home

हम इसे कैसे बेहतर बना सकते हैं?

close
chevron
इस आर्टिकल में गलत जानकारी दी हुई है.
chevron

हमें बताएं, क्या गलती थी.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
इस आर्टिकल में जरूरी जानकारी नहीं है.
chevron

हमें बताएं, क्या उपलब्ध नहीं है.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
हम्म्म... मेरा एक सवाल है
chevron

हम निजी हेल्थ सलाह, निदान और इलाज नहीं दे सकते, पर हम आपकी सलाह जरूर जानना चाहेंगे। कृपया बॉक्स में लिखें।

wanring-icon
यदि आप कोई मेडिकल एमरजेंसी से जूझ रहे हैं, तो तुरंत लोकल एमरजेंसी सर्विस को कॉल करें या पास के एमरजेंसी रूम और केयर सेंटर जाएं।

लिंक कॉपी करें

वॉटर प्लान्टेन के फायदे और नुकसान - Health Benefits of Water Plantain

परिचय|सावधानियां और चेतावनी|साइड इफेक्ट्स|डोसेज|किन रूपों में उपलब्ध है वॉटर प्लान्टेन (Water Plantain)?
वॉटर प्लान्टेन के फायदे और नुकसान - Health Benefits of Water Plantain

परिचय

वॉटर प्लान्टेन (Water Plantain) क्या है?

वॉटर प्लान्टेन एक पानी वाला पौधा है। इसका वानस्पातिक नाम Alisma है। ये Alismataceae परिवार से ताल्लुख रखता है। इसे एलिस्मा ब्रीवाइप्स (Alisma brevipes), एलिस्मा प्लांटागो (Alisma plantago) ब्रीवाइप्स (Brevipes) के नाम से भी जाना जाता है। ये एक पानी वाला पौधा है जो पानी के धीरे बहाव वाली जगहों पर पाया जाता है। चाइनीज दवाओं में इसका प्रयोग सालों से किया जा रहा है। जंगल में रहने वाले लोग इसकी चाय बनाकर भी पीते हैं। इसकी पत्तियां ओवल और दिल की शेप की होती हैं। इस पौधे पर सफेद, पिंक और पर्पल कलर के फूल आते हैं। इसकी जड़ और जमीन के अंदर के तने का इस्तेमाल दवाओं में किया जा रहा है। आमतौर पर इसका इस्तेमाल ब्लेडर और यूरिनरी ट्रैक्ट संबंधित परेशानियों के लिए किया जाता है।

वॉटर प्लान्टेन (Water Plantain) का उपयोग किसलिए किया जाता है?

इसका इस्तेमाल निम्नलिखित परेशानियों के लिए किया जाता है:

  • ब्लेडर और यूरिनरी ट्रैक्ट इंफेक्शन (Bladder and urinary tract infection)
  • एडिमा (Edema)
  • डायरिया (Diarrhea)
  • वजायना डिसचार्ज (Vagina discharge)
  • स्ट्रेंगयुरी (strangury)
  • चक्कर आना (Dizziness)
  • यूरिन करने में दर्द होना (Urine pain)
  • वीर्य का उत्सर्जन (Emission of semen)
  • रात को पसीना आना (Night sweats)
  • एसिड रिफलक्स (Acid Reflux)

इसकी पत्तियों को डाययूरेटिक और डायफोरेटिक के तौर पर इस्तेमाल किया जाता है। ये गुर्दे की पथरी, सिस्टिटिस, पेचिश और मिर्गी के इलाज में मदद करता है। इसकी जड़ का प्रयोग हाइड्रोफोबिया को ठीक करने के लिए किया जाता है। हालांकि, इसे लेकर अधिक शोध की जरूरत है।

कई शोध के अनुसार यह हाई कोलेस्ट्रॉल और हाई ब्लड प्रेशर के इलाज के लिए भी कारगर है। इसके अलावा लिवर रोगों के लिए भी इसे फायदेमंद माना जाता है। सिस्ट के इलाज के लिए भी इसका इस्तेमाल उपयोगी माना जा जाता है।
किडनी स्टोन के ट्रीटमेंट के लिए भी इसका प्रयोग किया जाता है। कुष्ठ रोग (Leprosy) के इलाज में भी इसकी सलाह दी जाती है, लेकिन कभी भी खुद से इसका इस्तेमाल न करें। इसका इस्तेमाल करने से पहले एक बार अपने चिकित्सक या हर्बलिस्ट से जरूर परामर्श लें।

वॉटर प्लान्टेन (Water Plantain) से होने वाले फायदे जानिए

वॉटर प्लान्टेन (Water Plantain) से वजन होता है कम

अगर आपका वजन बढ़ गया है तो वॉटर प्लान्टेन का इस्तेमाल वजन कम करने के लिए किया जा सकता है। इसका उपयोग करने से ब्लड प्रेशर कंट्रोल होता है और साथ ही कोलेस्ट्रॉल भी नियंत्रित रहता है।वॉटर प्लान्टेन को हेल्दी डायट के रूप में कैसे उपयोग किया जा सकता है, इस बारे में आप हर्बल एक्सपर्ट से जानकारी ले सकते हैं।

किडनी की समस्या में देता है राहत

स्टडी में ये बात सामने आई है कि वॉटर प्लान्टेन अच्छा डाययूरेटिक होता है जो कि प्रॉपर रीनल फंक्शन को मेंटेन करने का काम करता है। प्रॉपर फिल्टर के साथ ही ये बॉडी से टॉक्सिन और वेस्ट को भी बाहर करता है। इसका दिन में कितनी मात्रा में उपयोग करना है, इस बारे में हर्बल एक्सपर्ट से जानकारी जरूर लें।

बेहतर डायजेशन के लिए भी है उपयोगी है वॉटर प्लान्टेन

वॉटर प्लान्टेन में अच्छी मात्रा में डायटरी फाइबर पाया जाता है, जो प्रॉपर डायजेशन में हेल्प करता है। फाइबर की पर्याप्त मात्रा लेने से पाचन की समस्या से राहत मिलती है। पाचन सही होने पर शरीर को कई बीमारियों से भी बचाया जा सकता है। अगर आपको स्टमक में समस्या, हार्टबर्न, ब्लोटिंग, डायरिया आदि की समस्या है तो आप हर्बल एक्सपर्ट से पूछ सकते हैं कि आपको वॉटर प्लान्टेन का सेवन किस प्रकार से करना है। बिना जानकारी के वॉटर प्लान्टेन का सेवन न करें। हो सकता है कि आपको किसी हर्ब से एलर्जी हो, ऐसे में आपकी समस्या बढ़ सकती है।

बोंस को मिलती है स्ट्रेंथ

वॉटर प्लान्टेन में अच्छी मात्रा में कैल्शियम पाया जाता है। कैल्शियम हड्डियों की मजबूती के लिए बहुत जरूरी होता है। अगर आपके शरीर में कैल्शियम की कमी है तो वॉटर प्लान्टेन का सेवन किया जा सकता है। मसल्स, टीथ और बोंस की हेल्दी हेल्थ के लिए कैल्शियम की उचित मात्रा लेना बहुत जरूरी है। हड्डियों की बीमारी यानी ऑस्टियोपोरोसिस की समस्या होने पर भी वॉटर प्लान्टेन का उपयोग किया जा सकता है। एक बात का ध्यान रखें कि किसी भी हर्ब का यूज करने से पहले हर्बल एक्सपर्ट से परामर्श जरूर करें। साथ ही उन्हें ये भी बताएं कि आप पहले से किसी दवा का नियमित रूप से सेवन कर रहे हैं या नहीं। कई बार दवाओं के साथ वॉटर प्लान्टेन का रिएक्शन भी हो सकता है, जो स्वास्थ्य के लिए हानिकारक सिद्ध हो सकता है। अधिक जानकारी के लिए एक्सपर्ट से बात करें।

इम्यून सिस्टम मजबूत करने के लिए वॉटर प्लान्टेन

वॉटर प्लान्टेन में इम्यून सिस्टम को बूस्ट करने की क्षमता होती है। वॉटर प्लान्टेन में एंटी-इफ्लामेंट्री प्रॉपर्टी होती है। इस कारण से वॉटर प्लान्टेन का सेवन करने से बॉडी फ्री रेडिकल के डैमेज से बच सकती है। अगर आप हर्बल एक्सपर्ट के बताए गए डोज के अनुसार वॉटर प्लान्टेन का उपयोग करते हैं तो आपके शरीर की क्षमता बढ़ जाती है। बेहतर होगा कि आप इस बारे में एक्सपर्ट से परामर्श जरूर करें।

वॉटर प्लान्टेन उन लोगों के लिए एक विकल्प है जो चोट, घाव या खरोंच से पीड़ित हैं। वॉटर प्लान्टेन के पौधे की ताजा पत्ती चोट और सूजन को ठीक करने में मदद कर सकती है।

कैसे काम करता है वॉटर प्लान्टेन (Water Plantain)?

वॉटर प्लान्टेन कैसे काम करता है इस बारे में कोई वैज्ञानिक जानकारी नहीं है। इसके बारे में अधिक जानने के लिए अपने डॉक्टर या हर्बलिस्ट से कंसल्ट करें। हालांकि कुछ शोध बताते हैं कि इसमें डाययूरेटिक और डायफोरेटिक प्रॉपर्टीज होती हैं जो कई स्वास्थ्य समस्याओं में हमारी मदद करती हैं। इसके अलावा इसमें एंटीबैक्टीरियल, एस्ट्रिंजेंट, कॉन्ट्रासेप्टिव, डायफोरेटिक और हाइपोटेंसिव प्रॉपर्टीज होती हैं।

और पढ़ें: Celery Seeds: अजवाइन क्या है?

सावधानियां और चेतावनी

वॉटर प्लान्टेन (Water Plantain) के उपयोग से पहले मुझे क्या बातें मालूम होनी चाहिए?

निम्नलिखित परिस्थितियों में इसका इस्तेमाल करने से पहले डॉक्टर या हर्बलिस्ट से सलाह लें:

  • यदि आप प्रेग्नेंट या ब्रेस्टफीडिंग करा रही हैं। दोनों ही स्थितियों में सिर्फ डॉक्टर की सलाह पर ही दवा खानी चाहिए। प्रेग्नेंसी में इसके सेवन से मिसकैरेज होने का खतरा होता है।
  • यदि आप अन्य दवाइयां ले रही हैं। इसमें डॉक्टर की लिखी हुई और गैर लिखी हुई दवाइयां शामिल हैं, जो मार्केट में बिना डॉक्टर के प्रिस्क्रिप्शन के खरीद के लिए उपलब्ध हैं।
  • यदि आपको वॉटर प्लान्टेन या किसी पदार्थ या अन्य दवा या औषधि से एलर्जी है।
  • यदि आपको कोई बीमारी, डिसऑर्डर या कोई अन्य मेडिकल कंडिशन है।
  • यदि आपको फूड, डाई, प्रिजर्वेटिव्स या जानवरों से अन्य प्रकार की एलर्जी है।

अन्य दवाइयों के मुकाबले औषधियों के संबंध में रेग्युलेटरी नियम अधिक सख्त नही हैं। इनकी सुरक्षा का आंकलन करने के लिए अतिरिक्त अध्ययनों की आवश्यकता है। वॉटर प्लान्टेन का इस्तेमाल करने से पहले इसके खतरों की तुलना इसके फायदों से जरूर की जानी चाहिए। इसकी अधिक जानकारी के लिए अपने हर्बलिस्ट या डॉक्टर से सलाह लें।

कितना सुरक्षित है वॉटर प्लान्टेन का उपयोग?

वॉटर प्लान्टेन टॉक्सिक और असुरक्षित है। इसकी ताजा रूटस्टॉक को जहरीला माना जाता है। इसलिए खुद से इसका सेवन करने की गलती न करें। आपके द्वारा की गई छोटी सी लापरवाही सेहत के लिए हानिकारक साबित हो सकती है। हमेशा डॉक्टर से रिकमेंड के बाद ही इसका इस्तेमाल करना चाहिए। एक बात का खास ख्याल रखें। इसके साथ किसी तरह की ड्यूरेटिक दवा का सेवन न करें।

और पढ़ें: Fennel Seed: सौंफ क्या है?

साइड इफेक्ट्स

वॉटर प्लान्टेन (Water Plantain) से मुझे क्या साइड इफेक्ट्स हो सकते हैं?

वॉटर प्लान्टेन का इस्तेमाल करने से स्किन इरिटेशन हो सकती है। इसके अत्यधिक इस्तेमाल से हेमाट्युरिया, उल्टी आना, जी मिचलाना, पेट दर्द जैसी शिकायत हो सकती है।

हालांकि हर किसी को ये साइड इफेक्ट हो ऐसा जरूरी नहीं है, कुछ ऐसे भी साइड इफेक्ट हो सकते हैं, जो ऊपर बताए नहीं गए हैं। अगर आपको इनमें से कोई भी साइड इफेक्ट महसूस हो या आप इनके बारे में और जानना चाहते हैं तो नजदीकी डॉक्टर से संपर्क करें।

और पढ़ें: Papaya: पपीता क्या है?

डोसेज

वॉटर प्लान्टेन (Water Plantain) को लेने की सही खुराक क्या है?

इसकी खुराक हर मरीज के लिए अलग हो सकती है। आपके द्वारा ली जाने वाली खुराक आपकी उम्र, स्वास्थ्य और अन्य कई चीजों पर निर्भर करती है। हर्बल सप्लिमेंट हमेशा सुरक्षित नहीं होते हैं। कभी भी इसकी खुराक खुद से निर्धारित करने की गलती न करें। आपकी ये छोटी सी लापरवाही सेहत के लिए घातक साबित हो सकती है। इसलिए सही खुराक की जानकारी के लिए हर्बलिस्ट या डॉक्टर से चर्चा करें।

और पढ़ें: Sweet Vernal Grass: स्वीट वर्नल ग्रास क्या है?

किन रूपों में उपलब्ध है वॉटर प्लान्टेन (Water Plantain)?

वॉटर प्लान्टेन निम्नलिखित रूपों में उपलब्ध है:

  • वॉटर प्लान्टेन लिक्विड एक्सट्रैक्ट (Water Plantain Liquid Extract)
  • एनकैप्सुलेटेड वॉटर प्लान्टेन लिक्विड एक्सट्रैक्ट (Encapsulated Water Plantain Liquid Extract)

हम आशा करते हैं आपको हमारा यह लेख पसंद आया होगा। हैलो हेल्थ के इस आर्टिकल में इस हर्बल से जुड़ी ज्यादातर जानकारियां देने की कोशिश की है, जो आपके काफी काम आ सकती हैं। अगर आपको ऊपर बताई गई कोई सी भी शारीरिक समस्या है तो इस हर्ब का इस्तेमाल आपके लिए फायदेमंद हो सकता है। बस इस बात का ध्यान रखें कि हर हर्ब सुरक्षित नहीं होती। इसका इस्तेमाल करने से पहले अपने डॉक्टर या हर्बलिस्ट से कंसल्ट करें तभी इसका इस्तेमाल करें। वॉटर प्लान्टेन से जुड़ी यदि आप अन्य जानकारी चाहते हैं तो आप हमसे कमेंट कर पूछ सकते हैं।

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र

Water Plantain https://plants.usda.gov/core/profile?symbol=ALSU Accessed November 14, 2019

Water Plantain https://www.flowersofindia.net/catalog/slides/Common%20Water%20Plantain.html  Accessed November 14, 2019

Water Plantain http://vro.agriculture.vic.gov.au/dpi/vro/vrosite.nsf/pages/sip_water_plantain    Accessed November 14, 2019

Water Plantain https://plants.ces.ncsu.edu/plants/alisma-plantago-aquatica/ Accessed November 14, 2019

 

 

 

लेखक की तस्वीर badge
Mona narang द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 19/08/2020 को
डॉ. हेमाक्षी जत्तानी के द्वारा मेडिकली रिव्यूड
x