home

हम इसे कैसे बेहतर बना सकते हैं?

close
chevron
इस आर्टिकल में गलत जानकारी दी हुई है.
chevron

हमें बताएं, क्या गलती थी.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
इस आर्टिकल में जरूरी जानकारी नहीं है.
chevron

हमें बताएं, क्या उपलब्ध नहीं है.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
हम्म्म... मेरा एक सवाल है
chevron

हम निजी हेल्थ सलाह, निदान और इलाज नहीं दे सकते, पर हम आपकी सलाह जरूर जानना चाहेंगे। कृपया बॉक्स में लिखें।

wanring-icon
यदि आप कोई मेडिकल एमरजेंसी से जूझ रहे हैं, तो तुरंत लोकल एमरजेंसी सर्विस को कॉल करें या पास के एमरजेंसी रूम और केयर सेंटर जाएं।

लिंक कॉपी करें

Ecdysterone: इस्डीस्ट्रेरोन क्या है?

Ecdysterone: इस्डीस्ट्रेरोन क्या है?
परिचय|उपयोग|सावधानियां और चेतावनी|साइड इफेक्ट्स|डोसेज|उपलब्ध

परिचय

इस्डीस्ट्रेरोन (Ecdysterone) क्या है?

इस्डीस्ट्रेरोन एक रसायन है जो कीड़ों में पाया जाता है। पानी में रहने वाले कुछ जानवर और कुछ पौधे में भी ये होता है। ये स्‍टेरॉयड की तरह काम करता है, यानी ये शरीर की क्षमता बढ़ाने का काम करता है। इसका प्रयोग कई दवाओं में किया जाता है। इस्डीस्ट्रेरोन का इस्तेमाल व्यापक रूप से एथलीटों में डायटरी सप्लीमेंट के तौर पर किया जाता है। ये मांसपेशियों को बढ़ाने और थकान को कम करने के लिए लिया जाता है।

और पढ़ें: पर्पल नट सेज के फायदे एवं नुकसान: Health Benefits of purple nut sedge

उपयोग

इस्डीस्ट्रेरोन (Ecdysterone) का उपयोग किस लिए किया जाता है?

इस्डीस्ट्रेरोन का इस्तेमाल निम्न परिस्थितियों में उपयोगी माना जाता है:

ऑस्टियोपोरोसिस (Osteoporosis):

2008 में किए चूहों पर किए गए एक शोध के अनुसार, शोधकर्ताओं ने पाया कि इस्डीस्ट्रेरोन को देने से ऑस्टियोपोरोसिस के लक्षणों में बिना किसी साइड इफेक्ट्स के सुधार देखने को मिला। ऑस्टियोपोरोसिस हड्डी का एक रोग है जिससे फ्रैक्चर का खतरा बढ़ जाता है। ऐसे में इस्टीस्ट्रेरोन आपकी इस परेशानी को दूर करने में मदद कर सकता है।

बल्ड शुगर लेवल को करे कंट्रोल (Controls blood sugar level):

एक शोध के अनुसार, इस्डीस्ट्रेरोन को लेने से इंसुलिन में बिना किसी बदलाव के ब्लड ग्लूकोज लेवल में कमी देखने को मिली। टाइप-2 डायबिटीज के ट्रीटमेंट के लिए ये उपयोगी है।

मसल्स बनाने के लिए मददगार (Helpful in muscles):

प्रोटीन सिंथेसिस को प्रमोट करता है, जो मसल्स को बेहतर बनाने में मदद करता है। हालांकि, इसे लेकर अधिक शोध की जरूरत है।

स्टेमिना को बढ़ाता है (Increases Stamina):

1986 में 18 से 28 की उम्र के लोगों पर किए गए एक शोध में पाया गया कि इन सभी लोगों के कार्य क्षमता, शरीर का वजन और फेफड़ों की क्षमता में बढ़ोतरी देखी गई। इसके अलावा इन लोगों के ऑक्सिजन स्तर में वृद्धि और सांस छोड़ने ( CO2) में भी वृद्धि पाई गई।

कोलेस्ट्रोल को कम करता है (Lower Cholesterol level):

शोधकर्ताओं द्वारा की गई एक स्टडी के अनुसार इस्डीस्ट्रेरोन कोलेस्ट्रोल लेवल को कम करने में भी मददगार है। आज हर तीसरा शख्स कोलेस्ट्रॉल की समस्या से जूझ रहा है। ऐसे में इस्डीस्ट्रेरोन आपके लिए फायदेमंद साबित हो सकता है।

और पढ़ें: अमरबेल के फायदे एवं नुकसान : Health Benefits of Amarbel

इन परेशानियों में भी मददगार है इस्डीस्ट्रेरोन

  • दुबले शरीर में वृद्धि (Drastic Increase in Lean Body)
  • धैर्य उत्तेजित करता है (Endurance Stimulates)
  • मेटाबॉलिज्म में सुधार करता है (Improves Metabolism)
  • तंत्रिका कार्य में सुधार करता है (Improves Nerve Function)
  • एरिथ्रोपोएसिस को बढ़ाता है (Enhances Erythropoiesis)
  • ब्लड शुगर कम करता है (Decreases Blood Sugar)
  • वसा ऊतक को कम करता है (Reduces Adipose Tissue)
  • मस्तिष्क और जिगर सहित लगभग हर शारीरिक क्रिया में सुधार करता है (Improves Nearly Every Bodily Function Including Brain and Liver)
  • मांसपेशियों के विकास को बढ़ावा देते हुए मांसपेशियों के नुकसान को रोकता है (
    Prevents the Loss of Muscle Mass while Promoting Growth of Muscle Fibers)

कैसे काम करता है इस्डीस्ट्रेरोन (Ecdysterone)?

इस्डीस्ट्रेरोन कैसे काम करता है इसके बारे में कोई पर्याप्त जानकारी नहीं है। इसके बारे में अधिक जानकारी के लिए अपने डॉक्टर या हर्बलिस्ट से कंसल्ट करें। हालांकि, इस्डीस्ट्रेरोनऔर पुरुष हॉर्मोन टेस्टोस्टेरोन की संरचना समान है।

सावधानियां और चेतावनी

कितना सुरक्षित है इस्डीस्ट्रेरोन (Ecdysterone) का उपयोग?

अपने डॉक्टर या हर्बलिस्ट से कंसल्ट करें, यदि:

  • अगर आप प्रेग्नेंट है या ब्रेस्टफीडिंग करा रही हैं। ऐसा इसलिए, क्योंकि इन दोनों ही स्थिति में खास देखभाल की जरूरत होती है। ऐसे में डॉक्टर की सलाह के बिना किसी दवा या हर्बल का सेवन नहीं करना चाहिए।
  • लिवर और किडनी संबंधित कोई रोग है तो इसका सेवन न करें।
  • अगर आप कोई दूसरी दवाओं का सेवन कर रहे हैं। इस लिस्ट में वो दवाएं भी शामिल हैं, जिन्हें आप बिना डॉक्टर के प्रिस्क्रिप्शन के सीधी मेडिकल स्टोर से ले रहे हैं।
  • आपको किसी दवा या हर्बल से एलर्जी है, तो इस बारे में अपने डॉक्टर को जरूर जानकारी दें।
  • आपको कोई बीमारी, विकार या कोई चिकित्सीय उपचार चल रहा है तो इसका सेवन न करें।
  • अगर आपको किसी पदार्थ या दवाई से नुकसान है तो इसका सेवन बिना डॉक्टर के सुझाव के न करें।

यहां पर दी गई जानकारी को डॉक्टर की सलाह का विकल्प न मानें। किसी भी दवा या सप्लिमेंट का इस्तेमाल करने से पहले हमेशा डॉक्टर की सलाह जरूर लें। हर्बल सप्लिमेंट के उपयोग से जुड़े नियम, दवाओं के नियमों जितने सख्त नहीं होते हैं। इनकी उपयोगिता और सुरक्षा से जुड़े नियमों के लिए अभी और शोध की जरूरत है। इस हर्बल सप्लिमेंट के इस्तेमाल से पहले इसके फायदे और नुकसान की तुलना करना जरूरी है। इस बारे में और अधिक जानकारी के लिए किसी हर्बल स्पेशलिस्ट या आयुर्वेदिक डॉक्टर से संपर्क करें।

साइड इफेक्ट्स

इस्डीस्ट्रेरोन (Ecdysterone) से मुझे क्या साइड इफेक्ट्स हो सकते हैं?

इस्डीस्ट्ररोन से यूं तो कोई साइड इफेक्ट्स नहीं देखे गए हैं। अगर आपको इसकी अधिक जानकारी चाहिए तो एक बार किसी चिकित्सक या हर्बलिस्ट से कंसल्ट करें। यदि आपको इसका सेवन करने के बाद किसी तरह की कोई दिक्कत महसूस होती है तो तुरंत अपने डॉक्टर से कंसल्ट करें। यदि कोई गंभीर साइड इफेक्ट नजर आता है तो इस स्थिति में तुरंत अपने नजदीकी डॉक्टर या आपातकालीन सेवा से संपर्क करें।

और पढ़ें: नागरमोथा के फायदे एवं नुकसान : Health Benefits of Nagarmotha

डोसेज

इस्डीस्ट्रेरोन (Ecdysterone) को लेने की सही खुराक क्या है?

इस हर्बल सप्लिमेंट की खुराक हर मरीज के लिए अलग हो सकती है। आपके द्वारा ली जाने वाली खुराक आपकी उम्र, स्वास्थ्य और अन्य कई चीजों पर निर्भर करती है। हर्बल सप्लिमेंट हमेशा सुरक्षित नहीं होते हैं। इसलिए सही खुराक की जानकारी के लिए हर्बलिस्ट या डॉक्टर से चर्चा करें। कभी भी इस्डीस्ट्रेरोन की खुराक खुद से निर्धारित न करें। आपके द्वारा की गई छोटी सी लापरवाही बहुत हानिकारक साबित हो सकती है।

और पढ़ें: गिलोय के फायदे एवं नुकसान: Health Benefits of Giloy

उपलब्ध

किन रूपों में उपलब्ध है इस्डीस्ट्रेरोन (Ecdysterone)?

यह हर्बल सप्लिमेंट निम्न रूपों में उपलब्ध है :

  • एनकैप्सूलेटेड इस्डीस्ट्रेरोन (Encapsulated Ecdysterone)

हम आशा करते हैं आपको हमारा यह लेख पसंद आया होगा। हैलो हेल्थ के इस आर्टिकल में इस हर्बल से जुड़ी ज्यादातर जानकारियां देने की कोशिश की है, जो आपके काफी काम आ सकती हैं। अगर आपको ऊपर बताई गई कोई सी भी शारीरिक समस्या है तो इस हर्ब का इस्तेमाल आपके लिए फायदेमंद हो सकता है। बस इस बात का ध्यान रखें कि हर हर्ब सुरक्षित नहीं होती। इसका इस्तेमाल करने से पहले अपने डॉक्टर या हर्बलिस्ट से कंसल्ट करें तभी इसका इस्तेमाल करें। इस्डीस्ट्रेरोन से जुड़ी यदि आप अन्य जानकारी चाहते हैं तो आप हमसे कमेंट कर पूछ सकते हैं।

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र

Ecdysterone: https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC4447764/  Accessed November 27, 2019

Ecdysterone: https://www.sciencedirect.com/topics/medicine-and-dentistry/ecdysterone  Accessed November 27, 2019

Ecdysteroids as non-conventional anabolic agent: https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/31123801/ Accessed September 01, 2020

Ecdysterone and its Activity on some Degenerative Diseases: https://journals.sagepub.com/doi/pdf/10.1177/1934578X1100600527 Accessed September 01, 2020

Ecdysteroids as non-conventional anabolic agent: performance enhancement by ecdysterone supplementation in humans: https://www.researchgate.net/publication/333322619_Ecdysteroids_as_non-conventional_anabolic_agent_performance_enhancement_by_ecdysterone_supplementation_in_humans Accessed September 01, 2020

ECDYSTEROIDS AS NON-CONVENTIONAL ANABOLIC AGENTS: PHARMACODYNAMICS, PHARMACOKINETICS, AND DETECTION OF ECDYSTERONE: https://www.wada-ama.org/en/resources/research/ecdysteroids-as-non-conventional-anabolic-agents-pharmacodynamics Accessed September 01, 2020

लेखक की तस्वीर
Dr Sharayu Maknikar के द्वारा मेडिकल समीक्षा
Mona narang द्वारा लिखित
अपडेटेड 28/11/2019
x