्थ और हेल्दी लाइफ को लेकर के भी। हर कोई फिट और स्लिम दिखना चाहता है। मोटापा होना, भविष्य में कई बीमारियों का कारण भी बन सकता है। वेट लॉस के लिए लोग जिम और योगा जैसी कई एक्टिविटीज और तरह-तरह के डायट प्लान फॉलो करते हैं। वेट लॉस को लेकर आजकल कई तरह की विभिन्न प्रकार की डायट उपलब्ध हैं, जिसमें से एक है पैलियो डायट। जिसे फॉलों कर के आपनी फिटनेंस मैंटेन किया जा सकता है, पैलियो डायट के अपने कई फायदे हैं, आइए जानते हैं—

और पढ़ें:दांत टेढ़ें हैं, पीले हैं या फिर है उनमें सड़न हर समस्या का इलाज है यहां

क्या है पैलियो डायट ? (What is Paleo Diet?)

अगर सीधे-साधे शब्दों में समझा जाए तो पैलियो डायट मतलब उन खाद्य पदार्थो ‘के’ सेवन से है, जो कि पाषाण काल (Paleolithic Age) में उपलब्ध थें। जिनका सेवन उस समय में हमारे पूर्वज किया करते थे। पैलियो डायट एक ऐसी डायट है, जिसमें प्रॉसेस्ड फूड की जगह फल और सब्जियों का अधिक सेवन किया जाता है। जानकारों के मुता​बिक पैलियो डायट ही वह कारण था जिसकी वजह से पहले लोगों में मोटापा, मधुमेह और हृदय रोग जैसी जानलेवा बीमारियां बहुत कम देखने को मिलती थी। यदि आज भी उस आहार को फॉलो किया जाए तो हम कई गंभीर और जानलेवा बीमारियों के चंगुल से बच सकते हैं। इस डायट के माध्यम से हमारे शरीर को सभी जरूरी पोषक तत्व भी मिल जाते हैं, जो हमें कई तरह की बीमारियों के बचाने में भी मद्दगार है।

और पढ़ें : वजन घटाने के लिए डायट प्लान

पैलियो डायट फॉलो करने की वजह

पैलियो डायट का मुख्य उद्देश्य है कि हम अपने आहार में पौष्टिक खाद्य पदार्थों को अधिक से अधिक शामिल करें, क्योंकि आजकल के आहार के लिए हमारा शरीर आनुवंशिक रूप से प्रतिकूल है। शायद यही कारण है कि आज मनुष्य कई तरह की खतरनाक बीमारियों से ग्रस्त है। दरअसल, इस डायट में फल, नट्स, सब्जियां और लीन मीट यानी लो फैट मीट को शामिल किया जाता है। इससे शरीर को पोषक तत्व तो पूरे मिलते हैं ही साथ ही में बॉडी का मेटाबॉलिज्म और गट को बूस्ट करता है, जो फैट व वेट लॉस में मदद करता है। इस डायट का फायदा ये भी है कि इससे हमारी रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ने के साथ हमारा शरीर कई ​गंभीर बीमारियों की चपेट से बचता भी है। इस डायट को फॉलो करने के दौरान वर्कआउट की भी सलाह दी जाती है जो वेट लॉस के प्रोसेस को तेज करता है। लेकिन आपको किसी तरह की हेल्थ प्रॉब्लम है, तो इस डायट को फॉलो करने से पहले

पैलियो डायट में क्या खाएं (What to eat in Paleo Diet?)

पैलियो डायट को फॉलो करने से पहले ये जानना बेहद जरूरी है कि इस डायट के अंतर्गत आप खाएं क्या, जैसे कि—

  • सभी प्रकार के फलों का सेवन करें,आप फ्रूट सलाद भी बनाकर खा सकते हैं।
  • सब्जियां खूब खाएं, कोशिश करें कि हरी पत्तेदार सब्जियां ज्यादा खाएं।
  • दिनभर में मेवे भी खाएं।
  • नॉनवेज फूड में आप लीन मीट (शाकाहारी जानवरों का), ओमेगा-3 फैटी एसिड से भरपूर मछली, सैल्मन, मैकेरल और अल्बाकोर, ट्यूना फलों और मेवों का तेल जैसे कि जैतून का तेल या अखरोट का तेल आदि का सेवन करें।

पैलियो डायट को अगर हम थोड़ा विस्तार में समझें तो आपको निम्न चीजें खानी होगी :

वेजिटेबल रूट (Vegetable root)

वेजिटेबल रूट यानी कि सब्जियों की जड़ें, जैसे- चुकंदर, शलजम, गाजर, मूली आदि खाने से बहुत फायदा मिलता है। क्योंकि, इनमें विटामिन सी, पोटैशियम, मैग्निशीयम, जिंक, आयरन आदि तत्व पाए जाते हैं। साथ ही गाजर में आंखों की रोशनी बढ़ाने के भी गुण मौजूद हैं। पैलियो डायट में वेजिटेबल रूट को जरूर शामिल करें। चुकंदर के जूस में विटमिन सी, फाइबर की मात्रा, नाइट्रेट्स, बेटानिन जैसे पोषक तत्व होते हैं ,जो कि बाॅडी के फैट, खासतौर पर बेली फैट को कम कर सकते हैं। चुकंदर को आप उबाल कर या भून कर भी खा सकते हैं। लेकिन इसे पकाने से इसके अंदर के पोषक तत्व कम हो जाते हैं। इससे आपके शरीर में खून की कमी भी नहीं हो पाती है।

और पढ़ें : ग्‍लूटेन फ्री डायट (Gluten Free Diet) क्‍या है? जानिए इसके फायदे और नुकसान

हरी पत्तेदार सब्जियां (Green Leaf Vegetables)

पैलियो डायट में हरी पत्तेदार सब्जियां खानी चाहिए। हरी पत्तेदार सब्जियों का नाम सुनते ही सबसे पहले मन में पालक का ख्याल आता है। लेकिन पालक के अलावा भी अन्य हरी पत्तेदार सब्जियां हैं, जैसे – ब्रॉकली, पत्तागोभी, सरसों का साग, सलाद पत्ता आदि का सेवन कर सकते हैं। हरी पत्तियों का सेवन करने से कई बड़ी बीमारियों में आराम मिलता है। हरी पत्तियों में विटामिन और मिनरल पाया जाता है। आप सलाद, स्मूदी, फ्राई आदि में इन हरी पत्तियों को डाल कर खा सकते हैं।

और पढ़ें: जानें अपने शरीर के हिसाब से आयुर्वेदिक डायट प्लान

फल (Fruits)

पैलियो डायट में फलों का सेवन करना मतलब सभी तरह के पोषक तत्वों का मिलना है। इसलिए अपनी डायट में फ्रूट्स को जरूर शामिल करें, जैसे- ब्लूबेरी, स्ट्रॉबेरी और ब्लैकबेरी को शामिल करें। मशरूम में मौजूद लीन प्रोटीन वजन घटाने में मदद करता है. मोटापा कम करने वालों को प्रोटीन डाइट लेने की सलाह दी जाती है. इसके अलावा मशरूम खाने से मेटाबॉलिज्म भी मजबूत होता है. मशरूम में विटामिन बी पाया जाता है जो खाने को ग्लूकोज में बदल एनर्जी पैदा करता है।

मशरूम (Mushroom)

मशरूम एक फफूंद है, लेकिन मीडिएटर्स ऑफ इंफ्लमेशन के मुताबिक पैलियो डायट में मशरूम का सेवन करने से जहां एक तरफ ऑटोइम्यून डिजीज से राहत मिलती है, वहीं दूसरी तरफ कैंसर जैसी घातक बीमारी से बचाव होता है। क्योंकि मशरूम में एंटीकैंसर गुण होते हैं, जो शरीर के लिए फादेमंद है।

और पढ़ें: मामूली सी मूली के 12 चमत्कारी फायदे

मछलियां (Fish)

पैलियो डायट में फैटी फिश खाना अच्छा होता है। क्योंकि फैटी फिश में गुड फैट होते हैं। साथ ही पैलियो डायट में मछलियों का सेवन करने से आपको ओमेगा-3 फैटी एसिड पाया जाता है। ये शरीर के लिए बहुत जरूरी है। ये मानिसक विकास के लिए भी बहुत अच्छा है। आप इसे भी

और पढ़ें: इन 5 ऑयल्स से करें शिशु की मसाज, मिलेंगे बेहतर रिजल्ट

एवोकैडो (Avocado)

एवोकैडो एक फायदेमंद फल है। औषधीय गुणों से भरपूर यह फल बहुत स्वादिष्ट भी है। कुछ अध्ययनों के मुताबिक एवोकैडो कोलेस्ट्रॉल को कम करता है, लिपिड प्रोफाइल में सुधार लाता है और पुराने ऑस्टियोआर्थराइटिस के लक्षणों को कम भी कर सकता है।

ऑलिव ऑयल (Olive oil)

ऑलिव नाम के पेड़ की पत्तियों और फलों से निकले लिक्विड को ऑलिव ऑइल कहा जाता है। जिसका इस्तेमाल दवाई और खाना बनाने के लिए किया जाता है। ऑलिव ऑइल को हार्ट अटैक और स्ट्रोक (cardiovascular disease), ब्रैस्ट कैंसर, कोलोरेक्टल कैंसर, ओवेरियन कैंसर और माइग्रेन आदि से बचाव के लिए इस्तेमाल किया जाता है।

और पढ़ें:कभी आपने अपने बच्चे की जीभ के नीचे देखा? कहीं वो ऐसी तो नहीं?

क्या न खाएं (What not to eat in Paleo diet?)

अगर आप पैलियो डायट को फॉलो कर रहें हैं, तो इन खाद्य पादर्थों को अपने डायट में शामिल न ​करें, जैसे कि—

और पढ़ें:जानें मेडिटेशन से जुड़े रोचक तथ्य : एक ऐसा मेडिटेशन जो बेहतर बना सकता है सेक्स लाइफ

पैलियो डायट के फायदे (Benefits of Paleo diet)

कई अध्ययनों में पैलियो डायट के लाभों को कुछ अन्य डायट्स के साथ मिलकर देखा गया है। जिनमें यह पता चला कि पैलियो डायट में इस्तेमाल किए जाने वाले कुछ खाद्य पदार्थ जैसे कि फल, हरी सब्जियां, लीन मीट, साबुत अनाज आदि निश्चित तौर पर स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद हैं, क्योंकि इनसे शरीर को सभी आवश्यक पोषण तत्व मिलते हैं। इसके अलावा पैलियो डायट के अपने कई अन्य फायदे भी हैं, जैसे कि—

और पढ़ें: फिट रहना चाहते हैं तो, सिर्फ जिम न जाएं सही डायट पर भी दें ध्यान

इसमें कोई शक नहीं है कि पैलियो डायट से आपको कई तरह के हेल्थ बेनिफिट्स मिल सकते हैं। लेकिन एक लंबे समय के लिए ये कितना कारगर है या इसके क्या दुष्परिणाम हो सकते हैं, इस पर अभी भी शोध होना बाकी है। अगर आपको किसी भी तरह की समस्या हो तो आप अपने डॉक्टर से जरूर पूछ लें। उम्मीद करते हैं आपको हमारा यह लेख पसंद आया होगा। हैलो हेल्थ के इस आर्टिकल में पैलियो डायट से जुड़ी हर जानकारी देने की कोशिश की गई है। यदि आपका इस लेख से जुड़ा कोई सवाल है तो आप उसे कमेंट सेक्शन में पूछ सकते हैं। आपको हमारा यह लेख कैसे लगा यह भी आप हमें कमेंट सेक्शन में बता सकते हैं।

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र

Paleo diet: What is it and why is it so popular? https://www.mayoclinic.org/healthy-lifestyle/nutrition-and-healthy-eating/in-depth/paleo-diet/art-20111182 Accessed 21/1/2020

The “Paleo Diet” — Back to the Stone Age? https://www.health.harvard.edu/diet-and-weight-loss/the-paleo-diet-back-to-the-stone-age Accessed 21/1/2020

Paleo Diet for Weight Loss: https://www.hsph.harvard.edu/nutritionsource/healthy-weight/diet-reviews/paleo-diet/ Accessed August 21, 2020

Is the paleo diet safe for your health?: https://health.ucdavis.edu/welcome/features/2014-2015/06/20150603_paleo-diet.html  Accessed August 21, 2020

 

 

लेखक की तस्वीर
Dr. Pooja Bhardwaj के द्वारा मेडिकल समीक्षा
Aamir Khan द्वारा लिखित
अपडेटेड 03/07/2019
x