ओरल थिन स्ट्रिप : बस एक स्ट्रिप रखें मुंह में और पाएं मेडिसिन्स की कड़वाहट से छुटकारा

चिकित्सक द्वारा समीक्षित | द्वारा

अपडेट डेट December 23, 2020 . 5 मिनट में पढ़ें
अब शेयर करें

मेडिसिन्स या दवा भले ही आपको दर्द से राहत दिलाती हो, लेकिन शायद ही कोई हो, जो दवा के नाम से खुश होता है। बिना दवा के किसी बीमारी के इलाज के बारे में सोचना मुश्किल है। अगर आपको एक या दो दवाएं खाने के लिए कहीं जाएं, तो आप आसानी से खा सकते हैं। लेकिन अधिक दवाओं का सेवन करने से बहुत सी समस्याओं का सामना करना पड़ता है। दवाओं का स्वाद, दवा निगलने में समस्या आदि बच्चों से लेकर बुजुर्गों को परेशान कर सकती है। अगर ये कहा जाए कि दवा का स्वाद मीठा होगा और आपको उसे निगलने की भी जरूरत नहीं पड़ेगी, तो आपके चेहरे पर खुशी आ सकती है। जी हां ! ओरल थिन स्ट्रिप के बारे में शायद कम ही लोग जानते होंगे। ओरल थिन स्ट्रिप मेडिसिन्स की तरह ही काम करती हैं। इनकी खासियत ये है कि इन्हें पानी या किसी लिक्विड की मदद से निगलने की नहीं, बल्कि जीभ पर रखने की जरूरत पड़ती है। भारत में बॉनआयु न्यूट्रीशनल सप्लिमेंट कंपनी (BonAyu ) इस दिशा में अच्छा काम कर रही है। हैलो स्वास्थ्य ने बॉनआयु  कंपनी की को-फाउंडर भावना बासु से ओरल थिन स्ट्रिप से जुड़े अहम प्रश्नों के जवाब जानने की कोशिश की। आप भी जानिए ओरल थिन फिल्म्स के बारे में अधिक जानकारी।

और पढ़ें : सिंथेटिक दवाओं से छुड़ाना हो पीछा, तो थामें आयुर्वेद का दामन

जानिए ओरल थिन स्ट्रिप/फिल्म (Oral thin strips/film) के बारे में कुछ खास बातें!

सवाल: क्या आप सरल शब्दों में समझा सकती हैं कि ओटीएफ टेक्नोलॉजी ( OTF technology) क्या है?

ओरल स्ट्रिप, oral strips

जवाब: ओरल डिस्पर्सिबल फिल्म्स (Oral dispersible films) या ओरल थिन स्ट्रिप एक पतली फिल्म होती है, जिसे ओरली लिया जाता है। जीभ पर रखने के कुछ सेकेंड बाद ही ये स्ट्रिप मुंह में घुल जाती हैं। ये फिल्म्स ब्लड द्वारा सीधे अवशोषित कर ली जाती हैं। आप ओरल थिन स्ट्रिप को बिना पानी या लिक्विड के कहीं भी, कभी भी ले सकते हैं। इसी वजह से इन्हें लेना बहुत आसान है। हमारी ओरल थिन फिल्म में कोको होता है, जो इन्हें टेस्टी बनाता है। बच्चे इसे लेते वक्त सप्लिमेंट लेने जैसा महसूस नहीं करते, बल्कि उन्हें लगता है कि वो कैंडीका स्वाद चख रहे हैं। बहुत से ऐसे लोग हैं, जिन्हें अधिक गोलियां या कैप्सूल खाना बहुत मुश्किल लगता है। उनके लिए ओरल थिन फिल्म का सेवन सुविधाजनक और प्रभावी है।

सवाल: ओरल थिन स्ट्रिप (Oral thin strips) क्या सभी पेशेंट के लिए लाभदायक है या फिर कुछ खास पेशेंट के लिए इसे बनाया गया है?

जवाब: ओरल थिन स्ट्रिप का यूज सभी लोग कर सकते हैं। ओरल थिन फिल्म को यंग, एल्डर, बच्चे, डायबिटीज से पीड़ित व्यक्ति आदि ले सकते हैं।

सवाल : ओरल थिन स्ट्रिप बच्चों के लिए पूरी तरह से सुरक्षित है? न्यू बॉर्न बेबी को क्या सिरप की जगह ओरल थिन स्ट्रिप दी जा सकती है?

जवाब: ओरल थिन स्ट्रिप (Oral thin strips) बच्चों के लिए पूरी तरह से सुरक्षित है। इसे शिशुओं को भी दिया जा सकता है।

सवाल : अच्छे रिजल्ट्स के लिए ओरल थिन स्ट्रिप का यूज कैसे करना चाहिए?

जवाब: ओरल थिन स्ट्रिप को यूज करने का सबसे अच्छा तरीका है कि आप उसे जीभ पर रखें और मेल्ट होने दें। आपको न तो इसे चबाने की जरूरत है और न ही तोड़ने की। स्ट्रिप अपने आप ही जीभ पर रखने के बाद घुल जाएगी। आपको पानी पीने या फिर इसे निगलने की जरूरत भी नहीं पड़ेगी।

और पढ़ें : दिल के दर्द में दवा नहीं, दुआ की तरह काम करेगा आयुर्वेद!

सवाल: जिन पेशेंट की लार या सलाइवा कम मात्रा में बनती है, क्या ओरल थिन स्ट्रिप उनके लिए बेहतर ऑप्शन है?

जवाब: जिन पेशेंट की लार या सलाइवा कम मात्रा में बनती है, उन्हें परेशान होने की जरूरत नहीं है। ओरल थिन स्ट्रिप में सलाइवा स्टिम्युलेटिंग  एजेंट (Saliva stimulating agents) मौजूद होता है, जो लार बनाने में हेल्प करता है। स्ट्रिप को जैसे ही जीभ में रखा जाता है, लार बनने लगती है और स्ट्रिप घुल जाती है।

सवाल: ओरल थिन स्ट्रिप अन्य दवाओं की तरह ही मेडिकल स्टोर में उपलब्ध है? 

जवाब: ओरल थिन स्ट्रिप अन्य सप्लिमेंट के मुकाबले इफेक्टिव है। ओरल थिन स्ट्रिप एक्यूरेट और हाई डोज में आती हैं। इन स्ट्रिप्स को लंबी रिचर्स के बाद डिजाइन किया गया है। ओरल थिन स्ट्रिप की पैकिंग में कंज्यूमर द्वारा ली जाने वाली आवश्यक डोजेज के बारे में जानकारी दी गई है। कंज्यूमर डायबिटीज, जॉइंट पेन आदि के बारे में अधिक जानकारी के लिए हमारे न्यूट्रीशनिस्ट से मुफ्त में सलाह ले सकते हैं।

सवाल: डायबिटिक पेशेंट या ग्लूटन इंटॉलरेंस के पेशेंट के लिए क्या ओरल थिन स्ट्रिप पूरी तरह से सुरक्षित है?

जवाब: ओरल थिन स्ट्रिप ग्लूटेन फ्री और शुगर फ्री हैं। इसमें मिठास के रूप में सुक्रालोज (sucralose) और स्टीविया ( stevia) मौजूद होता है, जो डायबिटीक पेशेंट के लिए सुरक्षित होता है।

और पढ़ें : कोरोना वायरस संकट में डॉक्टर की मदद लेने के लिए अपनाएं टेलीमेडिसिन

सवाल: ओरल थिन स्ट्रिप का यूज करने से क्या कोई साइड-इफेक्ट हो सकते हैं? इसे यूज करने से पहले क्या सावधानियां बरतनी चाहिए?

जवाब: ओरल थिन स्ट्रिप में नैचुरल इंग्रीडिएंट्स जैसे कि स्टार्च बेस्ड सेल्यूलोज (cellulose) मौजूद होते हैं। ये हार्मलेस होते हैं और पेशेंट को किसी भी तरह का नुकसान नहीं पहुंचाते। इनका सेवन करने से साइड इफेक्ट नहीं दिखाई पड़ते। ये फूड सप्लिमेंट्स है और पूरी तरह से सुरक्षित हैं।

सवाल: ओरल थिन स्ट्रिप को कैसे स्टोर किया जा सकता है? अगर इनकी एक्सपायरी डेट होती है, तो एक्सपायर होने के बाद इन्हें कैसे डिस्पोज किया जाए?

जवाब:  ओरल थिन स्ट्रिप को स्टोर करने का तरीका आसान है। इन्हें कूल और ड्राय प्लेस में रखना चाहिए। स्ट्रिप की एक्सपायरी दो साल की होती है। अगर स्ट्रिप एक्सपायर हो गई हैं, तो इन्हें पानी में घोला जा सकता है।

सवाल: स्ट्रिप बनाने का आइडिया आपको कैसे आया, हमे इस बारे में बताएं और साथ ही आपको इंडस्ट्री में प्रोडक्ट टेस्टिंग के दौरान किन समस्याओं का सामना करना पड़ा?

जवाब: फार्मा इंडस्ट्री में काम करने के दौरान हमने महसूस किया कि मेडिसिन्स की खपत बढ़ रही है। दवाएं हम लोगों की जिंदगी में शामिल हो चुकी हैं। ये न केवल ट्रीटमेंट के दौरान जरूरी होती हैं, बल्कि बॉडी को मेंटेन करने के लिए भी मेडिसिन्स की जरूरत पड़ती है। कोरोना महामारी के दौरान मजबूत इम्यून सिस्टम ने कोरोना को हराने का काम किया। हमने ये महसूस किया कि हम दवाओं को नए फॉर्मेट में प्रस्तुत कर सकते हैं, जो लोगों के लिए सुविधाजनक, प्रभावी और स्वाद में बेहतर हो। बहुत रिसर्च के बाद हमने पाया कि ओरल थिन स्ट्रिप्स इम्पैक्टफुल मैथड है। हमने इसकी सीमाओं को भी समझा। कंज्यूमर के पॉइंट ऑफ व्यू के साथ ही हमने मदर्स को भी विश्वास दिलाया कि उनके छोटे बच्चे ओरल थिन स्ट्रिप ले सकते हैं। ओरल थिन स्ट्रिप में कई फ्लेवर हैं जैसे कि प्री-वर्कआउट के लिए कैफीन फ्लेवर, वेट मैनेजमेंट के लिए ग्री टी फ्लेवर उपलब्ध हैं। ग्लूटाथायोन (Glutathione) इंजेक्शन के बजाय मुंह से लिया जा सकता है। चार साल की कठिन रिचर्स के बाद हमे सरकार की ओर से मंजूरी मिल गई। साथ ही हमने इंडस्ट्री के लीडर्स को प्रभावित किया।

और पढ़ें : साल 2021 में भी फॉलो करें ये हेल्दी आदतें और रहें फिट

सवाल: आपने फार्मेसी के अलावा इस टेक्नोलॉजी को आम लोगों तक पहुंचाने की क्या स्ट्रेटजी अपनाई है?

जवाब : हम लोग इसे ऑनलाइन माध्यम से लोगों तक पहुंचा रहे हैं।

सवाब: भारत जैसे विकासशील देश में ओरल थिन स्ट्रिप का क्या स्कोप है? क्या आप प्रोडक्ट लॉन्च से पहले की गई मार्केट रिसर्च के बारे में बाताएंगी?

जवाब: मेडिकल साइंस फील्ड में भारत तेजी से आगे बढ़ रहा है। भारत में न्यूट्रास्यूटिकल मार्केट (nutraceutical market, 21% CAGR) तेजी से बढ़ रहा है। इंटरनेशनल मार्केट में बदलाव लाने के लिए इनोवेशन महत्वपूर्ण है। फार्मास्यूटिकल प्रोडक्ट के लिए भारत की विश्व में पहचान है। भारत ने एफ. डी. ए. अप्रूव फार्मास्यूटिकल प्लांट्स की संख्या यूएस के बाहर बढ़ा दी है। बॉनआयु फिलहाल एडवांस देशों में ओरल थिन फिल्म सप्लाई कर रहा है, जो कि ग्लोबल पेटेंट है।

अगर आप ओरल थिन स्ट्रिप्स का यूज करना चाहते हैं, तो बेहतर होगा कि एक बार एक्टपर्ट से जानकारी जरूर लें। आप स्वास्थ्य संबंधी अधिक जानकारी के लिए हैलो स्वास्थ्य की वेबसाइट विजिट कर सकते हैं। अगर आपके मन में कोई प्रश्न है, तो हैलो स्वास्थ्य के फेसबुक पेज में आप कमेंट बॉक्स में प्रश्न पूछ सकते हैं।

 

हैलो हेल्थ ग्रुप चिकित्सा सलाह, निदान या उपचार प्रदान नहीं करता है

Was this article helpful for you ?
happy unhappy
सूत्र

शायद आपको यह भी अच्छा लगे

हेल्थ एंड फिटनेस गाइड, जिसे फॉलो कर आप जी सकते हैं हेल्दी लाइफ

हेल्थ एंड फिटनेस : शरीर को फिट रखने के लिए एक नहीं बल्कि कई उपाय हैं। अगर आपको नहीं पता कि आखिर फिट रहने के लिए क्या करना चाहिए तो आपको ये आर्टिकल जरूर पढ़ना चाहिए। health fitness

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Bhawana Awasthi

क्या है इनविजिबल डिसएबिलिटी, इन्हें किन-किन चुनौतियों का करना पड़ता है सामना

क्या आपको पता है कि हमारे शरीर (Body) को कुछ ऐसी खतरनाक बीमारियां भी घेर लेती हैं जो अंदर ही अंदर पनपती रहती है और हमें उनका पता ही नहीं चल पाता है। ऐसी बीमारियों को 'नजर न आने वाली बीमारी' (इनविजिबल डिसएबिलिटी) कहते हैं।

के द्वारा लिखा गया Niharika Jaiswal
हेल्थ टिप्स, स्वस्थ जीवन December 2, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें

डायबिटिक पेशेंट की देखभाल करने वाले लोग इन बातों का रखें ध्यान, बच सकेंगे स्ट्रेस से     

डायबिटिक पेशेंट की देखभाल करने वाले की मेंटल हेल्थ पर बीमारी का असर दिखने लगता है। जिसे केयरगिवर स्ट्रेस सिंड्रोम कहते हैं। जानिए क्या है ये और इससे कैसे बचें?

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Manjari Khare
हेल्थ सेंटर्स, डायबिटीज November 6, 2020 . 6 मिनट में पढ़ें

कोविड-19 और बच्चों में डायबिटीज के लक्षण, जानिए इस बारे में क्या कहती हैं ये रिसर्च

कुछ रिसर्च में दावा किया जा रहा है कि कोविड-19 और बच्चों में डायबिटीज के बीच संबंध है। इस आर्टिकल में जानिए क्या है इस दावे की सच्चाई।

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Manjari Khare
डायबिटीज, हेल्थ सेंटर्स November 3, 2020 . 6 मिनट में पढ़ें

Recommended for you

नक्स वोमिका (Nux Vomica)

नक्स वोमिका क्या है? जानिए इसके फायदे और नुकसान

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Nidhi Sinha
प्रकाशित हुआ February 15, 2021 . 4 मिनट में पढ़ें
Hyperglycemia and type-2 diabetes - हाइपरग्लाइसेमिया और टाइप 2 डायबिटीज

हाइपरग्लाइसेमिया और टाइप 2 डायबिटीज

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Toshini Rathod
प्रकाशित हुआ February 10, 2021 . 5 मिनट में पढ़ें
कम उम्र के इरेक्टाइल डिस्फंक्शन, Erectile Dysfunction in young men

कम उम्र के पुरुषों में इरेक्टाइल डिस्फंक्शन के क्या हो सकते हैं कारण?

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Bhawana Awasthi
प्रकाशित हुआ February 9, 2021 . 5 मिनट में पढ़ें
डायबिटीज में गंभीर समस्याओं से बचने में मदद करेंगे ये उपाय

जानें टाइप-2 डायबिटीज वालों के लिए एक्स्पर्ट द्वारा दिया गया विंटर गाइड

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Niharika Jaiswal
प्रकाशित हुआ December 22, 2020 . 13 मिनट में पढ़ें