home

What are your concerns?

close
Inaccurate
Hard to understand
Other

लिंक कॉपी करें

May Apple: 'मे एप्पल' क्या है?

परिचय|उपयोग|सावधानियां और चेतावनी|साइड इफेक्ट्स|डोसेज|उपलब्ध
May Apple: 'मे एप्पल' क्या है?

परिचय

‘मे एप्पल’ क्या है?

‘मे एप्पल’ एक पौधा है जो दूसरे पौधों से काफी अलग है। इसकी सिर्फ दो पत्तियां होती हैं। इन पत्तियों के नीचे फूल निकलता है। हर पौधे पर बस एक ही फूल होता है, जो सफेद रंग का होता है। कुछ पौधों में एक पत्ती होती है। एक पत्ती वाले पौधे पर फूल नहीं आते। इसका वैज्ञानिक नाम पोडोफाइलम पेल टेटम (Podophyllum peltatum) है। ये बरबरीडेसी [Berberidaceae] परिवार से ताल्लुक रखता है। इसका प्रयोग जननांग मस्से और बालों वाली ल्यूकोप्लाकिया के इलाज के लिए किया जाता है।

इस फल को बिना पकाये या फिर कच्चा खाया जा सकता है लेकिन, यह अच्छी तरह पेड़ में पका हुआ होना चाहिए । इससे जेम-जेली जैसे खाद्य पदार्थ भी बनाये जाते हैं। वैसे इस फल को सुखाकर और बाद में भी खाया जा सकता है। ध्यान रखें इसके बीज को खाया नहीं जाता है।

और पढ़ें: Dragon’s blood: ड्रैगन ब्लड क्या है?

उपयोग

‘मे एप्पल’ का उपयोग किस लिए किया जाता है?

इसका उपयोग निम्नलिखित बीमारियों के लिए किया जाता है। जैसे-

मे एप्पल को मस्सों को हटाने के लिए सीधे स्किन पर लगाया जाता है, जिसमें पैर के तलवों में होने वाले और जननांग में होने वाले मस्से भी शामिल हैं। इसे कैंसर से पहले जीभ और मुंह पर होने वाले सफेद पैच के इलाज के लिए भी उपयोग किया जाता है।

और पढ़ें: Balsam Of Peru: बॉल्सम पेरू क्या है?

इस फल से जुड़े फैक्ट्स क्या हैं?

इस फल से जुड़े फैक्ट्स निम्नलिखित हैं। जैसे-

  • यह महिलाओं में होने वाले इंफेक्शन खासकर गर्भाशय से जुड़े संक्रमण को दूर करने में सहायक है।
  • लिवर और बाउल को हेल्दी रखने के लिए इसका सेवन किया जा सकता है।
  • इसके सेवन से कैंसर की संभावना कम होती है। वैसे यह कैंसर के इलाज के दौरान कैंसर पेशेंट को दिए जाने वाली दवाओं में भी दिया जाता है।
  • स्मॉल सेल कार्सिनेमा (small-cell carcinoma) के इलाज के लिए इसका सेवन किया जा सकता है।
  • डायरिया के इलाज में इसका सेवन किया जाता है।
  • कॉर्न्स (Corns) के इलाज के लिए हेल्थ एक्सपर्ट इसका उपयोग कर सकते हैं। डॉक्टर्स के अनुसार कॉर्न्स की समस्या इससे पूरी तरह ठीक हो सकती है।
  • इस फल को अच्छी तरह से चबा कर खाना चाहिए। इसे सीधी तरह से निगलने के कारण उल्टी होने की संभावना बनी रहती है।
  • इस फल के अत्यधिक सेवन से भी परेशानी महसूस हो सकती है और पेट से जुड़ी परेशानी हो सकती है।
  • मुहं में होने वाली परेशानी ल्यूकोप्लाकिया (Leukoplakia) की परेशानी भी इसके सेवन से दूर हो सकती है। दरअसल इस बीमारी में मुंह में पैच आने लगते हैं।

कैसे काम करता है ‘मे एप्पल’?

मे एप्पल कैसे काम करता है इस बारे में कोई पर्याप्त जानकारी नहीं है। इसके बारे में अधिक जानने के लिए अपने डॉक्टर या हर्बलिस्ट से कंसल्ट करें। हालांकि कुछ शोध बताते हैं कि पोडोफाइलम सेल डुप्लिकेशन और उसके नए विकास को रोक सकता है। इसका रेचक प्रभाव भी हो सकता है।

[mc4wp_form id=”183492″]

सावधानियां और चेतावनी

कितना सुरक्षित है ‘मे एप्पल’ का उपयोग?

निम्नलिखित परिस्थितियों में इसका इस्तेमाल करने से पहले डॉक्टर या हर्बलिस्ट से सलाह लें:

  • यदि आप प्रेग्नेंट या ब्रेस्टफीडिंग करा रही हैं। दोनों ही स्थितियों में सिर्फ डॉक्टर की सलाह पर ही दवा खानी चाहिए।
  • यदि आप अन्य दवाइयां ले रही हैं। इसमें डॉक्टर की लिखी हुई और गैर लिखी हुई दवाइयां शामिल हैं, जो मार्केट में बिना डॉक्टर के प्रिस्क्रिप्शन के खरीद के लिए उपलब्ध हैं।
  • यदि आपको मे एप्पल के किसी पदार्थ, अन्य दवा या औषधि से एलर्जी है।
  • यदि आपको कोई बीमारी, डिसऑर्डर या कोई अन्य मेडिकल कंडिशन है।
  • यदि आपको फूड, डाई, प्रिजर्वेटिव्स या जानवरों से अन्य प्रकार की एलर्जी है।

अन्य दवाइयों के मुकाबले औषधियों के संबंध में रेग्युलेटरी नियम अधिक सख्त नही हैं। इनकी सुरक्षा का आंकलन करने के लिए अतिरिक्त अध्ययनों की आवश्यकता है। मे एप्पल का इस्तेमाल करने से पहले इसके खतरों की तुलना इसके फायदों से जरूर की जानी चाहिए। इसकी अधिक जानकारी के लिए अपने हर्बलिस्ट या डॉक्टर से सलाह लें।

ये लोग बरतें खास सावधानी:

प्रेग्नेंसी और ब्रेस्टफीडिंग: मे एप्पल का सेवन करना सुरक्षित है या नहीं, इस संबंध में पर्याप्त जानकारी उपलब्ध नहीं है। सुरक्षा के लिहाज से इसका सेवन करने से बचें। डॉक्टर से कंसल्ट करें बिना इसका सेवन करने की गलती न करें। इससे मिसकैरेज होने का खतरा रहता है।

और पढ़ें: Evening Primrose Oil: ईवनिंग प्रिमरोज ऑयल क्या है?

साइड इफेक्ट्स

‘मे एप्पल’ से मुझे क्या साइड इफेक्ट्स हो सकते हैं?

मे एप्पल के निम्नलिखित साइड इफेक्ट्स हो सकते हैं। जैसे-

हालांकि हर किसी को ये साइड इफेक्ट हो ऐसा जरुरी नहीं है, कुछ ऐसे भी साइड इफेक्ट हो सकते हैं, जो ऊपर बताए नहीं गए हैं। अगर आपको इनमें से कोई भी साइड इफेक्ट महसूस हो या आप इनके बारे में और जानना चाहते हैं तो नजदीकी डॉक्टर से संपर्क करें।

डोसेज

‘मे एप्पल’ को लेने की सही खुराक क्या है?

ह्यूमन पैपिलोमा वायरस यानी एचपीवी के कारण जननांग में मस्से होना, जिन्हें वॉर्ट्स भी कहा जाता है। इससे बने टॉपिकल जेल (0.5% पोड़ोफाइलोटॉक्सिन) को तीन दिन तक रोजाना दो बोर लगाएं। पोड़ोफाइलोटॉक्सिन ‘मे एप्पल’ से पाए जाने वाला केमिकल है।

इस हर्बल सप्लिमेंट की खुराक हर मरीज के लिए अलग हो सकती है। आपके द्वारा ली जाने वाली खुराक आपकी उम्र, स्वास्थ्य और अन्य कई चीजों पर निर्भर करती है। हर्बल सप्लिमेंट हमेशा सुरक्षित नहीं होते हैं। इसलिए सही खुराक की जानकारी के लिए हर्बलिस्ट या डॉक्टर से चर्चा करें।

और पढ़ें: Wild Mint: वाइल्ड मिंट क्या है?

उपलब्ध

किन रूपों में उपलब्ध है ‘मे एप्पल’?

मे एप्पल निम्नलिखित रूपों में उपलब्ध है:

  • टॉपिकल जेल
  • ओरल ड्रोप्स

इसका सेवन शारीरिक पहुंचा सकता है लेकिन, इसके अत्यधिक सेवन शरीर के लिए हानिकारक होता है। अगर आप मे एप्पल से जुड़े किसी तरह के कोई सवाल का जवाब जानना चाहते हैं तो विशेषज्ञों से समझना बेहतर होगा। हैलो हेल्थ ग्रुप किसी भी तरह की मेडिकल एडवाइस, इलाज और जांच की सलाह नहीं देता है।

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

लेखक की तस्वीर
Mona narang द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 10/09/2020 को
Dr Sharayu Maknikar के द्वारा एक्स्पर्टली रिव्यूड