home

हम इसे कैसे बेहतर बना सकते हैं?

close
chevron
इस आर्टिकल में गलत जानकारी दी हुई है.
chevron

हमें बताएं, क्या गलती थी.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
इस आर्टिकल में जरूरी जानकारी नहीं है.
chevron

हमें बताएं, क्या उपलब्ध नहीं है.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
हम्म्म... मेरा एक सवाल है
chevron

हम निजी हेल्थ सलाह, निदान और इलाज नहीं दे सकते, पर हम आपकी सलाह जरूर जानना चाहेंगे। कृपया बॉक्स में लिखें।

wanring-icon
यदि आप कोई मेडिकल एमरजेंसी से जूझ रहे हैं, तो तुरंत लोकल एमरजेंसी सर्विस को कॉल करें या पास के एमरजेंसी रूम और केयर सेंटर जाएं।

लिंक कॉपी करें

Soursop: सौर्सोप क्या है?

परिचय|उपयोग|फायदें| मददगार|साइड इफेक्ट्स
Soursop: सौर्सोप क्या है?

परिचय

सौर्सोप क्या है?

हम सभी जानते हैं की ऐसे बहुत से फल,पौधे,पत्तियां हैं जो हमारे हेल्थ के लिए बहुत ही लाभदायक हो सकता है लेकिन हमें उनके बारें में जानकारी नहीं है की ऐसे कौन-कौन से पौधे या फल हैं जो आपके हेल्थ के लिए लाभदायक हो सकते हैं।

ऐसे ही एक फल के बारे में हम बात कर रहें हैं जिसका नाम सौर्सोप (soursop) है, कहीं-कहीं इसको ग्रेविओला के नाम से भी जानते हैं। यह एक ऐसा फल है जो अपने स्वाद और फायदे के लिए जाना जाता है। सौर्सोप में बहुत अधिक मात्रा में पोषक तत्व-होते है इसमें कम कैलोरी और हाई फाइबर, विटामिन सी की अच्छी मात्रा होती है। सौर्सोप या ग्रेविओला से औषधि बनाने के लिए पत्ते, फल, बीज, जड़ और तने का उपयोग किया जाता है। तो वहीं कुछ लोग इसका उपयोग बैक्टीरिया, कैंसर, मधुमेह, और उल्टी के लिए भी सौर्सोप या ग्रेविओला को प्रयोग करते हैं, लेकिन आपको यह बात साफतौर पर बता दें कि इनमें से किसी भी उपयोग के पक्ष में कोई अच्छा वैज्ञानिक सबूत नहीं है। आज हम सौर्सोप के फायदें और कुछ साइड इफेक्ट्स के बारें में बात करेंगे।

और पढ़ें : पर्पल नट सेज के फायदे एवं नुकसान: Health Benefits of purple nut sedge

उपयोग

सौर्सोप फल का उपयोग?

सौर्सोप फल का उपयोग कई तरह से किया जाता है यह बेहद स्वादिष्ट भी होते हैं जिसकी तुलना अक्सर अनानास या स्ट्रॉबेरी से की जाती है। सौर्सोप फल के कई हिस्सों को औषधीय रूप से उपयोग किया जाता है, जिसमें पत्ते, फल और उपजी शामिल होते हैं। सौर्सोप में बहुत से ऐसे गुण होते हैं जो आपके साधारण रोग से लड़ने की क्षमता रखते हैं।इसका उपयोग खाना पकाने में भी किया जाता है और इसे त्वचा पर भी लगाया जा सकता है। कई हिस्सों को औषधीय रूप से उपयोग किया जाता है, जिसमें पत्ते, फल और सब्जी शामिल हैं। यह सूजन को कम करने से लेकर कैंसर के विकास को धीमा करने तक हर चीज में मदद कर सकता है। यह फल आकार में छोटे और बड़े हो सकते हैं। इस फल में कई पोषक तत्व,जैसे फाइबर और विटामिन सी 3.5-औंस (100-ग्राम) कच्चे खट्टे की सेवा होती है।

  • सोर्सोप में नियासिन, राइबोफ्लेविन, फोलेट और आयरन की थोड़ी मात्रा भी होती है।
  • कैलोरी: 66
  • कार्ब्स: 16.8 ग्राम
  • प्रोटीन: 1 ग्राम
  • फाइबर: 3.3 ग्राम
  • विटामिन सी: RDI का 34%
  • पोटेशियम: RDI का 8%
  • मैग्नीशियम: RDI का 5%
  • थियामिन: RDI का 5%

और पढ़ें : Betony: बेटनी क्या है?

फायदें

सौर्सोप फल से होने वाले फायदें?

सौर्सोप कई प्रकार की बीमारियों से लड़ने में और उनका असर कम करने में आपकी मदद कर सकते हैं।जो इस प्रकार से हो सकते हैैं।

हाई एंटीऑक्सीडेंट होता है-

सौर्सोप में अधिक मात्रा में एंटीऑक्सिडेंट गुण पाए जाते है,ये मुक्त कणों (free radicals) नाम के यौगिकों को बेअसर करने में आपकी मदद करते हैं, आपको बता दें ये यौगिक आपकी कोशिकाओं को नुकसान पहुंचा सकते हैं। कुछ शोध में ये पता चलता है कि इसमें एंटीऑक्सिडेंट हृदय रोग, कैंसर और मधुमेह सहित कई बीमारियों के जोखिम को कम करने में भूमिका निभा सकते हैं। सौर्सोप में पाए जाने वाले एंटीऑक्सिडेंट मनुष्यों के लिए कितने फायदेमंद हो सकते हैं, अभी इसका शोध करने की आवश्यकता है।

बैक्टीरिया से लड़ने में मदद करता है-

सौर्सोप में ऐसे शक्तिशाली गुण मौजूद होते हैं जो बैक्टीरिया (antibacterial properties)से लड़ने में सहायक होते हैं। बता दें की सौर्सोप कई प्रकार के जीवाणुओं को प्रभावी ढंग से मारने में सक्षम होता है, जिनमें जिंजिवाइटिस( gingivitis), दांतों की सड़न (tooth decay)और खमीर संक्रमण(yeast infections) का कारण बनते हैं।कई और अध्ययन द्वारा यह पता चलता है की यह हैजा और स्टैफिलोकोकस संक्रमण के खिलाफ लड़ाई करने में सक्षम होता है।

यह सूजन को कम करने में सहायक होते हैं-

सौर्सोप को उपयोग हम बढ़ती सूजन की बीमारी या पुरानी सूजन को कम करने के लिए सकते हैं साथ ही यह आपके चोट में भी सहायक हो सकता है। इसकी पुष्टि करने के लिए इसका उपयोग जानवरों पर करके देखा गया है यह एक अध्ययन में, चूहों को सौर्सोप से इलाज किया गया था जिसमें चूहे पर इसका अच्छा प्रभाव पड़ा था। अगर शोध के तहत देखें तो यह अभी तक शोध केवल पशुओं तक ही सीमित रखा गया है।

यह बल्ड शूगर लेवल को बनाए रखने में मददगार है-

सौर्सोप का उपयोग ब्लड शुगर को कम करने के लिए दिखाया गया है। एक अध्ययन में, डायबिटिक चूहों को दो हफ्तों के लिए सौर्सोप से इंजेक्ट किया गया था। इस दौरान यह स्पष्ट हुआ था की सौर्सोप बल्ड शुगर को कम करने में सहायक हो सकता है। लेकिन अब तक इसका अध्ययन केवल जानवरों पर ही किया गया है। अभी मनुष्यों पर ज्यादातर शोध करने की आवश्यकता है, इन निष्कर्षों से पता चलता है कि स्वस्थ आहार और सक्रिय जीवन शैली के साथ सॉर्सोप का उपयोग मधुमेह के रोगियों के लिए फायदेमंद हो सकता है।

पेचिश, बुखार में मददगार हो सकता है-

सैर्सोप का उपयोग आप बुखार को कम करने के लिए कर सकते हैं, यह इसमें आपके लिए लाभकारी हो सकता है। इसके अलावा यह फल आपके पेचिश की समस्या को कम करने में आपकी मदद कर सकता है।

अच्छी नींद के लिए मददगार हो सकता है सौर्सोप

सौर्सोप लीफ से बनी चाय अच्छी नींद के लिए उपयोगी हो सकता है, इसके अलावा सौर्सोप फल का उपयोग स्तनपान को बढ़ाने के लिए भी किया जा सकता है।

और पढ़ें : Fluticasone Propionate: फ्लूटिकासोन प्रोपियोनेट क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां

मददगार

क्या सैर्सोप कैंसर में मददगार हो सकता है?

कई प्रकार के अलग-अलग अध्ययनों से पता चलता है की सौर्सोप कैंसर पीडि़तों की मदद करने में उपयोगी हो सकता है, अब तक प्रयोग स्पष्ट रुप से केवल जानवरों पर किया गया है। ऐसा कई अध्ययन से पता चलता है की यह कैंसर के इलाज में मददगार होता है लेकिन इसका कोई प्रमाण नहीं है। सौर्सोप के पेड़ के फल, पत्तियां, छाल, बीज, और जड़ें 100 से अधिक एनाओनेसियस एसिटोजिन होते हैं। ये एंटीटूमर गुणों के साथ प्राकृतिक यौगिक हैं। वैज्ञानिकों को अभी भी पौधे के प्रत्येक भाग में सक्रिय अवयवों को निर्धारित करने की आवश्यकता है। सौर्सोप कितना उपयोगी हो सकता है यह कभी-कभी इसपर निर्भर करता है पेड़ को किस मिट्टी में उगाई गई है। कुछ शोध किए गए हैं जो ये कहते हैं।

स्तन कैंसर

एक अध्ययन से यह पता चलता है कि सैर्सोप के पदार्थ कुछ स्तन कैंसर कोशिकाओं को नष्ट करने में सक्षम हो सकता है जो कुछ कीमोथेरेपी दवाओं के लिए भी प्रतिरोधी हैं। 2016 के एक अध्ययन में पाया गया कि सैर्सोप या ग्रेविओला पेड़ से पत्तियों का एक कच्चा अर्क एक स्तन कैंसर सेल लाइन पर एक एंटीकैंसर प्रभाव था। इस दौरान शोधकर्ताओं ने इसे स्तन कैंसर के इलाज के लिए एक “बेहतर ऑप्शन” कहा, इस कारण इसे एंटीकैंसर के रुप में माना जाता है।

अग्नाशय का कैंसर

शोधकर्ताओं ने सैर्सोप एक्सट्रैक्ट के 2012 के अध्ययन के लिए कैंसर सेल लाइनों का इस्तेमाल किया। जिसमें यह पता चलता है की अग्नाशय के कैंसर कोशिकाओं के ट्यूमर के विकास और मेटास्टेसिस को रोकता है।

प्रोस्टेट कैंसर

सैर्सोप लीफ एक्सट्रैक्ट प्रोस्टेट कैंसर ट्यूमर के विकास को रोकने में सक्षम हो सकता है। प्रोस्टेट कैंसर को कम करने के लिए ग्रेविओला पत्तियों से पानी निकालने को दिखाया गया था, यह प्रोस्टेट कैंसर की कोशिकाओं को दबाने की क्षमता रखता है। इसके अलावा यह कोलन कैंसर में भी मददगार हो सकता है। सौर्सोप की मदद से फेफड़े के ट्यूमर के विकास को रोका जा सकता है।

और पढ़ें : Shiitake Mushroom : शिटाके मशरूम क्या है?

साइड इफेक्ट्स

सौर्सोप के साइड इफेक्ट्स क्या हो सकते हैं?

जैसा हमने आपको ऊपर सैर्सोप से होने वाले कुछ फायदो के बारें में बताया है, तो उसके तहत कुछ कैरिबियाई देशों में इसका उपयोग स्तन कैंसर और प्रोटेस्ट कैंसर वाले लोगों के लिए किया जाता है। लेकिन इसके साइड इफेक्ट के बारें में बात करें तो यदि इसका उपयोग लंबे समय तक किया जाए तो इसका दुष्प्रभाव पड़ सकता है, इसका दीर्घकालिक उपयोग आपकी तंत्रिका कोशिका को चोट पहुंचा सकती है। इसका अलावा यह न्यूरोलॉजिकल समस्याओं से भी जुड़ा हुआ हो सकता है। लबे समय तक इसका उपयोग इन लक्षणों को पैदा कर सकता है।

आंदोलन संबंधी विकार (movement disorders)

माइलोनुरोपैथी(myeloneuropathy)

जिगर और गुर्दे की विषाक्तता(liver and kidney toxicity)हैं तो आपको इसके उपयोग से बचना चाहिए।

  • यदि आपका रक्तचाप कम है
  • यदि आप रक्तचाप की दवाएं लें रहे हैं
  • यदि आप गर्भवती हैं
  • यदि आपको जिगर या गुर्दे की बीमारी है
  • यदि आप मधुमेह के लिए दवाएं लें रहे हैं
  • यदि आपके प्लेटलेट कम हैं

सैर्सोप कुछ चिकित्सा परीक्षणों में हस्तक्षेप कर सकता है, जो इस प्रकार से हैं।

  • रक्त ग्लूकोज परीक्षण
  • प्लेटलेट गिनती
  • रक्तचाप रीडिंग
  • परमाणु इमेजिंग

नोट-यदि आप सैर्सोप को उपयोग कम समय के लिए या उचित मात्रा में कर रहें है तो इसको प्रयोगर करने में आपको किसी प्रकार की समस्या उत्पन्न नहीं होगी। इसला अलावा यदि इसके प्रयोग से आपको कोई असामान्य लक्षण दिखाई देने लगे, तो इसका सेवन करना बंद कर दें और जल्द से जल्द अपने डॉक्टर को दिखाएं।

इस विषय पर अधिक जानकारी के लिए डाॅक्टरी सलाह लें।

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र

Experts warn against using soursop to fight cancer/https://www.cancercenter.com/community/blog/2017/07/experts-warn-against-soursop-fruit-to-fight-cancer/Accessed on 08/04/2020

Coronavirus (COVID-19)/https://www.cancerresearchuk.org/about-cancer/cancer-in-general/treatment/complementary-alternative-therapies/individual-therapies/graviola/Accessed on 08/04/2020

Anticancer Properties of Graviola (Annona muricata): A Comprehensive Mechanistic Review/https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC6091294//Accessed on 17/07/2020

Soursop/https://hort.purdue.edu/newcrop/morton/soursop.html//Accessed on 17/07/2020

लेखक की तस्वीर badge
shalu द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 17/07/2020 को
डॉ. पूजा दाफळ के द्वारा एक्स्पर्टली रिव्यूड
x