home

हम इसे कैसे बेहतर बना सकते हैं?

close
chevron
इस आर्टिकल में गलत जानकारी दी हुई है.
chevron

हमें बताएं, क्या गलती थी.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
इस आर्टिकल में जरूरी जानकारी नहीं है.
chevron

हमें बताएं, क्या उपलब्ध नहीं है.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
हम्म्म... मेरा एक सवाल है
chevron

हम निजी हेल्थ सलाह, निदान और इलाज नहीं दे सकते, पर हम आपकी सलाह जरूर जानना चाहेंगे। कृपया बॉक्स में लिखें।

wanring-icon
यदि आप कोई मेडिकल एमरजेंसी से जूझ रहे हैं, तो तुरंत लोकल एमरजेंसी सर्विस को कॉल करें या पास के एमरजेंसी रूम और केयर सेंटर जाएं।

लिंक कॉपी करें

Epoetin alfa: इपोएटिन अल्फा क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां

जानिए मूल बातें|सावधानियां एवं चेतावनी|जानिए इसके साइड इफेक्ट|इन जरूरी बातों को जानें|डॉक्टर की सलाह
Epoetin alfa: इपोएटिन अल्फा क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां

जानिए मूल बातें

इपोएटिन अल्फा का उपयोग किसलिए किया जाता है?

ऐसे लोग जिनको किडनी की गंभीर बीमारी (क्रोनिक किडनी फेलियर) है, जो लोग एचआईवी के इलाज में जिडोवुडीन का इस्तेमाल करते हैं, और वो लोग कुछ प्रकार के कैंसर (जिसमें बॉन मैरो और ब्लड सेल्स शामिल नहीं होते हैं) की कीमोथैरेपी करवाते हैं, उनमें एनीमिया (जिसमें रेड ब्लड सेल्स कम होता है) के इलाज के लिए इपोएटिन अल्फा का इस्तेमाल किया जाता है।

कुछ नियोजित सर्जरी से पहले एनीमिक मरीजों में ब्लड ट्रांसफ्यूजन की जरूरत को कम करने के लिए जिसमें ब्लड के नुकसान होने का खतरा ज्यादा होता है, इसका इस्तेमाल किया जाता है (आमतौर पर गंभीर ब्लड क्लॉट्स के खतरे को कम करने के लिए एंटीकोगुलेंट/ब्लड थिनर दवाइयां जैसे वार्फरिन के साथ दिया जाता है)। इपोएटिन अल्फा, ज्यादा मात्रा में रेड ब्लड सेल्स बनाने के लिए बोन मैरो को निर्देश देने का काम करता है। यह दवा आपके शरीर मे मौजूद नैचुरल पदार्थ (इरिथ्रोपोएटिन) के जैसा होता है जो एनीमिया को रोकता है।

मैं इपोएटिन अल्फा का कैसे इस्तेमाल करूं?

डॉक्टर के निर्देश के मुताबिक सामान्य रूप से हफ्ते में एक से तीन बार इस दवा को इंजेक्शन के रूप में त्वचा के नीचे या नसों में दिया जाता है। सर्जरी से पहले इस दवा को लेने वाले मरीजों का एक विशेष खुराक शेड्यूल हो सकता है। हेमोडायलिसिस के रोगियों को नस में इंजेक्शन लगाकर यह दवा लेनी चाहिए।

इस दवा की खुराक आपके मेडिकल स्थिति, वजन और आप इलाज के प्रति कितने संवेदनशील हैं, इस बात पर आधारित होती है। आपके लिए सही खुराक का निर्णय करने और यह दवा अच्छे से काम कर रही है या नहीं, इसके लिए ब्लड टेस्ट कराते रहें। इस बारे में अधिक जानकारी के लिए डॉक्टर से संपर्क करें।

अगर आप इस दवा को घर पर ही इस्तेमाल कर रहें हैं तो अपने हेल्थ केयर प्रोफेशनल से सभी निर्देशों को सीख लें। इस दवा का ज्यादा फायदा लेने के लिए इसका नियमित रूप से इस्तेमाल करें। याद रखें निर्देश के अनुसार इस दवा को हफ्ते के एक ही दिन पर लें।

इस दवा को हिलाना नहीं चाहिए। इसका इस्तेमाल करने से पहले इसे चेक करें कि इसमें कोई कण मौजूद तो नहीं हैं। अगर मौजूद है तो इस लिक्विड का उपयोग ना करें। अगर आप इस दवा को स्किन के नीचे इंजेक्शन में माध्यम से ले रहे हैं तो प्रत्येक खुराक से पहले इंजेक्शन वाली जगह को एल्कोहॉल से साफ करें। हर बार इंजेक्शन वाली जगह को बदल दें ताकि स्किन के नीचे कोई चोट ना आए।

मेडिकल सप्लाई को सुरक्षित तरीके से कैसे स्टोर करें या नष्ट करें, इस बात को सीखें। निर्धारित समय और खुराक से ज्यादा इस दवा का इस्तेमाल ना करें। इससे आपकी स्थिति में जल्दी सुधार नहीं होगा और साइड इफेक्ट्स होने का खतरा बढ़ सकता है।

रेड ब्लड सेल्स काउंट बढ़ने से पहले इसमें 2 से 6 हफ्ते का समय लग सकता है। अगर आपके लक्षणों में कोई सुधार नहीं हो रहा है या स्थिति और अधिक खराब हो रही है तो डॉक्टर से इस बारे में जरूर बताएं।

यह भी पढ़ें : Enteroquinol : एन्टेरोक्विनोल क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां

मैं इपोएटिन अल्फा को कैसे स्टोर करूं?

इपोएटिन अल्फा रेफ्रिजरेटर में बेहतर तरीके से स्टोर होता है। ड्रग को डैमेज होने से रोकने के लिए इसे फ्रीज ना करें। मार्केट में इपोएटिन अल्फा के अलग-अलग ब्रांड हैं जिन्हें स्टोर करने के लिए दिशा- निर्देश भी अलग-अलग हो सकते हैं। जब भी इस दवा को खरीदें सबसे पहले उसके पैकेज पर लिखे जरूरी निर्देशों को अच्छे से पढ़ें या फिर अपने फार्मासिस्ट से इसके बारे में पूछें। सुरक्षा के लिहाज से आपको इसे बच्चों और जानवरों की पहुंच से दूर रखना चाहिए।

बिना निर्देश के इपोएटिन अल्फा को टॉयलेट या किसी नाले में न फेकें। अगर यह एक्सपायर हो चुका है या इसका इस्तेमाल नहीं करना है तो इसे नष्ट कर दें। इसकी अधिक जानकारी के लिए आप अपने फार्मासिस्ट से संपर्क कर सकते हैं।

सावधानियां एवं चेतावनी

इपोएटिन अल्फा के इस्तेमाल से पहले मुझे क्या जानकारी होनी चाहिए?

अगर आपको इस दवा से या दूसरी दवाइयों (जैसे डार्बेपोएटिन अल्फा) से जो रेड ब्लड सेल्स को बढ़ाती हैं या कोई दूसरी तरह की एलर्जी है तो इसका इस्तेमाल करने से पहले डॉक्टर को बताएं। इस पदार्थ में कुछ निष्क्रिय तत्व (बेंजिल एल्कोहॉल, पॉलीसॉर्बेट) होते हैं जो एलर्जी या दूसरे तरह की समस्या उत्पन्न करते हैं। इस बारे में और अधिक जानकारी के लिए अपने फार्मासिस्ट से संपर्क करें।

इस दवा को इस्तेमाल करने से पहले अपने डॉक्टर या फार्मासिस्ट को अपनी मेडिकल हिस्ट्री के बारे में बताएं खासकर अगर हाई ब्लड प्रेशर, हार्ट की बीमारी (जैसे हार्ट फेल्योर, हार्ट अटैक या स्ट्रोक), दौरे पड़ने की समस्या, पहले से इरिथ्रोपोएटिन टाइप ट्रीटमेंट (प्योर रेड सेल्स अप्लासिया, pure red cell aplasia) में इस्तेमाल होने वाली एंटीबायोटिक के कारण गंभीर एनीमिया आदि की समस्या हो।

इस दवा के कुछ रूपों को इंसान के ब्लड से बनाया जाता है। हालांकि ब्लड टेस्ट को सावधानीपूर्वक किया गया है और इस दवा का निर्माण भी सावधानीपूर्वक किया गया है फिर इस दवा से इंफेक्शन (उदाहरण के लिए वायरस जैसे हेपेटाइटिस) होने की संभावना होती है। इस बारे में अधिक जानकारी के लिए डॉक्टर या फार्मासिस्ट से संपर्क करें।

सर्जरी होने से पहले आप जो भी प्रोडक्ट (जिसमें प्रिस्क्रिप्शन ड्रग, नॉनप्रिस्क्रिप्शन ड्रग और हर्बल प्रोडक्ट शामिल हैं) ले रहे हैं तो इनके बारे में अपने डॉक्टर या डेंटिस्ट को बताएं।

प्रेग्नेंसी के दौरान इस दवा का इस्तेमाल तभी करें जब इसकी जरूरत हो। इस दवा के फायदे और नुकसान के बारे में डॉक्टर से बात करें। यह दवा ब्रेस्ट मिल्क में प्रवेश करती है या नहीं, इस बारे में अभी कोई जानकारी नहीं है। इसलिए ब्रेस्टफीडिंग कराने से पहले अपने डॉक्टर से संपर्क करें।

क्या प्रेग्नेंसी या ब्रेस्टफीडिंग के दौरान इस दवा को लेना सुरक्षित है?

प्रेग्नेंसी या ब्रेस्टफीडिंग के दौरान महिलाओं में इपोएटिन अल्फा के इस्तेमाल को लेकर अभी पर्याप्त जानकारी नहीं है। इपोएटिन अल्फा लेने से पहले इसके फायदे और नुकसान के बारे में जानने के लिए डॉक्टर से जरूर सलाह लें। यूएस फूड एंड ड्रग एडमिनिस्ट्रेशन (एफडीए) के अनुसार इपोएटिन अल्फा प्रेग्नेंसी रिस्क कैटेगरी सी (pregnancy risk category C) के अंतर्गत आती है। एफडीए प्रेग्नेंसी रिस्क कैटेगरी का संदर्भ नीचे दिया गया है,

  • A= कोई नुकसान नहीं
  • B= कुछ शोध में कोई नुकसान नहीं
  • C= थोड़ा नुकसान हो सकता है
  • D= नुकसान के पॉजिटिव प्रमाण
  • X= निषेध (CONTRAINDICATED
  • N= कुछ पता नहीं

यह भी पढ़ें : Chlorzoxazone : क्लोरजोक्सॉन क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स सावधानियां

जानिए इसके साइड इफेक्ट

इपोएटिन अल्फा के इस्तेमाल से क्या साइड इफेक्ट्स हो सकते हैं?

इसके इस्तेमाल से सिर दर्द, शरीर दर्द, कफ या इंजेक्शन वाली जगह पर उलझन/दर्द आदि हो सकता है। हालांकि ये समस्याएं कई और कारणों की वजह से भी हो सकती हैं फिर भी अगर ये प्रभाव बने रहते हैं या और अधिक खराब स्थिति में पहुंच जाते हैं तो अपने डॉक्टर या फार्मासिस्ट को बताएं।

याद रखें डॉक्टर ने इस दवा को प्रिस्क्राइब किया है क्योंकि वह जानता है कि इस दवा के नुकसान की तुलना में फायदे ज्यादा हैं। ज्यादातर लोग इस दवा का इस्तेमाल करते हैं फिर भी उन्हें कोई साइड इफेक्ट्स नहीं होता है।

जो लोग लंबे समय से किडनी की परेशानी से ग्रसित हैं उनमें इपोएटिन अल्फा के इस्तेमाल से हाई ब्लड प्रेशर की समस्या हो सकती है। जब रेड ब्लड सेल्स की संख्या सामान्य से ज्यादा तेजी से बढ़ती है खासकर ट्रीटमेंट के शुरुआती तीन महीने में तो साइड इफेक्ट्स बढ़ सकते हैं। अगर आपको हाई ब्लड प्रेशर की समस्या है तो इस दवा के साथ इलाज शुरू करने से पहले ब्लड प्रेशर नियंत्रण में होना चाहिए। आपको अपना ब्लड प्रेशर नियमित रूप से चेक करवाना चाहिए। ब्लड प्रेशर कैसे चेक करना है, अगर यह आप सीख रहें हैं तो डॉक्टर से जरूर पूछें।

यदि उच्च रक्तचाप विकसित होता है या बिगड़ता है, तो डाइट में बदलाव और अपनी उच्च रक्तचाप की दवा शुरू करने या समायोजित करने के बारे में अपने डॉक्टर के निर्देशों का पालन करें। उच्च रक्तचाप को कम करने से स्ट्रोक, दिल के दौरे और गुर्दे की समस्याओं को रोकने में मदद मिलती है। दुष्प्रभाव की संभावना को कम करने के लिए अपने लाल रक्त कोशिकाओं की संख्या/हीमोग्लोबिन स्तर का नियमित परीक्षण करने के लिए लैब के सभी अपॉइंटमेंट को अपने साथ रखें।

कभी-कभी यह दवा अचानक अच्छे से काम करना बंद कर देती है क्योंकि आपके शरीर में एंटीबॉडीज बनना शुरू हो जाते हैं। इससे गंभीर एनीमिया की समस्या हो सकती है। अगर एनीमिया के लक्षण (जैसे थकान बढ़ना, ऊर्जा का कम होना, स्किन का पीला पड़ना, सांसों की कमी) वापस आते हैं तो अपने डॉक्टर को बताएं।

अगर आपको गम्भीर साइड इफेक्ट जैसे दौरे पड़ने की समस्या महसूस होती है तो तुरंत मेडिकल सहायता लें।

यह भी पढ़ें : हाई ब्लड प्रेशर से क्यों होता है हार्ट अटैक

इस दवा के इस्तेमाल से ब्लड क्लॉट से जुड़ी समस्याएं कभी-कभी होती हैं (जैसे हार्ट अटैक, स्ट्रोक, पैर और फेफड़े में ब्लड क्लॉट बनना)। अगर आपको ये समस्याएं हैं तो तुरंत मेडिकल सहायता लें जैसे सांस लेने में परेशानी/सांसो का तेज चलना, सीने/जबड़े/बाएं हाथ में दर्द, असामान्य पसीना आना, कंफ्यूजन, अचानक सिर चकराना/बेहोशी, ग्रोइन/कॉफ में दर्द/सूजन/गर्मी होना, अचानक/गंभीर सिर दर्द, बोलने में दिक्कत होना, शरीर के एक हिस्से में कमजोरी होना, देखने में बदलाव होना, हीमोडायलिसिस वैस्कुलर ऐक्सेस साइट (hemodialysis vascular access site) में ब्लड क्लॉट होना।

इस दवा के इस्तेमाल से कभी-कभी एलर्जिक रिएक्शन होते हैं। अगर आपको एलर्जिक रिएक्शन के लक्षण महसूस हो तो मेडिकल सहायता लें जैसे चकत्ते पड़ना, खुजली/सूजन (खासकर चेहरे/जीभ/गले में), सिर चकराना, सांस लेने में दिक्कत होना आदि।

सभी लोगों को ये सारे साइड इफेक्ट्स महसूस नहीं होते हैं। हालांकि, यहां पर कुछ साइड इफेक्ट्स के बारे में नहीं बताया गया है। अगर आपको इन साइड इफेक्ट्स को लेकर कोई चिंता है तो अपने डॉक्टर या फार्मासिस्ट से संपर्क करें।

इन जरूरी बातों को जानें

कौन सी दवाइयां इपोएटिन अल्फा के साथ नहीं ली जा सकती हैं?

अगर आप वर्तमान में कोई दवा ले रहें हैं तो इपोएटिन अल्फा उसके साथ इंटरैक्ट कर सकती है जिससे दवा का एक्शन प्रभावित होगा या फिर गंभीर साइड इफेक्ट्स हो सकते हैं। इस चीज को रोकने के लिए आप उन दवाओं (जिनमें प्रिस्क्रिपशन ड्रग, नॉनप्रिस्क्रिपशन ड्रग और हर्बल प्रोडक्ट शामिल हैं) की लिस्ट रखें और उन्हें डॉक्टर या फार्मासिस्ट के साथ शेयर करें। सुरक्षा के लिहाज से आप बिना डॉक्टर के सहमति के ना तो कोई दवा अपने से शुरू करें, ना ही बंद करें और ना ही उसकी खुराक को बदलें।

क्या भोजन या एल्कोहॉल के साथ इपोएटिन अल्फा लेना सुरक्षित है?

इपोएटिन अल्फा आपके भोजन या एल्कोहॉल के साथ इंटरैक्ट कर सकता है जिससे दवा का एक्शन प्रभावित हो सकता है या साइड इफेक्ट्स होने का खतरा बढ़ सकता है। इसलिए भोजन या एल्कोहॉल के साथ इस दवा को इस्तेमाल करने से पहले अपने डॉक्टर या फार्मासिस्ट से संपर्क करें।

इपोएटिन अल्फा का इस्तेमाल करने से स्वास्थ्य पर किस तरह का प्रभाव पड़ सकता है।

इपोएटिन अल्फा आपकी स्वास्थ्य स्थिति के साथ इंटरैक्ट कर सकता है। इससे स्थिति और अधिक खराब हो सकती है या दवा का एक्शन प्रभावित हो सकता है। इसलिए अपने मौजूदा स्वास्थ्य स्थिति के बारे में अपने डॉक्टर या फार्मासिस्ट को बताएं।

यह भी पढ़ें : Chlorzoxazone : क्लोरजोक्सॉन क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स सावधानियां

डॉक्टर की सलाह

नीचे दी गई जानकारी किसी चिकित्सक की सलाह नहीं है। इसका इस्तेमाल करने से पहले अपने चिकित्सक या फार्मासिस्ट से संपर्क करें।

इपोएटिन अल्फा कैसे उपलब्ध है?

इपोएटिन अल्फा निम्नलिखित खुराक और क्षमता में उपलब्ध है;

  • इंजेक्शन के लिए सॉल्यूशन

इपोएटिन अल्फा की खुराक :

इसे इंजेक्शन के रूप में दिया जाता है.

जिडोवुडीन से जुड़े एनीमिया के मरीजों के लिए :

शुरूआती डोज : 100 units/kg IV हफ्ते में तीन बार

कीमोथेरेपी से जुड़े एनीमिया वाले मरीजों के लिए :

शुरूआती डोज : 150 units/kg हफ्ते में तीन बार या 40000 यूनिट हफ्ते में एक बार

क्रोनिक रेनल फेलियर से जुड़े एनीमिया के मरीजों के लिए

शुरूआती डोज : 50 to 100 units/kg IV हफ्ते में तीन बार

इमरजेंसी या ओवरडोज की स्थिति में क्या करना चाहिए?

इमरजेंसी या ओवरडोज की स्थिति में अपने लोकल इमरजेंसी सर्विस को कॉल करें या अपने नजदीकी इमरजेंसी वार्ड पर जाएं।

क्या करना चाहिए अगर एक खुराक लेना भूल जाएं?

अगर आप इपोएटिन अल्फा की खुराक लेना भूल जाते हैं तो याद आने पर जल्द से जल्द अपनी खुराक लें। हालांकि, अगर इसके कुछ ही समय बाद आपको अपनी अगली खुराक लेनी हो तो इसे न लें और अपनी नियमित खुराक के अनुसार ही इसका सेवन करते रहें। डबल खुराक ना लें।

हैलो स्वास्थ्य किसी भी तरह की कोई भी मेडिकल सलाह नहीं दे रहा है, अधिक जानकारी के लिए आप डॉक्टर से संपर्क कर सकते हैं।

और पढ़ें:

बच्चों में पोषण की कमी के इन संकेतों को न करें अनदेखा

पीसीओडी से ग्रस्त महिलाओं की सेक्स लाइफ पर हो सकता है खतरा, जानें कैसे

प्रेग्नेंसी में ब्रेस्ट कैंसर से हो सकता है खतरा, जानें उपचार के तरीके

प्यार और आकर्षण में होता है काफी अंतर, जानिए दोनों के बीच फर्क

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र

Epoetin Alfa Solution. https://www.webmd.com/drugs/2/drug-1023/epoetin-alfa-injection/details. Accessed January 25, 2018.

Epoetin alfa. https://www.rxwiki.com/epoetin-alfa. Accessed January 25, 2018.

Epoetin Alfa, Injection/
https://medlineplus.gov/druginfo/meds/a692034.html

(4th March, 2020)

Epoetin Alfa (Injection Route)/https://www.mayoclinic.org/drugs-supplements/epoetin-alfa-injection-route/description/drg-20068065

(4th March, 2020)

 

 

लेखक की तस्वीर badge
Anoop Singh द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 04/03/2020 को
डॉ. प्रणाली पाटील के द्वारा मेडिकली रिव्यूड
x