home

हम इसे कैसे बेहतर बना सकते हैं?

close
chevron
इस आर्टिकल में गलत जानकारी दी हुई है.
chevron

हमें बताएं, क्या गलती थी.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
इस आर्टिकल में जरूरी जानकारी नहीं है.
chevron

हमें बताएं, क्या उपलब्ध नहीं है.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
हम्म्म... मेरा एक सवाल है
chevron

हम निजी हेल्थ सलाह, निदान और इलाज नहीं दे सकते, पर हम आपकी सलाह जरूर जानना चाहेंगे। कृपया बॉक्स में लिखें।

wanring-icon
यदि आप कोई मेडिकल एमरजेंसी से जूझ रहे हैं, तो तुरंत लोकल एमरजेंसी सर्विस को कॉल करें या पास के एमरजेंसी रूम और केयर सेंटर जाएं।

लिंक कॉपी करें

Sweet Annie: स्वीट एनी क्या है?

परिचय|सावधानियां और चेतावनी|साइड इफेक्ट्स|डोसेज|प्रकार
Sweet Annie: स्वीट एनी क्या है?

परिचय

स्वीट एनी (Sweet Annie) क्या है?

स्वीट एनी एक हर्बल पौधा है। इसके जमीन से ऊपर के हिस्से का प्रयोग दवाओं में किया जाता है। इसका वानस्पातिक नाम Artemisia annua है। इस पौधे पर पीले रंग के फूल आते हैं। ये एस्टरेसिए परिवार से ताल्लुख रखता है। इसे स्वीट वॉर्मवूड, स्वीड सेजवॉर्ट और वॉर्मवुड के नाम से भी जाना जाता है। इसमें फ्लैवोनॉयड, एसेंशियल ऑयल और आर्टिमिसिनिन जैसे जरूरी कंपाउंड होते हैं जो हमारे स्वास्थ्य को कई तरह से फायदा पहुंचाते हैं। मलेरिया के इलाज के लिए इसे बेहद उपयोगी माना जाता है।

पौराणिक समय में इसका इस्तेमाल बच्चे के जन्म के समय होने वाले दर्द के लिए प्रयोग किया जाता है। एरोमाथेरेपी में इसे बुखार, पीरियड्स में होने वाली दिक्कते और सिरदर्द के लिए उपयोग किया जाता है। यह श्वसन संक्रमण के इलाज के लिए डिफ्यूजर में प्रयोग किया जाता है। इसके अलावा पीलिया, स्किन संबंधित परेशानियां और डिसेंटरी के लिए भी इसे इस्तेमाल किया जाता है।

और पढ़ें – कंटोला (कर्कोटकी) के फायदे एवं नुकसान – Health Benefits of Kantola (Karkotaki)

स्वीट एनी (Sweet Annie) का उपयोग किस लिए किया जाता है?

डाइजेस्टिव सिस्टम को करे दुरुस्त:

स्वीट एनी एसेंशियल ऑयल में कोलेगॉग(cholagogue) प्रॉपर्टीज होती हैं जो लिवर से पित्त का निर्वहन करता है। ये डायजेशन में मदद करता है। ये पेट में से अतिरिक्त एसिड को निकालकर अल्सर और एसिडिटी से राहत प्रदान करता है।

पीरिड्स की दिक्कतों को दूर करता है:

ये पीरियड्स में होने वाले डिसचार्ज को बढ़ावा देता है और रूके हुए मेंसुरेशन जिससे कैंसर और यूट्रीन ट्यूमर होने का खतरा रहता है उसमें भी मददगार है। ये पेट में दर्द, सिरदर्द, उल्टी, भूख न लगना और पीरियड्स को नियमित करने में मदद करता है।

और पढ़ें – अस्थिसंहार के फायदे एवं नुकसान: Health Benefits of Hadjod (Cissus Quadrangularis)

इनसोमनिया में मददगार:

इसके तेल में नारकोटिक गुण होते हैं जो मिर्गी, हिस्टीरिक अटैक, तनाव, अनिद्रा और इंसोम्निया में लाभदायक होता है।

पेट के कीड़ों को नष्ट करे:

ये शरीर से टेपवॉर्म्स, राउंडवॉर्म्स और हूकवॉर्म्स को निकालता है। यह पोषक तत्वों के अवशोषण को उत्तेजित करके बच्चों में उचित वृद्धि में सहायता करता है।

इन परेशानियों में भी मददगार:

  • बैक्टीरियल इंफेक्शन
  • फंगल इंफेक्शन
  • वायरल इंफेक्शन जैसे कोल्ड और कफ
  • पेट खराब
  • पीलिया
  • पसोरिएसिस
  • ऑटोइम्यून डिसऑर्डर
  • जोड़ों में दर्द
  • कब्ज
  • एड्स से ग्रसित लोग कई बार स्वीट एनी का प्रयोग कभी-कभी एक घातक प्रकार के फेफड़ों के संक्रमण को रोकने के लिए करते हैं। इसे न्यूमोसिस्टिस निमोनिया (पीसीपी) कहा जाता है जो एक फंगस के कारण होता है।
  • बैक्टीरिया और फंगल इंफेक्शन के लिए इसे सीधे स्किन पर लगाया जाता है। अर्थराइटिस, नर्व पेन और जोड़ों के दर्द के लिए भी इसे प्रभावित जगह पर लगाने की सलाह दी जाती है।

और पढ़ें – आलूबुखारा के फायदे एवं नुकसान – Health Benefits of Aloo Bukhara (Plum)

क्या स्वीट एनी (Sweet Annie) मलेरिया का भी इलाज कर सकती है?

मलेरिया एक जानलेवा बीमारी है। मच्छरों द्वारा फैलाने वाले इस रोग का कारण एक पैरासाइट होता है। कुछ लोगो का मानना है कि आर्टीमिसिनिन (artemisinin) द्वारा पैरासाइट को खत्म किया जा सकता है।

स्वीट एनी की सुखी पत्तियों की मदद से कुछ प्रकार की आयुर्वेदिक दवाएं बनाई जाती हैं जिन्हे मलेरिया की दवा के रूप में बेचा जाता है। हालांकि, डब्लूएचओ इस प्रकार की दवाओं के सेवन का विरुद्ध करता है। इसकी बजाए उनका कहना है कि ऐसी दवाओं का सेवन करें जिनमें आर्टीमिसिनिन मौजूद हो।

आर्टीमिसिनिन की एंटीमलेरिया ड्रग में अन्य दवाओं को भी मिलाया जाता है।लोग आमतौर पर इस दवा का इस्तेमाल उन इलाकों में करते हैं जहां मलेरिया के मामले अधिक होते हैं। 2009 में यू.एस फ़ूड एंड ड्रग एडमिनिस्ट्रेशन द्वारा कोअर्टेम दवा को अमेरिका में मंजूरी दी गई। यह अमेरिका की आर्टीमिसिनिन आधारित पहली दवा थी।

और पढ़ें – करौंदा के फायदे एवं नुकसान – Health Benefits of Karonda (Carissa carandas)

क्या स्वीट एनी कैंसर को भी ठीक कर सकता है?

कैंसर के इलाज के लिए फिलहाल स्वीट एनी पर अधिक शोध करने की जरूरत है। वैज्ञानिक लगातरा स्वीट एनी के कैंसर कोशिकाओं पर पड़ने वाले प्रभावों पर रिसर्च कर रहे हैं। ट्रेंड्स इन फार्माकोलॉजिकल साइंस (Trends in Pharmacological Sciences) में छपे आर्टिकल के अनुसार आर्टीमिसिनिन ल्यूकेमिया और कैंसर के इन प्रकरों में मददगार हो सकता है –

यह ओवेरियन कैंसर कोशिकाओं के विकास को कम करने व कोलोरेक्टल कैंसर के इलाज में भी मदद करता है। आर्टीमिसिनिन को आमतौर पर एक सुरक्षित औषधि माना जाता है।

और पढ़ें – दूर्वा (दूब) घास के फायदे एवं नुकसान – Health Benefits of Durva Grass (Bermuda grass)

कैसे काम करता है स्वीट एनी (Sweet Annie)?

कई शोध के अनुसार स्वीट एनी में इसमें एंटी-मलेरियल, एंटी बैक्टीरियल, एंटी माइक्रोबियल, एंटीवायरल, एंटीफंगल, एंटीऑक्सीडेंट, एंटी-कैंसर, एंटीस्पास्मोडिक. कोलेगॉग, डिपयुरेटिव, नर्विन प्रॉपर्टीज होती हैं, जो हमारे स्वास्थय को कई तरह से सुरक्षित रखने में मदद करता है।

और पढ़ें – खरबूज के फायदे एवं नुकसान – Health Benefits of Muskmelon (Kharbuja)

सावधानियां और चेतावनी

स्वीट एनी (Sweet Annie) के इस्तेमाल से पहले क्या बातें मुझे मालूम होनी चाहिए?

निम्नलिखित परिस्थितियों में इसका इस्तेमाल करने से पहले डॉक्टर या हर्बलिस्ट से सलाह लें:

  • यदि आप प्रेग्नेंट या ब्रेस्टफीडिंग करा रही हैं। दोनों ही स्थितियों में सिर्फ डॉक्टर की सलाह पर ही दवा खानी चाहिए।
  • यदि आप अन्य दवाइयां ले रही हैं। इसमें डॉक्टर की लिखी हुई और गैर लिखी हुई दवाइयां शामिल हैं, जो मार्केट में बिना डॉक्टर के प्रिस्क्रिप्शन के खरीद के लिए उपलब्ध हैं।
  • यदि आपको स्वीट एनी या किसी पदार्थ या अन्य दवा या औषधि से एलर्जी है।
  • यदि आपको कोई बीमारी, डिसऑर्डर या कोई अन्य मेडिकल कंडिशन है।
  • यदि आपको फूड, डाई, प्रिजर्वेटिव्स या जानवरों से अन्य प्रकार की एलर्जी है।
  • अगर आपको लिवर संबंधित कोई परेशानी है तो इसका इस्तेमाल बिल्कुल न करें। आपकी परेशानी पहले से ज्यादा हो सकती है।

अन्य दवाइयों के मुकाबले औषधियों के संबंध में रेग्युलेटरी नियम अधिक सख्त नहीं हैं। इनकी सुरक्षा का आंकलन करने के लिए अतिरिक्त अध्ययनों की आवश्यकता है। स्वीट एनी का इस्तेमाल करने से पहले इसके खतरों की तुलना इसके फायदों से जरूर की जानी चाहिए। इसकी अधिक जानकारी के लिए अपने हर्बलिस्ट या डॉक्टर से सलाह लें।

और पढ़ें – कंटोला (कर्कोटकी) के फायदे एवं नुकसान – Health Benefits of Kantola (Karkotaki)

कितना सुरक्षित है स्वीट एनी (Sweet Annie) का उपयोग?

आमतौर पर इसका दवा के तौर पर इस्तेमाल सभी वयस्कों के लिए सेफ है। नीचे बताए गए लोगों को खास सावधानी बरतने की जरूरत है:

प्रेग्नेंसी: इन दोनों स्थितियों में स्वीट एनी का सेवन सुरक्षित नहीं है। जानवरों पर किए गए एक शोध में पाया गया कि स्वीट एनी में आर्टीमिसिनिन (artemisinin) नामक केमिकल कंपाउंड होता है जिससे मिसकैरेज होने का खतरा रहता है।

रैगवीड और उससे संबंधित किसी पौधे से एलर्जी: अगर आपको एस्टरेसिए परिवार के किसी पौधे से एलर्जी है तो इसका सेवन डॉक्टर की सलाह के बिना न करें। ये आपके लिए हानिकारक साबित हो सकता है।

और पढ़ें – चिचिण्डा के फायदे एवं नुकसान: Health Benefits of Snake Gourd (Chinchida)

साइड इफेक्ट्स

स्वीट एनी (Sweet Annie) से मुझे क्या साइड इफेक्ट्स हो सकते हैं?

कुछ समय तक सीमित मात्रा में इसका सेवन सुरक्षित है। लंबे समय तक इसका प्रयोग न करें। जरूरत से ज्यादा इसकी डोज लेने से न्यूरोटॉक्सिटी हो सकती है। इससे आपको उल्टी, जी मिचलाना और पेट खराब की शिकायत हो सकती है।

हालांकि हर किसी को ये साइड इफेक्ट हो ऐसा जरुरी नहीं है, कुछ ऐसे भी साइड इफेक्ट हो सकते हैं, जो ऊपर बताए नहीं गए हैं। अगर आपको इनमें से कोई भी साइड इफेक्ट महसूस हो या आप इनके बारे में और जानना चाहते हैं तो नजदीकी डॉक्टर से संपर्क करें।

और पढ़ें – छोटी दुद्धी (दूधी) के फायदे एवं नुकसान: Health Benefits of Dudhi

डोसेज

स्वीट एनी (Sweet Annie) को लेने की सही खुराक क्या है?

स्वीट एनी की खुराक हर मरीज के लिए अलग हो सकती है। आपके द्वारा ली जाने वाली खुराक आपकी उम्र, स्वास्थ्य और अन्य कई चीजों पर निर्भर करती है। हर्बल सप्लीमेंट हमेशा सुरक्षित नहीं होते हैं। इसलिए सही खुराक की जानकारी के लिए हर्बलिस्ट या डॉक्टर से चर्चा करें। कभी भी खुद से खुराक निर्धारित करने की गलती न करें। आपके द्वारा की गई छोटी सी लापरवाही स्वास्थ्य के लिए खतरनाक साबित हो सकती है।

और पढ़ें – नागरमोथा के फायदे एवं नुकसान : Health Benefits of Nagarmotha

प्रकार

किन रूपों में उपलब्ध है स्वीट एनी (Sweet Annie)?

स्वीट एनी निम्नलिखित रूपों में उपलब्ध है –

  • स्वीट एनी लिक्विड एक्सट्रैक्ट (Sweet Annie Liquid Extract)
  • एनकैप्सूलेटेड स्वीट एनी एक्सट्रैक्ट (Encapsulated Sweet Annie Extract)

हैलो हेल्थ किसी भी प्रकार की मेडिकल सलाह , निदान या सारवार नहीं देता है न ही इसके लिए जिम्मेदार है।

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र

Artemisinins: their growing importance in medicine/https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC2758403/Accessed on 28/08/2020

Anticancer Effect of AntiMalarial Artemisinin Compounds/https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC4389338/Accessed on 28/08/2020

Scientists develop new cancer-killing compound from salad plant/https://www.washington.edu/news/2008/10/13/scientists-develop-new-cancer-killing-compound-from-salad-plant/Accessed on 28/08/2020

Essential Oil of Artemisia annua L.: An Extraordinary Component with Numerous Antimicrobial Properties/https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC3995097/Accessed on 28/08/2020

लेखक की तस्वीर
Mona narang द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 28/08/2020 को
Dr Sharayu Maknikar के द्वारा एक्स्पर्टली रिव्यूड
x