home

हम इसे कैसे बेहतर बना सकते हैं?

close
chevron
इस आर्टिकल में गलत जानकारी दी हुई है.
chevron

हमें बताएं, क्या गलती थी.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
इस आर्टिकल में जरूरी जानकारी नहीं है.
chevron

हमें बताएं, क्या उपलब्ध नहीं है.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
हम्म्म... मेरा एक सवाल है
chevron

हम निजी हेल्थ सलाह, निदान और इलाज नहीं दे सकते, पर हम आपकी सलाह जरूर जानना चाहेंगे। कृपया बॉक्स में लिखें।

wanring-icon
यदि आप कोई मेडिकल एमरजेंसी से जूझ रहे हैं, तो तुरंत लोकल एमरजेंसी सर्विस को कॉल करें या पास के एमरजेंसी रूम और केयर सेंटर जाएं।

लिंक कॉपी करें

Tree Tobacco : ट्री टोबैको क्या है?

Tree Tobacco : ट्री टोबैको क्या है?
इस्तेमाल|सावधानियां और चेतावनियां|साइड इफेक्ट्स|डोसेज

इस्तेमाल

ट्री टोबैको (Tree Tobacco) का इस्तेमाल किस लिए किया जाता है?

ट्री टोबैको (Tree Tobacco) यानी तंबाकू का पेड़। जिसे वैज्ञानिक तौर पर निकोटियाना ग्लौका (Nicotiana glauca) के नाम से जाना जाता है। विश्व में होने वाली मौतों में अधिकतर का कारण यही होता है। तंबाकू के पेड़ का वानस्पतिक नाम निकोटियाना टेबेकम है। आमतौर पर ट्री टोबैको एक झाड़ी के जैसा होता है जो 3 से 6 फीट लंबी होती है। इसका पेड़ लंबी जड़ों और तनों वाला होता है जिसकी पत्तियां, फूल और बीज औषधि के तौर पर इस्तेमाल की जाती है। मूल रूप से अर्जेंटीना में पाया गया था, लेकिन अब इसकी खेती दुनिया भर में होने लगी है। इसकी कई प्रजातियां होती है जिनकी खेती मुख्यतौर पर उप-उष्णकटिबंधीय देशों में की जाती है।

ट्री टोबैको की पत्तियां स्वादहीन और गंधयुक्त होती है। तंबाकू की पत्तियों में एनाबासिन नामक एक रसायन होता है। अगर इस रसायन का इस्तेमाल मुंह से किया जाए तो यह स्वास्थ्य के लिए जोखिम भरा हो सकता है। मौजूदा समय में, तंबाकू धूम्रपान का सबसे बड़ा जरिया है। जिसके कारण दुनिया भर में एक साल में लगभग 3 लाख से अधिक मौतें होती हैं। एनसीबीआई के रिपोर्ट के मुताबित अगर इसी दर से इसका इस्तेमाल धूम्रपान के लिए किया जाता रहा तो साल 2030 तक यह विश्व में यह मृत्यु दर लगभग 10 साल से भी अधिक हो सकती है। लेकिन अगर बाहरी तौर पर इसका इस्तेमाल किया जाए तो यह एक एंटीसेप्टिक की तरह काम करता है। औषधीय तौर पर इसका इस्तेमाल बुखार, फोड़े-फुंसी और त्वचा के घावों को भरने के लिए किया जाता है।

यह भी पढ़ेंः Bajra : बाजरा क्या है?

चेहरे के नसों को दे आरामः

चेहरे की नसों के दर्द को आराम देने के लिए तंबाकू की पत्तियों का रस प्रभावित स्थान पर लगाना चाहिए।

मांसपेशियों के ऐंठन से राहतः

इसका इस्तेमाल मांसपेशियों की ऐंठन को शांत करने के लिए किया जा सकता है।

कीटनाशक के रूप में करें इस्तेमालः

आमतौर पर इसका इस्तेमाल बागवानी में कीटनाशक के रूप में भी किया जा सकता है।

दांत दर्द से राहत पाने के लिएः

दांत दर्द से राहत पाने के लिए तंबाकू की पत्तियों को दांत के नीचे दबाने से दर्द से राहत मिलती है।

रैटल स्नेक और कीट के काटने परः

तंबाकू में निकोटीन होता है जो दर्द दूर करने के साथ ही जहर को बाहर निकालने और सांप के काटने के कारण हुए घाव को ठीक करने में मददगार होता है। सांप के घाव से बचाव के लिए पहले जहर को चूस कर घाव वाले स्थान पर इसकी पत्तियों के साथ पट्टी बांधनी चाहिए और मरीज को इसकी पत्तियां चबानी चाहिए।

जुकाम करे दूरः

जुकाम को ठीक करने के लिए इसकी पत्तियों और जड़ों का इस्तेमाल किया जा सकता है।

पीले दांत की सफाई के लिएः

तंबाकू पाउडर का इस्तेमाल दांतों की सफाई के लिए किया जा सकता है।

कृषि और औद्योगिक इस्तेमाल के लिएः

तंबाकू में फाइटोकेमिकल्स की मात्रा होती है, जिसमें सॉलनसोल, निकोटीन और प्रोटीन की मात्रा प्राकृतिक तौर पर मौजूद होता है, वहीं इसके बीज का तेल कार्बनिक अम्ल का सबसे बेहतर स्रोत होता है। जिसका इस्तेमाल दवा, कृषि और औद्योगिक उपयोग में भी किया जाता है।
तंबाकू की पत्तियां जहां स्वास्थ्य के लिए जोखिम भरी हो सकती है, वहीं इसके बीज का तेल विषैलों पदार्थों से मु्क्त होता है। इसके परिष्कृत बीजों (अच्छी तरह से साफ किए गए) का तेल बुल्गारिया, तुर्की और ग्रीस जैसे देशों में खाने के तेल के तौर में इस्तेमाल किया जाता है।

यह भी पढ़ेंः Bamboo: बैम्बू क्या है?

ट्री टोबैको (Tree Tobacco) कैसे काम करता है?

साल 1926 में, कुछ प्रकार के पार्किंसनिज्म के रोगियों को इंजेक्शन की मदद से निकोटीनिया रस्टिका का उपचार दिया गया था। जिसमें से कई मरीजों पर इसका सफल प्रभाव देखा गया था। तंबाकू के पेड़ की पत्तियों में एनाबासिन नामक रसायन होता है। जो एक खुराक की तरह काम करता है। जिसका इस्तेमाल बाहरी तौर पर किसी मलहम की तरह किया जाना चाहिए।

सावधानियां और चेतावनियां

ट्री टोबैको (Tree Tobacco) का इस्तेमाल करने से पहले मुझे क्या पता होना चाहिए?

आमतौर पर मुंह से इसका इस्तेमाल करना जोखिम भरा हो सकता है। क्योंकि, तंबाकू के पेड़ में एनाबासिन नामक रसायन पाया जाता है जो एक जहरीला रसायन होता है। यह दिल की अनियमित धड़कन, मस्तिष्क की हानि, मांसपेशियों में कमजोरी और ऐंठन का कारण, उल्टी, सांस लेने में तकलीफ, दिल का दौरा और हाई ब्लड प्रेशर का कारण बन सकता है। कई मामलों में जीवन के लिए भी जोखिम भरा हो सकता है। हालांकि, त्वचा पर इसका इस्तेमाल करना सुरक्षित है इसके बारे में उचित जानकारी नहीं है। अधिक जानकारी के लिए अपने डॉक्टर से बात करें।

इसकी सुरक्षा के दावे करने के लिए उचित अध्ययनों की आवश्यकता है। इसका इस्तेमाल करने से पहले इससे होने वाले लाभ और जोखिमों के बारे में जानकारी रखनी जरूरी है। अधिक जानकारी के लिए अपने चिकित्सक से परामर्श करें।

यह भी पढ़ेंः Barley: जौ क्या है?

ट्री टोबैको (Tree Tobacco) का इस्तेमाल कितना सुरक्षित है?

खास सावधानियां और चेतावनियांः

प्रेग्नेंसी या ब्रेस्टफीडिंग के दौरान इसका इस्तेमाल करना जोखिम भरा हो सकता है। इसमें पाए जाना वाला रसायन मां और शिशु दोनों के लिए खतरे का कारण बन सकता है। इसलिए प्रग्नेंसी या ब्रेस्टफीडिंग के दौरान सिर्फ उन्हीं दवाओं का सेवन करें जिनका निर्देश आपके डॉक्टर ने दिया हो।

साइड इफेक्ट्स

ट्री टोबैको (Tree Tobacco) के इस्तेमाल से मुझे किस तरह के साइड इफेक्ट्स हो सकते हैं?

ट्री टोबैको की पत्तियों में मौजूद एल्कालॉइड निकोटीन एक विषैला जहर है जो पाचन संबंधी और शरीर के संचार अंगों में काम करने की क्षमता को प्रभावित कर सकता है। इसके कारण दिल में संक्रमण हो सकता है जो दिल की अनियमित धड़कन का कारण बन सकता है। साथ ही, धमनियों से जुड़ी समस्याओं का भी कारण बना सकता है। वहीं, अगर इसका इस्तेमाल स्मोकिंग के तौर पर करने से यह उल्टी, जी मिचलने, नींद में कमी और फेफड़ों की समस्याओं का कारण बन सकता है।

डोसेज

ट्री टोबैको (Tree Tobacco) के लिए सामान्य खुराक क्या है?

ट्री टोबैको की खुराक को लेकर कोई सही जानकारी नहीं है। इसकी खुराक मरीज की उम्र, स्वास्थ्य स्थिति और कई अन्य स्थितियों पर निर्भर कर सकती है। फिलहाल इसकी निर्धारित खुराक को लेकर कोई वैज्ञानिक जानकारी नहीं है। इसे लेकर अपने हर्बलिस्ट या डॉक्टर से संपर्क करें।

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

लेखक की तस्वीर
Dr. Shruthi Shridhar के द्वारा मेडिकल समीक्षा
Ankita mishra द्वारा लिखित
अपडेटेड 10/10/2019
x