home

हम इसे कैसे बेहतर बना सकते हैं?

close
chevron
इस आर्टिकल में गलत जानकारी दी हुई है.
chevron

हमें बताएं, क्या गलती थी.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
इस आर्टिकल में जरूरी जानकारी नहीं है.
chevron

हमें बताएं, क्या उपलब्ध नहीं है.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
हम्म्म... मेरा एक सवाल है
chevron

हम निजी हेल्थ सलाह, निदान और इलाज नहीं दे सकते, पर हम आपकी सलाह जरूर जानना चाहेंगे। कृपया बॉक्स में लिखें।

wanring-icon
यदि आप कोई मेडिकल एमरजेंसी से जूझ रहे हैं, तो तुरंत लोकल एमरजेंसी सर्विस को कॉल करें या पास के एमरजेंसी रूम और केयर सेंटर जाएं।

लिंक कॉपी करें

Coltsfoot: कोल्टसफूट क्या है?

Coltsfoot: कोल्टसफूट क्या है?
परिचय|उपयोग|सावधानियां और चेतावनी|साइड इफेक्ट्स|रिएक्शन|डोसेज

परिचय

कोल्टसफूट (Coltsfoot) क्या है?

कोल्टसफूट (Coltsfoot) एक फूल है। इसका साइंटिफिक नाम है Tussilago Farfara है। यह गुलबहार (Daisy) फूलों की प्रजाति से संबंध रखता है। यह फूल पीले रंग का होता है। वसंत ऋतु में इस पौधे की पत्तियों के आने से पहले यह खिलता है। इसका इस्तेमाल खांसी और सांस की बीमारियों के इलाज में औषधि के तौर पर किया जाता है। साथ ही, यह इसका नमक दमा, सर्दी और धूम्रपान के कारण होने वाली अन्य स्थितियों के उपचार के लिए लाभाकारी होता है। हालांकि, इस पौधे में जहरीले पाइरोलिजिडिन अल्कलॉइड्स की मात्रा पाई जाती है जो स्वास्थ्य के लिहाज से जोखिम भरा हो सकता है। साथ ही, यह किडनी से जुड़ी स्वास्थ्य संबंधी चिंताएं के जोखिम भी बढ़ा सकता है।

और पढ़ें: Peppermint : पुदीना क्या है?

उपयोग

कोल्टसफूट (Coltsfoot) का इस्तेमाल किस लिए होता है?

  • इसके गंभीर दुष्प्रभावों के बावजूद भी लोग कोल्टसफूट का इस्तेमाल सांस की बीमारियों जैसे ब्रोंकाइटिस, दमा और काली खांसी के इलाज के लिए करते हैं। साथ ही गले की खराश, खांसी, गला बैठना जैसी अपर रेस्पिरेटरी ट्रैक की समस्याओं के लिए कोल्टसफूट का इस्तेमाल किया जाता है।
  • कुछ लोग इस फूल को खांसी और घरघराहट को ठीक करने के लिए सूंघते हैं।
  • कोल्टसफूट में हेपाटोटोक्सिक पायरोलिजिडाइन एल्कालोइड (hepatotoxic pyrrolizidine alkaloids) नामक कैमिकल्स होते हैं, जिनसे लिवर को क्षति या कैंसर हो सकता है।
  • इसके चूर्ण का इस्तेमाल पुरुषों में नपुंसकता के उपचार के लिए भी किया जाता है और यह स्त्री रोगों के उपचार के लिए भी लाभकारी हो सकता है।
  • विभिन्न तरह के त्वचा रोगों के उपचार के लिए इसका इस्तेमाल एक टॉनिक की तरह किया जा सकता है।
  • यह पेट दर्द को दूर करने में लाभकारी हो सकता है।
  • महिलाओं के मासिक धर्म सिंड्रोम से भी राहत दिला सकता है।
  • कुछ अध्ययनो के मुताबिक यह मस्तिष्क के स्वास्थ्य की रक्षा करने में मदद कर सकता है। उदाहरण के लिए, किए गए एक टेस्ट ट्यूब अध्ययन में, इसकी मदद से तंत्रिका कोशिकाओं को होने वाले क्षति को रोका गया जिसका सफल परीक्षण पशु अध्ययन में देखा गया है। हालांकि, मानव अध्ययन कितना सफल होगा इस दिशा में अभी भी शोध करने की आवश्यकता है।
  • आमतौर पर इसका इस्तेमाल चाय के तौर पर भी किया जाता है। हालांकि, स्वास्थ्य के लिहाज से यह कितना सुरक्षित या लाभकारी है इस दिशा में अभी भी उचित अध्ययन करने की जरूरत है।
और पढ़ें: Neem : नीम क्या है?

यह कैसे कार्य करता है?

कोल्टसफूट कैसे कार्य करता है, इस संबंध में पर्याप्त जानकारी उपलब्ध नहीं है। इसकी अधिक जानकारी के लिए अपने हर्बलिस्ट या डॉक्टर से सलाह लें। हालांकि, कुछ ऐसे शोध मौजूद हैं, जो यह दिखाते हैं कि यह मैक्रोफेज्स में नाइट्रिक ऑक्साइड सिंथेसिज (nitric oxide synthesis) को बधित कर सकता है।

सावधानियां और चेतावनी

कोल्टसफूट (Coltsfoot) का इस्तेमाल करने से पहले मुझे क्या पता होना चाहिए?

  • कोल्टसफूट को ठंडे और सूखी जगह पर रखें। इसे गर्मी और नमी से दूर रखें। हेपाटोटोक्सिक पायरोलिजिडाइन एल्कालोइड (hepatotoxic pyrrolizidine alkaloids) की वजह से आप इसका इस्तेमाल छह हफ्तों से ज्यादा नहीं कर सकते।
  • यदि आपको कोल्टसफूट से एलर्जी है, तो इसका इस्तेमाल करने से पहले अपने डॉक्टर से सलाह अवश्य लें।

अन्य दवाइयों के मुकाबले औषधियों के संबंध में रेग्युलेटरी नियम अधिक सख्त नहीं हैं। इनकी सुरक्षा का आंकलन करने के लिए अतिरिक्त अध्ययनों की आवश्यकता है। कोल्टसफूट का इस्तेमाल करने से पहले इसके खतरों की तुलना इसके फायदों से जरूर की जानी चाहिए। इसकी अधिक जानकारी के लिए अपने हर्बलिस्ट या डॉक्टर से सलाह लें।

कोल्टसफूट कितना सुरक्षित है?

  • कोल्टसफूट का इस्तेमाल बच्चों या गर्भवती महिलाओं और ब्रेस्टफीडिंग में नहीं किया जाना चाहिए। इससे हेपाटोटोक्सिसिटी हो सकती है। कोल्टसफूट में मौजूद रसायन से जन्म दोष और लिवर को क्षति पहुंच सकती है।
  • कोल्टसफूट का अधिक मात्रा में सेवन करने से यह हाई ब्लड प्रेशर, दिल की बीमारी या लिवर की बीमारी के इलाज में हस्तक्षेप कर सकता है।
और पढ़ें: Ginger : अदरक क्या है?

साइड इफेक्ट्स

कोल्टसफूट से मुझे क्या साइड इफेक्ट्स हो सकते हैं?

कोल्टसफूट से आपको निम्नलिखित साइड इफेक्ट्स हो सकते हैं:

  • बुखार
  • हाइपरटेंशन
  • उबकाई, उल्टी, अरुचि, डायरिया, पीलिया, हेटाटोटोक्ससिटी (दुर्लभ मामलों में) hepatotoxicity
  • हाइपरसेंसिविटी रिएक्शन
  • अपर रेस्पिरेटरी इंफेक्शन

हालांकि, हर व्यक्ति को यह साइड इफेक्ट्स नहीं होता है। उपरोक्त दुष्प्रभाव के अलावा भी कोल्टसफूट के कुछ साइड इफेक्ट्स हो सकते हैं, जिन्हें ऊपर सूचीबद्ध नहीं किया गया है। यदि आप इसके साइड इफेक्ट्स को लेकर चिंतित हैं, तो अपने डॉक्टर या हर्बलिस्ट से सलाह लें।

रिएक्शन

कोल्टसफूट (Coltsfoot) से मुझे क्या साइड इफेक्ट्स हो सकते हैं?

कोल्टसफूट आपकी मौजूदा दवाइयों के साथ रिएक्शन कर सकता है या दवा का कार्य करने का तरीका परिवर्तित हो सकता है। इसका इस्तेमाल करने से पहले डॉक्टर या हर्बलिस्ट से संपर्क करें।

  • खून के थक्के बनाने की प्रक्रिया को धीमा करने और हाई ब्लड प्रेशर के इलाज की दवाइयों के साथ कोल्टसफूट रिएक्शन कर सकता है।
  • इन दवाइयों के साथ इसका सेवन करने से लिवर इसे और तोड़ देता है, जिससे इसमें मौजूद रसायन के विषैले प्रभाव बढ़ जाते हैं।

कोल्टसफूट (Coltsfoot) को कैसे स्टोर करें?

इस औषधि को स्टोर करने के लिए कमरे का तापमान सबसे बेहतर होता है। इसे सीधे धूप या नमी के संपर्क में आने से बचाए रखना चाहिए। इसे कभी भी फ्रीज में नहीं रखना चाहिए। साथ ही, इसे छोटे बच्चों और पालतू जानवरों की पहुंच से भी दूर रखना चाहिए। इसका इस्तेमाल की जरूरत न होने पर या अगर यह एक्सपायर हो गया हो, तो इसे सीधे कूड़ेदान में न फेंकें और न ही इसे किसी बहती नाली या शौचालय में फ्लश करें। इसके सुरक्षित निपटारन के लिए डॉक्टर की सलाह लें और इसके पैक पर लिए गए दिशा-निर्देशों का पालन करें। इसके बारे में अधिक जानकारी के लिए कृपया अपने डॉक्टर से परामर्श करें।

डोसेज

उपरोक्त जानकारी चिकित्सा सलाह का विकल्प नहीं हो सकती। इसका इस्तेमाल करने से पहले हमेशा अपने डॉक्टर या हर्बलिस्ट से सलाह लें।

कोल्टसफूट की सामान्य डोज क्या है?

ऐतिहासिक रूप से कच्चे कोल्टसफूट को प्रतिदिन 4.5-6 ग्राम का इस्तेमाल किया जा चुका है। हर मरीज के मामले में कोल्टसफूट की डोज अलग हो सकती है। जो डोज आप ले रहे हैं वो आपकी उम्र, हेल्थ और दूसरे अन्य कारकों पर निर्भर करती है। औषधियां हमेशा ही सुरक्षित नहीं होती हैं। कोल्टसफूट के उपयुक्त डोज के लिए अपने डॉक्टर या हर्बलिस्ट से सलाह लें।

कोल्टसफूट किन रूपों में उपलब्ध है?

कोल्टसफूट निम्नलिखित रूपों में उपलब्ध है:

  • सूखी जड़
  • अर्क (एक्स्ट्रैक्ट)
  • सिरप
  • चाय
  • घोल

हैलो हेल्थ किसी भी प्रकार की चिकित्सा सलाह, निदान या इलाज मुहैया नहीं कराता।

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र

Skidmore-Roth, Linda. Mosby’s Handbook Of Herbs & Natural Supplements. St. Louis, MO: Mosby, 2001. Print version. Page 197.

Coltsfoot. http://www.drugs.com/npc/coltsfoot.html. Accessed on 7 January, 2020.

Coltsfoot. http://www.webmd.com/vitamins-supplements/ingredientmono-730-coltsfoot.aspx?activeingredientid=730&activeingredientname=coltsfoot. Assessed August 7, 2016.

What Is Coltsfoot, and Is It Harmful?. https://www.healthline.com/nutrition/coltsfoot. Accessed on 7 January, 2020.

The Health Benefits of Coltsfoot. https://www.verywellhealth.com/coltsfoot-benefits-side-effects-dosage-and-interactions-4685633. Accessed on 7 January, 2020.

Coltsfoot. http://www.naturalmedicinalherbs.net/herbs/t/tussilago-farfara=coltsfoot.php. Accessed on 7 January, 2020.

लेखक की तस्वीर
Dr Sharayu Maknikar के द्वारा मेडिकल समीक्षा
Sunil Kumar द्वारा लिखित
अपडेटेड 30/10/2019
x