Fireweed: फायरवीड क्या है?

चिकित्सक द्वारा समीक्षित | द्वारा

अपडेट डेट मई 26, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें
अब शेयर करें

परिचय

फायरवीड क्या है?

फायरवीड एक हर्ब है। इस पौधे का वह भाग जो जमीन के ऊपर उगता है, उसका प्रयोग दवाई बनाने के लिए किया जाता है। इस का प्रयोग दर्द, सूजन, बुखार, ट्यूमर, घाव आदि के इलाज के लिए किया जाता है। इसका प्रयोग एस्ट्रिंजेंट और टॉनिक के रूप में भी किया जा सकता है। फायरवीड के फूल, पत्ते, जूस, जड़ आदि भी प्रयोग में लाए जा सकते हैं। इस हर्ब के ताजे जूस का प्रयोग अमेरिका और यूरोप में जलने के घावों को आराम पहुंचाने और त्वचा की जलन को कम करने के लिए किया जाता है। इस जूस का प्रयोग क्रीम, लोशन, आफ्टर शेव आदि उत्पादों में किया जाता है।

फायरवीड का प्रयोग इन रोगों के उपचार में किया जाता है:

  • दर्द और सूजन (जलन)
  • बुखार
  • ट्यूमर
  • घाव
  • बढ़े हुए प्रोस्टेट को ठीक करने में (बिनाइन प्रोस्टेटिक हाइपरप्लासिया, बीपीएच)
  • एक अस्ट्रिंजेंट
  • एक टॉनिक के रूप में

फायरवीड कैसे काम करता है?

फायरवीड नाम की इस हर्ब को कई नामों से जाना जाता है जैसे अडेल्फीला (Adelfilla ), ब्लड वाइन (Blood Vine), ब्लूमिन्ग सैली (Blooming Sally),फ्लॉवरिंग विलो (Flowering Willow), पर्पल राकेट (Purple Rocket) आदि। यह हर्बल सप्लीमेंट कैसे काम करता है, इस बारे में पर्याप्त अध्ययन नहीं किया गया है। अधिक जानकारी के लिए अपने डॉक्टर या औषधि विशेषज्ञ से बात करें। हालांकि, कुछ अध्ययनों से पता चला है कि फायरवीड में कुछ ऐसे पदार्थ हो सकते हैं, जो सूजन (जलन) को कम करते हैं।

यह भी पढ़ें: क्या लौंग लगा सकती है आपके स्वास्थ्य में चार चांद?

सावधानियां और चेतावनी

फायरवीड का प्रयोग करने से पहले मेरा क्या जानना जरूरी है?

इन स्थितियों में अपने डॉक्टर या फार्मासिस्ट या औषधि विशेषज्ञ से सलाह लें:

  • अगर आप गर्भवती हैं या ब्रेस्टफीडिंग करा रही हैं। ऐसा इसलिए क्योंकि जब आप गर्भवती होती हैं या अपने शिशु को दूध पिलाती हैं, तो आपको केवल उन्हीं दवाईयों का सेवन करना चाहिए जिनकी सलाह डॉक्टर देते हैं।
  • अगर आप कोई और दवाई ले रहे हों। इसमें वो हर दवाई शामिल है जो डॉक्टर की सलाह के बिना भी आप लेते हैं।
  • अगर आपको फायरवीड में मौजूद किसी भी पदार्थ या किसी अन्य दवाई या हर्बल से एलर्जी है।
  • अगर आपको कोई और बीमारी, विकार या मेडिकल समस्या है।
  • अगर आपको किसी भी खाने की चीज, डाई, परिरक्षक या जानवरों से एलर्जी है।

हर्बल सप्लीमेंट के नियम किसी अन्य दवाई के नियमों से कम सख्त होते है, लेकिन इन हर्बल सप्लीमेंट की सुरक्षा के बारे में अधिक अध्ययन करने की जरूरत है। हर्बल सप्लीमेंटस का प्रयोग करने से पहले इनके जोखिमों के बारे में अवश्य जान लें। अधिक जानकारी के लिए अपने हर्बल विशेषज्ञ या डॉक्टर से मिलें।

फायरवीड का उपयोग कितना सुरक्षित है? 

अधिकतर वयस्कों के लिए फायरवीड का उपयोग करना पूरी तरह से सुरक्षित है।

गर्भावस्था और स्तनपान: गर्भावस्था और स्तनपान के दौरान इस हर्ब के प्रयोग के बारे में अधिक जानकारी नहीं है, लेकिन स्तनपान और गर्भावस्था के दौरान कोई भी हर्ब या दवाईयों आदि का सेवन बिना डॉक्टर की सलाह के नहीं करना चाहिए। कोई भी हर्ब या दवाई शिशु और माँ दोनों के लिए हानिकारक हो सकती है। ऐसे में किसी भी समस्या से बचने के लिए सुरक्षित रहें और इसके सेवन से बचें।

यह भी पढ़ें: ब्रेस्टफीडिंग बचा सकता है आपको जानलेवा बीमारी से

साइड इफेक्ट्स

फायरवीड (Fireweed) से मुझे क्या साइड इफेक्ट्स हो सकते हैं?

फायरवीड यूनाइटेड स्टेट ऑफ अमेरिका, कनाडा और यूरोप के कुछ भागों में पाई जाने वाली हर्ब है। इस पौधे की सबसे खास बात इसका पिंकिश-पर्पल रंग के फूल हैं। इस फूल की चार पंखुड़ियां होती हैं।

फायरवीड को मुंह के माध्यम से लेना: यहां कोई ऐसी विश्वसनीय जानकारी उपलब्ध नहीं है कि इस जड़ी-बूटी को मुंह के माध्यम से लेना सुरक्षित है या नहीं, या इसका कोई साइड इफेक्ट हो सकता है।

फायरवीड को त्वचा पर लगाने से: ऐसी कोई विश्वसनीय जानकारी उपलब्ध नहीं है कि इस जड़ी-बूटी को त्वचा पर लगाना सुरक्षित है या नहीं, या इसका कोई साइड इफेक्ट हो सकता है।

अगर आप इस जड़ी-बूटी के साइड इफेक्ट्स को लेकर परेशान हैं तो अपने डॉक्टर या औषधि विशेषज्ञ से सलाह लें।

यह भी पढ़ें: बच्चों को टीका लगवाने के बाद अगर दिखाई दें ये साइड-इफेक्ट्स तो तुरंत जाएं डॉक्टर के पास

इंटरेक्शन

फायरवीड के उपयोग से मुझे क्या प्रभाव पड़ सकता है?

यह हर्बल सप्लीमेंट आपके मौजूदा दवाई या मेडिकल स्थिति के साथ मिलकर आपके स्वास्थ्य को प्रभावित कर सकता है। ऐसे में इसके उपयोग से पहले अपने औषधि विशेषज्ञ या डॉक्टर से सलाह अवश्य लें। अपनी मर्जी या किसी भी व्यक्ति के कहने या सलाह पर इसके सेवन से बचें। हर्बल प्रोडक्ट्स के नुकसान होते हैं ऐसा सोचकर किसी भी हर्ब का बिना डॉक्टर से पूछे उपयोग करना परेशानी का सबब बन सकता है।

यह भी पढ़ें: Glycomacropeptide: ग्लाइकोमाक्रोपाइड क्या है?

डोसेज

यहां प्रदान की गई जानकारी मेडिकल सलाह का विकल्प नहीं है। इसलिए, हमेशा इस दवाई का प्रयोग करने से पहले अपने औषधि विशेषज्ञ या डॉक्टर से सलाह लें।

फायरवीड को लेने की सही खुराक क्या है?

इस हर्बल सप्लीमेंट की खुराक हर रोगी के लिए अलग हो सकती है। इसकी कितनी खुराक लेनी है, यह आपकी उम्र, स्वास्थ्य और अन्य कई स्थितियों पर निर्भर करता है। इस समय ऐसी कोई वैज्ञानिक जानकारी मौजूद नहीं है जिससे फायरवीड की सही डोज का अंदाजा लगाया जा सके। ध्यान रखें कि प्राकृतिक उत्पाद हमेशा सुरक्षित नहीं होते हैं और उनका डोज महत्वपूर्ण हो सकता है। इस बात का ध्यान रखें कि हमेशा प्रोडक्ट लेवल के ऊपर लिखी जानकारियों और निर्देशों का पालन करें और किसी भी हर्ब का प्रयोग करने से पहले अपने डॉक्टर, फार्मासिस्ट या अन्य हेल्थकेयर प्रोफेशनल की राय लेना न भूलें। इसकी कितनी मात्रा लेनी चाहिए जिसके बारे में जानने के लिए अपने औषधि विशेषज्ञ या डॉक्टर की सलाह अवश्य लें।

किन रूपों में उपलब्ध है फायरवीड?

यह हर्बल सप्लीमेंट इन डोसेज के रूपों में पाया जा सकता है:

  • फायरवीड ड्रॉपर-1 oz

हमें उम्मीद है कि फायरवीड हर्ब पर लिखा गया यह आर्टिकल आपको पसंद आया होगा। इस आर्टिकल में हमने इस हर्ब से जुड़ी सभी प्रकार की जरूरी जानकारी देने की कोशिश की है। अगर आपको इस आर्टिकल में बताई गई कोई स्वास्थ्य समस्या है तो इस हर्ब का उपयोग आप कर सकते हैं, लेकिन डॉक्टर की सलाह से। अगर इस हर्ब के बारे में आप और अधिक जानकारी चाहते हैं तो आपने डॉक्टर या हर्बलिस्ट से संपर्क करें।

हैलो हेल्थ किसी भी प्रकार की मेडिकल सलाह, निदान या उपचार प्रदान नहीं करता है और न ही इसके लिए जिम्मेदार है।

और पढ़ें: 

क्या हेपेटाइटिस से होता है सिरोसिस या लिवर कैंसर?

चोट के घाव को जल्‍द भरने के लिए अपनाएं ये 10 असरदार घरेलू उपचार

Soldier’s Wound: सैनिकों के जख्म का इलाज कैसे किया जाता है?

बच्चों की स्किन में जलन के लिए बेबी वाइप्स भी हो सकती हैं जिम्मेदार!

Japanese Persimmon: जापानी परसीमन क्या है?

हैलो हेल्थ ग्रुप चिकित्सा सलाह, निदान या उपचार प्रदान नहीं करता है

क्या यह आर्टिकल आपके लिए फायदेमंद था?
happy unhappy
सूत्र

शायद आपको यह भी अच्छा लगे

पथरी का आयुर्वेदिक इलाज क्या है? जानें कौन सी जड़ी-बूटी होगी असरदार

पथरी का आयुर्वेदिक इलाज इन हिंदी, किडनी की पथरी का आयुर्वेदिक इलाज कैसे करें, किडनी स्टोन का इलाज कैसे करें, Ayurvedic Medicine and Treatment for Stone

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pooja Daphal
के द्वारा लिखा गया Shayali Rekha

कमरख के फायदे एवं नुकसान – Health Benefits of Carambola (Star Fruit)

जानिए कमरख फल के फायदे और नुकसान, स्टार फ्रूट क्या है, Carambola के सेवन से होने वाले साइड इफेक्ट्स, Star Fruit in Hindi.

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pooja Daphal
के द्वारा लिखा गया Ankita mishra

Fatty Liver : फैटी लिवर क्या है? जानें इसके कारण, लक्षण और उपाय

फैटी लिवर जो कि सिरोसिस के बाद लिवर फेलियर तक का कारण बन सकती है। आइए जानते हैं कि, इसे कैसे कंट्रोल किया जाए। Fatty Liver in Hindi.

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Surender aggarwal
हेल्थ कंडिशन्स, स्वास्थ्य ज्ञान A-Z जून 12, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें

cital syrup: सिटल सिरप क्या है? जानिए इसके उपयोग और साइड इफेक्ट्स

सिटल सिरप दवा की जानकारी in hindi. इस्तेमाल, डोज, साइड इफेक्ट्स और चेतावनी को जानने के साथ इसके इंटरैक्शन और इसे कैसे स्टोर करें जानने के लिए पढ़ें ये आर्टिकल।

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Satish singh

Recommended for you

हृदय रोग का आयुर्वेदिक उपचार- Ayurvedic treatment for Heart disease

सीने में दर्द, पैरों में सूजन और थकावट कहीं आपको दिल से बीमार न बना दे!

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Nidhi Sinha
प्रकाशित हुआ दिसम्बर 3, 2020 . 8 मिनट में पढ़ें
Lipodystrophy

लिपोडास्ट्रोफी और इससे जुड़ी बीमारियों को जानें और समझें

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Satish singh
प्रकाशित हुआ जुलाई 23, 2020 . 6 मिनट में पढ़ें
हृदय रोग डायट प्लान-Diet plan for heart disease

हृदय रोग के लिए डायट प्लान क्या है, जानें किन नियमों का करना चाहिए पालन?

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Satish singh
प्रकाशित हुआ जुलाई 14, 2020 . 6 मिनट में पढ़ें
बच्चों को नैतिक शिक्षा

बच्चों को नैतिक शिक्षा और सीख देने के क्या हैं फायदे? कम उम्र में सीखाएं यह बातें

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Satish singh
प्रकाशित हुआ जुलाई 8, 2020 . 6 मिनट में पढ़ें