backup og meta

इंडियन फूड्स से वजन घटाएं, अपनाएं ये वेट लॉस डायट चार्ट

के द्वारा मेडिकली रिव्यूड डॉ. हेमाक्षी जत्तानी · डेंटिस्ट्री · Consultant Orthodontist


Manjari Khare द्वारा लिखित · अपडेटेड 04/07/2022

इंडियन फूड्स से वजन घटाएं, अपनाएं ये वेट लॉस डायट चार्ट

वजन घटाने की बात आते ही लोग विदेशी डायट और नुस्खों की तरफ ध्यान देने लगते हैं, लेकिन ताजा रिपोर्ट आपको चौंका सकती है। भारतीय डायट वजन कम करने में ज्यादा प्रभावी मानी जा रही है और अब लोगों की मानसिकता बदलने लगी है। शिल्पा शेट्टी से लेकर बाबा रामदेव हों या रु​जुता दिवेकर हर कोई भारतीय डायट का महत्व लोगों तक पहुंचा रहा है। यही कारण है कि भारतीय लोग ही नहीं विदेशी भी वेट लॉस के लिए इंडियन वेट लॉस डायट चार्ट को फॉलो करने लगे हैं।

और पढ़ें : जिमिंग ही नहीं सीढ़ियां चढ़ने से भी होता है वेट लॉस

इंडियन डायट पोषक तत्वों से भरपूर (Indian diet rich in nutrients) होती है

इंडियन डायट चार्ट पोषक तत्वों से भरपूर होती है। इसमें अनाज, फल, सब्जियां, डेयरी प्रोडक्ट आदि सबकुछ शामिल होता है। भारतीय खाने में जिन मसालों का इस्तेमाल किया जाता है वह सेहतमंद तो होते ही हैं साथ ही उनके शरीर में गुणकारी फायदे भी हैं। उदाहरण के तौर पर हल्दी का ही लें तो हल्दी कई बीमारियों को दूर करने में मददगार होती है। भारतीय डायट में 70 प्रतिशत सब्जियों का इस्तेमाल किया जाता है।

भारतीय खाने की एक और खासियत यह भी कि इनमें कम फैट वाला खाना भी होता है। जैसे सलाद, दाल सब्जियांं। पाश्चात्य खाने की तरह भारतीय खाने में चीज या क्रीम की मात्रा बहुत ज्यादा नहीं होती है। भारतीय खाने के बारे में कहा जाता है कि इसमें बहुत सारे विकल्प वह भी विभिन्न स्वाद से भरपूर होते हैं। इसलिए इसे खाने में बोरियत नहीं होती। सुबह के नाश्ते से लेकर रात के खाने तक आप नाना प्रकार के पकवान खा सकते हैं।

और पढ़ें :  फॉलो करें यह बनाना डायट प्लान, जल्दी घटेगा वजन

इंडियन वेट लॉस डायट टिप्स (Indian diet For Weight Loss)

  • डायट में सभी प्रकार के फल, सब्जियां और अनाज आदि को ​शामिल करें।
  • उठने के आधे घंटे के अंदर नाश्ता कर लें।
  • लंच में दाल, सब्जी, रोटी व दही का मेल हो तो अच्छा है।
  • रात के खाने को हल्का ही रखें।
  • सोने के कम से कम दो घंटे पहले रात का खाना खा लें।
  • वेट लॉस के लिए भूखा न रहें।

वेट लॉस डायट चार्ट हर किसी के लिए अलग होती है चाहे बच्चा हो, महिला हो या पुरुष हो। यह भारतीय वेट लॉस डायट चार्ट भूगोल पर भी निर्भर करता है। उत्तर प्रांत से लेकर दक्षिण तक हर जगह का खानपान मौसम के अनुरूप बदल जाता है। यह डायट प्लान मांसाहारी व शाकाहारी के हिसाब से बदल सकता है। अपने भोजन में कुछ अन्य चीजों को शामिल करके आप अपने वेट लॉस डायट चार्ट में शामिल कर के वजन कम कर सकते हैं। 

और पढ़ें : एरोबिक एक्सरसाइज (Aerobic Exercise) से इस तरह करें अपनी वेट लॉस की जर्नी आसान

वेट लॉस डायट चार्ट (weight Loss Diet Chart) में इन चीजों के करें शामिल

सब्जियां (Green Vegetable) : हरी पत्तेदार सब्जियां, टमाटर, बैंगन, सरसों का साग, प्याज, फूलगोभी, पत्तागोभी, मशरूम, करेला आदि सब्जियां खाने से वेट लॉस होता है।

जड़ें : कुछ सब्जियों की जड़े खाने से भी वेट लॉस होता है। इसलिए अपने वेट लॉस डायट चार्ट में इन्हें जरूर शामिल करें। आलू, गाजर, स्वीट पोटैटो या शकरकंद, शलजम, चुकंदर, सूरन या जिमीकंद

नट्स और बीज (Nuts & Seeds) : काजू, बादाम, मूंगफली, पिस्ता, कद्दू का बीज, सीसम बीज, तरबूजे का बीज को अपने वेट लॉस डायट चार्ट का हिस्सा बनाएं।

दाल (lentils) : मूंग दाल, काला चना, सेम के बीज, लोबिया, मसूर दाल, राजमा और अन्य दालें आपके वेट लॉस डायट चार्ट में चार चांद लगा सकती हैं। 

फल (Fruit) : वेट लॉस डायट चार्ट के लिए मौसमी फल बहुत जरूरी है। इसलिए आप मौसमी फलों का अधिक से अधिक सेवन करें। आप वेट लॉस डायट चार्ट में पपीता, आम, अनार, अमरूद, संतरा, इमली, लीची, सेब, सीताफल, केला, आड़ू, तरबूज, खरबूज आदि फलों को जोड़ लें।

अनाज(Grain): ब्राउन राइस, बासमती चावल, किनोवा, बाजरा, मक्का, बकव्हीट, जौ आदि खाएं। 

डेयरी (Dairy) : चीज, योगर्ट, दूध, घी आदि की एक नियमित मात्रा लेने से आप वेट लॉस कर सकते हैं। 

मसाले और हर्ब्स (Herbs): लहसुन, अदरक, दालचीनी, जीरा, धनिया, गरम मसाला, हल्दी, काली मिर्च, मेथी, तुलसी और सब्जा बीज आदि का सेवन करने से आपके वेट लॉस डायट चार्ट का बैलेंस बना रहेगा। 

फैट्स (Fats) : फैट्स का नाम सुनते ही ज्यादातर लोगों के मन में ‘मोटापा बढ़ जाएगा’ ऐसी बातें आती रहती है। लेकिन, मोटापा तब होता है, जब आप बैड फैट्स लेते हैं। इसलिए आप अपने वेट लॉस डायट चार्ट के लिए गुड फैट्स को चुनें। जैसे- कोकोनट मिल्क, एवोकैडो, कोकोनट ऑयल, सरसों का तेल, जैतून का तेल, मूंगफली का तेल, सीसम ऑयल, घी का सेवन कर सकते हैं। 

और पढ़ें : किसी ने 30 किलो, किसी ने 27 किलो, जानिए बॉलीवुड सेलेब्स की वेट लॉस जर्नी

वेट लॉस डायट चार्ट से हट के करें ये काम

वेट लॉस डायट चार्ट तो तैयार कर लिया आपने, लेकिन अब इसके साथ-साथ आपको क्या करना है ये मुद्दे की बात है। वेट लॉस डायट चार्ट के अलावा आपको अपने खाने-पीने के तरीकों पर भी ध्यान देना होगा। 

अपना खाना खुद ही घर पर बनाएं

आपका भोजन तभी हेल्दी और पौष्टिक हो सकता है। जब आप उसे सही मात्रा में खुद से ही बनाएं। जब आप खाना खुद बनाएंगी तो आप उसमें अपने वेट लॉस डायट चार्ट के अनुसार बना सकते हैं और फॉलो कर सकते हैं। साथ ही आप अपने कैलोरी को भी नियंत्रित रख सकते हैं। 

और पढ़ें : हेल्दी हार्ट से लेकर वेट लॉस तक, जानिए जंपिंग जैक के 10 फायदे

खुद की थाली में डालें छोटा हिस्सा

आप जब भी खाने बैठें तो अपने बर्तनों का चुनाव छोटा कर लें। इसका मतलब यह है कि आप खाना खाने के लिए छोटे प्लेट्स, कटोरियां और कप का ही प्रयोग करें। इससे आपको वेट लॉस डायट चार्ट को फॉलो करने में मदद मिलेगी। अगर आप ज्यादा बड़े बर्तन लेंगे तो ज्यादा खाना खा जाते हैं। इसलिए छोटा बर्तन रहेगा तो आप नियंत्रित मात्रा में ही खाएंगे। 

ज्यादा से ज्यादा पानी पिएं (Drink More Water)

पानी हर मर्ज की दवा हैं। इसलिए अगर वेट लॉस डायट चार्ट को फॉलो करना है तो पानी उसके लिए सोने पर सुहागा जैसा होगा। आप खूब पानी पिएं, लगभग दिन में 10 गिलास पानी तो जरूर पिएं।

और पढ़ें : वेट लॉस से लेकर जॉइंट पेन तक, जानिए क्रैब वॉकिंग के फायदे

डिनर से ज्यादा ब्रेकफास्ट पर दें ध्यान

अध्ययन बताते हैं कि नाश्ते में ज्यादा और डिनर में कम कैलोरी लेने से आप जल्दी वेट लॉस कर सकते हैं। इसके लिए आप नाश्ते में ही ज्यादा कैलोरी को लेने की कोशिश करें। वहीं, रात में बहुत हल्का और कम कैलोरी का सेवन करें। 

रोजाना 14 घंटे का व्रत रखें

आप अपने डिनर और ब्रेकफास्ट में लगभग 14 घंटे का अतर रखें। ऐसा करने से आपका पाचन तंत्र दुरुस्त रहेगा। साथ ही आपका वजन भी घटेगा। वेट लॉस डायट चार्ट के नियम में लगभग 14 घंटे के व्रत का नियम भी जोड़ लें।

यह भी पढ़ें : खुल गया सारा के वेट लॉस का राज, फिटनेस डॉक्टर ने किया खुलासा 

रोजाना का वर्कआउट करेगा वेट लॉस 

वेट लॉस डायट चार्ट को फॉलो करते हुए अगर आप रोजाना वर्कआउट करते हैं तो और जल्दी वजन घटेगा। इसलिए आप कोशिश करें कि साइकलिंग, वॉकिंग, जॉगिंग आदि करें। साथ ही प्लैंक्स, स्क्वैट्स, पुशअप्स आदि करने से ज्यादा फायदा होगा।

डिस्क्लेमर

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

के द्वारा मेडिकली रिव्यूड

डॉ. हेमाक्षी जत्तानी

डेंटिस्ट्री · Consultant Orthodontist


Manjari Khare द्वारा लिखित · अपडेटेड 04/07/2022

advertisement iconadvertisement

Was this article helpful?

advertisement iconadvertisement
advertisement iconadvertisement