home

हम इसे कैसे बेहतर बना सकते हैं?

close
chevron
इस आर्टिकल में गलत जानकारी दी हुई है.
chevron

हमें बताएं, क्या गलती थी.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
इस आर्टिकल में जरूरी जानकारी नहीं है.
chevron

हमें बताएं, क्या उपलब्ध नहीं है.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
हम्म्म... मेरा एक सवाल है
chevron

हम निजी हेल्थ सलाह, निदान और इलाज नहीं दे सकते, पर हम आपकी सलाह जरूर जानना चाहेंगे। कृपया बॉक्स में लिखें।

wanring-icon
यदि आप कोई मेडिकल एमरजेंसी से जूझ रहे हैं, तो तुरंत लोकल एमरजेंसी सर्विस को कॉल करें या पास के एमरजेंसी रूम और केयर सेंटर जाएं।

लिंक कॉपी करें

Cilnidipine: किलनीडीपीन क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां

Cilnidipine: किलनीडीपीन क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां

परिचय

किलनीडीपीन (Cilnidipine) क्या है?

किलनीडीपीन एक कैल्शियम चैनल ब्लॉकर है। जापान, चीन, भारत, कोरिया और कुछ यूरोपीय देशों में इसे हाइपरटेंशन के इलाज के लिए अप्रूवल दिया गया है।

उपयोग

किलनीडीपीन (Cilnidipine) का इस्तेमाल किस लिए किया जाता है?

किलनीडीपीन का इस्तेमाल ब्लड प्रेशर को कम करने के लिए किया जाता है। किलनीडीपीन दिल की कोशिकाओं और रक्त वाहिकाओं की वॉल में कैल्शियम की आवाजाही को सुधारती है। इससे रक्त वाहिकाएं चौड़ी हो जाती हैं और दिल को पंप होने में आसानी होती है। इसके परिणामस्वरूप दिल को कड़ी मेहनत करने की जरूरत नही पड़ती है और ब्लड प्रेशर धीमा हो जाता है।

यह भी पढ़ें: अस्थमा और हार्ट पेशेंट के लिए जरूरी है पूरे साल फेस मास्क का इस्तेमाल

मैं किलनीडीपीन (Cilnidipine) को कैसे इस्तेमाल करूं?

जैसा कि पहले बता दिया गया है, किलनीडीपीन एक कैल्शियम चैनल ब्लॉकर है। ज्यादातर कैल्शियम चैनल ब्लॉकर्स दवाइयों को भोजन या दूध के साथ मौखिक रूप से लिया जा सकता है। हालांकि इसकी अधिक जानकारी के लिए आपको डॉक्टर या फार्मासिस्ट से सलाह लेनी चाहिए। दवा के लेबल पर छपे दिशा निर्देशों का पालन करें। आपको दिन में कितना बार किलनीडीपीन का सेवन करना है, इसके बीच में कितना अंतराल होना चाहिए और आपको कितने वक्त तक इसका सेवन करने की आवश्यकता होगी, यह सब आपकी स्थिति और आपको किस तरह की दवाइयों का सेवन करने की सलाह दी गई है, इस पर निर्भर करेगा। इसका सेवन मौसमी के जूस के साथ ना करें, क्योंकि मौसमी इस दवा का बॉडी में ब्रेकडाउन (बॉडी का दवा को तोड़ना) होने से रोकती है।

मैं किलनीडीपीन (Cilnidipine) को कैसे स्टोर करूं?

किलनीडीपीन को स्टोर करने का सबसे बेहतर तरीका है इसे कमरे के तापमान पर रखना। इसे सूर्य की सीधी किरणों और नमी से दूर रखें। दवा को खराब होने से बचाने के लिए आपको किलनीडीपीन को बाथरूम या फ्रीजर में नहीं रखना है। किलनीडीपीन के अलग-अलग ब्रांड्स को अलग तरीकों से स्टोर किया जाता है। इसे रखने से पहले सबसे बेहतर होगा कि आप दवा के पैकेज पर छपे निर्देशों को पढ़ लें या फार्मासिस्ट से पूछें। सुरक्षा की दृष्टि से सभी दवाइयों को अपने बच्चों और पेट्स से दूर रखें। जब तक कहा ना जाए तब तक सुरक्षा की दृष्टि से आपको किलनीडीपीन को टॉयलेट या नाली में नहीं बहाना है। आवश्यकता ना रहने या एक्सपायरी की स्थिति में दवा का समुचित तरीके से निस्तारण जरूरी है। सुरक्षित तरीके से इसका निस्तारण करने के लिए अपने फार्मासिस्ट से सलाह लें।

यह भी पढ़ें: शुगर लेवल को ऐसे कंट्रोल करता है नाशपाती

सावधानियां और चेतावनी

किलनीडीपीन (Cilnidipine) का इस्तेमाल करने से पहले मुझे क्या पता होना चाहिए?

निम्नलिखित समस्याओं में किलनीडीपीन का सेवन करने से पहले अपने डॉक्टर से सलाह लें:

  • दिल और रक्त वाहिकाओं की समस्याओं को मिलाकर यदि आपको किसी भी प्रकार की समस्या है। इसमें गुर्दे और लिवर की बीमारी भी शामिल है।
  • ओवर-दि-काउंटर या हर्बल दवाइयों को मिलाकर, वह सभी दवाइयां जिनका सेवन आप कर रहे हैं। चूंकि कुछ दवाइयां किलनीडीपीन के साथ रिएक्शन कर सकती हैं।

यह भी पढ़ें: हार्ट अटैक और कार्डिएक अरेस्ट में क्या अंतर है ?

क्या प्रेग्नेंसी या ब्रेस्टफीडिंग के दौरान किलनीडीपीन (Cilnidipine) लेना सुरक्षित है?

प्रेग्नेंसी या ब्रेस्टफीडिंग के दौरान महिलाओं में किलनीडीपीन के इस्तेमाल को लेकर अभी पर्याप्त जानकारी नहीं है। किलनीडीपीन लेने से पहले इसके फायदों और नुकसान के बारे में जानने के लिए डॉक्टर से जरूर सलाह लें।

साइड इफेक्ट्स

किलनीडीपीन (Cilnidipine) से मुझे क्या साइड इफेक्ट्स हो सकते हैं?

  • चक्कर आना
  • लो ब्लड प्रेशर
  • दिल की रिदम की समस्याएं
  • मुंह सूखना
  • एडेमा (Edema) (टखनों, पंजों या पैरों के निचले हिस्से की सूजन)
  • सिरदर्द
  • उबकाई
  • थकावट
  • त्वचा पर लालिमा पड़ना
  • कब्ज या डायरिया
  • गेस्ट्रोएसोफेगियल रिफ्लक्स डीजेज (Gastroesophageal reflux disease (GERD)

कौन सी दवाइयां किलनीडीपीन (Cilnidipine) के साथ नहीं लेनी चाहिए?

निम्नलिखित दवाइयां किलनीडीपीन के साथ नहीं ली जानी चाहिए, क्योंकि यह दवाइयां भी कैल्शियम चैनल ब्लॉकर का कार्य करती हैं। ऐसे में दोनों दवाइयों का एक साथ सेवन करना साइड इफेक्ट्स की संभावना बढ़ा देगा।

  • नोर्वासेक (एम्लोडिपीन) Norvasc (amlodipine)
  • प्लेनडिल (फेलोडीपीन) Plendil (felodipine)
  • डायनाक्रिक (इसरापीडीन) DynaCirc (isradipine)
  • केरडेन (निकारडीपीन) Cardene (nicardipine)
  • प्रोकारडिया एक्सल, एडाल्ट (निफेडीपीन) Procardia XL, Adalat (nifedipine)
  • केरडिजेन, डिलाकोर, टिआजेक, डिलटिआ एक्सल (डिल्टिएजेमम) Cardizem, Dilacor, Tiazac, Diltia XL (diltiazem)
  • सुलार (निसोल्डीपीन) Sular (Nisoldipine)
  • आइसोप्टिन, केलान, वेरेलन, कोवरा-एचएस (वेरापामिल) Isoptin, Calan, Verelan, Covera-HS (verapamil)
  • ये दवा aldesleukin, quinidine, phenytoin, rifampicin, erythromycin, and anti-psychotic जैसे ड्रग्स के साथ भी इंटरैक्ट कर सकती है।

यह भी पढ़ें: Celery : अजवाइन क्या है?

रिएक्शन

किलनीडीपीन (Cilnidipine) के साथ कौन से प्रोडक्ट्स या दवाइयां रिएक्शन कर सकती हैं?

मौसमी और ग्रेपफ्रूट का जूस कई कैल्शियम चैनल ब्लॉकर्स दवाइयों के कार्य को प्रभावित कर सकता है। यदि आपकी दवा ग्रेपफ्रूट के जूस से प्रभावित हुई है तो अपने डॉक्टर या फार्मासिस्ट से इस बारे में सलाह लें।

क्या एल्कोहॉल के साथ किलनीडीपीन (Cilnidipine) लेना सुरक्षित है?

किलनीडीपीन का एल्कोहोल के साथ सेवन न करें। एल्कोहोल किलनीडीपीन (कैल्शियम चैनल ब्लॉकर्स दवाइयों) के कार्य में हस्तक्षेप कर सकता है, जिससे साइड इफेक्ट्स होने का खतरा बढ़ जाता है। इसके अलावा, ब्लड प्रेशर की दवाइयों के साथ कैल्शियम चैनल ब्लॉकर का इस्तेमाल करने से अचानक ब्लड प्रेशर में गिरावट आ सकती है। यदि आप अन्य दवाइयों का सेवन कर रहे हैं तो किलनीडीपीन का सेवन करने के बेहतर तरीके के बारे में अपने डॉक्टर से सलाह लें।

डोसेज

किलनीडीपीन (Cilnidipine) का अडल्ट्स के लिए सामान्य डोज क्या है?

दिन में एक बार 5-10 mg मौखिक रूप से किलनीडीपीन के सेवन की सलाह दी जाती है। जरूरत पड़ने पर इसके डोज को 20 mg तक बढ़ाया जा सकता है। साथ ही किलनीडीपीन को खाने से पहले या इसके बाद लिया जा सकता है।

किलनीडीपीन (Cilnidipine) किन रूपों में उपलब्ध है?

  • किलनीडीपीन टैबलैट के रूप में उपलब्ध है।

ओवरडोज या आपात स्थिति में मुझे क्या करना चाहिए?

आपात या ओवरडोज की स्थिति में तुरंत अपने नजदीकी डॉक्टर या आपातकालीन सेवा से संपर्क करें।

किलनीडीपीन (Cilnidipine) का डोज मिस हो जाए तो क्या करूं?

किलनीडीपीन का डोज मिस हो जाता है तो जल्द से जल्द इसे लें। हालांकि, यदि आपका अगली खुराक का समय नजदीक आ गया है तो भूले हुए डोज को न खाएं। पहले से तय नियमित डोज को लें। एक बार में दो खुराक ना खाएं।

हैलो हेल्थ ग्रुप चिकित्सा सलाह, निदान या इलाज मुहैया नहीं कराता है।

और पढ़ें:-

Pneumonia : निमोनिया क्या है? जानें इसके लक्षण, कारण और उपाय

सावधान: सेक्स करने से भी हो सकता है डेंगू, पहला मामला मिला

Magnesium: मैग्नीशियम क्या है?

Thiamine: थायमिन क्या है?

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

लेखक की तस्वीर badge
Sunil Kumar द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 04/02/2020 को
डॉ. हेमाक्षी जत्तानी के द्वारा मेडिकली रिव्यूड
x