home

हम इसे कैसे बेहतर बना सकते हैं?

close
chevron
इस आर्टिकल में गलत जानकारी दी हुई है.
chevron

हमें बताएं, क्या गलती थी.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
इस आर्टिकल में जरूरी जानकारी नहीं है.
chevron

हमें बताएं, क्या उपलब्ध नहीं है.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
हम्म्म... मेरा एक सवाल है
chevron

हम निजी हेल्थ सलाह, निदान और इलाज नहीं दे सकते, पर हम आपकी सलाह जरूर जानना चाहेंगे। कृपया बॉक्स में लिखें।

wanring-icon
यदि आप कोई मेडिकल एमरजेंसी से जूझ रहे हैं, तो तुरंत लोकल एमरजेंसी सर्विस को कॉल करें या पास के एमरजेंसी रूम और केयर सेंटर जाएं।

लिंक कॉपी करें

Carlina: कार्लिना क्या है?

परिचय|उपयोग|चेतावनी और सावधानियां|साइड इफेक्ट्स|डोसेज

परिचय

कार्लिना (carlina) क्या है?

कार्लिना एक ऐसा पौधा है जिसकी जड़ों का प्रयोग दवाई बनाने के लिए किया जाता है। लोग कार्लिना का गॉलब्लेडर से जुड़े रोगों, कमजोर पाचन क्रिया, पेट और आंतों की ऐंठन जैसी परेशानियों को दूर करने के लिए उपयोग करते हैं। इसे टॉनिक के रूप में भी लिया जा सकता है। वहीं कई लोग कार्लिना को त्वचा पर लगाते हैं। इस जड़ी-बूटी को त्वचा में लगाने से कई त्वचा संबंधी परेशानियों से छुटकारा मिल सकता है। इस जड़ी-बूटी के लाभ यहीं कम नहीं होते। इसके प्रयोग से अल्सर का उपचार और जीभ का कैंसर भी ठीक होता है। कार्लिना के बनी दवाइयां दांत के दर्द और मुहांसों को दूर करने के लिए भी काम में आती हैं। यानी, इस हर्ब से कई बीमारियां दूर की जा सकती हैं।

और पढ़ें: सोने से पहले ब्लडप्रेशर की दवा लेने से कम होगा हार्ट अटैक का खतरा

उपयोग

कार्लिना का उपयोग किसलिए किया जाता है?

इसका उपयोग दवाई के रूप में इन बीमारियों से छुटकारा पाने के लिए किया जाता है, जैसे:

  • गॉलब्लेडर संबंधी रोग
  • कमजोर पाचन
  • एसोफैगस, पेट, और आंतों की ऐंठन
  • मूत्रवर्धक के रूप में
  • टॉनिक के रूप में
  • पसीना लाने के लिए

और पढ़ें- फालसा के फायदे एवं नुकसान – Health Benefits of Phalsa (Grewia Asiatica)

इसे त्वचा पर लगाया जाता है ताकि उनसे इन स्थितियों में लाभ हो:

और पढ़ें: आई कैंसर (eye cancer) के लक्षण, कारण और इलाज, जिसे जानना है बेहद जरूरी

चेतावनी और सावधानियां

  • आप प्रेग्नेंट हैं तो आपको इस जड़ी-बूटी का सेवन नहीं करना चाहिए या तभी करना चाहिए जब डॉक्टर ने इसकी सलाह दी हो। क्योंकि, इसका सेवन करना गर्भ में पल रहे शिशु के लिए हानिकारक हो सकता है। सुरक्षित रहने के लिए अपने डॉक्टर से पूरी जानकरी लें।
  • आप स्तनपान करा रही हैं तो उस स्थिति में भी आपको डॉक्टर की सलाह के बिना इस दवाई को नहीं लेना चाहिए। क्योंकि, हो सकता है कि यह हर्ब ब्रेस्ट मिल्क से पास हो और आपके शिशु को नुकसान पहुंचाए। इसलिए प्रेग्नेंसी और ब्रेस्टफीडिंग दोनों ही स्थितियों में आपको केवल उन्ही दवाईयों का सेवन करना चाहिए जिन्हे खाने की सलाह आपके डॉक्टर ने दी हो।

और पढ़ें: Japanese Persimmon: जापानी परसीमन क्या है?

  • अगर आप कोई और दवाई ले रहे हैं या आपको कोई खास बीमारी आदि है तो इस दवाई को लेने से पहले अपने डॉक्टर की सलाह अवश्य लें।
  • कार्लिना से उन लोगों को एलर्जी हो सकती है जो एस्टेरसिया / कम्पोजिट जैसे पौधों के प्रति पहले से ही संवेदनशील हैं। इनमें रैगवेड, गुलदाउदी, गेंदा, डेजी और कई अन्य शामिल हैं। अगर आपको एलर्जी है तो आपको इसके सेवन से पहले अपने डॉक्टर से बात करनी चाहिए।

कितना सुरक्षित है कार्लिना का उपयोग?

कार्लिना का प्रयोग करना सुरक्षित है या नहीं, इसके बारे में पर्याप्त जानकारी उपलब्ध नहीं है। लेकिन अच्छी तरह से जानकारी लेने के बाद ही आप इस जड़ी-बूटी का सेवन करें। अपनी मर्जी से इसका सेवन न करें। अगर डॉक्टर ने आपको इस हर्ब को लेने की सलाह दी है तो इसे दूसरे रोगी के साथ शेयर न करें जिसे आपके समान समस्या हो, जब तक डॉक्टर उसे इस हर्ब को लेने के लिए न कहें।

और पढ़ें: जल्दी प्रेग्नेंट होने के टिप्स: आज से ही शुरू कर दें इन्हें अपनाना

साइड इफेक्ट्स

अन्य दवाईयों की तरह कार्लिना के भी कुछ दुष्प्रभाव हो सकते हैं। हालांकि ऐसा आवश्यक नहीं कि इस जड़ी-बूटी को लेने से सभी लोगों को साइड इफेक्ट्स हों। लेकिन, कुछ लोगों में कुछ दुष्प्रभाव देखे आ सकते हैं। अगर आपको इस हर्ब को खाने से कोई भी समस्या होती है या साइड इफेक्ट नजर आता है तो तुरंत अपने डॉक्टर को बताएं ताकि सही समय पर वो आपको सही सलाह दे सकें। सही मार्गदर्शन और सलाह के बाद ही इसे लें। अधिक लाभ पाने के लिए नियमित रूप से इस हर्ब का सेवन करें।

कार्लिना के बारे में सही जानकारी नहीं है जिससे यह पता चल सके कि यह दवाई सुरक्षित है। कार्लिना से होने वाले किसी तरह के साइड-इफेक्ट की जानकारी भी उपलब्ध नहीं है। अगर आपको इस दवाई को लेने के बाद कोई समस्या होती है तो अपने डॉक्टर को बताएं।

अगर आप इस हर्ब से होने वाले साइड इफेक्ट्स को लेकर चिंतित हैं, तो कृपा अपने औषधि विशेषज्ञ या डॉक्टर से परामर्श करें ।

और पढ़ें: ऑटिज्म की समस्या को दूर करने के लिए 5 प्रभावी दवाईयां

डोसेज

कार्लिना लेने की सही खुराक क्या है?

कार्लिना की सही खुराक कई चीजों पर निर्भर करती है जैसे रोगी की उम्र, स्वास्थ्य आदि। अभी ऐसी कोई वैज्ञानिक जानकारी उपलब्ध नहीं है जिससे पता चले कि कार्लिना की सही खुराक क्या है। इस बात का ध्यान रखें कि प्राकृतिक उत्पाद हमेशा सुरक्षित नहीं होते और इसकी अधिक डोज स्वास्थ्य के लिए हानिकारक हो सकती है। ऐसे में यह आवश्यक है कि आप इसका प्रयोग करने से पहले डॉक्टर या विशेषज्ञ से बात कर लें।

और पढ़ें: अल्जाइमर के कारण भूलने की समस्या के लिए पहली दवा विकसित

कार्लिना का प्रयोग कैसे किया जाता है?

इस पौधे का प्रयोग अधिकतर ओरल यानी बाहरी तरीके से किया जाता है। इस जड़ी-बूटी की जड़ की चाय बना कर रोगी को दी जा सकती है। इसकी जड़ को ऐसे ही पानी में उबाल कर इस पानी को रोगी को दिन में तीन बार रोगी को पीने के लिए देने से रोगी को लाभ होता है। कार्लिना के तेल में बेहतरीन एंटी बैक्टीरियल गुण पाए जाते हैं। इसलिए इसके तेल का त्वचा पर प्रयोग करने से भी बेहतरीन फायदे देखने को मिलते हैं।

किसी अन्य मेडिसिन के साथ इसे लेने से आपके स्वास्थ्य पर बुरा प्रभाव पड़ सकता है। अगर आप इस जड़ी-बूटी का सेवन कर रहे हैं तो किसी अन्य दवाई या जड़ी-बूटी का सेवन बिना डॉक्टर की सलाह के न करें। अन्यथा, आपको स्वास्थ्य संबंधी नुकसान या साइड इफेक्ट हो सकते हैं। इसलिए, किसी भी दवाई को लेने से पहले डॉक्टर या विशेषज्ञ का मार्गदर्शन अनिवार्य है।

हमें उम्मीद है कि कार्लिना हर्ब पर आधारित यह आर्टिकल आपके लिए उपयोगी साबित होगा। यहां हमने इस हर्ब से जुड़ी सभी प्रकार की जानकारी देने की कोशिश की है। अगर आपको यहां बताई गई कोई स्वास्थ्य समस्या है तो आप डॉक्टर की सलाह से इसका उपयोग कर सकते हैं।

हैलो हेल्थ ग्रुप किसी भी प्रकार की मेडिकल सलाह, निदान या उपचार प्रदान नहीं करता है और न ही इसके लिए जिम्मेदार है।

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र

Carlina.https://www.webmd.com/vitamins/ai/ingredientmono-100/carlina. Accessed december 18, 2018

Carlina.https://www.wellbeingherbs.com/blogs/herbalpedia/carlina-acaulis/. Accessed June 8, 2017

Carlina. https://herbpathy.com/Uses-and-Benefits-of-Carlina-Acaulis-Cid3051. Accessed June 8, 2017

Historical and traditional medical applications of Carlina acaulis L. – A critical ethnopharmacological review/https://www.researchgate.net/publication/332133319_Historical_and_traditional_medical_applications_of_Carlina_acaulis_L_-_A_critical_ethnopharmacological_review

Accessed on 23 March, 2020

Historical and traditional medical applications of Carlina acaulis L. – A critical ethnopharmacological review/https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pubmed/30948315/

Accessed on 23 March, 2020

लेखक की तस्वीर badge
Anu sharma द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 05/06/2020 को
डॉ. हेमाक्षी जत्तानी के द्वारा मेडिकली रिव्यूड
x